क्यों नहीं थम रही , कमलनाथ-नकुलनाथ की टीम में टूटन…!

नमस्कार मैं हूं संजीव श्रीवास्तव आप देख
रहे हैं 4 पीएम न्यूज नेटवर्क छिंदवाड़ा
में क्या अभी खेला बाकी है भले ही
कांग्रेस कह चुकी है कि गेम ओवर हो गया है
कमलनाथ नकुलनाथ कहीं नहीं जा रहे हैं
लेकिन मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन

यादव का सुर कुछ और है वे तो यही संकेत दे
रहे हैं कि गेम अभी ओवर नहीं हुआ है और
खेला अभी बाकी
है सप्ताह भर से एक मध्य प्रदेश में
कमलनाथ नकुलनाथ को लेकर तमाम अटकलों का
बाजार गर्म

रहा चर्चाएं सर गर्म रही कि वे कांग्रेस
का हाथ छोड़ बीजेपी का दामन थाम सकते हैं
लेकिन इस पूरे के पूरे कयासों को खुद
कमलनाथ के सिपाह सालार सज्जन वर्मा ने

विराम दिया भले ही उन्होंने विराम दे दिया
कांग्रेस के तमाम दिग्गज नेता प्रदेश के
कह रहे हैं कि यह सब बीजेपी के दिमाग की
उपस्थिति या या मीडिया कहीं ना कहीं इस
पूरे मामले को बेवजह तूल दे रहा था और ऐसा
कुछ नहीं है लेकिन अभी कमलनाथ या नकुलनाथ

की और से स्पष्टीकरण नहीं आया है और उन
दोनों की र से करण ना आने के बीच मोहन
यादव का छिंदवाड़ा दवारा बहुत कुछ कहानी
बया कर रहा
है मोहन यादव गत दिवस छिंदवाड़ा पहुंचे थे
उनका वैसे तो कोई पूर्व से प्रोग्राम नहीं

था लेकिन जो कुछ घटनाक्रम कमलनाथ नकुलनाथ
को लेकर छिंदवाड़ा से लेकर दिल्ली तक चला
और बाद में यह सूचना आई कि कमलनाथ नकुलनाथ
कहीं नहीं जा रहे हैं उसी के बाद

मुख्यमंत्री मोहन यादव छिंदवाड़ा में आभार
प्रकट करने जनता का पहुंचे कल वे वहां
पहुंचे थे एक रोड शो उन्होंने किया रोड शो
के बाद एक सभा भी हुई और सभा में काफी
संख्या

में कांग्रेस के नेता गण छिंदवाड़ा जो
कमलनाथ का गढ़ है
वहां एक टूट फिर दिखाई दी मध्य प्रदेश
कांग्रेस कमेटी के एक महासचिव
उन्होंने कांग्रेस का हाथ छोड़ा और भारतीय

जनता पार्टी का दामन मोहन यादव की अगवाई
में थाम लिया पांडुरना नगरपालिका
जो छिंदवाड़ा की एक ऐसा क्षेत्र है जिसे
कमलनाथ का अभेद गढ़ माना जाता है अभेद
किला माना जाता है वहां उस नगरपालिका में
टूट हो गई नगरपालिका

अध्यक्ष साथ पार्षद जो कांग्रेस खेमे से
आते हैं
उन्होंने बीजेपी
का झंडा उठा लिया साथ साथ काफी बड़ी

संख्या में जो अलग-अलग विधानसभा क्षेत्र
हैं भले ही वो ऐसे कार्यकर्ता है जिनकी
बहुत पहचान बड़ी पहचान नहीं है नाम बड़े
नहीं है लेकिन कमलनाथ के गढ़ में
कांग्रेसियों का सतत टूटना सतत कांग्रेस
छोड़ देना भारतीय जनता पार्टी में मिल
जाना कहीं ना कहीं जो मोहन यादव संकेत दे
रहे हैं उन संकेतों में कहीं ना कहीं कुछ
तो है
कुछ तो गड़बड़ है यही कहानी कहते नजर आ

रहे हैं जब कल मोहन यादव मंच पर पहुंचे थे
और उन्होंने वहां एक सभा ली य
कांग्रेसियों को जवाइन कराने के बाद तो

