आज रात तुम्हारे भाग्य कि मैं आकाशवाणी करने जा रही हूं ये तुम्हारे जीवन का..

मेरे बच्चे कुछ लोग पुनः जीवन लेकर मरण

शैली को प्राप्त होते

हैं और कर्म बंधन से मुक्त होने का

प्रयत्न करते हैं लेकिन जो इस बंधन से

मुक्त हो जाते हैं वह अपने परिवार या अन्य

जनों में भेद नहीं

करते और उनके मन में यदि अपने परिवार के

किसी मनुष्य को आगे बढ़ाने की प्रेरणा

जगती है तो ऐसा इस लिए होता

है क्योंकि वह कुछ मनुष्य उनके परिवार का

अब तक का सबसे श्रेष्ठ जीव होता

है उसकी आत्मा पवित्र होती है उसका मन छल

कपट से दूर ईर्षा से दूर होता

है द्वेष भाव वह समाप्त कर रहा होता

है किंतु कहीं ना कहीं अहंकार और दूसरों

के द्वारा दबाए जाने की व्यवस्था

उस पर हावी होती

है जिस वजह से वह सटीक और उचित फैसले नहीं

ले पाता

है मेरे प्रिय में ब्रह्मांड के संचार का

केंद्र हूं और तुम इस जीवन के केंद्र में

स्थित हो तुमसे तुम्हारे सृष्टि का

निर्माण होता

है अभी भले तुम इस रचना को ना समझ पाओ

लेकिन धीरे-धीरे यह गुथी सुलझ जाएगी और

तुम यह पाओगे कि तुम ही दृष्टा तुम ही

दृश्य तुम ही विचार तुम ही

संकल्प तुम ही कल्पना और तुम ही जीव अजीव

सब कुछ हो तुम यह पाओगे कि कैसे तुम मुझसे

जुड़े हुए हो और मुझसे ही अनभिज्ञ हो कैसे

तुम मुझे बाहर ढूंढ रहे हो और कैसे मैं

तुम्हारे भीतर ही मौजूद हूं यह तुम्हारे

जीत का समय है इस जीत के समय का तुम भी

आनंद उठाओ लेकिन धीरे-धीरे यह तुम्हें

उतना लुभावना नहीं

लगेगा और तब तुम मेरी तलाश खुले दिल से

प्रारंभ कर

दोगे अभी तुम्हारी भावनाएं तुम्हारी आका

नएं बहुत सीमित

है यह पूरी तरह से भौतिकवादी विचारधारा से

ढकी हुई

है नॉइस जबकि तुम्हारा मन तुम्हारा भाग्य

तुम्हारी चेतना तुम्हें अध्यात्म की ओर

लेकर जा रही

है अब तुम्हारे सामने वह सभी अच्छी चीजें

रखी जाएंगी जो तुम्हें पानी की लालसा

है यह सब कुछ घटित

होगा बहुत जल्द तुम्हारे जीवन में तुम्हें

उत्सव मनाने का अवसर मिलेगा और तुम अपने

कार्यों को करने में और भी ज्यादा

दिलचस्पी

लोगे प्रिय बच्चे अपने साथी के लिए तुम

जिस तरह की भावना चाहते हो उसके मन में

वैसे ही भावना जागृत करने की प्रेरणा में

उसे देने वाला

हूं मेरी प्रेरणा से वह तुम्हें बेशुमार

प्रेम

करेगा उसका प्रेम तुम्हें भी अचंभित कर

देगा ना केवल तुम्हें बल्कि वह भी मन ही

मन यह विचार

करेगा कि वह कैसे तुम्हारे लिए ढेर सारा

प्रेम जाहिर करें या अचंभा होना आवश्यक

है तुम्हारे पास नई चीजों की नई श्रृंखला

का आना अत्यंत आवश्यक

है नॉइस की अब तुम नए जगत के नए रीत

रिवाजों से अपने जीवन को जीने वाले हो

बंधनों से मुक्त यह नए जीवन तुम्हें बहुत

समृद्ध साली और रुचिकर प्रतीत

होगा मेरे प्रिय एक नए शुरुआत के लिए पूरी

तरह से तैयार हो जाओ क्योंकि अब जो होगा

वह बहुत ही अलग और अनोखा होगा क्योंकि एक

