तुम्हारे परिवार में कुछ बहुत बड़ा होने वाला है होने से पहले देखें

मेरे बच्चे आज मैं तुम्हें सावधान करने आई
हूं क्योंकि खतरा तुम्हारे सर पर मर्डर ए
रहा है इसलिए तुम्हें पहले ही बचाना है एक
गलती से बचाना होगा तभी वह खतरा तुमसे दूर
हो जाएगा जी प्रकार एक छोटा सा जहर का

टुकड़ा खाने से इंसान की जान चली जाति है
इस प्रकार एक ऐसा शुभ समय जी समय यदि तुम
छोटी सी भी गलती करते हो तो वह गलती तुम
पर बहुत भारी पड़ती है वह तुम्हारे कई
गुना किया हुए अच्छे कर्म को

निशा फल कर देती है जी तरह एक विद्यार्थी
काफी समय से पढ़ रहा हो लेकिन याद वह
परीक्षा करीब आने पर पढ़ना छोड़ दें यह
कुछ ऐसे कार्य में व्यस्त रहे उसका पढ़ाई
में मां ना लगे तो उसके पहले की गई

परिश्रम सब बेकार हो जाता है और वह जितने
अंक का अधिकारी होता है वह उसे प्राप्त
नहीं होते हैं इसी प्रकार तुम्हारे जीवन
में भी कुछ ऐसा पाल आने वाला है जो
तुम्हारे पिछले किया गए कर्मों को तेज

पानी में बहाकर अपनी और लेकर जा सकता है
खतरे से बचाने के लिए जी तरह सदा तुम या
तो अपने आप को सुरक्षा देने के लिए अपने
हाथ में अस्त्र रखना या तुम सुरक्षा कवच
पहना हो पर यहां तुम्हारे हाथ में ऐसा कुछ
नहीं है मेरे बच्चे यहां पर केवल तुम्हें

एक ऐसी शक्ति को अर्जित करना है जो
तुम्हें बड़े खतरे से बचाव करेगा और आने
वाले खतरे से बचाने के लिए तुम्हें केवल
कुछ खास बटन का ध्यान रखना होगा आने वाली
मुसीबत तुम्हारे निकट है उससे पहले एक

बहुत बड़ा दिन आने वाला है इस दिन यदि तुम
थोड़ा सा पूजा पाठ कर लो तो निश्चित ही
तुम अपने ऊपर सुरक्षा कवच के रूप में
उसे तैयार कर पाओगे और निश्चित ही आने
वाली परेशानी से बचाव कर पाओगे आने वाले
सोमवार के दिन सुबह प्रातः कल सूर्य

निकालने से पहले तुम उठ जाना और स्नान कर
स्वच्छ वस्त्र धरण करके थोड़ी सी मिट्टी
लेकर उससे एक शिवलिंग बनाना और एक पुष्प
चढ़कर उसे पर थोड़ा जल और एक पोस्ट अर्पित
करने के पश्चात तुम्हें उसे दिन सुबह 101
बार किसी भी इश्क देवता का जब करते हुए
ओम नमः शिवाय मंत्र का जब करना अति आवश्यक
है

वह भी सूर्य निकालने से पहले इस कार्य को
संपन्न कर लेना है मेरे बच्चे क्योंकि इस
दिन पूजा की जाति है तीन गुना ज्यादा
शक्तिशाली होता है इस दिन तुम यदि शक्ति
एकत्र कर लोग तो तुम आने वाली परेशानी से
निश्चित ही बैक पाओगे क्योंकि यह दिन

तुम्हारे बचाव के लिए बहुत ज्यादा शक्ति
रखना है और इस दिन तुम किसी भी गलत वास्तु
को हाथ मत लगाना ऐसा कोई कार्य मत करना
जिससे की तुम्हें परेशानी का सामना करना
पड़े अर्थात किसी गलत चीज का सेवन ना करना
ना ही किसी का अपमान करना मेरे बच्चे सब
का आधार सम्मान करते हुए इस्ट देव का

