गुजरात की Bharuch Seat पर AAP-कांग्रेस के बीच फंसा पेंच, Mumtaz Patel बोली..!

नाराजगी बहुत हुई थी हमारे पूरे कार्डर को
लोग कहते हैं अहमद पटेल का परिवार तो अहमद
पटेल का परिवार ना कि सिर्फ मैं और फैजल
हैं पर अहमद पटेल का परिवार पूरा कांग्रेस
का संगठन है खास कर के भरूच में कि हमारा
परिवार इवॉल्वड है तो ये सीट कांग्रेस के

पास ही रहेगी आज हमने सुना है कि हमारे जो
लीडर है राहुल गांधी जी उन्होंने भी
आपत्ति जताई है ये सीट को अ कांग्रेस
पार्टी से हटा के आम आदमी पार्टी को दे
देने पर जी अभी बातचीत चल रही है पूरा
फैसला हुआ नहीं है तो हम वेट करते हैं और

इंतजार करते हैं पर जब यह खबर कल आई तो
नाराजगी बहुत हुई थी हमारे पूरे कार्डर को
लोग कहते हैं अहमद पटेल का परिवार तो अहमद
पटेल का परिवार ना कि सिर्फ मैं और फैजल
है पर अहमद पटेल का परिवार पूरा कांग्रेस
का संगठन है खास करके भरूच में तो कहीं ना

कहीं उनको एक आशा थी कि क्योंकि हमारा
परिवार इवॉल्वड है तो यह सीट कांग्रेस के
पास ही रहेगी ब जब यह खबर सुनने में आई तो
बहुत नाराज हुए थे लोग और बहुत ही डी
मोरलाइज थे पर बातचीत अभी चल रही है और

अभी कोई पूरा फैसला निर्णय नहीं हुआ है तो
हम पूरी उम्मीद रखते हैं और हमारे को पूरी
अपेक्षा है हाई कमांड से कांग्रेस पार्टी
से आज हमने सुना है कि हमारे जो लीडर है
राहुल गांधी जी उन्होंने भी आपत्ति जताई
है ये सीट को कांग्रेस पार्टी से हटा के

आम आदमी पार्टी को दे देने पर तो हम पूरी
उम्मीद रख रहे हैं कि ये सीट कांग्रेस के
साथ ही रहेगी आपको नहीं लगता जिस तरह के
एलायंस की बातचीत हो रही है दिल्ली में
खासतौर पर और गुजरात में अगर बात इस सीट
को लेकर खराब होती है तो उसका असर दिल्ली
में भी पड़ सकता है हरियाणा में पड़ सकता
है क्योंकि वहां से एक विधायक भी आते हैं
हमानी पार्टी के वो भी लगातार इस बात की

तस्दीक करते हैं कि वो चुनाव लड़ने वाले
हैं वही उम्मीदवार हैं तो ऐसे में एलायंस
में फूट पड़ सकता है नुकसान हो सकता है
अगर भरू सीट कांग्रेस के खाते में जाता है
या फिर आप लोग या कार्यकर्ता चाहते हैं कि

ये सारे जो फैसले होते हैं इसमें बहुत
बारीकियां देखनी पड़ती है तो हर चीज पे तो
हम कमेंट नहीं कर सकते लार्जर इंटरेस्ट

जरूर देख रहे हैं हम इंडिया एलायस का हम
लोग लोगों ने अपनी तरफ से अपने
डिस्ट्रिक्ट के तरफ से जो आपत्ति जताई है
ऑब्जेक्शन दिया है वह हमने बता दिया है
हमें लगता है कि ट्रेडिशनल यह कांग्रेस की
ही सीट है और कांग्रेस के हक में आनी

चाहिए पर अब ऊपर लेवल पर क्या यह लोग तय
करते हैं व तो हाई कमांड ही जानता होगा तो
हम इंतजार कर रहे हैं आप लोगों को उम्मीद
है कि भरो सीट आप लोगों को मिल सकता है
यानी कि कांग्रेस परिवार जो वहां पर है
उसको मिल सकता है देखिए कांग्रेस का वहां
पे कार्डर है कांग्रेस का वहां पर बेस है
अहमद पटेल की सीट इसलिए कहते ना ही

क्योंकि लो सभा को माइंड में रख के पर तीन
टर्म लोकसभा छह टर्म राज्यसभा में रहकर

उन्होंने भरूच को सांसद में रिप्रेजेंट
किया है 45 वर्ष तो एक तरीके से कांग्रेस
ने जो विकास किया है उस सीट पर और
कांग्रेस का जो संगठन है हमारा बेस है इसी
वजह से आम आदमी पार्टी गठबंधन करना चाहती
है अगर गठबंधन नहीं करेंगे तो उनके लिए
मुश्किल होगा क्योंकि आम आदमी पार्टी का

वहां पर कार्डर नहीं है बेस नहीं है एक
असेंबली सात असेंबली आते हैं भरूच लोकसभा
में जिसमें एक से हमारे चेतर भाई वसावा आम
आदमी पार्टी के जो कैंडिडेट है
वो जीते हैं पर बाकी छह असेंबली में कोई
प्रेजेंस नहीं है तो गठबंधन इसीलिए करना

चाहते हैं खास करके इस सीट पर क्योंकि
उनको कांग्रेस के कार्डर और कांग्रेस के
वोटर और कांग्रेस के सपोर्ट की जरूरत है
पर अगर हमारा ही बेस इतना स्ट्रांग है तो
यह सीट हमारे हक में आनी
चाहिए

Leave a Comment