कोई जो तुमसे टकराएगा उसका बिना सो जाएगा

मेरे बच्चे मैंने तुम्हारे पास और

तुम्हारे परिवार के लिए एक दिव्य शक्ति

भेज दी मेरे बच्चे यह दिव्य शक्ति तुम्हें

हर कष्ट से बचाने की शक्ति रखता है इसे

साधारण शक्ति समझने की भूल मत करना वरना

बहुत बड्डी मुश्किल हो जाएगा मेरे प्रिय

बच्चे आज का संदेश सारी सुख सुविधा

तुम्हारे कदमों में लाकर देने वाली इसीलिए

मेरे बच्चे इस संदेश को छोड़ डाक कर जाने

की गलती मत करिए मेरे बच्चे इसे स्वीकार

करने के लिए इसे अभी लायक कर दीजिए और जय

माता रानी लिख दीजिए मेरे बच्चे कोई भी

व्यक्ति तुम्हें कभी अपने जाल में फंसाकर

तुम्हें बर्बाद नहीं कर सकता है अतीत में

भी बहुत बार ऐसा हुआ है जब तुमने जल्दबाजी

में कोई गलत फैसला लिया लोगों ने तुम्हें

बहुत भड डका ताकि तुम गलत निर्णय ले ले

बहुत सारे लोगों ने तुम्हारे बर्बादी की

मन्नतें लेकिन मैंने हमेशा तुम्हें उस खाई

में गिरने से बचाया है मेरे बच्चे तुम रोए

हो लेकिन जितना बडा षड्यंत्र रचा गया था

उतना प्रभाव कभी नहीं पढ़ा तुम्हारे जीव

क्योंकि तुम्हारी भक्ति ने हमेशा तुम्हारा

साथ दिया ना जाने कितने जन्मों की भक्ति

है तुम्हारी कितने जन्मों के पुण्य कर्म

जो इस जन्म में तुम्हारी रक्षा कर इसलिए

निश्चिंत हो जा मेरे बच्चे तुम्हें अपनी

माता रानी पर विश्वास तो हां लिखकर इस

संदेश को लायक कर दीजिए मेरे बच्चे

तुम्हारे शत्रु के सपने कभी पूरे नहीं

होंगे तुम्हें बर्बाद करने की उसकी योजना

कभी सफल नहीं हो क्योंकि ब्रह्मांड का यह

उपहार

है तुम्हारे पिछले जन्मों के अच्छे कर्म

है मेरे बच्चे जो हमेशा तुम्हें किसी भी

संकट में फंसने से पहले बचा लेंगे वो लोग

जो तुम्हें बर्बाद करने का षड्यंत्र बते

हैं वह तुम्हारे पक्ष में ही काम करता है

उनकी योजनाएं तुम्हारे लिए ब्लेसिंग का

काम करती है तुम्हें बर्बाद करने की धुन

में तुमसे तुम्हारी खुशियां छीनने की धुन

में तुम्हारे करियर को बर्बाद करने की धुन

में तुम्हारे शत्रु इंसानियत ही भूल गए

मेरे बच्चे और जिसके दिल में इंसानियत

नहीं जो दूसरों को तकलीफ में देखकर खुश

होता है दूसरों का घर उजाड़ करर दिवाली

मनाता है वह इंसान ही नहीं वो तो जानवर भी

नहीं है मेरे बच्चे क्योंकि जानवर भी

दूसरों का दुख समझते और इंसानों से ज्यादा

साथ देते हैं सुख दुख में मेरी नजर में तो

वह व्यक्ति किसी राक्षस से कम नहीं है मैं

बस उस दिन का इंतजार कर रही जब वह मेरी दी

आखिरी चुनौती को नजरअंदाज करके अपने असली

रूप में मेरे सामने आए उस दिन मैं उसे

राक्षस का संहार करूंगी अब तक तो मैं उसे

मौके देर यह सोचकर कि शायद वह अपने रास्ते

से भटक गया जब उसे उसे अपने कर्मों का

एहसास होगा तो वह माफी की भीख मांगेगा वो

रोएगा गिड्डा गिड्डा है पर उसने मेरे दिए

मौकों का बहुत गलत फायदा उठाया है मेरे

बच्चे और कुछ ऐसा कर दिया है उसने जो माफी

के लायक नहीं है अब वो बेजुबान जानवरों पर

अत्याचार करने उसने लोगों को मौत के मुंह

