काली मां🕉 एक काला साया तुम्हारे जीवन में मडारा रहा है

प्यारे भक्तों यदि आप अपनी माता को
प्रसन्न करना चाहते हैं एवं चाहते हैं कि
आपके जीवन के हर दुख को सदा के लिए समाप्त
कर दिया जाए तो आज के दिन अपनी माता को
खुश करने के लिए तुम्हें ज्यादा कुछ नहीं

करना है बस अपने जीवन में उत्तम विचारों
को अपनाना है और जितना हो सके दूसरों की
सहायता करनी
है
और उसके साथ ही आपको अपने जीवन में सत्य
की राह पर चलना है झूठ लालच क्रोध को सबसे
दूर रहना है इस संसार में यदि आप कोई

मनोकामना पूरी करना चाहते हैं तो यह आपके
लिए सबसे उत्तम संदेश है आपको मेरे संदेश
को हर रोज सुनना है इस संदेश से आपके मन
में सकारात्मक विचार आएंगे
और यदि आपके जीवन में कुछ भी नकारात्मक
प्रभाव हैं तो वह भी इस प्रभावशाली संदेश

को सुनकर दूर हो
जाएंगे इस संदेश में इतनी शक्ति है कि यह
जीव की सभी मनोकामना को पूरी कर सकती है
यदि आप इस संदेश को श्रद्धा पूर्वक सुनते
हैं तो आपके जीवन की सभी परेशानियां सभी
उतार चढ़ाव धीरे-धीरे समाप्त हो जाएंगे आप
अपने जीवन में खुद ही बदलाव महसूस होते
हुए
देखेंगे यह बहुत प्रभावशाली संदेश है

जिसको सुनने वाला और बताने वाला दोनों के
जीवन में चमत्कार होना संभव
है इस संदेश को यदि आप प्रतिदिन अपने जीवन
में अपनाते हैं और सुनने के बाद मन में ही
स्मरण करते हैं

और मन में ही यदि आप अपनी मनोकामना को
मांग लेते हैं तो वह सभी पूरी हो जाती हैं
बस इस बात का विशेष ध्यान रखना है कि
संदेश को अधूरा छोड़कर नहीं जाना है यदि
आप किसी कारणवश इस संदेश को सुनने में

असमर्थ हैं
तो आपको बस इस संदेश को अपने मोबाइल में
चलाकर सुनना है यदि आप ध्यान पूर्वक
सुनेंगे तो भी आपके जीवन में आपको लाभ
प्राप्त होगा और जीवन में जितने भी उतार
चढ़ाव चल रहे
हैं वह सब धीरे-धीरे समाप्त होने
लगेंगे मेरे बच्चे यदि तुम कुछ नियमों को

अपने जीवन में अपना
लोगे तो तुम्हारा जीवन स्वर्ग से भी अच्छा
हो
जाएगा और उसके लिए केवल तुम्हें कुछ चीजों

का त्याग करना
होगा जो मैं तुम्हें बताने जा रही हूं ऐसी
चीजें तुम्हारे जीवन को बर्बाद करती हैं
यदि तुम इन चीजों को स्वयं छोड़ दोगे तो
स्वयं ही तुम्हारा जीवन ठीक होने
लगेगा और तुम जिस खुशी की तलाश कर रहे हो

वह तुम्हें प्राप्त हो
जाएगी दीन दुखियों गरीब लोगों की सहायता
करना तुम्हारा प्रथम कर्तव्य है
इस कर्तव्य से तुम कभी पीछे मत हटना
क्योंकि तुम्हारे माता-पिता की कृपा तुम
पर है और आज मैं अपना दिव्य आशीर्वाद
सिर्फ और सिर्फ तुम्हें ही दे रही
[संगीत]
हूं आज जो कोई भी मेरा संदेश सुन रहा है

उसे धन की प्राप्ति अवश्य होगी क्योंकि
मेरा यह संदेश सुनने के बाद तुम्हारे अंदर
वह ऊर्जा पैदा होगी जो तुम्हें धन की और
आकर्षित करेगी और तुम्हारी माता तुम्हें
वह ज्ञान देने आई हैं जो तुम्हारे लिए
बहुत उपयोगी है इसलिए मेरे संदेश को बीच
में छोड़कर मत

जाना मैं तुम्हें सभी तकलीफों से मुक्त कर
दूंगी जो तुम्हें परेशान कर रही हैं मैं
तुम्हारी माता हूं
मैं सिर्फ तुम्हारे लिए यहीं पर आई हूं
यदि तुम्हें मुझ पर विश्वास है तो आज रात
से ही तुम्हारी परेशानियों का हल निकलना
शुरू हो

जाएगा तुम इतने परेशान क्यों हो तुम्हें
तो यह ज्ञात होना चाहिए कि तुम्हें
तुम्हारे कर्मों की करनी ही मिल रही है जो
तुम भोग रहे हो मेरे बच्चों तुम जो इस समय
इतने उदास हो अब मुझसे तुम्हारी उदासी अब

देखी नहीं जाती मैं जानती हूं कि यह सब
तुम्हें तुम्हारे कर्मों के हिसाब से ही
मिल रहा है पर फिर
भी मैं तुम्हारी माता आज अपना आशीर्वाद उन
बच्चों को देने आई हूं जो अपने जीवन में
अनकी बर्बादी नहीं करते हैं और हमेशा उसका
आदर सत्कार करते हैं क्योंकि आपको अन्न
बहुत मुश्किलों के बाद ही मिलता है आप
जिसके लिए दिन रात इतनी मेहनत करते हैं जब
आप उसे ग्रहण करते हैं तो शांति पूर्वक आप

