कोर्ट और पुलिस के बीच फंसें भगवान, बिहार से आया अजीबोगरीब मामला !

देश की अदालतों ने वैसे तो कई बड़े-बड़े
केस का निपटारा किया है लेकिन बिहार के
गोपालगंज सीजेएम कोर्ट में जो मामला

पहुंचा है उसे सुनकर आप भी दंग रह जाएंगे
जी हां अदालत में भगवान की मूर्ति की

पहचान को लेकर आज अहम फैसला आए

गा क्या है
पूरा मामला देखिए हमारी इस रिपोर्ट
में इंसान न्याय के लिए कोर्ट का रुख करते
हैं जज से न्याय के लिए दरख्वास्त कर हैं

भगवान की दुहाई देते हैं लेकिन क्या कभी
सुना है कि अपनी पहचान के लिए भगवान खुद
कोर्ट में पहुंचे हो जी हां आपने सही सुना

ऐसा ही एक मामला बिहार के गोपालगंज से
सामने आया है जहां जज को फैसला करना है कि
मूर्ति भगवान राम की है या भगवान श्री

कृष्ण की है दरअसल पूरा मामला साल 2018 से
जुड़ा हुआ है जहां हतुआ थाना इलाके के बरी
राय भान गांव में श्री राधाकृष्ण गोपीनाथ
मंदिर से 13 फरवरी को अष्टधातु की मूर्ति

चोरी हो गई थी जिसके दावेदार विपिन बिहारी
ने राधाकृष्ण की मूर्ति चोरी होने का दावा
किया था जबकि स्थानीय पुलिस ने भगवान राम
की मूर्ति चोरी होने का दावा किया था वहीं

करीब 9 महीने बाद जांच करने वाले अधिकारी
ने इसे सूत्र हीन बताते हुए पूरे केस को
क्लोज कर दिया था इसके बाद से यह मामला
सीजेएम कोर्ट में पहुंचा था इसी बीच 2023

में बरी राय भान गांव में एक तालाब की
खुदाई के समय अष्टधातु की एक मूर्ति बरामद
हुई जिस पर विपिन बिहारी ने उसे अपने
मंदिर से चोरी हुई राधाकृष्ण की मूर्ति
बताते हुए दावा ठोका हालांकि उन्होंने
मूर्ति को लेकर कोई सबूत नहीं पेश किए

वहीं पुलिस ने तालाब की खुदाई में मिली
मूर्ति को भगवान राम की मूर्ति बताया है
इस तरह से चोरी हुए मूर्ति और तालाब से
मिले मूर्ति पर दो अलग-अलग दावे किए गए
हैं फिलहाल मूर्ति चोरी और खुदाई में मिली

मूर्ति का केस सीजीएम कोर्ट में है इस इस
मामले में पुलिस ने अपनी रिपोर्ट भी सौंपी
है वहीं कोर्ट ने इसे लेकर पुलिस को आदेश
दिया था कि अखबारों में मूर्ति की तस्वीर
प्रकाशित की जाए ताकि अन्य कोई भी जो

दावेदार हो वह 1 मार्च को कोर्ट में
पहुंचकर सबूत के साथ मूर्ति की पहचान करें
इस तरीके से आज सीजीएम कोर्ट में मूर्ति
के दावेदार साक्षी के साथ पहुंचेंगे जहां

कोर्ट में सभी सबूत और सुनवाई के बाद यह
साबित होगा कि आखिर यह मूर्ति किसकी है और
यह भी फैसला होगा कि यह मूर्ति भगवान राम
की है या श्री कृष्ण की इस पूरे मामले में

आम लोगों के साथ-साथ भगवान की मूर्ति को
भी कोर्ट के फैसले का इंतजार है हालांकि
देखना यह दिलचस्प होगा कि इस मामले में
कितने साक्ष्य कोर्ट में पेश किए जाएंगे
और कोर्ट किस आधार पर फैसला करेगा ब्यूरो
रिपोर्ट न्यूज
नेशन

Leave a Comment