स्मरण करना मेरे बच्चे कभी जीवन में अच्छे
दिन आते हैं कभी बुरे दिन आते हैं
जब तुम्हारे ग्रहण की स्थिति बदलती है तब
ऐसा होता है अभी तुम्हारे ऊपर एक खतरा जो
मंडरा रहा है वह तुम्हारी आंखों को धोखा
होने वाला है सही चीज भी तुम्हें गलत
दिखाई देने लगेंगे तुम्हारा दिमाग विपरीत
दिशा में चलेगा ऐसे में तुम किसी से भी

भयंकर शत्रुता भी कर सकते हो और हो सकता
है की वह शत्रुता तुम्हारी बहुत ज्यादा
बाढ़ जाए इसलिए अपने दिमाग को थोड़ा शांत
रखना और शांति और धैर्य से ही हर कार्य को
करना क्योंकि सोच समझकर किया गए कार्य पर

खतरा कम होता है और अगर कुछ कमी है तो सोच
कर केवल मां लगाकर करने के समझ कर करोगे
वैसे ही हर परेशानी से निकाल जाओगे मेरे
बच्चे मैं जानती हूं की संत कभी नहीं
चाहते की तुम्हारे अपनों के साथ चाहे तुम
खुद तकलीफ में कितनी भी रहो परंतु तुम

अपनों की सलामती सबसे पहले चाहते हो परंतु
जैसे तुम्हारे भीतर बहुत अच्छे गन हैं
वैसे ही कुछ बुराइयां भी है जिसे तुम

