तुम्हारी प्रेमिका बुराई के रस्ते में जा रही है बचा लो

मेरे बच्चे आज मैं तुम्हें कुछ ऐसी बात
बताने आया हूं जिसको जानना तुम्हारे लिए
बहुत जरूरी है क्योंकि तुम्हारा जो प्रेम
है वह तुमसे किसी एन छीना है और वह किसने
छीना है वह मैं तुम्हें आज बताऊंगा और

पूर्ण रूप से ज्ञात कराऊंगा प्रेम एक तरह
का नहीं होता सबसे पहले तो मेरे बच्चे
तुम्हें यह समझना होगा की मैं जी प्रेम की
बात कर रहा हूं वह किसके साथ और कैसे बात
कर रहा हूं तुम्हें बता रहा हूं उसको
समझना जरूरी है क्योंकि प्रेम का एक
रिश्ता नहीं आने को रिश्ते होते हैं जैसे
भाई बहन का प्रेम पति पत्नी का पति पत्नी

का प्रेम माता पिता का प्रेम और अपने
परिवार के अलावा भी अपने दोस्तों के साथ
तुम्हारे यह रिश्ते लेकिन मैं एक ऐसे
रिश्ते की बात कर रहा हूं जो इनमें से तो
है लेकिन जो रिश्ता मैं तुम्हें बताने
वाला हूं वह बहुत ही अलग और निराला है
जिसको किसी ने तुमसे दूर किया है वह कौन
है और उसने क्यों तुमको उसे प्रेम से दूर

किया है उसका करण भी मैं बताऊंगा और तुमको
बचाने का रास्ता भी बताऊंगा और मैं उसे
व्यक्ति को दंड भी अवश्य दूंगा क्योंकि
प्रेम ही है जो सबसे शुद्ध होता है और इस
जीवन में प्रेम के विरुद्ध अगर कोई भी
इंसान गलत कार्य करता है या किसी को किसी
व्यक्ति से अलग करता है तो वह ऐसे ही बहुत
बड़ा पाप करता है जो तुम्हारा रिश्ता है

उसके बीच में आकर कोई तीसरा व्यक्ति खड़ा
होकर तुम्हें उससे अलग करने लगा और यही
बात मुझे बिल्कुल भी प्रिया नहीं क्योंकि
तुम्हारा जो भावनाओं का रिश्ता है उसे वह
नहीं समझ सकता और जो तुम्हारी अंतर आत्मा
किसी को किसी की तरफ आकर्षित या अपने जी
रिश्ते को बहुत ईमानदारी से निभाया और

तुमने वह सभी कम किया जो एक मजबूत रिश्ते
के लिए सही होता है और तुमने सच्चाई से
सभी कर्तव्य को निभाते हुए सब कुछ करने के
बाद उसका हृदय जीत लिया और वह तुम्हारा हो
गया इसके पश्चात तुम उसके साथ जीवन भर
अपना रिश्ता निभाते और तुम्हारा प्रेम का
संबंध हमेशा राहत उससे पहले ही किसी ने
आकर तुम्हारा प्रेम तोड़ दिया अर्थात मैं

गैस की बात कर रहा हूं वह कोई तुम्हारा
प्रेमी या तुम्हारा कोई रिश्तेदार या
तुम्हारा घर परिवार का व्यक्ति नहीं है
बल्कि वह रिश्ता है उसे ईश्वर से तुम्हारा
जो की तुमने अपनी मर्जी से उनसे जोड़ा और
उनसे लगन लगे वह भी केवल प्रेम की लेकिन
इस संसार में कुछ व्यक्ति जो स्वार्थ से
भरे हुए होते हैं जिन्हें प्रेम की

परिभाषा समझ में नहीं आई और असली प्रेम
क्या होता है उन्हें ज्ञात भी नहीं है उन
लोगों ने तुम्हारे मां में बार-बार लालच
की भावना भर दे की हर चीज के लिए तुम बस
ईश्वर से मांगने में ही हो की जब भी तुम
कोई पूजा करो जब भी तुम कोई पाठ करो जब भी
तुमको मंत्र जपते तुम कुछ ना कुछ मैंगो
ऐसा बोल बोल कर

