तुम्हारे शत्रु आने वाले समय तुम्हारे लिए योजना बना रहा है

मेरे बच्चे कैसे हो तुम आज तुम्हारी काली
मां तुम्हें कुछ ऐसा बताने आई है जिसे
जानकर तुम्हारे रोंगटे खड़े हो जाएंगे
मेरे बच्चे क्योंकि कुछ बात ही ऐसी है जो
तुम्हारे सुनते ही तुम्हारा मन आसान हो
जाएगा मेरे बच्चे तुम्हारी माता तुम्हारे
लिए बहुत चिंतित है क्योंकि तुम मेरी
संतान हो इसलिए तुम्हारा जीवन में जो भी
घटित हो रहा है और होने वाला है उसे देखकर
और जानकर मुझे चिंता तो हो ही मेरे बच्चे
तुम्हारा शत्रु तुम्हारे पीछे पड़े हुए
हैं वह तुम्हें बर्बाद करना चाहते हैं
उनकी उड़नता अब बहुत हो चुकी है उन्होंने
सारी हदें पार कर दी है मेरे बच्चे वह
तुम्हारे लिए एक साजिश बना रहे हैं जिसमें
तुम्हें फसाना चाहते हैं तुम्हें फसा कर
वह तुम्हें बर्बाद करना चाहते हैं तुमने
आज तक कभी किसी का आहट नहीं किया है सदैव
हमेशा सबका भला ही रहा है चाहे वह अपना हो
चाहे चाहे वह पराया हो सभी के लिए तुम
अच्छा करते थे फिर भी लोग तुम्हें हंसने
की योजनाएं बनाते रहते हैं मेरे बच्चे जो
तुम कर रहे हो वह आप विश्वास नहीं है और
प्रशंसनीय भी क्योंकि ऐसा करना हर किसी के
बस की बात नहीं है इसलिए लोग तुमसे इतना
इससे और घना रखते हैं मेरे बच्चे तुम्हारे
शत्रु बहुत ही शातिर है वह हर नए दिन
तुम्हारे लिए षड्यंत्र रचते रहते हैं
परंतु मेरे बच्चे तुम्हारी माता की वजह से
उनके सभी षड्यंत्र सफल हो जाते हैं और वह
निराश हो जाते हैं वह यह सोचते हैं कि
तुम्हारे साथ ऐसी कौन सी शक्ति है जो
तुम्हारी रक्षा करती है वह यह नहीं जानते
हैं कि इस ब्राह्माण शकल संसार की काली
मां उसके साथ है और उसकी रक्षा करती है
मेरे बच्चे
में तुम्हारे साथ हमेशा रहती हूं और
तुम्हे रक्षा भी करती हूं तुम्हें हर उसे
मुसीबत से बचाती हूं जो तुम्हारे जीवन में
आने वाली होती है मेरे बच्चे अपनी माता का
आशीर्वाद पाने के लिए इस वीडियो को अभी
लाइक कर दीजिए और चैनल को सब्सक्राइब करके
कमेंट में जय मां काली लिख दीजिए और अपनी
स्वीकृति प्रदान करने के लिए मेरा
भाग्यशाली अंक 555 टाइप कर दीजिए टाइप
करते ही मेरा आशीर्वाद आपके ऊपर बरसाने
लगेगा मेरे बच्चे मनुष्य के जीवन को चलाने
वाले विभिन्न तत्त्वों में जब तक संतुलन
नहीं होता तब तक उसका जीवन कभी संतुलित
नहीं हो सकता है जब जल वायु अग्नि आकाश
में संतुलन बनता है तभी उसकी मजबूत स्थिति
और आध्यात्मिक स्थिरता आती है मेरे बच्चे
जिस तरह से एक मजबूत इमारत तभी खड़ी होती
है जब उसकी नींद में चार मजबूत स्तंभ हो
ऐसे ही जब मनुष्य के जीवन में यह चारों
तत् स्थिर रूप से संतुलित होते हैं तभी
उसकी उड़ान विजेताओं वाली होती है मेरे
बच्चे तुम्हारे जीवन में जीत बहुत नजदीक
है और इसके लिए तुम्हें संदेश का सुनना
बहुत आवश्यक है इसलिए चाहे परिस्थिति कोई
भी हो तुम हर हाल में इस संदेश को पूरा
