तुम्हारा ओरा इतना पवित्र हो चुका है कि अब कुछ विचित्र होगा 🥰

मेरे बच्चे जब हर कोई साथ देना छोड़ दे तो
मेरी यह दो बातें याद रखना तब लोग
तुम्हारा कहना ही नहीं मानेंगे बल्कि
तुम्हारी इज्जत भी करेगी मेरी इस बात पर
पूर्ण भरोसा रखना क्योंकि जो बताने वाली
हूं वह आज तक

मैंने तुम्हें कभी नहीं बताया
और तुम्हें भी मेरी बटन पर पूर्ण रूप से
ध्यान देना अति आवश्यक है इसलिए बटन को
विस्तार से और सही से समझना तुम जल्दी
बाजी मत करना क्योंकि जल्दी का कम शैतान
का होता है और जो बड़ों की बटन को
ध्यानपूर्वक सुनकर समझना है

और हर कार्य को रहे दिल से करता है तो इस
संसार में बुद्धि केवल जीत हासिल कर सकता
है इसलिए तुम्हें भी जितना है अपने बुद्धि
के बाल पर जो लोग तुम्हारी इज्जत नहीं

करते हैं वह लोग तुम्हारे इज्जत करेंगे जो
लोग तुम्हें बेकार इंसान समझते हैं
वह तुम्हें अच्छा इंसान और तुम्हारी

अहमियत समझेंगे सबसे पहले तो तुम्हें इस
बात को समझना होगा की अहमियत लोग समझेंगे
तुम्हारी
चापलूसी करते फिरते रहोगे और बिन मतलब मैं
उनकी जी हजूरी करोगे तो मेरे बच्चे
तुम्हें सब नकारा समझेंगे तुम अपने कर्मों
को छोड़कर दूसरे के कम में ऐसे लोगों की

जहां तुम्हारी जरूर ही नहीं होगी भले ही
तुम उनकी मदद कर रहे हो लेकिन उन्हें
तुम्हारी मदद की वैल्यू नहीं

वह तुम्हें एक अच्छा इंसान समझकर तुम्हारी
इज्जत करेंगे
बल्कि तुम्हें बेवकूफ समझेंगे इसलिए सबसे
पहले बात तो तुम्हें इस कार्य को करना
छोड़ दो यदि तुम्हारी कोई सहायता चाहता है
तभी तुम किसी की सहायता करो
यदि किसी को तुम्हारे सहायता की आवश्यकता
नहीं
मांग रहा है तो जबरदस्ती किसी की सहायता
करने की सोना भी मत अपने कम से कम रखना जो
तुम्हारा कर्म है उसे करना
दूसरा आया है की ज्यादा चिंता में गिरकर
अपने समय को बर्बाद मत करो बल्कि अपना एक
लक्ष्य निर्धारित करो और लक्ष्य को
निर्धारित करते समय इस बात का विशेष ध्यान
रखो
की जी कार्य को करने में तुम्हें यह पूर्ण
विश्वास हो की हां तुम उसे कार्य को कर
सकते हो
इस को प्रारंभ करने का प्रयास करो और बिना
डेरी किया हुए लक्ष्य पर कार्य करना
प्रारंभ करो इसके साथ ही तुम्हें एक
लक्ष्य सुना होगा क्योंकि अगर तुम बड़ा
लक्ष्य चुनकर उसे पर धीरे-धीरे कार्य
करोगे तो तुम एक एन एक दिन अवश्य सफल हो
जाओगे
और जी दिन तुम सफल हो जाओगे उसे दिन पूरे
संसार के सामने तुम्हारी एक अलग
होगी एक अहमियत होगी लोग तुम्हारे आगे
सिर्फ आएंगे और तुम्हारा आधार सम्मान
करेंगे तुमसे बात करना चाहेंगे
जो लोग आज तक तुमसे दूर जा रहे थे वह भी
लोग धीरे-धीरे करके आना प्रारंभ कर देंगे
क्योंकि लोगों की नजरों में तुम्हें उठाना
है खुद की नजरों में तुम उठे हुए हो लेकिन
लोगों को तुम्हारी अच्छाई दिखाई नहीं दे
रही है
परंतु जैसे ही तुम कोई बड़ा कार्य करके
दिखाओगे तब लोगों को इस बात का विश्वास
होगा की हां तुम बहुत बड़े और सही इंसान
हो उससे पहले तुम्हारी इज्जत नहीं करेंगे
