तुम्हारा शत्रु सबसे तुम्हारी चुगली कर रहा है | 🕉️खुद को मासूम समझता है#kali

मेरे

बच्चे तुम्हारा शत्रु आज मेरी चौखट पर आया

था बहुत रुलाया है उसने

तुम्हें अब जब दंड भोगने की बारी आई है तो

मेरे प्रहार को वह सह नहीं पा रहा

है मेरे कदमों पर अपनी नाक रगड़

करर वह मुझसे अपने गुनाहों की माफी मांग

रहा

है मुझसे दया की भीख मांग रहा

है मेरे बच्चे पूरी दुनिया को छल वाला वह

मूर्ख आज मुझे छल का प्रयास कर रहा

था उसे इतना भी ज्ञात

नहीं कि ब्रह्मांड के हर कोने में हर कण

में हर व्यक्ति पर मेरी दृष्टि

है मेरी नजर से कोई नहीं बच सकता नॉइस

वहां बहुत भोला बनता है

खुद को बहुत धार्मिक और सच्चा समझता

है उसे लगता

है अपने स्वार्थ के

लिए मेरे सामने वह जो दीप जलाता

है उसे वह निष्पाप हो गया धार्मिक हो

गया परंतु उसका भ्रम मैं बहुत जल्दी

तोडूंगी

उसने जो तुम्हारे साथ अन्याय किया है

कनोई उसका बहुत भयंकर दंड मैं उसे

दूंगी वह तुम्हें अपना सबसे बड़ा शत्रु

मानता

है मुझे लगता है तुम मुझसे जलते

हो उसे फंसाने की कोशिश करते

हो इसलिए वह

मुझसे तुम तुम्हारी बर्बादी के प्रार्थना

कर रहा

है वह खुद को सच्चा और तुम्हें झूठा समझता

है

कनस मुझसे कहता

है कि माता उसने मेरे साथ बहुत गलत किया

और मेरा घर बर्बाद किया

है मुझे दुख दिया है इसलिए अब आप उसका

विनाश

करो मेरे लाडले सत्य तो मुझसे छुपा नहीं

है मैं जानती

हूं तुम उसके बारे में कभी सोचते ही

नहीं वही तुम्हारे जीवन में ताग झाग कर

रहा

है तुम क्या कर रहे

हो क्यों कर रहे हो क्नो यह जानने में

उसकी बहुत रुचि

है भले ही प्रत्यक्ष रूप

से वह तुम्हें परेशान नहीं

करता किंतु अपने षड्यंत्रकारी बुद्धि

से उसने तुम्हारा जीना मुश्किल कर दिया

है वह जो हर समय तुम्हारे बारे में अप

शब्द बोलता

है लोगों से तुम्हारी चुगली करता

है उसका बहुत दुष्प्रभाव तुम्हारे जीवन पर

पड़ा

है कई बार तुम्हें लोगों के

सामने सर झुकाना पड़ा

है किंतु तुम सच्चे

हो इसलिए उसके अथक प्रयास के बाद

भी तुम्हारे जीवन में सुख है खुशी

है और तुम्हारी खुशी ही उसके पीड़ा का

कारण

है वह तुमसे तुम्हारी हंसी छीनना चाहता

है वह अपनी ही आंखों

से अपनी बर्बादी देख रहा

है इसलिए तुम्हें भी वह रोता हुआ देखना

चाहता

है

कनो इसलिए वह मुझसे न्याय मांग रहा है

परंतु मुझे इतना भी ज्ञात नहीं

है कि यह न्याय ही तो

है जो उसके जीवन पर कहर बनकर टूट पड़ा है

आज जिस दर्द से वह गुजर रहा

है यह उसके ही कर्मफल

है अब वह चाहे कितना भी हाथ पैर पटक

ले जो बोया है उसे काटना तो

होगा उसने हमें हमेशा तुम्हें अपना दुश्मन

माना

है तुम्हें खुश होते हुए देखता

है तो उसका दिल दर्द से तड़प उठता

है

कनो परंतु अब उसका दर्द और भी

पड़ेगा क्योंकि अब तुम्हारे साथ एक बहुत

अच्छी घटना घटने वाली

है अचानक से ही तुम्हें इतनी बड़ी सफलता

और खुशी मिलेंगे कि वह सह नहीं

पाएगा जिस प्रकार उसके कर्मों का

फल उसके कलेजे को छन्नी कर रहा

है इसी प्रकार तुम्हारे कर्मों का

फल तुम्हारे जीवन को सुख और समृद्धि से भर

देंगे मेरे बच्चे तो मेरे प्रिय भक्त

हो मैं जानती

हूं तुम हर दिन मुझे याद करते हो

भले ही तुम नित्य मेरे सामने दीप ना

जलाओ मेरी पूजा ना करो परंतु मन से तुम

उससे जुड़े हुए

हो तुम्हारी भक्ति सच्ची

है क्योंकि तुम हमेशा सबको खुशी देते

हो स्वयं भी हंसते हो दूसरों को भी हंसाते

हो तुम्हारे जीवन में चाहे कितना भी दुख

हो

परंतु तुम कभी किसी से शिकायत नहीं

करते कभी अधर्म के मार्ग पर नहीं

चलते मैंने स्वयं देखा

है कि किस प्रकार तुम उन्हें भी माफ कर

देते हो जो हर समय तुम्हें रुलाते हैं

नॉइस तुम्हें तकलीफ देते

हैं तुम अपने मन में किसी के लिए नफरत

नहीं

रखते त मान में जीना पसंद करते हो तुम

इसलिए तुम्हारे जीवन में चांदी और प्रेम

है

नॉइस मेरे बच्चे तुम्हारा यहां निर्मल

स्वभाव

नॉइस मुझे अत्यंत प्रिय

है इसे कभी मत

बदलना यदि कोई तुम्हारे साथ गलत

करें तो भी चिंता मत

करना तुम्हारी मा सब देखती

है समय आने पर न्याय अवश्य

करेगी खुश

रहो मेरा आशीर्वाद तुम्हारे साथ

है तुम्हारा दिन मंगलमय

हूं सच्चे मन से कहो

नॉइस जय मां

काली

Leave a Comment