स्वयं नहीं देख पाते मेरे बच्चे कभी कभी
तुम गलत बटन को सुनकर बहुत ही ज्यादा
क्रोधित हो जाते हो क्रोध के करण तुम्हारे
मुख से जो शब्द निकलते हैं वह अच्छे हैं
या बुरे उसका कोई आभास तुम्हें नहीं राहत
ऐसा नहीं है की क्रोध केवल तुम्हें ही आता
है क्रोध तो हर व्यक्ति को आता है यह बात
मैं समझती हूं परंतु कुछ परिस्थितियों में
शांत रहना आवश्यक होता है क्योंकि वास्तव
में तुम्हारा अच्छा व्यवहार ही तुम्हारी
पहचान है और तुम्हारी पहचान ही तुम्हारी
शक्ति है मेरे बच्चे हमें सदैव जितना
आवश्यक हो उतना ही भाव दूसरों को प्रकट
करना चाहिए क्योंकि तुम जितना शांत र कर
संयम व्यवहार करते हो उतना ही तुम्हारे
भीतर सकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव होता है
और जितना तुम क्रोध को बढ़ावा देते हो
उतनी ही बुरी शक्तियां तुम्हारे प्रति
आकर्षित होती रहती है
मेरे बच्चे बड़ा तो कोई भी बिना परिश्रम
किया भी बहुत आसानी से बन सकता है परंतु
अच्छा होने के लिए उसे धैर्य और परिश्रम
की आवश्यकता होती है जब हम खुद में ही
सहनशीलता नहीं ला पाते तब तक हम केवल
दूसरों के गलतियां को ही देखते हैं खुद
में तो कभी भी कभी बुराइयां नहीं देख पता
जो व्यक्ति खुद की बुराइयों को पहचान लेट
है उसके लिए खुद को और दूसरों को समझना
बहुत ही सरल हो जाता है मेरे बच्चे आज
तुम्हें मेरी एक बात माननी होगी जो जितना
है वह हर भी सकता है किंतु जो दूसरों के
दिलों को जितना है वह कभी अपने जीवन से हर
नहीं सकता परिवार के साथ धैर्य प्यार
कहलाता है दूसरों के साथ धैर्य सम्मान
कहलाता है स्वयं के साथ धैर्य आत्मविश्वास
कहलाता है और मेहमान के साथ धैर्य आस्था
कहलाता है प्रकृति का कम तो लोगों को मिलन
है रिश्तो की उम्र क्या होगी यह तो
तुम्हारे व्यवहार पर ही निर्धारित होता है
जीवन का प्रारंभ तुम्हारे रन से होता है
और जीवन का अंत दूसरों के रन से इस आरंभ
और अंत के बीच का समय भरपूर रहस्य भारत हो
बस यही सच है मेरे बच्चे बड़प्पन वह गुड
है जो पद से नहीं संस्कारों से प्राप्त
होता है पराया को अपना बनाना इतना मुश्किल
नहीं है जितना अपनों को अपना बनाए रखना है
जीवन में ऐसे कई लोग होते हैं जिन्हें तुम
समय के साथ साथ भूल जाते हो
पांटू ऐसे कुछ ही लोग होते हैं जिनके साथ
तुम समय भूल जाते हो ऐसे लोगों को तुम्हें
कभी नहीं कोना चाहिए जो व्यक्ति के चेहरे
पर हंसी और जीवन में खुशी लाने की छठा
रखना हो ईश्वर उसके चेहरे से कभी हंसी और
जीवन में से खुशी कम ना करें लोग इसलिए
अकेले होते हैं क्योंकि बहुत लोग मित्रता
का पुल बनाने की वजह
दुश्मनी का दीवार खड़ी कर देते हैं परंतु
चेहरे पर हंसी लाना है
हताश लोगों के जीवन में खुशी लाने की
क्षमता रखती है तब मैं तुमसे वादा करती
हूं की तुम्हारे जीवन से खुशी और तुम्हारे
चेहरे से मुस्कान कम नहीं होने दूंगी
मेरे बच्चे आज का यह संदेश मिलने का अर्थ
है यह है की अब समय ए गया है अब तुम्हें
और इंतजार करने की
आवश्यकता नहीं है
शीघ्र ही तुम्हें एक बहुत बड़ी सच्चाई का
पता चलेगा मेरे बच्चे जीवन में एक समय ऐसा