तुम्हारे मां में एक ऐसा लालच पैदा कर
दिया जो प्रेम को तुमसे कोसों दूर ले जाता
है
ईश्वर से संबंध जो तुमने बनाया था प्रेम
का उससे कोसों दूर ले जा रहा है वही लालच
बल्कि मेरे बच्चे शायद तुम भूल जाते हो की
ईश्वर को सब पता राहत है तुम्हारे जीवन
में क्या हो रहा है तुम्हारे जीवन में
क्या होने वाला है और तुम्हारे जीवन में
क्या हो चुका है उन्हें और तुम्हें क्या

चाहिए वही तो मैं सब कुछ दे देते हैं
लेकिन यहां बस गलती है तो एक की तुम हर
कार्य में यदि केवल मांगते रहोगे रिश्ता
कमजोर पद गया है उसको तुम मजबूत नहीं कर
पाओगे अब सुनो मेरी बात को ध्यानपूर्वक
संसार के लोगों के बहकावे में ना आकर अपने
और ईश्वर के प्रेम के संबंध को सुधार करो

उसे मैं अवश्य दंड दूंगा है लेकिन इससे
पहले तो मैं उसे रिश्ते को सुधारना होगा
और तुम्हारा जो निस्वार्थ प्रेम है उसको
फिर से वापस लाना होगा क्योंकि मेरे बच्चे
तो मैं ना मांगने की जरूर है और तुम्हारे
जीवन मैं यह मैं तुम्हें वादा करता हूं की

किसी चीज की कोई कमी नहीं रहेगी तुम्हें
जी चीज की आवश्यकता होगी तुम जी चीज के
बड़े में सोचोगे तो तुम्हें अपने आप
प्राप्त हो जाएगी जय श्री राम
मेरे बच्चे कल का दिन जो आने वाला है वह
तुम्हारी खुशी का दिन होगा क्योंकि मैं
बुराई का नस करने वाली देवी तुम्हें अपने
दर्शन स्वयं देने आऊंगी और तुम्हारी जो भी
परेशानियां हैं उनको अपने साथ ले जाऊंगी

तुम्हारी जो भी अधूरी इच्छाएं थी वह भी
पुरी होगी और तुम अपने जीवन में किसी
प्रकार की परेशानी को नहीं देखोगे यह
दुनिया बहुत ज्यादा मतलब के लिए है परंतु
तुम्हें यदि मेरे दर्शन हो रहे हैं तो है
तुम्हारा कोई अच्छा कर्म रहा होगा की मैं
तुम्हें अपने दर्शन दूंगी यह दर्शन
तुम्हारे सपनों में आकर तुम्हें प्राप्त
होंगे और तुम्हारी जो भी पुरानी

परेशानियां चल रही है उन सभी परेशानी का
अंत निश्चित तोर पर हो जाएगा दुनिया में
हर चीज के दो पहलू होते हैं और आज तक
तुमने जो पहलू देखा है
लेकिन अब बड़ी है की तुम्हें उसे असलियत
को देखना होगा जो तुम्हारे सामने नहीं ए
पाती मेरे बच्चे हर इंसान को पहचाना
तुम्हारा पहले कर्तव्य है और यदि तुम
इंसानों को पहचान में भूल करोगे तो

 

तुम्हारे जीवन में परेशानियां बढ़ेंगे मां
और बच्चे का रिश्ता इस दुनिया का सबसे
पवित्र रिश्ता है मेरे बच्चे हमारा यह
रिश्ता जन्मो जन्मो का है तुम जब भी संसार
में जन्म लोग मैं तुम्हारी रक्षा के लिए
हमेशा तुम्हारे साथ रहूंगी मैं जानती हूं
की तुम अपनी जिंदगी में बहुत से दुखों के
करण निरसा हो चुके हो और तुमने अपने जीवन

