कोई दिन रात तुम्हारे सुख की दुआएं मांग रहा है 💞

बच्चे यदि तुम्हें मेरा संदेश प्राप्त हुआ
है और तुम मेरे इस संदेश को पढ़ रहे हो तो
इसका अर्थ साफ है की मैंने तुम्हारा हाथ
थम लिया है जब भी कोई बच्चा अपने

माता-पिता का हाथ पकड़ता है तो शायद हाथ
ठोकर खाने से छठ भी सकता है और बच्चा गिर
भी सकता है लेकिन यह दिन माता-पिता जी
प्रकार बच्चे का हाथ थम लेते हैं तो बच्चा
गिर नहीं सकता उसके रास्ते में चाहिए
कितने भी परेशानियां हैं इस प्रकार मैं

तुम्हारा हाथ थम रहा हूं अब जीवन में एक
बात का वादा करता हूं की तुम्हें कभी
गिरने नहीं दूंगा चाहे मुश्किलें कितनी भी
हो उसका करण केवल तुम्हारे किया हुए कुछ
ऐसे गम है जो की मुझे अपने और आकर्षित कर
रहे हैं इसके साथ ही तुम्हें एक कार्य और
भी करना है मेरे बच्चे

जी कार्य को करते ही जीवन में तुम्हारे एक
शुभ कार्य प्रारंभ हो जाएगा और तुम्हारा
अधूरा कार्य पूर्ण करने के लिए तुम्हें ना
तो ज्यादा बल्कि आवश्यकता लगे यह ना ही तो
मैं अपने दिमाग पर जोर डालना पड़ेगा
क्योंकि कार्य आगे बोर्ड होता चला जाएगा
और आगे के सभी मार्ग तुम्हें साफ होते नजर
आएंगे तो मैं वह दिशा दिखाई देने लगेगी
जहां पर तुम्हें रास्ता बैंड होता दिखाई

दे रहा था आगे से आगे कम को पूर्ण करना जो
बुद्धि बाल है वह मैं तुम्हें दूंगा लेकिन
तुम्हें तभी मेरे कहे हुए एक कार्य को
करना प्रारंभ करना होगा और वह कार्य जो
मैं बता रहा हूं उसको ध्यानपूर्वक सुनकर
पूर्ण रूप से समझ लो यदि तुमने मेरी कहीं
हुई बात को मानकर उसे कार्य को करना
प्रारंभ कर दिया तो यह मैं तुमसे वादा

करता हूं की तुम्हारी बुद्धि को इतना
प्रबल कर दूंगा की तुम जो सोचोगे वही
पूर्ण कर पाओगे कार्य को करने से पहले
तुमको यह ध्यान रखना होगा कार्य
में विश्वास होना चाहिए क्योंकि जी कार्य
को मैं बता रहा हूं यदि तुम उसे बिना मां
से यह बिना श्रद्धा विश्वास से करोगे तो

वह कार्य बिल्कुल भी फ भूत नहीं होगा और
ना ही पूर्ण रूप से पूर्ण हो पाएगा उसका
कोई फल प्राप्त नहीं होगा क्योंकि कार्य
को यदि विश्वास के साथ किया जाए तभी वह
शक्ति से विद्यमान एक बहुत शक्तिशाली
कार्य बंता है जो तुम्हारे लिए जरूरी है
अब ध्यान दो प्रार्थना कल उठकर जब तुम

स्नान करते हो उसके पश्चात तुम्हारे घर
में जो भी एन तुम खाता हो अर्थात तुम्हारा
अन्नपूर्णा को लेकर तुम जहां पर तुम्हें
बहुत साड़ी चीटियां दिखती हैं जो बहुत
होती उनके पास जो और उसे आते से उनका भजन
करो हो सकता है

हजार चीटियां को प्रतिदिन भजन कर सकते हो
तुम्हारी इतनी समर्थ तो है ही प्रतिदिन
किया गया यह कार्य तुम्हारे जीवन में
तुम्हारी सभी गलतियां को माफ करेगा और तुम
एक ऐसी पुण्य आत्मा बन जाओगे जो प्रतिदिन
बड़े-बड़े लोग कार्य करते हैं गरीबों को
खाना खिलाने हैं अपनी समर्थ के अनुसार
उनके समाज तुम्हारा पूर्ण भी होने लगेगा
इसके साथ साथ जितने भी ऐसे

