असली खेल शुरू !भाजपा ने भीतर ही भीतर कर दिया सीट शेयरिंग 20 सीटों पर नीतीश की टीम का कब्जा शर्तें…

पनर मा ग्रुप जो सोचता है वह करता
है भारतीय जनता पार्टी ने नीतीश कुमार के
एनडीए में आने के बाद लगातार कई ऐसी फैसले
किए हैं जो फैसले कहीं ना कहीं इस बात की
तरफ संकेत कर रहे हैं कि 2024 के चुनाव के

लिए भारतीय जनता पार्टी ने अपनी कमर कस ली
है और चुनाव से पूर्व बिगुल भी फूक दिया
है अब इसमें कोई भी समझौता और किसी तरह का
कोई समस्या नहीं खड़ा होना देना चाहती है

भारतीय जनता पार्टी इसको लेकर के नीतीश
कुमार के आने के बाद ही भारतीय जनता
पार्टी अपने अभियान में लग गई थी हालांकि
जैसा कि आप सभी जानते हैं कि इस महीने के
बीतने के बाद ही बिहार में चुनावी दंगल

शुरू हो जाएगा हालांकि चुनावी दंगल तो
शुरू हो चुका है लेकिन सीट शेयरिंग का
फार्मूला ना तो अभी महागठबंधन में हुआ है

और ना ही एनडीए में हुआ है लेकिन नीतीश
कुमार के आने के बाद कहा यह जा रहा था कि
यहां सीट शेयरिंग के फार्मूले में काफी
परेशानी होगी और नीतीश कुमार के कारण
अड़ंगा लगेगा हालांकि इस बात से इनका नहीं

किया जा सकता है कि जो भी दल नीतीश कुमार
के आने से पहले एनडीए में थे वह काफी
संतुष्ट थे लेकिन इ एनडीए में नीतीश कुमार
के आने के बाद से ही वह काफी परेशान है इस

बीच में एक और अपडेट हुआ है कि उपेंद्र
कुशवाहा की पार्टी जो आरएल जेडी हुआ करती
थी उसका नाम बदल गया है क्योंकि चुनाव
आयोग ने नया नाम दिया है
आरएलएन राष्ट्रीय लोक मोर्चा अब अपने

अस्तित्व में आ गया है और उपेंद्र कुशवाहा
ने इसकी घोषणा की उसके साथ ही उन्होंने अब
चुनाव में कितने सीटों पर लड़ेंगे इस पर
भी एक तरह से समझिए तो उन्होंने खुलासा कर
दिया है आठ सीटों पर उनकी तैयारी चल रही

थी और लगातार वह दौरा भी कर रहे हैं और
अलग-अलग विधानसभा में कार्यक्रम भी चल रहा
है उनकी रैलियां चल रही हैं और इसको लेकर
के यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि उनका
फोकस किन-किन सीटों पर है कम से कम चा


सीटों पर वह तीन से चार सीटों पर चुनाव
लड़ने की बात कर रहे हैं और उनकी टीम जो
है उस पर तैयारी भी शुरू कर चुकी है
उपेंद्र कुशवाहा के साथ साथ उनके जो करीबी
हैं कई उनके पार्टी के वरिष्ठ सदस्य हैं

जिनको चुनाव लड़ाने के लिए उपेंद्र
कुशवाहा ने पूरी तैयारी कर ली है और उस पर
कोई समझौता नहीं करने वाले हैं तो वहीं
आपको बता दें कि चिराग पासवान की एल
जेपीआर भी पांच से छह सीटों पर अपना दावा
ठोक रही है चिराग पासवान ने 2014 और 2019
वाली सीटों पर अपना दावा ठोका है अब

पशुपति कुमार पारस को कैसे एडजस्ट करेगी
यह भारतीय जनता पार्टी और नीतीश कुमार की
समस्या है लेकिन उन्होंने साफ कह दिया है
कि वह इससे कम पे समझौता नहीं करेंगे तो
यह मान के चलिए कि दो दलों ने लगभग आठ से