जरूर आता है जो बहुत बलवान होता है तुम जो
चाहते हो तुम्हें प्राप्त होने लगता है
चारों और सुख की बौछार होने लगती है मां
खुशी से झूम लगता है तुम्हारा भी वह समय
निकट ए गया है तुम्हारे इंतजार की घड़ी अब
समाप्त आज मैं तुम्हें उसे व्यक्ति के
बड़े में
बताने आया हूं जिसे तुम बहुत प्रेम करते
हो जिसका ख्याल तुम्हारे दिलों दिमाग पर
छाया राहत है मैं जानता हूं प्रीति पाल
तुम उसके बड़े में ही सोचते रहते हो और
उसे बहुत याद करती हो तो तुम जीवन भर उसके
साथ रहना चाहते हो किंतु तुम्हें उसके मां
की सच्चाई नहीं पता है आज उसकी मां की
सच्चाई को जानकर तुम चौक जाओगे इससे पहले
परमपिता परमेश्वर का स्मरण करो और कर बार
एक लिखो मेरे बच्चे वह तुमसे प्रेम करता
है या नहीं यह प्रश्न तुम्हें बहुत परेशान
कर रहा है तुम सदैव इसी दुविधा में रहते
हो तो मैं उत्सुक राहत है जान का की वह
तुम्हारे बड़े में क्या सोचता है क्या तुम
दोनों एक साथ हो पाओगे वह समय आखिर कब
आएगा कब तुम्हारे और उसका दिव्या मिलन
होगा मेरे बच्चे आज मैं तुम्हें इन्हीं
सभी प्रश्नों का उत्तर दूंगा आज इस संदेश
के मध्य से तुम सब कुछ जान पाओगे इसलिए
भाग्य साली अंक तीन बार साथ लिखना ना भूले
मेरे प्रिया बच्चे तुम जिससे प्रेम करते
हो वह व्यक्ति भी तुमसे बहुत प्रेम करता
है सदैव तुम्हारे साथ रहना चाहता है
तुम्हें अपना जीवनसाथी बनाना चाहता है वह
तुमसे बहुत प्रेम करता है और तुमसे विवाह
करना चाहता है वह बहुत प्रयास कर रहा है
ताकि तुम दोनों सदैव के लिए एक साथ ए जो
वह तुम्हें अपने के लिए बहुत कोशिश कर रहा
है वह हमेशा के लिए तो मैं अपना बनाना
चाहता है जीवन भर तुम्हारे साथ रहना चाहता
है वह दिन रात बस इसी बड़े में सोचता राहत
है तुम्हारे साथ रहने पर उसे सबसे ज्यादा
शांति और खुशी की अनुभूति होती है वह
सोचता है जब वह तुम्हारे साथ होता है तो
इतना सुकून कैसे महसूस करता है तुम्हारा
उसे बहुत प्रभावित करता है हमारे साथ उसे
एक सकारात्मक ऊर्जा देता है जब वह
तुम्हारे साथ होता है तो अपनी साड़ी
परेशानी को भूल जाता है इसलिए जीवन का हर
पाल तुम्हारे साथ बिताना चाहता है उसे ऐसा
लगता है की उसका भविष्य तुमसे जुड़ा हुआ
है उसकी भावनाएं केवल तुम्हारे लिए हैं
इसलिए तुम अपने दिल से एक बात निकाल दो की
वह तुम्हें सच्चा प्रेम करता है या नहीं
वह तुम्हें कभी धोखा नहीं देता तुम्हारा
प्रेमी भी अपने भविष्य को लेकर बहुत
चिंतित है वह नहीं जानता की आगे क्या होगा
लेकिन वह तो यही प्रार्थना करता है की तुम
दोनों सदैव साथ रहो मेरे बच्चे यदि तुम
दोनों साथ रहोगे तो तुम्हारा जीवन बहुत
सुखद होगा यदि तुम इसे सच होता देखना
चाहते हो तो कर और एक अंक की ऊर्जा को
आक्रशित करने के लिए अवश्य लिखे कभी-कभी
तुम्हारा प्रेमी बहुत दुखी हो जाता है
क्योंकि उसे ऐसा ग रहा है की वह तुम्हारे
साथ र पाएगा या नहीं उसके जीवन में अभी
कुछ दुविधा चल रही है वह समझ नहीं का रहा
प्यार करें और क्या ना करें उसे कभी कभी
बहुत ही दुख होता है पर वह अपने मां की