पशु है जिनको कहानी से चार नहीं मिलता है
जिनका कोई रखवाला नहीं है उन पशुओं को हो
सके तो तुम कुछ ना कुछ खाने के लिए देना
मेरे बच्चे क्योंकि आत्मा की सबसे बड़ी
परमात्मा की शक्ति होती है अर्थात मेरी
शक्ति होती है जैसे ही

भूखे का पेट भरोगे तुम शक्ति खुद बी खुद
तुम्हारी तरफ खींची चली आएगी तुम जो
चाहोगे तुम्हें प्राप्त होगा क्योंकि उनको
जो चाहे वह तुम डॉग तुम्हें जो चाहिए वह
मैं तुम्हें दूंगा अच्छा चाहते हो तो करना
भी तुम्हें अच्छा ही होगा जैसा की तुम कर
रहे हो मेरा आशीर्वाद सदा तुम्हारे साथ है
मैं फिर आऊंगा तुमसे मिलने

मेरे बच्चों मैं तुम्हारी काली मां
तुम्हें दर्शन देने के लिए आई हूं
तुम्हारे जीवन की साड़ी परेशानियां मुझे
मालूम है अब तुम्हें आज जो रहा दिखाऊंगी

उसके बाद तुम्हें अपने जीवन में चल रहे
सभी परेशानियां से मुक्ति मिल जाएगी बस
तुम याद रखना की मुझे सुनकर अनदेखा मत
करना तुमने अपने जीवन में बहुत आंसू बहे
हैं तथा बहुत से दुखों का और पीड़ा का
सामना किया है परंतु मैं तुम्हारी मां
तुम्हें इस हालात में नहीं देख शक्ति तो
अपने सारे दुख और पीड़ा मुझे दे दो

तुम्हारे जीवन में जो लोग हैं जो तुम्हारे
साथ है तुम्हारा अपमान कर रहे हैं जो
तुम्हारी इज्जत नहीं करते जो तुम्हें हर
पाल घृणा की नजर से देखते हैं तथा जो
हमेशा तुम्हें निशा दिखाने की कोशिश करते
हैं
हमारे आत्मविश्वास को तोड़ने की कोशिश कर

रहे हैं तो मैं हर पाल अंदर से कमजोर करने
का हर संभव प्रयास कर रहे हैं आज मैं
तुम्हें उनका सत्य बताऊंगी उनके राज आज
मैं तुम्हें बताऊंगी मेरी बटन को तुम
ध्यान से सुना क्योंकि यह वही लोग हैं जो
तुम्हारे अपने हैं और यह ऐसा क्यों कर रहे
हैं यह तुम्हारा जानना अति आवश्यक है मेरी
बटन को ध्यान से सुना होगा और जो भी मैं
तुमसे कहूंगी तुम्हें समझना होगा तुम्हारे
जीवन में है जो लोग हैं जिसमें कुछ

तुम्हारे अपने तो कुछ पराई हैं परंतु यह
जो भी है यह तुम्हें निशा दिखाना चाहते
हैं और तुम उनसे दुखी हो जाते हो इसके
पीछे का करण तुम्हारा जानना बेहद आवश्यक
तुम्हें इतना निशा दिखाई हैं जो तुम्हारे

अपने होकर भी तुम्हारे साथ गलत करते हैं
वह यह सब इसलिए करते हैं क्योंकि ऐसे लोग
स्वयं अंदर से बहुत कमजोर होते हैं ऐसे
लोगों के अंदर आत्मविश्वास की कमी है यह
लोग स्वयं तो कुछ नहीं कर सकते परंतु निशा
दिखाने के लिए हर संभव प्रयास करने में
लगे रहते हैं या तुमसे जलते हैं की तुम

अपने जीवन में इतनी कामयाबी कैसे हासिल कर
रहे हो परंतु फिर भी तुम हमेशा दुखी रहते
हो इन लोगों की बटन को सुनकर यह लोग केवल
तुम्हारी उन्नति से डरते हैं और जब तुम