ऐसा मनुष्य

है जो तुम रे लिए तड़प रहा

है जो अपने प्रेम को पाना चाहता है

हालांकि उसे बहुत पीड़ा है और वह मुझसे

मदद की गुहार लगा रहा

है वह चाहता है कि तुम उसके जीवन में चले

जाओ मेरे प्रिय कुछ ऐसी घटनाएं पिछले

जन्मों में घटी है जिसका पछतावा उसे अभी

भी हो रहा है

वह तुमसे एक नए मौके की तलाश में है

तुम्हें अभी इसका ज्ञान नहीं है लेकिन

जल्द ही हो

जाएगा प्रेम के रिश्ते कच्चे धागे की तरह

होते

हैं यदि उसे सही से नहीं पकड़ा गया तो वह

धागा बड़ी ही आसानी से टूट जाता

है प्रेम के रिश्ते में विश्वास बहुत ही

महत्त्वपूर्ण है चाहे परिस्थितियां कैसी

भी हो लेकिन विश्वास का अडिग रहना अत्यंत

आवश्यक

है यहां विश्वास कमजोर हो जाता है उस

रिश्ते का बिखरना तय हो जाता

है यह बात तुम दोनों को समझने की आवश्यकता

है मेरे प्रिय प्रेम भले ही छोटा प्रतीत

हो किंत यहां बहुत विशाल होता है

कई मामलों में यह विकृत भी हो जाता है

इसलिए प्रेम में कई परीक्षाओं से भी

गुजरना पड़ता

है यह वास्तव में उतना जटिल नहीं जितना

इसे बना दिया जाता

है प्रेम अत्यंत सरल और अत्यंत मधुर होता

है यह वास्तव में एक लंबा सफर

है इसमें बहुत से उतार चढ़ाव आते हैं

किंतु यहां मनुष्य की मानसिकता और उसकी

भावना पर निर्भर करता है कि वह इसे किस

रूप में देखता

है प्रिय बच्चे पिछले जन्मों की कुछ

घटनाओं के कारण तुम्हारे मन में अभी भी

रह-रहकर उदासी छा जाती है यदि तुम्हारे

साथ सब कुछ अच्छा चल रहा

हो तब भी तुम्हारा मन भीतर से उदास हो जा

तुम्हारे मन को एक नति ही विकृत अकेलेपन

द्वारा घेर लिया जाता है और फिर तुम्हारी

यात्रा में एक निरस शुरू हो जाती

है तुम जो कि चंचल स्वभाव के मनुष्य हो जो

कई बार गंभीर व्यवहार भी करता है जो कि

स्वच्छंद मुक्त और हंसमुख स्वभाव के साथ

जीना चाहते हैं

उसके भी जीवन में निरता घर कर लेती है

क्योंकि तुम्हारे पिछले कुछ जन्मों में

कुछ ऐसी घटनाएं तुम्हारे साथी के साथ घटी

है जो तुम्हारे कारण से हुई

है और तुम दोनों के बीच घटी यह घटना कहीं

ना कहीं एक गलतफहमी और कड़वाहट को उत्पन्न

करती आई

है रह रहकर क्रोध की भावना का जन्म लेना

इसका एक अतिशय और त्वरित प्रभाव है एक ऐसा

अलग क्षण जो तुम्हें निरंतर परिलक्षित

होता

है तुम जो कि सरल जीवन जीना चाहते हो

नॉइस

शांतिपूर्ण संतोषप्रद और सुकून के साथ

जीवन को जीना चाहते

हो तुम्हारे भी जीवन में ऐसी घटनाएं घट

जाती हैं कि तुम उस संतोष को नहीं प्राप्त

कर

पाते और बेचैनियों से घट जाते

हो शांति प्रिय होने के बावजूद भी

तुम्हारे जीवन में ऐसी परिस्थितियां

उत्पन्न होती हैं कि तुम्हें हार मानना

पड़ता

है हालांकि तुम एक विलक्षण प्रतिभा के

मनुष्य हो और तुम्हारी उदारता तुम्हारी

महानता इस बात में है कि तुम ऐसी परि

स्थिति आने पर भी हिम्मत नहीं हारते एक

नॉइस

Leave a Comment