उसे ग्रहण
कीजिए भगवान कहते हैं कि वह किसी भी भाग्य
के निर्माता नहीं है एक व्यक्ति अपना
भाग्य खुद लिखता है आप जैसा बीज बोएंग

वैसे ही फसल काटेंगे
आप जैसे कर्म करेंगे वैसे ही परिणाम आपको
मिलेंगे यदि विद्यार्थी मन लगाकर पढ़ाई
करेंगे तो परीक्षा में अवश्य ही सफल होंगे
इसलिए हर व्यक्ति का भाग्य तभी बदलेगा जब

वह अच्छे कर्म
करेगा हम जब भी जीवन में कोई कार्य करते
हैं तो हमें यह नहीं सोचना चाहिए कि हमें
सफलता मिलेगी या नहीं मिलेगी लक्ष्य पूरा
होगा या नहीं होगा क्योंकि कर्मों की
सफलता या
असफलता इंसान के हाथ में नहीं होती है जब
वह अच्छे कर्म करता है तो उसकी सफलता

दिलाने के लिए भगवान वह सभी कार्य करते
हैं जिससे कि वह व्यक्ति उस सफलता का
हकदार बन सके
आपको अपना जीवन बिल्कुल साधारण जीना चाहिए
जब हम सीमित संसाधनों में अपने जीवन को
जीते हैं तो हम बहुत ज्यादा खुश रहते हैं
जब हम अपनी इच्छाओं को अपने पर हावी नहीं
होने देते तब हमारा जीवन खुशी से बीतता है
जिस दिन भी हमारी इच्छाएं
हम पर हावी हो जाती

हैं उसी दिन हम गलत सोच की तरफ आगे बढ़ते
हैं और कई बार गलत कार्य भी कर लेते
हैं चाहे कैसा भी बुरा समय आए कभी घबराना
नहीं चाहिए विपरीत परिस्थितियों में
सूझबूझ और बुद्धि से कार्य करना चाहिए कभी

भी जीवन में हार नहीं माननी
चाहिए अंत तक प्रयास करते रहना चाहिए भले
ही हमें उन कार्यों को कर में कितने ही
वर्ष क्यों ना लग
जाएं आज के कलयुग में सही मित्र सच्चे
मित्र मिलना मुश्किल ही हो गया है कभी
आपने कृष्ण सुदामा की दोस्ती को समझा है
उसे याद किया है आजकल के जमाने में ऐसी

दोस्ती बहुत मुश्किल से कहीं देखने को
मिलती
है उन दोनों ने हमेशा एक दूसरे का साथ
दिया है और श्री कृष्ण भगवान थे लेकिन फिर
भी उन्होंने कभी भी अपने पर अहम ना करके
अपने मित्र को कभी भी नीचा नहीं दिखाया

हमेशा उनके साथ बराबर का व्यवहार किया और
उनके साथ प्यार किया उनकी हर पल सहायता
की मेरे बच्चे मैं तुम्हें आने वाली खुशी
के संकेत दे रही हूं लेकिन तुम इतना उदास
क्यों हो तुम उन संकेतों को क्यों नहीं
पहचान पा रहे
हो आज मैं तुम्हें अपना आशीर्वाद

दूंगी जिससे तुम मेरे दिए गए संकेतों को
पहचान पाओगे और फिर तुम उस राह पर चलोगे
जिस राह पर मैं तुम्हें ले जाना चाहती हूं
ताकि तुम अपने जीवन में ऊंचाइयों को छू

सको
आज रात ही मैं तुम्हें स्वपन में दिखाई
दूंगी यदि तुम सपने में मुझे देख लो तो
समझ जाना कि तुम्हें मेरा आशीर्वाद
प्राप्त हो गया है अपनी माता पर विश्वास
रखो और बुरे लोगों का साथ छोड़ दो बुरे
लोग कभी भी जीवन में तुम्हें
किसी प्रकार की खुशी नहीं

देंगे मेरे बच्चों मेरी और प्रभु की शक्ति
के बिना तो संसार के पेड़ों के पत्ते तक
भी नहीं हिलते तो तुमने कैसे सोच लिया कि
तुम्हारे जीवन में लोगों के द्वारा बोली
गई बुरी बातों का असर तुम पर होगा लोग

तुमसे जलते हैं तुम उनके साथ वैसा व्यवहार
मत करो
जैसा वह तुम्हारे साथ करते हैं तुम शांत
रहो एक बात समझना ईश्वर ना तो दंड देते
हैं ना ही माफ करते हैं वह तो कर्म के
अनुसार फल देते हैं वह हमेशा इंसाफ करते
हैं सुख दुख का बटन तो तुम्हारे खुद के
हाथ में है तुम इसे खुद ही ऑन कर सकते हो
और खुद ही ऑफ कर सकते हो ईश्वर के न्याय

की चक्की धीमी जरूर चलती है लेकिन पिसती
बहुत बारीक
है मेरा आशीर्वाद सदा अपने बच्चों के साथ
है जीवन में खुश रहो स्वस्थ रहो तुम्हारा
दिन मंगलमय हो

Leave a Comment