इसलिए बताई हुए कार्य को करना प्रारंभ करो
और इस बात का ध्यान रखो
मेरे बच्चे तुम्हारा सही समय प्रारंभ हो
चुका है तुम्हारा शुभ समय एक वह समय
जिसमें तुम्हारी वैल्यू सब करेंगे मेरे
बच्चे और अच्छा समझेंगे जो लोग तुम्हारी
इज्जत नहीं करते हैं तुम्हें देख कर देखा
कर देते हैं वह सब देखेंगे की तुम क्या थे
और क्या हो गए
कभी भी अपने आप को कमजोर मत समझो क्योंकि
तुम्हारा खुद को कमजोर समझना तुम्हें असफल
व्यक्ति बनाता है अब समय ए गया है तुम्हें
यह बताने का तुम बिल्कुल सही र पर हो तुम
क्या सोच रहे हो और क्या महसूस कर रहे हो
क्या तुम नहीं देख रहे हो की तुम्हारे
आसपास कितना बदलाव ए रहा है
क्या तुम्हें शांति की अनुभूति नहीं हो
रही है यदि नहीं जलती है सब होने वाला है
अचानक तुम्हारे अंदर यह बदलाव आएगा की तुम
छोटे-छोटे चीजों के लिए मुझे धन्यवाद
अर्पण करने लगोगे
अचानक तुम्हें ऐसा लगे लगेगा जैसे
तुम्हारा जीवन चमत्कार है मेरे बच्चे तुम
मेरी और झुकाव करोगे तुम अपने भीतर प्रेम
का अनुभव करोगे मेरे आशीर्वाद को महसूस
करोगे मेरे आस-पास होने की अनुभूति होगी
मेरे बच्चे तुम समझ जाना की संकेत मिल गया
अब तुम अपने जीवन में बहुत आगे बढ़ाने
वाले हो बहुत साड़ी खुशियां और जीवन में
बहुत तरक्की करने वाले हो
तुम्हारी इच्छा भी तुमसे अब ज्यादा दिन तक
दूर नहीं रहेगी तुम्हें अचानक से यह सब
महसूस होने लगेगा तब तुम और सकारात्मक
ऊर्जा में ए जाओगे
और जब तुम सकारात्मक ऊर्जा में ए जाओगे तब
तुम अपने इच्छा को भी बहुत जल्दी अपने
जीवन में प्रकट कर लोग मेरे बच्चे तब
तुम्हें एक बार भी नकारात्मक भाव में मत
आना मेरे बच्चे तुम हमेशा यह क्यों सोचते
हो की तुम्हारी चीज तुम्हें नहीं मिलेगी
महसूस होती है घबराहट होती है इतना चिंतित
हो जाते हो
मेरे बच्चे यह तुम्हारे लिए सही नहीं मेरे
बच्चे तुम्हें तो अपनी पुरी ऊर्जा को
इकट्ठा करना है और ध्यान में जाकर या खुद
से बोलना है मेरे लिए सभी चमत्कारी रूप से
कम कर रहे हैं मैं बिल्कुल शांत हूं मेरे
ईश्वर मेरे लिए कार्य कर रहे हैं
मुझे परेशान होने की कोई आवश्यकता नहीं है
मेरे बच्चे तुम्हें अपनी ऊर्जा अपनी पुरी
ऊर्जा अपनी तरफ करनी है मैं तुम्हें हर
समय सही उत्तर देने के लिए तैयार हूं यह
कोई तुम्हें नहीं बताया की तुम अपने जीवन
में कैसे आगे बाढ़ सकते हो
यह सिर्फ तुम ही अपने आप को बता सकते हो
और तब कुछ चमत्कारी रूप से होने लगेगा
इसलिए आज स्वयं आई हूं तुम्हें यह सब
बताने के लिए अवश्य तुम्हें तुम्हारी
मंजिल मिलेगी तुम्हें चिंता करने की कोई
आवश्यकता नहीं
बस तुम मुझमें पर विश्वास रखो मैं तुम्हें
कभी तकलीफ में देख नहीं शक्ति मैं तुम्हें
उसे मुकाम पर ले जाऊंगी जहां तुम जाना
चाहते हो बस तुम धैर्य साहस और अपने आप पर
विश्वास रखो मैं हमेशा तुम्हारे साथ थी और
साथ रहूंगी मेरा आशीर्वाद सदा तुम्हारे
साथ है
तुम्हारा कल्याण हो मेरे बच्चे
मेरे बच्चे कभी किसी को इतना भी दुख मत
देना की बाद में तुम्हें ही बहुत ज्यादा