उन्होंने यही कहा यह पूरा का पूरा जो
एपिसोड है जिस जिसे कांग्रेस ने विराम दे
दिया है उसे मोहन यादव कुछ हवा देते नजर
आए उन्होंने कहा कई लोगों का मन डावा डोल

है उन्होंने कमलनाथ नकुलनाथ का नाम तो
नहीं लिया लेकिन यह जरूर कहा कि कई लोगों
का मन दावा डोल है वे आज नहीं तो कल भाजपा
में आ ही जाएंगे और कोई उन्हें रोक नहीं

पाएगा मोहन यादव का जो कल आत्मविश्वास था
और वह जो मंच से जो उन्होंने भाषा कही कि
आज नहीं तो कल आ ही जाएंगे जो मैं कह रहा
था कि
एपिसोड कांग्रेस मान रही है कि शांत हो

चुका है और कुछ नहीं है सब कुछ ठीक ठाक है
इन सब के बीच मोहन यादव का वो बयान कल का
उसने मध्य प्रदेश के जो राजनीतिक हल्के
हैं उसमें कहीं ना कहीं पुनः सुरसुरा हट

तो पैदा की और कल ही कैलाश विजवर्गीय दव
कैबिनेट के वरिष्ठ सदस्य हैं बीजेपी के
बड़े नेताओं में शुमार होते हैं राष्ट्रीय

स्तर पर कई अहम पदों पर काम कर चुके हैं
कई राज्यों का दायित्व संभाल चुके हैं
फिलहाल में मोहन यादव कैबिनेट में सदस्य
हैं तो कैलाश विजग तो यही राग आलाप रहे

हैं
कि नाथ कमलनाथ के लिए कोई जगह बीजेपी में
नहीं है दरवाजे बंद है लेकिन पहले बीजेपी
के प्रदेश अध्यक्ष ने जो कहा था भोपाल में
जिसके बाद जो शुक्रवार बीते शुक्रवार से

जो हलचल हुई नवाड़ा से लेकर दिल्ली तक
उसने बड़ी धड़कने बढ़ा रखी थी कांग्रेस
पार्टी की भोपाल से लेकर दिल्ली तक फिलहाल
वो उसे विराम मिला है लेकिन विराम पूर्ण

नहीं है अल्पविराम कह सकते हैं जिस तरीके
की अभी घटनाक्रम चल रहे और जैसा मैंने कहा
कि मोहन यादव फर भले ही कैलाश विगी ने कल
फिर कहा तो उधर कैलाश ने जबलपुर में कहा
और इधर मोहन यादव छिंदवाड़ा में थे
उन्होंने वहां कहा कि जो आने वाला है उसका
स्वागत है और हम कुनबा बढ़ाने के लिए नहीं
कर रहे हम तो देश सेवा के लिए सब कर रहे
हैं मोहन यादव ने क्या कुछ कल कहा

पहले उसे देखिए सुनिए फिर आगे की बात
हमारे भी अपने बीच में से कई लोगों के मन
डावाड हो र है और आज नहीं तो कल हमारे

परिवार में सम्मिलित होंगे दुनिया में कोई
रोक नहीं सकता है क्योंकि सत्य तो एक ही
है कोई आज आएगा कोई कल आएगा आने वाले का
स्वागत और स्वागत इसलिए नहीं कि राजनीतिक

दल बढ़ना है स्वागत इसलिए कि हमको भारत की
सेवा करना है स्वागत इसलिए कि मध्य प्रदेश
को आगे बढ़ाना है तो आपने और सुना मोहन

यादव क्या कुछ कह रहे थे और इसके पहले हम
आपको मोहन यादव के रोड शो के दृश्य भी
दिखाते
हैं मुख्यमंत्री है मध्य प्रदेश के लेन
छिंदवाड़ा में जिस तरीके से वह घूम रहे
हैं जिस तरीके से उनका अंदाज है वह भी कई

सारी कहानियां कह रहा
है उनकी जो शो है उनका शुभ है रोड शो था
उसमें भीड़ उसमें अंदाज उसमें उत्साह साफ

नजर आ रहा है कि कहीं ना कहीं बीजेपी ने
अभी आस और उम्मीद नहीं छोड़ी मध्य प्रदेश
में लोकसभा की 29 सीटें हैं और 29 में
छिंदवाड़ा ही एक ऐसी सीट है जो तमाम
प्रयासों के बावजूद