बात किसी से नहीं कहता वह विवश है इसलिए
तुम्हारे कई प्रश्नों के उत्तर नहीं दे का
रहा है वह तुम्हें साड़ी खुशियां देना
चाहता है इसलिए सोच में है की क्या वह
तुम्हारे लिए उचित है या नहीं तुम उसे गलत
समझना की भूल मत करो वह तुमसे सच्चा प्रेम
करता है लेकिन अभी उसकी स्थिति मजबूत नहीं
इसलिए वह अभी तुम्हारे प्रश्नों की उत्तर
नहीं दे का रहा है वह हमेशा तुम्हारी खुशी
की प्रार्थना करता है मेरे बच्चे लेकिन
तुम चिंता मत करो यदि तुम उसे समझना का
प्रयास करोगे तो निश्चित ही तुम दोनों का
जीवन आसन हो जाएगा और तुम भविष्य में
सुखपूर्वक एक साथ र पाओगे इस समय उसे
तुम्हारे साथ की अधिक आवश्यकता है शीघ्र
ही तुम्हारे प्रेम को आशीर्वाद प्राप्त
होगा टाइप यस आईएफ यू बिलीव डिवाइन
ब्लेसिंग
मैं काली मां आज तुम्हारे जीवन को बदलने
का मार्ग तुम्हें बता कर जाऊंगी किंतु यदि
तुम सच्चे मां से मेरे संदेश को सनोज तभी
तुम्हारा जीवन कल्याणकारी हो पाएगा मैं
देख रही हूं की तुम बहुत चिंता में बैठे
हो किसी खास परेशानी में तुम्हें घर रखा
है और तुम्हारे जीवन में खुशियों के नाम
पर सिर्फ दुखी दुख है मैं तुमसे आज केवल
एक वचन चाहती हूं की जो तुम इस संदेश में
सनोज वह सब बातें तुम्हें अपने जीवन पर
लागू करनी है चिंता में मत बैठे रहो मेरे
बच्चों अपने कर्म करते जो अभी संसार में
तुम्हारे कर्म से ज्यादा बलवान और कोई भी
नहीं मैं तुम्हारे कर्मों से ही तुम्हारे
भविष्य का आईना दिखा शक्ति हूं यदि तुम
अपने नियमों में सुधार कर लोग तो तुम्हारे
दुखों का अंत स्वयं ही होता चला जाएगा
तुम्हारे जीवन में जो भी लोग या फिर सफलता
असफलता या सुख दुख जो कुछ भी तुम प्राप्त
कर रहे हो यह सभी तुम्हारे कर्म का फल है
तुम जैसे कर्म कर रहे हो वैसे तुम्हें फल
मिल रहे हैं इसलिए बैठे रहने से तुम्हारे
कर्म बादल नहीं जाएंगे बल्कि कर्म बदलने
के लिए तुम्हें अच्छे कार्य करने होंगे
तुमने अपनी पुरी जिंदगी में जो भी किया है
अच्छा या बड़ा उसे चीज का जो भी तुम्हें
परिणाम मिल रहा है वही तुम्हारा कर्म फल
है जब भी कोई मनुष्य कोई कार्य करता है तो
उसकी प्रतिक्रिया जरूर होती है अगर तुमने
अपने जीवन में अच्छे कर्म किया हैं तो वह
जो है क्रिया अच्छी होती है और बुरे कार्य
करें तो प्रतिक्रिया बुरी होगी यही
प्रतिक्रिया ही तुम्हारे अच्छे या बुरे
कार्य करने से तुम्हें प्राप्त होती है
यदि तुमने अपने जीवन में कुछ गलत कार्य
किया हैं या तुमसे कुछ गलतियां हुई हैं तो
उसका पश्चात करके अपनी उन गलतियां में
सुधार करो एवं फिर कभी ऐसी
गलतियां ना करने का मुझे वचन दो मेरे
बच्चों यह जीवन तुम्हें बहुत मुश्किलों के
बाद मिला है मनुष्य जीवन अपने के लिए आपको
बहुत साड़ी योनियों से गुजरा पड़ता है
उसके बाद ही आपको यह दुर्लभ शरीर प्राप्त
होता है तो मेरे बच्चों आप अपने शरीर का
अपना स्वास्थ्य का अपने जीवन में हो रही
हर छोटी-बड़ी घटनाओं का ध्यान रखिए
आप सब जैसे अपने छोटे से शिशु का ख्याल
रखते हैं उसका दिन रात ध्यान रखते हैं
उसकी छोटी-छोटी जरूर को पूरा करने के लिए
