आज से तुम्हारा सारा दुख गायब, यह है मेरा वादा है।

मेरे बच्चों में काली मां तुम्हारी दुख और पीड़ा को सुनकर विवश हो गई हूं और आज मैं तुमसे स्वयं धरती पर

मिलने आ रही हूं आज तुम्हारे मन में जितनी भी शनकाई हैं और तुम्हारे मन में जो उलझने हैं उन सब का

समाधान मैं करने आ रही हूं मेरे संदेश को ध्यान पूर्वक सुना आज तक तुमने बहुत बार लोगों से अपने बारे में

निंदा सुनी है और वह सब सुनकर तुम्हारा मन व्याकुल हो गया है जिसके कारण तुम बेहद परेशान रहते हो उनकी बातों को हर पल सोचते रहते हो मेरे बच्चों आज अपने मन में इस दर्द को मत रखो कोई तुम्हारे बारे में

कुछ भी सोच कहे तुम उसके लिए दिल को परेशान मत करो तुम केवल अपने कार्यों पर ध्यान दो बाकी की सारी बातें मुझ पर छोड़ दो तुम्हारे जीवन में जो दुख और तकलीफ है उसके कारण तुम अपने जीवन के कार्यों को भी

ठीक प्रकाश से कर पा रहे तुम्हें अपने दुख इतने बड़े लगते तेजस के कारण कोई भी कार्य करने में आलस करने लगे हो तुमसे केवल एक ही सवाल पूछना चाहती हूं जवाब तुम्हें मुझे दे दिया तो तुम्हारे सभी सवालों के उत्तर तुम्हें स्वयं ही प्राप्त हो जाएंगे

Leave a Comment