में हर मां ली है तुम्हें लगता है की अब
तुम्हारे जीवन में कुछ भी नहीं बच्चा है
किंतु मेरे बच्चे मेरे होते हुए तुम हर
कैसे मां सकते हो मैं तुम्हारी माता हूं
और मैं तुम्हें हारने नहीं दूंगी इसलिए
तुम परेशान मत हो
मेरे बच्चे तुम तो कभी इतने कमजोर नहीं थे
तो फिर अब ऐसा क्या हुआ की तुमने इतनी
जल्दी हर मां ली तुम्हें अपने जीवन में
बिना संघर्ष के ऐसे हर नहीं माननी चाहिए
जीवन में हर वह लोग मानते हैं जो कर होते
हैं परंतु तुम उन लोगों में से नहीं हो
तुम कर नहीं हो मेरे बच्चे तुम्हें जीवन
में संघर्ष करना होगा तुम्हें अपनी जिंदगी
से जंग लड़ने ही होगी तुम्हारी है लड़ाई
जीवन के अंत तक चलती रही थी तुम्हें किसी
ना किसी रूप में हर मोड पर कुछ ना कुछ
संघर्ष अवश्य मिलेंगे मेरे बच्चे इसी का
नाम जीवन है तुम्हारा जीवन हमेशा एक
संघर्ष बना राहत है किंतु अब समय ए गया है
की तुम्हें अपने जीवन में स्वयं को यह
साबित करके दिखाना है की तुम क्या कर सकते
हो और क्या नहीं इसके लिए तुम्हें जीवन की
लड़ाई लड़नी होगी यह संघर्ष कभी छोटे तो
कभी बड़े होते हैं परंतु यह हमारे जीवन
में निरंतर आते जाते रहते हैं किसी एक
स्थिति में कोई भी मनुष्य अधिक समय तक
नहीं र सकता सुख है तो दुख भी अवश्य
मिलेगा इसलिए मेरे बच्चे संघर्षों से डरो
मत उनसे लड़ना सीखो मैं जानती हूं की यह
सब बोलना आसन है और करना मुश्किल है परंतु
जीवन में हर चीज को अपने के लिए संघर्ष तो
करना ही पड़ता है इसलिए मेरे बच्चे
तुम्हें अपने आप को मजबूत करना होगा मैं
जानती हूं की तुम एक मनुष्य हो और
तुम्हारे जीवन में बहुत उतार चढ़ा देखने
को मिलेंगे
पर कर सकते हो जिसके सर पर स्वयं मेरा हाथ
हो उसे फिर इस जीवन के दुखों से डरने की
क्या जरूर है मैं तो स्वयं दुखों को हारने
वाली देवी हूं मेरे द्वारा ही सारे दुखों
का अंत होता है और मेरे द्वारा ही दुखों
का प्रारंभ होता है किंतु यह सब तुम्हारे
कर्मों पर निर्भर है की तुम किस प्रकार के
कर्म करते हो और उसके आधार पर ही मैं
तुम्हें फल देती हूं मैं सब देख रही हूं
जो तुम्हारे साथ गलत करेगा उसके साथ वैसा
ही व्यवहार होगा तुम चिंता मत करो यह मत
सोचो की सामने वाला तुम्हारे लिए गलत कर
रहा है तो तुम्हारी मां सिर्फ यह चीज
देखते जा रही है ऐसा नहीं है मेरे बच्चे
तुम्हारी मां को सब की खबर है की कौन क्या
कर रहा है तुम बस अपनी जिंदगी में कर्म
करते जो तुम्हें किसी से बदला लेने की
जरूर नहीं है वह सब मेरे ऊपर छोड़ दो और
अपने कार्यों को करते रहो तुम्हारी माता
उन सबका हिसाब उन्हें देगी जो तुम्हारे
लिए गलत कर रहे हैं सृष्टि का यह नियम है
मेरे बच्चे जो जैसा करता है उसको वैसा ही
पाल मिलता है और उसके फल स्वरूप ही वह दुख
का भाग बंता है इसलिए कहते हैं जीवन में
हमेशा अच्छे कर्म करो ताकि तुम्हारे पूरे
जीवन में उन कर्मों का तुम्हें अच्छा फल