सुनना इसे बीच में छोड़कर जाने की भूल ना
करना क्योंकि कल से तुम्हारे जीवन का
शुभारंभ होने वाला है मेरे बच्चे यह माह
तुम्हारे लिए खुशियों की बौछार लेकर आ रहा
है ऐसी प्रसन्नता लेकर आ रहा है कि
तुम्हारे चेहरे पर हमेशा चमक
रहेगी मेरे बच्चे इस संदेश का तुम्हें
मिलना ही यह प्रमाणित कर रहा है कि अब
तुम्हारी जीत सुनिश्चित कर दी गई है तुम
पर फरिश्तों का आशीर्वाद बरस रहा है जैसे
एक ऋतु के बाद दूसरी ऋतु प्रारंभ होती है
ऐसे ही तुम्हारे जीवन में दुखों की ऋतुएं
परिवर्तित हो रही हैं और अब सुखों की
बौछार आने वाली है तुम्हारा जीवन पथ रूपी
संकट से अब सावन रूपी खुशी में प्रवेश कर
रहा है इसी समय में तुम अपने आसपास बहुत
चमत्कारिक प्रकार के बदलाव को अनुभव करने
वाले हो कुछ ऐसे अनुभव होंगे जिनसे
तुम्हारा हृदय पूरी तरह से आश्चर्य से भर
उठेगा लेकिन मेरे बच्चे ऐसी परिस्थिति में
भी तुम्हें कुछ सावधानियां बरतनी है
क्योंकि कुछ ऐसे लोग हैं जो बार-बार
तुम्हारी ऊर्जा को दूषित करना चाहते हैं
किंतु तुम्हें उन व्यर्थ की चीजों पर
ध्यान नहीं देना है जैसे कोआ काफ काफ करता
है और कोई इस पर ध्यान नहीं देता और फिर
वह स्वतः ही उड़ जाता है ऐसे ही यह वि त
मन के लोग तुम्हें विचलित करना चाहते हैं
लेकिन तुम्हें इन पर बिल्कुल भी ध्यान
नहीं देना है मेरे बच्चे तुम्हारे पास
प्राकृतिक रूप से उपचार शक्ति उपलब्ध है
इसका अर्थ यह है कि तुम्हारे अंदर एक
प्रकार की हीलिंग पावर मौजूद है तुम एक
प्राकृतिक रूप से उपचार की ही हो तुम्हारा
आभा मंडल भी इस उपचार के साथ बदलता है
तुम्हारे मुह से निकले शब्द ना केवल
तुम्हें बल्कि लोगों को भी शांति प्रदान
करते
हैं मेरे बच्चे वास्तव में तुम एक शांति
दूत ही हो और जब तुम दूसरों के लिए भी
प्रार्थना करते हो तो उनकी इच्छा भी पूरी
हो जाती है कई बार तुम्हें अपनी प्रार्थना
हों पर संदेह होता है तुम अपने बारे में
गलत हो जाते हो किंतु तुम्हारे द्वारा की
गई दूसरों के लिए प्रार्थनाएं
बहुत जल्दी सफल हो जाती
है मेरे बच्चे तुम्हारे पास ईश्वर को अपने
समक्ष महसूस करने की शक्ति है केवल
तुम्हें उसे जागृत करना है क्योंकि यह अभी
सक्रिय अवस्था में नहीं है सुसुप्त अवस्था
में है मेरे बच्चे अब समय आ गया है इसे
जागृत करने का लेकिन इसे जागृत करने के
पहले तुम्हें अपने विचारों में थोड़ा
परिवर्तन करने की आवश्य
है तुम्हें मान्यताओं से बाहर हटकर अपने
जीवन के अनुभवों को समझने की आवश्यकता है
यदि तुम्हें किसी चीज में विलंब दिखाई पड़
रहा है तो उसके पीछे एक कारण है मनुष्य जब
तक पूरी तरह से तैयार नहीं हो जाता उसे वह
क्षमता देना उचित नहीं होता जो क्षमता
पाने का उसका अधिकार है मेरे बच्चे यदि
तुम कुछ पाने के योग्य हो तो निश्चित तौर
पर वह तुम्हें मिलेगा ही मिलेगा तुम्हें
समझना होगा कि तुम बहुत भाग्यशाली हो कई