पछतावा हो मेरे बच्चे अगर उनकी आत्मा रन
को मजबूर हो जाए और तुम्हें खुद पर बहुत
ज्यादा पछतावा हो और आत्मा की चोट को तुम
सुन समझ नहीं सकते हो पर मैं अच्छे से
सुनती हूं
पर मैं अच्छे से सुनती और समझती हूं और जो
जैसा कर्म करता है उसे इस के मुताबिक फल
मिलता है और उसको उसका कई गुना फल उसे
वापस मिलता है अगर तुम किसी को दुख डॉग तो
तुम्हें भी तुम्हारे समय आने पर वही
मिलेगा और अगर तुम किसी के साथ अच्छा करते
हो तो तुम्हारे साथ भी अच्छा ही होगा और
तुम्हें अच्छा ही फल मिलेगा होगा क्योंकि
जीवन में तुम जो भी कर्म करते हो उसका फल
तो मैं इसी जीवन में ही प्राप्त होगा
क्योंकि कब किस का वक्त पलट जाए कोई नहीं
जानता मेरे बच्चे किसी को निशा दिखाने से
अच्छा है की तुम उसकी मदद करो जिससे
तुम्हें खुशी मिले यह जीवन में अच्छा बड़ा
देखा जाता है की कौन किसके कम आता है अगर
कोई परेशान है तो उसकी मदद करो ना की उसको
बड़ा सुना कर उसे पर हंसो ऐसा करने से वह
इंसान और भी ज्यादा टूट जाता है इसलिए तुम
जितना मदद करोगे उतना ज्यादा खुश हो गए और
यदि कोई तुम्हारे साथ ऐसा करता है तो वह
यह बहुत ही गलत कर रहा है उन्हें यह ज्ञात
नहीं है की वह पाप कर रहा है उन्हें
पाप का दंड अवश्य ही मिलेगा मेरे बच्चे तो
मैं अपार सफलता प्राप्त करना है चिंता
करने की कोई आवश्यकता नहीं है जीवन की हर
खुशी तुम्हें मिलने वाली है जैसा जीवन
चाहते हो वैसा जीवन में अवश्य प्राप्त
होगा जो लोग तुम पर हंस रहे हैं वह हंसते
ही र जाएंगे तुम्हारे जीवन में अपार सफलता
को देखते
वह आश्चर्य चकित र जाएंगे वह हर दिन दूर
नहीं है जो हंस रहे हैं वही खड़े होकर एक
दिन तुम्हारे लिए ताली भी हो जाएंगे मेरे
बच्चे तुम्हारे इस कम की जितनी तारीफ की
जाए उतनी ही कम है क्योंकि तुम्हारा यह
कार्य काबिले तारीफ है इस महत्वपूर्ण
कार्य को बहुत कम लोग करते हैं जो तुमने
किया है और इस कार्य करने हवाले मेरे परम
भक्ति बन जाते
तुम जो कार्य तुमने किया है मैं चाहती हूं
की मेरे सभी भक्तों उसे कार्य को करें
इसलिए मैं सभी भक्तों को यह बात पूर्ण रूप
से ज्ञात कर देना चाहती हूं और बता देना
चाहती हूं की वह कौन सा कार्य है मेरे
बच्चे जो तुमने किया है उसके जितने भी
तारीफ की जाए उतना कम है एक बात को बहुत
अच्छे से समझ लो मेरे बच्चे जो तुमने
दूसरों को दिया है और यह कम किया है वही
कम तुम्हारे साथ होगा और वही तो मैं भी
प्राप्त होगा
क्योंकि जीवन में इस चीज का प्राप्त करना
कोई छोटी मोती बात नहीं एक बहुत बड़ी बात
होती है जिसको यह एक चीज प्राप्त हो जाति
है जो तुमने दूसरों को दी है और वह है
सम्मान जो तुमने अपने गुरु जी से शिक्षा
लेते समय और शिक्षा लेने के बाद भी तुम
कभी भी उन्हें सम्मान देना नहीं भूले इसी
प्रकार तुमने अपने हर बड़े व्यक्ति को
सम्मान दिया है अब तुम इस बात को पूर्ण
रूप से समझ लो की जिसको सम्मान दिया जाता
है वह ईश्वर के सम्मान
हो जाता है अर्थात मेरे सम्मान हो जाता है