ऐसे दुखी होते हो तो है तुम पर हमेशा
हंसते हैं ऐसे लोग तुम्हारे अंदर की आत्मा
शक्ति को देख कर घबराते हैं वह तुम्हारे
साथ विश्वास को देखकर तुमसे जलते हैं पता
है तुमसे डरते हैं की तुम इतने
आत्मविश्वासी किस प्रकार से हो किस प्रकार
से हो और इसलिए है तुम्हें हर पाल अपमानित
करते रहते हैं
तथा तुम्हें निशा दिखाई हैं जिसके चलते
तुम इनकी बटन में आकर हर मां जो और अपने
लक्ष्य से भटक जो इनका उद्देश्य केवल
तुम्हें तुम्हारे लक्ष्य से दूर करना है
ईश्वर हमेशा उन बच्चों के हृदय में वास
करते हैं जिन बच्चों का मां सच्चा होता है

और लोगों के प्रति अच्छा व्यवहार होता है
तुम्हें अपने अंदर के व्यवहार को अच्छा
रखना है क्योंकि तुम मेरे प्रिया भक्ति हो
और मेरे और मेरे प्रिया भक्ति सभी ऐसा
कार्य करते हैं जीवन में हर छोटे-छोटे
प्राणी का प्रतीत होता है उसका महत्व होता

है कोई समय में हमें जीवन में कम ए सकता
है इसलिए हमें किसी के साथ बेर नहीं बनाना
चाहिए सबका सम्मान करना चाहिए भगवान कहते
हैं अगर आप मां से साफ है तो आप जीवन में
हर जगह उन्नति करेंगे खुश रहेंगे और अपने
साथ-साथ बाकी लोगों को भी खुश रखेंगे

लेकिन अगर कोई व्यक्ति मां से साफ नहीं है
तो वह चाहे गंगा में भी ना ले कभी भी
पवित्र नहीं हो सकता है जी प्रकार एक मछली
हमेशा पानी में रहती है लेकिन फिर भी वह
साफ नहीं होती है उसमें से बदबू भी आई
रहती है ऐसे ही इंसान है अगर मां में
पवित्र नहीं है तो बाहर से चेहरा कैसा है