अपना सब कुछ एक कर देते हैं वैसे ही आप भी
अपने शरीर का ध्यान रखिए क्योंकि यह शरीर
आपको एक बार मिला है क्योंकि आपका शरीर
अगर स्वस्थ है तो ही आपका मां और बुद्धि
भी स्वस्थ और खुश रहेंगे इसलिए कहा जाता
है की तन और मां स्वस्थ होगा तो ही आप
जीवन के हर कार्य खुशी-खुशी कर सकते हैं
मैंने आज तक आपको जितनी भी शक्तियां दी
हैं वह सिर्फ इसलिए नहीं दी है की आप
सिर्फ इसका प्रयोग करके धन के पीछे भेज और
अपना पूरा दिन इस में ही लगा दे आप कुछ
पाल अपने लिए भी निकालिए अपने परिवार अपने
आसपास बस अपने खुद के लिए भी समय निकाल
लिए ताकि आप जीवन भर हर छोटी-बड़ी खुशी का
आनंद ले सके मेरे बच्चों शास्त्रों में भी
कहा गया है अगर आपकी किया स्वस्थ है तो
उससे बड़ा सुख जीवन में कुछ और नहीं
क्योंकि स्वस्थ शरीर में ही भगवान का
निवास होता है अगर आपका मां स्वस्थ है तो
आपकी आत्मा भी स्वस्थ होगी और स्वास्थ्य
और स्वस्थ आत्मा में प्रभु का निवास होता
है यह जीवन अनमोल है यह बात तो मैं हमेशा
याद रखती है और जीवन अनमोल तभी होगा जब
आपका शरीर स्वस्थ होगा आपका मां दिलों
दिमाग आपकी आत्मा सभी कुछ सही तरीके से
कार्य करेगी और इसलिए आपकी जिम्मेदारी है
की आप अपने दिन का कुछ समय अपने शरीर को
भी जरूर
वैसे भी मनुष्य इस भाग दौड़ भारी जिंदगी
में अपने लिए समय निकालना भूल ही गया है
वह भूल जाता है जिसके द्वारा सभी कार्य
करता है वह इस का ही ध्यान नहीं दे पता है
इसलिए तुम हमेशा सबसे पहले उसका ध्यान रखो
जिसके करण तुम इस धरती पर जीवित हो
क्योंकि मेरे प्यार बच्चों अगर आपके शरीर
में एक बार रोग ग जाते हैं तो चाहे आप
कितनी भी औषधि ले लेने जितना भी अपना इलाज
कर लेने आप पहले जैसा पूर्ण रूप से ठीक
नहीं हो पाते हैं इसलिए आप सचित रहे आप
अपने जीवन में कुछ भी ऐसा ना करें जिससे
की आप अपने शरीर को हनी पहुंचाएं मैंने
देखा है की कुछ बच्चे अपने मनोरंजन के लिए
अपने शरीर में कुछ गलत प्रकार के पदार्थ
का सेवन करते हैं जो उनके लिए बिल्कुल भी
सही नहीं है इससे वह की खुशी के लिए अपने
शरीर का नुकसान करते हैं और वे सोचते हैं
हम जो कर रहे हैं सही कर रहे हैं लेकिन
मेरे बच्चों दो पाल की खुशी के लिए अपनी
आत्मा अपने शरीर दोनों को ही नुकसान पहुंच
रहे हैं आज मैं आपसे यही कहना चाहती हूं
की मेरे बच्चों आप इतनी मुश्किल से मनुष्य
जन्म ले पे हैं तो इस मनुष्य जन्म का
उपयोग अच्छे कार्य में करो अपने स्वार्थ
के लिए अपने शरीर को हनी ना पहुंचाएं आपको
प्रभु का रहे दिल से शुक्रिया अदा करना
चाहिए जिसने आपको इतना सुंदर तन मां देकर
इस धरती पर भेजो है वह सिर्फ इसलिए की आप
भगवान के प्रिया बच्चों में से एक हो वह
चाहते हैं की आप अपने साथ-साथ अपने आसपास
के लोगों का भी कल्याण करें मेरे बच्चों
कभी भी गलत सन गति में ना पड़े क्योंकि एक
बार जीवन में अगर आप गलत संगति में पद
जाते हैं तो उससे आपका पूरा जीवन ही खराब
हो जाता है अब सोच भी नहीं सकते हैं की आप
जी र पर चल रहे होते हैं वह आपके लिए
कितना ज्यादा खराब होता है इसलिए सोच
समझकर अपनी संगति बनाएं

Leave a Comment