क्योंकि सम्मान एक पूजनीय स्थान होता है
और किसी को जब तुम सम्मान देते हो तो वही
सम्मान तुम्हें लौटकर मिलता है इसके साथ
ही तुमने हमेशा अपने माता-पिता क्या
सम्मान किया है और इसके साथ ही तुम प्रातः
कल उठाते ही उनके चरण को छूट हो
और गुरु को भी जब तुम मिलते हो तो उनको
चरणों को सोते हो मेरे बच्चे भले ही तुम
देखने में कार्य तुम्हें बहुत ही ज्यादा
साधारण लगता है लेकिन यह कार्य साधारण
नहीं है यह श्री रामचंद्र जी के रूप को
तुम्हारे अंदर दर्शाता है और चरणों को
चुने के लिए जब तुम झुकते हो तो गुरु हो
या माता पिता उनके आशीर्वाद से चले जाते
हो की संसार में तुम बहुत मुझे मुकाम पर
पहुंचने हो
मेरी इस बात का विश्वास करो की वह
तुम्हारे जीवन में कोई भी आए लेकिन किसी
भी मोड पर तुम्हारी स्थिति खराब उत्पन्न
नहीं होगी तुम्हारा यह कार्य
[संगीत]
[संगीत]
साफ होते चले जाएंगे तुम्हारे लिए कौन सा
मार्ग उचित है यह सोने समझना की बुद्धि
प्राप्त हो जाएगी की जो गुरु का सम्मान
करता है उसकी बुद्धि इतनी प्रबल हो जाति
है की उसके सोने समझना की शक्ति बहुत
ज्यादा तेज हो जाति है ऐसे में मेरे बच्चे
तुम गलत मार्गो पर जान से पहले ही बैक
जाते हो और तुम्हारी मंजिल मिल जाएगी
बच्चे तुम्हारे इस छोटे से कार्य तुम्हारी
बैंड किस्मत के तले को खोल देती है इस बात
का ध्यान रखो संसार में कोई भी
ऐसी मंजिल नहीं बने जो तुम्हें प्राप्त ना
हो सके जीवन में कोई भी चीज मांगने से
पहले ही तुम्हें प्राप्त हो जाएगी एक बात
का स्मरण रखना की जी दिन से इस कार्य को
करना प्रारंभ कर डॉग यदि नहीं किया तो
तुम्हारे जीवन की पुरी किया पलट हो जाएगी
मेरे बच्चे माता-पिता और गुरु का अपने से
बड़े का जी दिन से सम्मान करना प्रारंभ कर
डॉग जीवन में इतना तेजी से बदलाव आएगा तो
मेरा देखकर आश्चर्य चकित हो जाओगे यह मेरा
तुमसे वादा है मैं तुम्हारे हर कार्य में
समक्ष खड़ी ही रहूंगी तुमको अकेला नहीं
छोडूंगी मुसीबत से लड़ने की शक्ति मैं
स्वयं तुम्हें प्रधान करूंगी तो मैं भी
मां सम्मान प्राप्त होगा मेरे बच्चे मैं
तुमसे बहुत प्रश्न हूं इसलिए अब तुम
इंतजार करने की आवश्यकता नहीं है मैं
तुम्हारी जिंदगी से बहुत ज्यादा प्रश्न
हूं मेरे बच्चे कुछ बच्चे ऐसे हैं
जिन्होंने अभी तक इस कार्य को नहीं किया
है और वह मुझे प्रश्न नहीं कर पे हैं
परंतु वही कुछ ऐसे बच्चे हैं जिन्होंने
मुझे प्रश्न नहीं कर लिया है
सच तो यह है की मैं अपने बच्चों से थोड़ी
सी सम्मान से शीघ्र प्रश्न हो जाति हूं
परंतु पूजा पाठ के साथ-साथ कुछ ऐसे कार्य
होते हैं जिससे मैं सदा प्रश्न रहती हूं
और तुम्हारे बिना जान तुम्हारे भाग
परिवर्तन कर देती हूं क्योंकि तुम्हारे
द्वारा किया गए कार्य मुझे बहुत ज्यादा
प्रश्न कर रही है वही तुम विश्वास से
इनकार को करोगे तो मैं तुम्हें वचन देती
हूं की तुम्हें जीवन में किसी चीज की कोई
कमी नहीं होगी इस कार्य के करण जो
तुम्हारे अंदर इतनी शक्ति उत्पन्न करती है
यह शक्ति तुम्हारे हर कार्य में सफल बनाने