में धकेलने की कोशिश

की पर मैं उसे अब मौत भी नहीं दूंगा बहुत

हल्के में ले लिया उसने मुझे और मेरी

चेतावनी

अब वह मुझसे मौत की भीख नहीं मांगेगा तब

भी मैं उसे मौत नहीं दूंगा और सुकून का

जीवन तो अब उसे मिलेगा ही नहीं पर तुम

मुझसे या किसी से भी बदले की भावना मत

रखना मेरे बच्चे क्योंकि यही फर्क है तुम

में और इन राक्षसों में तुम्हें कुछ भी

करने की कुछ भी सोचने की जरूरत नहीं है

क्योंकि उसने तुम्हें जितना नीचे खींचने

की कोशिश की उतना ही ऊपर ले जाऊंगी मैं

तुम मेरे बच्चे इस पर विश्वास है तो

लिखकर इस चैनल को सब्सक्राइब कर दीजिए

मेरे बच्चे तुम्हें जितनी खुशी मिलनी

चाहिए थी उससे लाख गुना ज्यादा खुशी दूंगी

मैं तुम्हें तुमने हमेशा सबकी खुशी का

सोचा अपनी खुशियों से ऊपर दूसरों को रखा

तो तुम्हें तुम्हारे त्याग का फल दूंगी

मैं मेरे बच्चे तुम्हारे काम नहीं बन आगे

नहीं बढ़ा रहे हो तुम्हें सही से नींद तक

नहीं आती है पर मेरे बच्चे गहरी लंबी सांस

ले लो शांति से बैठ जाओ अब बस अपनी माता

का खेल देखो तुम जिन लोगों के बारे में

सोचकर परेशान हो रहे वह लोग तुम्हारे पैर

की धूल भी नहीं है तुमने हमेशा लोगों की

मदद की है सबका अच्छा सोचा है तो तुम्हारी

माता तुम्हारे साथ कभी बुरा नहीं होने

देंगे यह सारा खेल मेरा और कोई कितना भी

बढ़ा षड्यंत्र रचने इस खेल की बाजी तो

मेरा बच्चा ही जीते वह इंसान जो दूसरों को

प्रताड़ित कर रहा है बेजुबान जानवरों पर

अत्याचार कर रहा उसका अंत निकट है उसके

रचे छोटे खेल का इस भ्रम का अंत निकट है

मेरे बच्चे उसने हमेशा राक्षसी प्रवृत्ति

अपनाई हमेशा दूसरों का बुरा सोचा दूसरों

के दुख पर हंसा दूसरों को दर्द में देखकर

उसे सुकून की नींद आती थी तो उसका अंत भी

वैसा ही होगा उसे डर लगेगा कि कौन कब उसे

मार दे अब उसे वह नींद नहीं आएगी

मेरे बच्चे वह रातों में डर करर उठकर बैठ

जाएगा कि कहीं वो सोया तो कोई उसके प्राण

ना जब वह उठेगा तो उसे लगेगा कि ऐसा जीवन

जीने से अच्छा कि मेरा जीवन खत्म हो जाए

ना उसे मौत मिलेगी ना उसे सुकून का जीवन

मिलेगा उसके बुरे कर्म उसकी आंखों के

सामने घंटे उन जानवरों के दुख उनकी

आवाज उनकी पीट ढा से वह अपने कान बंद अपनी

आंखें बंद करके भी अब इन चीफ पुकारो को

अनदेखा नहीं कर पाएगा मेरे बच्चे उसने जो

लोगों के साथ किया उससे भी बुरा होने वाला

है और अब ना मैं उसे मौके दूंगी और ना उसे

माफ करो वह तुम्हें परेशान तुम्हारे खिलाफ

षड्यंत्र रचता तो समझ में आता था मेरे बच

क्योंकि उसे तुम्हारी बातों से दिक्कत थी

तुमसे जलन तुम्हारी कुछ बातों से ठेस

पहुंची थी जिसे अपमान का जिन बातों का वह

बदला लेना चाहता था तुमसे और जलन मनुष्य

की प्रवृत्ति में होता बस कोई इंसान नफरत

की भावनाओं का ज की भावनाओं को कंट्रोल

में कर लेता है और कोई इंसान बदले की

भावना में बदल देता है जिसके बाद वह सब

कुछ बर्बाद करने पर तुल आता है वरुण

बेजुबान जानवरों ने तो उसका कुछ नहीं

बिगाड़ा था

मेरे

Leave a Comment