बार तुमने इसका प्रदर्शन भी किया है इसके
बावजूद तुम्हारे साथ अनुचित नहीं हुआ है
क्योंकि मैं हर बार तुम्हारा बचाव करते आई
हूं मेरे बच्चे मुझ पर विश्वास करो तुम आज
तक कभी डूबे नहीं हो तुम्हें ज्ञात नहीं
लेकिन बहुत सी नकारात्मक आत्माएं
बहुत सी नकारात्मक ऊर्जा बहुत से
नकारात्मक लोग सदा से यही चाहते आए हैं कि
तुम कभी विजय ना हो तुम कभी विजेता ना बनो
तुम्हारी कभी जीत ना हो उनमें से कुछ लोग
तुम्हारे बहुत करीबी रहे हैं तुम्हारे
अपने ही कुटुंब के सदस्य रहे
हैं कुछ ऐसे जो तुम्हारे अपने होने का
दिखावा तो करते हैं लेकिन मन ही मन तुमसे
जलते रहते हैं
यदि तुम गौर से देखोगे तो तुम यह जान भी
जाओगे कि वह कौन है तुम्हें इसका आभास भी
कई बार हुआ है लेकिन तुम उनके मुंह पर कभी
कुछ कह नहीं पाए लेकिन मेरे बच्चे मेरा
विश्वास करो मुझे अच्छी तरह से पता है कि
वह कौन है और उनकी की नियत कितनी खराब है
वह कभी नहीं चाहते कि तुम प्रगति करो
तुम्हें जरा सी धन की प्राप्ति हो जाए यह
भी उनसे देखा नहीं जाता वह बाहरी रूप से
तो तुम्हारे अपने होने का दिखावा करते हैं
और उनका छलावा तुम्हें स्पष्ट रूप से दिख
भी जाया करता है लेकिन इसके बावजूद तुम
कुछ ना कर पाने की स्थिति में आ जाते हो
मेरे बच्चे उन्होंने सदा से यही चाहा है
कि तुम्हारी कभी भी जीत ना हो लेकिन मैं
ऐसा कभी होने नहीं दूंगी मैं मैं कभी भी
उनकी मंसा को पूर्ण नहीं होने दूंगी
क्योंकि बंद मति से किया गया कोई भी कार्य
कभी भी बेहतर नहीं हो सकता और कभी भी उन
कार्यों को पूर्ण नहीं होना चाहिए यह अलग
बात है कि उन्हें ऐसा लग सकता है कि उनकी
जीत हो रही है जब तुम उदास होते हो हताश
होते हो जब तुम निराश होते हो तो उन्हें
बड़ी प्रसन्नता होती है वह बाहरी रूप से
दिखावा करते हैं कि वह तुम्हारे दुख में
दुखी है किंतु उनका भीतरी मन बहुत ही
शांति का अनुभव कर रहा होता है लेकिन वह
नहीं जानते कि वह ऐसा करके वह अपने ही पैर
पर कुल्हाड़ी मार रहे
हैं मेरे बच्चे जो लोग तुम्हारा बुरा
चाहते हैं वह कभी इसमें सफल नहीं होंगे
बल्कि अब तो मैं तुम्हें इतनी बड़ी सफलता
दिला
कि वो रह रह कर परेशान हो जाएंगे इतनी
बड़ी सफलता दिलाऊंगा
करना चाहिए और इसमें तुम्हारा जरा भी
योगदान नहीं होगा ना ऐसा करने की तुम्हारी
नियत है ना चाहत है मैं इस बात को जानती
हूं लेकिन मैं तुम्हें बता दूं कि मैं
सदैव तुम्हारे साथ रहती हूं मैं तुम्हारे
चेहरे पर दुख नहीं देख सकती इसलिए मेरे
बच्चे अब समय आ गया है कि उनके कर्मों का
उन्हें हिसाब दे दिया जाए और शुरुआत
तुम्हारे शत्रुओं से ही होगी वे शत्रु जो
तुम्हारे अपनों के रूप में मुखौटा पहनकर
तुम्हारे ही बीच है जो तुम्हारे परिवार के
सदस्य के रूप में छिपे हुए हैं वह जिन्हें
तुम कई बार रिश्तेदारों की श्रेणी में आगे
रखते हो वही नहीं चाहते कि तुम प्रगति करो
लेकिन तुम्हें बिल्कुल भी इसकी चिंता नहीं