के लिए पर्याप्त हैं और इसके साथ साथ तुम
अभी का सम्मान करके तुम उनकी दुआएं ले
सकते हो और मेरे बच्चे दुआएं बहुत कीमती
होती हैं मेरे बच्चे मैं सदा तुम्हारे साथ
हूं मैं फिर आऊंगी तुमसे मिलने मेरा
इंतजार करना
मेरे प्यार भक्तों कैसे हो तुम आज
तुम्हारी माता फिर एक बार तुमसे बात करने
आई है
मेरे प्यार भक्तों मैं जानती हूं तुम मुझे
याद कर रहे थे लो मैं ए गई अब तुम शांत हो
जो मेरे बच्चे और अपनी मां की बटन को
ध्यान से सुनो
मैं तुम्हें जो बताना चाहती हूं वह
तुम्हारे जीवन के लिए बेहद आवश्यक है मेरे
बच्चे क्या तुम जानते हो की जब तुम क्रोध
में होते हो तो तुम्हारे उसे क्रोध के करण
तुम्हें क्या क्या नुकसान देखना पड़ता है
यह तुम नहीं जानते होंगे
तुम क्रोध में आकर अपने हाथों से अपने ही
जीवन को दुख की और धकेल देते हो मेरे
बच्चे जब तुम क्रोध में होते हो तुम्हारी
बुद्धि तुम्हारा विवेक कम करना बैंड कर
देता है तथा तुम सही गलत में फर्क नहीं
समझ पाते
और क्रोध के अतिरिक्त एक और कमी जो तुमने
है वह है की तुम जरूर से ज्यादा चीजों को
सोचते हो और ऐसा करने से तुम्हारे मां में
बड़ा असर पड़ता है जिसके करण तुम चीजों को
उचित प्रकार से नहीं कर पाते
यह दो चीज ऐसी हैं जिनके चलते तुम सही गलत
का फैसला नहीं कर पाते तुम्हें मालूम नहीं
चल पता की तुम जो कार्य कर रहे हो वह
तुम्हारे लिए सही या नहीं
जिसके करण तुम अपने जीवन में कभी कभी कुछ
ऐसे निर्णय ले लेते हो जो की तुम्हारे लिए
घटक सिद्ध होते हैं मेरे बच्चे केवल तभी
होता है जब तुम अपने ऊपर से नियंत्रण को
देते हो
यदि तुमने अपने इन दो चीजों पर नियंत्रण
कर लिया तो तुम्हारे जीवन में चाहे कैसी
भी स्थिति क्यों ना हो तुम सबको आसानी से
पर कर सकते हो यह दो चीज तुम्हारी शत्रु
है जो तुम्हारे अंदर ही बेस हुए हैं परंतु
है तभी बाहर आते हैं जब तुम इन्हें स्वयं
से बुलेट हो
क्रोध मनुष्य का परम शत्रु है तथा जरूर से
ज्यादा सोचना भी मनुष्य का शत्रु है यह
दोनों इंसान को अंदर से खोकला कर देते हैं
तथा उनके जीवन को नष्ट कर देते हैं
जब तुम क्रोध में होते हो तो तुम्हारी
जीवन पर नियंत्रण नहीं राहत
जी करण तुम्हारी मुंह से कुछ ऐसे शब्द
निकाल जाते हैं जो गलत होते हैं और सामने
वाले को चोट पहुंच जाति है और ऐसे शब्द जब
तुम बार-बार सामने वाले को बोलते रहते हो
तो उसके दिल में तुम्हारे प्रति घृणा पैदा
होने ग जाति है जिसके करण वह तुमसे दूर हो
जाता है
ठीक इस प्रकार जब तुम जरूर से ज्यादा सोने
ग जाते हो तो तुम सामने वालों की सही बटन
को भी गलत समझना लगता हो और ऐसे में तुम
अपने उन रिश्तो को कोन लगता हो जो
तुम्हारे उनसे जुड़े होते हैं इसलिए मेरे
बच्चे अपने मां को नियंत्रण में रखना अति
आवश्यक
है इसलिए स्वयं को शांत रखो कभी जीवन में
क्रोध या फिर दुख में ऐसे निर्णय मत लेना
जिसके चलते तुम्हें बाद में पछताना पड़े
उसे समय केवल स्वयं को शांत रखना
मेरे बच्चे मैं जानती हूं तुम्हें क्रोध