प्राप्त हो और तुम्हें दुखों से पीड़ा ना
भोगनी पड़े तुम्हें दूसरे लोगों की बटन
में कभी नहीं आना चाहिए और ना ही उनके
बड़े में ज्यादा सोचना चाहिए तुम यह कभी
मत सोचो की कौन तुम्हारे बड़े में क्या का
रहा है और तुम्हारे बड़े में क्या सोचता
है तुम बस अपने कार्य करो और निरंतर आगे
बढ़ते रहो तुम बस शांत रहकर अपने कर्म करो
बाकी चिंताएं मुझमें पर छोड़ दो तुम्हारा
हर एक कर्म कर्म तुम्हारे भविष्य का
निर्माण करता है इसलिए हर कार्य को बिना
स्वार्थ के करो उसमें किसी के लिए गलत चीज
मत सोचो बल्कि है सोचो की सबका भला हो
सबका कल्याण हो यह सोच ही तुम्हें महान
बनती है इन सब लोगों की चिंता मत करो मेरे
बच्चे क्योंकि लोगों का कम ही यही है जो
तुम्हारे बड़े में सोचता है उनका ध्यान
सिर्फ तुम पर ही है क्योंकि वह जीवन में
खुद कुछ नहीं कर पे और ना ही दूसरों को
करने देते हैं और ऐसे लोग जीवन में ना कभी
कुछ कर सकते हैं और ना ही एक सुखी जीवन जी
सकते हैं तो मैं ऐसे लोगों से दूरियां
बनाकर रखो और अपने कार्यों पर ध्यान दो
हमेशा याद रखो की तुम्हें सिर्फ अपने बड़े
में सोचना है दूसरों के बड़े में सोचना
बैंड करो दूसरे तुम्हें कुछ नहीं देने
वाले तुम जो अपने लिए करोगे वही तुम्हारे
जीवन में कम अभी तुम्हारे जीवन में बहुत
से कार्य करने शेष है और तुम उन कार्यों
को करते-करते अपने जीवन में बहुत जल्द आगे
तक जाओगे तुम अपने भविष्य में अपने कामयाब
बनोगे की है पुरी सृष्टि तुम्हारे आगे सर
झुकाएगी बस अपनी माता पर पूर्ण विश्वास
रखना मुझमें पर विश्वास ही तुम्हारी ताकत
है विश्वास की ताकत ही संसार क्यों है
ताकत है जो तुम्हारे बिगड़ने कम को भी बना
शक्ति है यदि तुम एक बार स्वयं पर विश्वास
करके यह अपने मां में थान लो की तुम हर
उसे कार्य को पूरा कर सकते हो जो तुम्हारे
लिए असंभव सा है तो वह असंभव कार्य
संभव बना सकते हो अब तुम्हें परेशान होने
की कोई जरूर नहीं है जब मैं तुमसे का रही
हूं की तुम्हारे जीवन से सारे दुखों का
अंत हो जाएगा तो तुम्हें अब ज्यादा सोने
की आवश्यक पता नहीं है और यदि सोचना ही है
तो यह सोचो की अब तुम अपने जीवन में आगे
क्या करोगे जिससे तुम्हारा जीवन और भी
बेहतर बन सके इस संसार में प्रत्येक
मनुष्य के पास केवल दो ही रास्ते होते हैं
या तो मैं हर कर अपने जीवन को नरक से भी
बतर बना ले या फिर जीवन में संघर्ष करके
अपने जीवन को स्वर्ग से भी सुंदर बना ले
इसके अतिरिक्त और कोई रास्ता मनुष्य के
पास नहीं होता मेरे बच्चे अब साड़ी चिटा
को छोड़कर केवल अपने कार्यों पर ध्यान दो
मेरे संदेश में कहानी कोई बटन को यदि
तुमने मां लिया तो यह बात याद रखना की
तुम्हारा जीवन बदलने से कोई नहीं रॉक सकता
एक बार मेरी बटन को मानकर अपने जीवन के
लिए कार्य करके देखो और फिर देखो स्वयं ही
कैसे चमत्कार होते हैं तुम्हारा कल्याण हो
मेरे बच्चे
सदा खुश रहा

Leave a Comment