अबू धाबी मंदिर देख जल उठा पाकिस्तान | India Vs Pakistan | Modi UAE | BAPS Temple | Muslims World

यह मानवता की सांझी विरासत का शेड हेरिटेज
का प्रतीक
है ये मंदिर पूरी दुनिया के लिए
सांप्रदायिक सहार और वैश्विक एकता का
प्रतीक बनेगा अबू धाबी में सैकड़ों फीट
ऊंचा मंदिर तैयार हो गया यूएई के

प्रेसिडेंट शेख मोहम्मद बिन जायद अल नया
ने मंदिर बनाने में मदद दी पीएम मोदी नेने
इसका उद्घाटन किया और भारत यूएई का
भाईचारा देखकर पूरा पाकिस्तान सदमे में

है पाकिस्तान के दुख की सबसे बड़ी वजह है
मुस्लिम देश में मंदिर का निर्माण यूएई
में सात शिखर वाला सनातनी मंदिर की पताका
फहरा रही है यूएई की मीडिया के मुताबिक
मंदिर के उद्घाटन कार्यक्रम में यूएई के
राष्ट्रपति के प्रतिनिधि और वहां के राज

परिवार के लोग भी शामिल हुए वहां हजारों
लोग के सामने पीएम मोदी ने जो बयान दिया
वह अबू धाबी और दुबई से ज्यादा इस्लामाबाद
में सुना गया भव्य मंदिर का स्वप्न साकार

करने
में अगर सबसे बड़ा
सहयोग किसी का
है तो मेरे
ब्रदर
हाईनेस शेख मोहम्मद बिन जाय का
है स्निलों को लगता है कि अरब देशों में

पीएम मोदी का प्रभाव लगातार बढ़ रहा है
इसकी वजह से वहां पर मंदिर निर्माण जोर
पकड़ रहा है एक और वजह है वहां मौजूद
भारतीय कम्युनिटी यूएई में 35 लाख से

ज्यादा भारतीय हैं और इनमें हिंदुओं की
तादाद अच्छी खासी
है इस समय मिडिल ईस्ट में बहरीन ओमान
मस्कट और दुबई समेत कई जगहों पर छोटे-बड़े

मंदिर मौजूद हैं अरब देशों में मंदिर
बनाने की एक वजह है टूरिज्म इन देशों में
में टूरिजम को बढ़ावा देने के लिए भी

मंदिरों के निर्माण को अनुमति दी जा रही
है अबू धाबी में मंदिर का उद्घाटन देखने
के लिए पाकिस्तान से भी लोग आए इनके लिए
भी बड़ी बात यही थी कि एक मुस्लिम देश के
मुस्लिम शासक ने आखिर मंदिर बनाने की
इजाजत कैसे दी अबू धाबी का अलौकिक मंदिर

तो बस झांकी है अभी बहरीन बाकी है जल्दी
ही ऐसा ही एक भव्य मंदिर मिडिल ईस्ट के एक
और देश में बनाया जाएगा अबू धाबी में
मंदिर निर्माण करने वाली बीएपीएस संस्था
ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है इसके लिए
बहरीन के क्राउन प्रिंस ने जमीन भी दे दी

है पीएम मोदी इसके लिए बहरीन के क्राउन
प्रिंस का आभार जता चुके हैं फरवरी 2022
में मंदिर को बनाने के लिए जमीन दी गई थी
और अब उम्मीद है कि जल्दी ही मंदिर का

निर्माण शुरू हो
जाएगा मिडिल ईस्ट के मुस्लिम देशों में
मोदी की इमेज करीबी दोस्त की है
पाकिस्तानियों को लगता है कि इसी वजह से
उन्हें मंदिर बनाने की इजाजत आसानी से मिल

जाती
पाकिस्तानियों के लिए सबसे बड़ा झटका अबू
धाबी से आई एक ऐसी खबर ने दिया जिसके बारे
में उन्होंने कभी सोचा तक नहीं था यह

मंदिर हिंदू मुस्लिम पारसी और ईसाई चारों
धर्मों के सहयोग से तैयार हुआ है और
इस्लामाबाद को सबसे ज्यादा सदमा इसी बात
का
है पाकिस्तान में हालात ऐसे हैं कि एक

मुसलमान दूसरे मुसलमान पर हमला करता है
वहां सुन्नी मुस्लिम शिया को टारगेट करते
हैं आपस में लड़ते हैं और ऐसे में सभी
धर्मों की मदद से बनने वाले मंदिर की बात
सोचना भी पाकिस्तानियों के लिए मुश्किल है

सोशल मीडिया पर पाकिस्तानियों की जलन की
खबर वायरल हो चुकी है अबू धाबी में मंदिर
देखकर पाकिस्तानी बेचैन है सीमा पार ऐसा
ही हाल अयोध्या के मंदिर को देखकर भी था
और भगवा को लेकर पाकिस्तान का यह डर आने
वाले दिनों में और बढ़ेगा हम सब यई के
प्रेसिडेंट को यहां से स्टैंडिंग ओवेशन
ब्यूरो रिपोर्ट जी
मीडिया जी न्यूज

Leave a Comment