बीजेपी को मिल नहीं पा रही है अगर 2014 का
चुनाव उठाकर देखें तब भी छिनना नहीं मिली
थी और
2019 तब भी नहीं मिल पाई 2019 में 28 एक
पर नतीजा छूटा था और 2014 में 272 था और
उसके पहले भी जब से छिंदवाड़ा सीट बनी है
मध्य प्रदेश में तब से लेकर आज तक अब तक
2019 के चुनावों तक मात्र एक ऐसा अवसर रहा

है जब कमलनाथ या उनका परिवार गच्चा खाया
था इस सीट पर और वह भी कहीं ना कहीं
कमलनाथ की ही एक जो अधीरता है वह शामिल

मानी गई थी क्योंकि इस सीट पर 1996 में जब
चुनाव हुए थे लोकसभा चुनाव थे 1996 के तब
हवाला में फसने के कारण कमलनाथ को टिकट
नहीं मिल पाया था और अल्का नाथ उनकी
धर्मपत्नी चुनाव लड़ी थी जीती थी लेकिन
कमलनाथ ने 1997 में अलका नाथ से इस्तीफा
दिलवा लिया था और उपचुनाव करा लि उपचुनाव
में वे खेत रहे थे चुनाव हार गए थे मध्य
प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री सुंदरलाल
पटवा ने कमलनाथ को शिकस्त दी थी अब जो
स्थिति है हालात है उसमें बीजेपी की निगाह
कहीं ना कहीं कमलनाथ पर बनी थी टिकी थी और
अभी भी कहीं हटी नहीं है टिकी हुई है जो
बयान हो रहे हैं जैसा मैंने कहा कि कल जो
मोहन यादव का शो था और शो में जिस तरीके
से कांग्रेसी टूट टूट कर बीजेपी में आए और
फिर मोहन यादव ने जो कुछ कहा उसके बहुत
सारे मायने हैं तार्थ है इधर अभी कल के
मोहन यादव के शो को लेकर कांग्रेस की ओर
से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है फिलहाल और
ना ही कमलनाथ नकुलनाथ ने
अभी मुंह खोला है कह सकते हैं या उन्होंने
कोई प्रतिक्रिया दी है दोनों पिता पुत्र
फिलहाल खामोश बने हुए हैं कमलनाथ को लेकर
सज्जन वर्मा ने यह जरूर कहा था कि
काल्पनिक प्रश्नों के जवाब में क्यों दे
लेकिन प्रश्न काल्पनिक भर नहीं है पर्दे
के पीछे जो खेल कहीं चल रहे हैं क्या कुछ
होने वाला है अभी राहुल गांधी की यात्रा
मध्य प्रदेश आनी है
और जब तक राहुल गांधी की यात्रा मध्य
प्रदेश से निकल कर नहीं जाती और उसके बाद
भी अभी लोकसभा चुनाव सिर पर
है उसको लेकर सब जमावट चल रही है इन सब के
बीच भारतीय जनता पार्टी की तैयारी तो झटके
दर झटके देने की है और वह कर भी रही है
प्रयास चल रहे हैं उसकी ओर से तो क्या कुछ
छिंदवाड़ा में होगा जब निकलेगा जो अगली
खबर होगी हम आप तक जरूर पहुंचाएंगे जैसे
ही हमें कुछ खास मिलता है तो हम आप तक
पहुंचाते ही पहुंचाते हैं 4 पीएम के
दर्शकों तक इस वीडियो में आज इतना ही हम
फिर किसी नए वीडियो के साथ आपके समक्ष
उपस्थित होंगे मेरी वही अपील कि मध्य
प्रदेश का हमारा यह चैनल नया है इसे लाइक
कीजिए इसे सब्सक्राइब कीजिए जवाइन का बटन
भी जरूर दबाइए और हमारे इस वीडियो के
कमेंट बॉक्स में जाकर वीडियो को लेकर
कमेंट जरूर कीजिए इस वीडियो को अधिक से अध
लोगों से शेयर भी कीजिए और देखते रहिए 4
पीएम मध्य प्रदेश 4 पीएम नेशनल और 4 पीएम
हमारे अन राज्य के चैनलों को धन्यवाद
नमस्कार
h

Leave a Comment