रंग रूप से लेकिन वह पवित्र नहीं हो सकता
है क्योंकि मानव शरीर मिलन दुर्लभ है
इसीलिए जो जन्म आपको मिला है उसमें अच्छे
कर्म करिए जब तक आपका शरीर है आप अच्छे
कार्य करिए दान करिए अच्छे विचार रखिए
क्योंकि जब शरीर से प्राण निकाल जाता है
तो फिर सुंदर शरीर को कोई नहीं पूछता है
या शरीर रख के समाज हो जाता है आपके
सुरक्षित कर्म अच्छी बातें ही लोगों को
याद आई है मैं जानती हूं की तुम कभी कभी
निरसा हो जाते हो लेकिन तुम्हें छोटी-छोटी
परेशानियां को देखकर निरसा नहीं होना है
ना ही घबराना है क्योंकि ऐसी परेशानियां
तो बिन मौसम बरसात की तरह होती है जो
हमारे जीवन में अचानक से ए जाति हैं और
चली जाति हैं तुम्हें बस छोटी-छोटी
परेशानियां में ना घबराकर अपने लक्ष्य तक
पहुंचाना है जैसे अर्जुन ने सिर्फ और
सिर्फ मछली की आंखों को देखा था और उसे
भेज दिया था ऐसे ही तुम्हें सिर्फ और
सिर्फ अपने जीवन में लक्ष्य को देखना है
कुछ प्राणी ऐसे होते हैं जो आपकी सहायता
भी करते हैं और आपको पता भी नहीं लगे देते
हैं वहीं आपके सच्चे हितेषी होते हैं ऐसे
लोगों का आज के इस कलयुग में मिलन मुश्किल
है लेकिन ऐसे पुरानी भगवान द्वारा ही बना
कर भेजें जाते
हैं कौन हमारा अपना है कौन पराया है यह सब
हमारे जीवन में जब दुख आते हैं तो हमें
पता चल जाता है तुम्हारी जो भी समस्या
तुम्हारे जिंदगी में घाट रही है वह कुछ
समय के लिए ही है क्योंकि बच्चों कभी भी
कोई चीज एक जैसी नहीं रहती है जैसे दिन के
बाद रात आना निश्चित है वैसे ही समस्याओं
का हमारे जीवन में आना जाना निश्चित है
तुम्हारा जीवन बहुत कासन में रहा है और
तुमने कभी किसी के साथ बड़ा नहीं किया बस
कुछ समय के लिए तुम रास्ता भटक गए थे उन
लोगों की संगत में ए गए थे जो लोग सदा
बुराई की और चलते हैं लेकिन अब तुम समझ
चुके हो इसलिए मेरे बच्चे गलती दोबारा मत
करना और अपनी माता पर विश्वास करके आगे
बढ़ाना मैं तुम्हें कभी गिरता देखना नहीं
चाहती हूं मैं तुम्हें हमेशा ऊंचाइयों पर
जाते हुए देखना चाहती हूं किंतु है दुनिया
तुम्हें तभी गुमराह कर शक्ति है जब तुम
स्वयं अपने आप को गुमराह होने से नहीं रॉक
पाते तुम्हारी आंखों पर पर्दा पद चुका है
मेरे बच्चे अब समय ए गया है की तुम्हें
अपनी आंखों के पर्दे को हटाकर अपने जीवन
की सच्चाई को देखना होगा ताकि तुम्हारा
जीवन जो अंधकार में है वह प्रकाश की और जा
सके जब कोई व्यक्ति तुम्हें सच्चाई की र
पर ले जान की कोशिश करता है तो तुम उसे
व्यक्ति पर भरोसा नहीं करते बल्कि अपने
अंधकार के करण इस र पर चलना चाहते हो जो
रहा गलत है तुम्हारे भीतर जो नकारात्मक
ऊर्जा है अब उसे तुम्हें अपने भीतर से
बाहर करना होगा
करती है नकारात्मक ऊर्जा तुम्हारे जीवन को
बर्बाद कर देगी मेरे बच्चे अपने अंदर के
शैतान को तुम्हें खत्म करना होगा ताकि तुम
अच्छाई की र पर चल सको मेरे बच्चों मैंने
जो ज्ञान आज तुम्हें दिया है उसे तुम
हमेशा याद रखना अब मैं अपने लोक वापस जाना
चाहती हूं और यही कहना चाहती हूं की मेरा
आशीर्वाद हमेशा तुम्हारे साथ है तुम अपने
जीवन में आगे बढ़ो और हमेशा खुश रहो मेरे
बच्चे यदि आज तुम्हें मेरा संदेश प्राप्त
हुआ है तो इसका अर्थ है तुम्हारी मांगी
हुई खुशी तुम्हें देने जा रही हूं तिल को
जो चीज अच्छी लगती है यदि वह प्राप्त हो
जाए तो दिल खुश हो जाता है और जो दिल को
अच्छी नहीं लगती है तो दिल दुखी हो जाता
है लेकिन कुछ हृदय की ऐसी अध इच्छाएं होती
हैं जो हृदय उन्हें पूरा होता देखना चाहता