नहीं करना चाहते और बार-बार जरूर से
ज्यादा भी नहीं सोचना चाहते परंतु तुम्हें
आदत से मजबूर हो चुके हो इसलिए मैं
तुम्हें इसका उपाय बताने जा रही हूं ऐसा
करने से तुम्हारा क्रोध शांत हो जाएगा तथा
तुम बार-बार सोने की इस बीमारी से भी ठीक
हो जाओगे
मेरे बच्चे सबसे पहले हर रोज सुबह उठकर
अपने मां को ऐसी जगह से दूर करो जी जगह से
तुम्हें सबसे ज्यादा तकलीफ होती है और तुम
उसके बड़े में सोने लगता हो तुम्हें उठाते
ही अपने प्रभु का नाम लेना चाहिए तथा उसके
बाद एकांत में बैठकर ध्यान लगाओ
ध्यान लगाने से तुम्हारी आदि से ज्यादा
समस्याएं स्वयं दूर हो जाति हैं तुम्हारा
मां धीरे-धीरे ध्यान के चलते शांत होने
लगेगा और तुम कुछ समय पश्चात खुद के अंदर
बदलाव देखोगे जो की तुम्हें शांति प्रधान
करेगा तुम जो भी अपने जीवन में चाहते हो
उसे सोनी से पहले हर रोज स्वयं के मां में
दोहराव ताकि तुम सोते वक्त उन बटन को अपने
मां में ना रख कर सो जो तुम्हें पुरी रात
स्वप्न के रूप में दिखाई देती हैं क्योंकि
मैं जानती हूं तुम केवल वही बातें सोचकर
सोते हो जो तुम्हारे जीवन में बुरी चीज
हुई हैं मेरे बच्चे इन बुरी चीजों के
स्थान पर यह सोचो की तुम किन चीजों को पन
चाहते हो यदि तुम उन चीजों के बड़े में
सोचो तो धीरे-धीरे तुम्हारे मां से यह
साड़ी बुरी चीज खत्म हो जाएगी
मेरे बच्चे जब भी तुम्हें क्रोध आए तो तुम
कुछ डर के लिए खली हवा में जाकर गहरी सांस
लिया करो ऐसा करने से तुम्हारा क्रोध कुछ
क्षण में ही शांत हो जाएगा
और तुम्हें अच्छा महसूस होगा क्योंकि तब
तुम्हारे अंदर से वह क्रोध बाहर ए चुका
होगा जो तुम्हारे अंदर तुम्हें परेशान कर
रहा था
मेरे बच्चे तुम बहुत ही समझदार हो मैं
जानती हूं तुम इन बटन का ध्यान रखोगे तथा
मेरे द्वारा बताई गई सभी बटन का पालनपुर
करोगे क्योंकि तुमने अपनी मां को आज तक
कभी निरसा नहीं किया है और आगे भी नहीं
करोगे
तुम्हारी मां तुम्हारे साथ हर उसे मोड पर
है जी मोड पर तुम स्वयं को अकेला पाओगे
मैं तुम्हारा साथ कभी नहीं छोडूंगी फिर
चाहे यह दुनिया तुम्हारे साथ रहे या ना
रहे परंतु मैं हमेशा तुम्हारे साथ रहूंगी
मुझे तुम्हारी हंसी बेहद पसंद है और इस
हंसी के लिए मैं तुम्हें कभी भी अकेला
नहीं छोडूंगी मेरे बच्चे मैं तुम्हारे साथ
सदैव रहूंगी
मेरे बच्चे मेरा आशीर्वाद तुम्हारे साथ है
जब भी तुम मुझे सच्चे दिल से याद करोगे
मैं तुम्हें दर्शन अवश्य दूंगी यह मेरा
वचन है
बस तुम अपनी मां का विश्वास कभी मत तोड़ना
और हमेशा सच्चाई की र पर चलना क्योंकि
मुझे वही भक्ति पसंद है जो सच्चाई और
ईमानदारी की र पर चलते हैं बेशक से कुछ
पाल तुम्हें कष्ट भोगनी पढ़ेंगे लेकिन
तुम्हें कुछ समय बाद ऐसी शांति का अनुभव
होगा जो तुम्हारे जीवन को हमेशा के लिए
खुशहाल बना देंगे
मेरे बच्चे मैं किसी रूप में तुम्हारी
सहायता के लिए अवश्य आऊंगी और तुम्हें हर
मुसीबत से बचाकर रखूंगी क्योंकि तुम मेरे
बच्चे हो
तुम्हारा कल्याण हो मेरे बच्चे सदा खुश
रहना

Leave a Comment