तुम्हारा दुश्मन रो रोकर माफी मांगेगा।

मेरे बच्चे अचानक से जो मेरा संदेश

तुम्हें प्राप्त हुआ है इसका सीधा अर्थ यह

है कि तुम्हारे कष्टों को और मैं बर्दाश्त

नहीं कर पा रही हूं जो कष्ट तुम्हारे जीवन

में है मैं उसे दूर करना चाहती हूं इसलिए

आज मैं तुम्हे इस संदेश में यह ज्ञात

कराना चाहती हूं कि अगले आने वाले

घंटों में तुम्हारी समस्या को मैं समाप्त

कर दूंगी मेरे बच्चे मैं आज तुम्हें

बताऊंगी उसे तुम धैर्य रूप से सुनना

क्योंकि कुछ करने से ही कुछ प्राप्त होता

है मेरे बच्चे मेरा यह संदेश प्राप्त होना

कोई इफा पाक नहीं है बल्कि तुम्हारे साथ

कुछ अद्भुत घटना होने वाली है वह समय आ

गया है जब तुमको थोड़ा सावधान रहने की

आवश्यकता है इसलिए तुम जिस प्रकार कार्य

में लगे हुए हो जैसे कि पेड़ में पत्ते

लगे हुए होते हैं लेकिन जैसे जैसे पत्ते

झड़ते हैं तो नए पत्तों का तय होता है वह

पत्ते उस पेड़ पर और भी सुंदर लगते हैं

उसी प्रकार मेरे बच्चे तुम भी जब तक कोई

नए कार्य नहीं करोगे तब तक तुम्हें पुण्य

कैसे प्राप्त होगा मेरे बच्चे इसी प्रकार

जीवन में कुछ अद्भुत होना तय होता है मेरे

बच्चे तुम उसे प्रारंभ करो आने वाले समय

में तुम्हें नई दिशा दिखेगी

जब तक तुम्हारे जीवन का नया अध्याय

प्रारंभ नहीं होगा तो तुम अपने जीवन में

नई ऊंचाइयों को कैसे पाओगे मेरे बच्चे

अपने पुराने अध्याय को खत्म करो जिंदगी

में कुछ नया पाने के लिए तुम्हें पुराना

अध्याय तो खत्म करना ही होगा क्योंकि नया

अध्याय तुम्हें कुछ नई सीख देगा कुछ नया

सिखाएगा और तुम्हें वह किसी मुकाम पर भी

पहुंचा सकता है ऐसे ही एक अद्भुत घटना

तुम्हारे जीवन में होने वाली है इससे पहले

कि तुम्हारे जीवन में कुछ घटना हो तुम यह

तीन कार्य करके अपने लिए एक मजबूत दायरा

बनाओ सबसे पहला कार्य अपने हृदय के अंदर

सहनशीलता को बढ़ाओ बात बात पर क्रोध करना

छोड़ दो किसी भी व्यक्ति पर क्रोध करना

तुम्हारी सहनशीलता क्रोधित करता है बल्कि

तुम्हें बेहतर बनने की कोशिश करनी चाहिए

यह एक ऐसा गुण है जो तुम्हें आगे आने वाले

भविष्य में उन्नति की ओर ले जाएगा और

दूसरा तुम अपने पास एक ऐसी शक्ति विराजमान

करो कि तुम्हारी वह हर बड़ी से बड़ी आने

वाली समस्या से तुमरी रक्षा करें और उसके

लिए तुम्हें इष्ट देव की आराधना नियमित

रूप से करनी होगी उनके मंत्रों का उच्चारण

करते हुए तुम्हें उनका ध्यान करना होगा और

तीसरा इससे पहले की तुम्हारे जाने अनजाने

में की गई गलतियों की सजा तुम्हें शनिदेव

दे उससे पहले तुम सोमवार के दिन बेल पत्र

भोलेनाथ के नाम लिखकर

भोलेनाथ के चरणों में चढ़ा देना मेरी कृपा

तुम्हारे साथ सदैव रहेगी तुम्हारी हर बुरी

दृष्टि से तुम्हें बचाएगी मेरे बच्चे

तुम्हारा कल्याण हो अगर आप मां काली से

जुड़ना चाहते हैं तो इस चैनल को

सब्सक्राइब और वीडियो को लाइक अवश्य करें

और कमेंट बॉक्स में जय महाकाली लिखना ना

भूले मेरे बच्चे महादेव मेरे पति है वो

मेरे भक्तों पर भी अपनी सुखद दृष्टि

बरसाते हैं वो तुम्हारी हर बुरी दृष्टि से

तुम्हें बचाएंगे मेरे बच्चे मैं और

भोलेनाथ तुम्हारे साथ ही है हम दोनों

तुम्हारी रक्षा अवश्य

[संगीत]

करेंगे

[संगीत]

हम

Leave a Comment