अलग होकर ऐसे नहीं सुना तो मां काली आपसे नाराज

मेरे बच्चे तुम दोनों के रिश्ते में बहुत खटास आ गई है की तरह काम करती है तुम्हारे ऊपर हमेशा किसी तीसरे

व्यक्ति को रखता है हमेशा तुम्हें नीचा दिखाता है और कभी भी तुम्हारे साथ वफादार नहीं रहा लेकिन उसके

इतने बुरे बर्ताव के बाद भी तुमने हमेशा उसे पर यकीन रख उसे हमेशा प्रेम मान सम्मान ही दिया है चरित्र पर

प्रश्न नहीं उठाया उसने तुमसे जो कुछ भी बताया और आंख बंद करके यकीन कर लिया तुम रिश्तो में दिमाग नहीं लगते हो मेरे बच्चे किसी के खिलाफ मन में दुश्मनी नहीं रखते हो अगर तुम्हें किसी की भी बात बुरी लगती है तो

तुम इस वक्त उसे व्यक्ति को वह बार बोल देते हो तुम गलत हो क्या तुमने किसी के बारे में गलत बहुत बड़ी बड़ी बातें करता है लेकिन उसका भरतार ऐसा नहीं है वह तुम्हारे साथ हमेशा ऐसे बर्ताव करता है उसके जीवन में

तुम्हारी कोई कदर नहीं है कोई अहमियत नहीं है उसके तुम्हारे सामने आ रहे हैं झूठ बोल रहा है और तुम्हारे ही प्रेम पर तुम्हारी ही सच्चाई पर उंगली उठा रहा है कभी भी सच का सामना नहीं करता है तुमने उसे किसी और के साथ देख भी लिया है माफी मांगने के लिए तैयार नहीं तुम दोनों रिश्ते में सच्चाई बची ही नहीं है

Leave a Comment