न सीटों पर अपना दावा ठोक दिया है तो बाकी
का आप समझ ही सकते हैं कि स्थिति क्या
होगी अब ऐसी स्थिति में एक बात जो सामने आ
रही है उसमें कहा यह जा रहा है कि भारतीय

जनता पार्टी और भारतीय जनता पार्टी का
थिंक टैंक जिसमें नरेंद्र
मोदी अमित शाह इसके अलावा जेपी नड्डा
राजनाथ सिंह इन सभी वरिष्ठ सदस्यों ने बैठ
कर के यह बात फाइनल कर लिया है कि सीट
शेयरिंग का फार्मूला कैसे किया जाएगा भीतर
भीतर भारतीय जनता पार्टी ने 202 सीट के
फार्मूले पर अपना मोहर लगा दिया है नीतीश
कुमार आए हैं तो उनको 20 सीटें दी जाएगी

और 20 सीटों पर भारतीय जनता पार्टी कैसे
चुनाव लड़ना है इसका निर्णय करेगी अब आपको
बता दें कि इन 202 सीटों को बांटने के
साथ-साथ कुछ शर्तें भी लागू कर दी गई हैं
शर्तो में यह है कि कुछ लोगों को जो नीतीश

कुमार के साथ पहले से चले आ रहे हैं उनको
उनके साथ जोड़ दिया गया है तो कुछ नए
लोगों को भी नीतीश कुमार के पार्टी में
खेमे में शामिल कर दिया गया है यानी दो

खेमे में एनडीए बटी गई बिहार में और उसमें
कुछ लोगों को जो एडजस्टमेंट है वह भारतीय
जनता पार्टी करेगी तो कुछ लोगों का
एडजस्टमेंट जो है वह नीतीश कुमार को करना

होगा अगर बात देखें तो नीतीश कुमार के
खेमे में लोक जनशक्ति पार्टी राम विलास और
आरएलएम जो उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी है
उसे रखा गया है भारतीय जनता पार्टी ने

अपने खेमे में हिंदुस्तानी आवाम
पार्टी पशुपति कुमार पारस की आरएल जेपी और
वीआईपी सहित अन्य उन दलों को रखा गया है
जो चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी के

खेमे में आएंगे ऐसी स्थिति में सीटों का
एडजस्टमेंट उन खेमे को करना होगा जैसे आप
समझिए कि एक तरफ जहां इस सीट से का समझौता
20 सीटों में से अपने जो खेमे के सदस्य
होंगे जिसमें उपेंद्र कुशवाहा होंगे अ
चिराग पासवान होंगे उन्हें देना होगा

नीतीश कुमार को तो भारतीय जनता पार्टी
अपने खेमे से हिंदुस्तानी आवाम पार्टी
आरएल जेपी के अलावा वीआईपी एजेपी आर और
बीजेपी पी जैसी पार्टियां जो शामिल होंगी
एनडीए में उन सभी को देंगी ऐसे में भारतीय

जनता पार्टी ने यह फार्मूला तय कर लिया है
और देखना दिलचस्प होगा कि नीतीश कुमार इस
फॉर्मूले के हिसाब से कैसे अपने साथी दलों
को एडजस्ट कर पाते हैं यह फार्मूला अब आगे
आने वाले चुनाव की घोषणा से पहले आपको
देखने को मिल सकते हैं कहा तो यह जा रहा

है कि 1 तारीख को जब विधानसभा का सत्र
समाप्त होगा उसके बाद यह घोषणाएं अधिकारिक
रूप से कर दी जाएंगी जुड़े रहिएगा भारत

लाइव के साथ बहुत-बहुत धन्यवाद पोरमा
ग्रुप जो सोचता है वह करता है अगर य
वीडियो पसंद आई अरवा बिहार के राजनीत और
बिहारि से सरोकार रखेनी तो सब्सक्राइब बटन
दबा के चैनल के सब्सक्राइब कर ले ओ घंटी
बा रा बटन दबा देला से कुल सटीक और मार्क
खबर रवा मुफ्त में मिल जाई अगर रवा

पत्रकारिता के हमनी के नया प्रयोग में
सहयोग कर चाहनी तो जवाइन बटन दबा दी
ptm360
700 धन्यवाद

Leave a Comment