है और तभी उनको पूरा होने में रुकावट आने
लगती है और मां बेचैन होंठ है ऐसे में
मेरे बच्चे का किसी कम में दिल नहीं लगता
और केवल वही बात दिमाग के अंदर घूमती रहती
है मेरा बच्चा बहुत ज्यादा इस बात से
परेशान हो जाता है की आखिर वह कार्य पूरा
क्यों नहीं हो रहा वह मेरी इच्छा अधूरी
क्यों है ऐसा मैं क्या करूं जिससे की वह
मेरी अधूरी इच्छा पुरी हो जाए क्योंकि जब
दिल खुश नहीं राहत तो किसी भी कम में मां
लगा असंभव है किसी भी कम में मां लगे के
लिए दिल का खुश रहना बहुत जरूरी है लेकिन
आज मैं कुछ ऐसी बातें बताने वाली हूं
जिसके सुनते ही तुम्हारा मां भी लगेगा कम
में और तुम्हारा हृदय भी प्रश्न हो जाएगा
तुम्हारे मां की इच्छाओं को पूर्ण जरूर
करूंगी यदि तुमने सच्चे मां से पुरी
श्रद्धा से और मेहनत से किसी कार्य को लगन
लगाकर किया तो मैं आज तुमसे वादा करती हूं
की तुम्हारा वह कार्य जिसके लिए तुमने
पुरी ईमानदारी और मेहनत के साथ उसे कार्य
को किया है मैं उसे अवश्य पूर्ण करूंगी
लेकिन तुम भी इस बात को बहुत अच्छे से समझ
लो की जी पर तुमने इतनी मेहनत कर दी है और
तुमने इतनी ईमानदारी से कम को किया है तो
वह कम भी तुम्हारी मेहनत के सामने छोटा पद
रहा है इसलिए उससे भी बड़ा और उससे भी
ऊंचा तुम्हें मुकाम हासिल होगा मैं आज खुद
तुमसे है वादा करती हूं की तुम मुझे भी
ऊंची है इसके लिए तुमने कार्य किया है
उससे भी बड़ी खुशी को तुमको प्राप्त होगी
एक कार्य जैसे-जैसे तुम्हें करोगे वैसे
वैसे सच में तुम्हारे अंदर वह शक्ति
विराजमान होती चली जाएगी जिससे तुम्हारा
मां शांत रहने लगेगा और यदि तुम्हारा मां
शांत रहने लगेगा तो तुम निश्चित ही अपने
कार्य को मां लगाकर कर पाओगे क्योंकि यदि
अशांत मां से कार्य करोगे तो कोई कार्य हो
नहीं पाएगा और खुशी प्राप्त होने के पहले
ही यह किसी कार्य को प्राप्त करने के पहले
ही तुम बिखरने और टूटने लगोगे सुबह जब तुम
प्रातः कल उठाते हो तो अपने नित्य क्रिया
से निवृत्ति होकर पूजा के समय ओम शांति ओम
शांति ओम शांति ओम शांति का 41 बार
उच्चारण करो
जैसे-जैसे तुम प्रतिदिन इसका उच्चारण
करोगे वैसे ही इसका असर तुम्हारे मस्तिष्क
और पूरे शरीर पर होने लगेगा और तुम्हारे
दिमाग में शांति उत्पन्न होने लगेगी शांत
मां खुश राहत है क्योंकि खुशी को अपने के
लिए सबसे पहले मां का शांत होना जरूरी है
मेरे बच्चे यदि तुम्हें मनुष्य का जीवन
मिला है तो उसे दुखी रहकर व्यतीत मत करो
बल्कि खुश रहकर गुजरो इस पृथ्वी पर मनुष्य
को ही इतनी दिमागी शक्ति मिली है जो हर
चीज को सोच सकता है समझ सकता है और हर कम
को दिमाग से कर सकता है लेकिन यदि तुम
उदास हो जाओगे तो तुम्हारा दिमाग भी कम
करना बैंड कर देगा और तुम जो सही कर रहे
हो
से भी कर नहीं पाओगे तुम्हारी बड़ी से
बड़ी खुशी को मैं पूरा करूंगी अगर तुम
मुझे एक वादा करो की आज के बाद तुम कभी
उदास नहीं होंगे तो मैं भी तुमसे एक वादा
करती हूं हर खुशी तुमको प्राप्त होगी बाकी
मेरे ऊपर छोड़ दो और सब सही होगा और अच्छा
होगा मेरे बच्चे कभी रोना मत इस बात पर
विश्वास रखना की तुम्हारी हर खुशी में
पुरी करूंगी तुम्हारी हर इच्छा पुरी
करूंगी जीवन में तुम्हारी एक कोई इच्छा
अधूरी नहीं रहेगी मेरे बच्चे रन से
तुम्हारे अंदर नकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न
होती है और सकारात्मक ऊर्जा नष्ट होती है
जिससे तुम्हारे हृदय में विराजमान नहीं र
पाऊंगी मेरे अगले संदेश की प्रतीक्षा करना
ओम नमः शिवा

Leave a Comment