तुमने जो आज हरकत की है, उसके लिए मैं तुम्हें माफ नहीं करूंगी।✅

मेरे बच्चे मैं तुमसे बहुत प्रसन्न हूं इसलिए अब तुम्हें इंतजार करने की आवश्यकता नहीं मैं तुम्हारी जिंदगी से बहुत

ज्यादा प्रसन्न हूं बातों को तुम्हें आज बताना चाहती हूं इसलिए आज तुम्हें मैं विशेष आशीर्वाद देने आई हूं और मेरे

स्वरूप पहचान का वक्त आ चुका है क्योंकि मैं तुमसे बहुत प्रेम करती हूं और मैं तुम्हें किसी भ्रम में नहीं रखना चाहती हूं तुम बहुत भाग्यशाली हो मेरे बच्चे जो मेरे असली रूप को देख पाओगे मेरा प्रेम तुम्हारे जीवन का हर

मैसेज कर देगा मेरे असली रूप के आज दर्शन होंगे मेरे बच्चे मैं जानती हूं तुम्हें मेरे इस रूप से डर लगता है हमेशा क्रोध देखा है पर यह नहीं है मेरे बच्चे यदि तुम्हें मेरे इस रूप से डर लगता है तो तुम मुझसे प्रेम कैसे कर

सकते हो इस दरखा प्रेम से कोई संबंध नहीं है मेरी प्रेम पर केवल उसका अधिकार है जो मेरे समक्ष है मुक्त होकर मुझे समझता हो मेरे प्रेम का अधिकारी है मेरे बच्चे एक समय में मेरा प्रेम अत्यधिक बढ़ गया था तब मैंने

यह रूप धारण किया प्यारी पार्वती माही हूं मेरे बच्चे अपने अंदर से डर को निकाल कर मुझसे प्रेम करो क्योंकि तुम्हें मेरे रूप से भले ही डर लगता हो परंतु मेरा हृदय तो वही है पार्वती क्योंकि बहुत ही ज्यादा कोमल है जो अपने बच्चों से बहुत प्रेम करती है इसलिए तुम आज से बल्कि अभी से डरना छोड़ दो

Leave a Comment