करनी है और ना तुमने कभी इस प्रकार की
बातों में अपना समय गवाया है लेकिन मेरे
बच्चे उनकी बातों से तुम कई बार हताश हो
जाते हो लोगों की बातें सोचकर तुम उदास हो
जाते हो और ऐसा करना कहीं से भी ठीक नहीं
है जो नहीं चाहते कि तुम आगे बढ़ो तुम्हें
उनका विचार भी नहीं करना चाहिए कोई
तुम्हें लेकर क्या सोच रहा है तुम्हारे
बारे में अच्छा सोच रहा है या तुम्हारे
बारे में बुरा सोच रहा है तुम्हें यह सब
त्यागना होगा तुम्हें व्यर्थ की चीजों को
त्यागना होगा केवल और केवल उन चीजों से
तुम्हें मतलब रखना होगा जो तुम्हारी
प्रगति में सहायक हो जो तुम्हारे उद्देश्य
से टकराते हो केवल वह चीज जो तुम्हारे
उद्देश्य में सहायक हो जो तुम्हें आगे
बढ़ने की प्रेरणा दे ऐसी चीजों को ही
तुम्हें महत्व देना होगा इसके अलावा इस
संसार की प्रत्येक चीज तुम्हारे लिए
महत्वहीन हो जानी चाहिए क्योंकि मेरे
बच्चे जो व्यक्ति आगे बढ़ता है वह व्यर्थ
के झंझट बातों में नहीं फंसता और जो
व्यर्थ के झंझट बातों में फसता है उसे
पराजित होने से कोई रोक नहीं सकता क्योंकि
फिर उसका दिमाग बच जाता है क्योंकि फिर
उसे अपना मार्ग अस्पष्ट दिखाई नहीं पड़ता
क्योंकि फिर उसका साथ कोई नहीं दे
सकता मेरे बच्चे मैं तुमसे कहती हूं कि
तुम पर्याप्त हो तुम स्वयं में ही
पर्याप्त हो तुम्हें किसी के सहारे की
आवश्यकता नहीं है केवल आवश्यकता है तो
अपने मन मन के भीतर झांकने की केवल
आवश्यकता है तो यह समझने की कि तुम अकेले
ही पर्याप्त हो ऐसा नहीं है कि मैं
तुम्हारे जीवन में ऐसा गुरु ऐसा मनुष्य
नहीं भेजूंगी जो तुम्हें आगे बढ़ने में
सहायता प्रदान करें लेकिन मैं चाहती हूं
कि तुम बात को पूरे दिल से स्वीकार कर लो
कि तुम पर्याप्त हो तुम्हें किसी की
आवश्यकता नहीं तुम भयभीत होते हो ईश्वर के
नाम पर भी तुम भयभीत होते हो इस भय का कोई
कारण नहीं है यह भय तुम्हारे दिमाग में
केवल भरा गया है यह भय तुम्हारे दिमाग में
डाला गया है वास्तव में इस भय का कोई
अस्तित्व नहीं है मेरे बच्चे इस संसार में
कोई ऐसा नहीं है जो तुम्हें डरा सके ना
कोई ऐसी ऊर्जा है ना ही कोई ऐसी शक्ति है
जो तुम्हें भ भीत कर दे तुम्हें मनुष्य का
यह जीवन दिया गया है किसी कारण से अन्यथा
तुम कोई और जीवन भी प्राप्त कर सकते थे
तुम किसी पशु पक्षी या वृक्ष का जीवन या
किसी सूक्ष्म जीव का जीवन प्राप्त कर सकते
थे और तुम्हारी चेतना लगभग शून्य हो
जाती लेकिन ऐसा नहीं हुआ तो मनुष्य का
जीवन पाए तुम्हें लगता है कि तुम्हारा
जीवन बेहतर नहीं है किंतु तुम्हें गौर से
झांकने की आवश्यकता है कि तुम क्या छोड़
रहे हो कौन सी ऐसी चीज है जो तुमसे छूट
रही है केवल एक कदम दूर हो तुम अपनी सफलता
के बस तुम उस एक बाधा को पहचान नहीं पा
रहे हो और जबकि तुम्हें अपना पूरा समय उस
एक बाधा को पहचानने में देना चाहिए जिसकी
वजह से तुम आगे बढ़ने से रुक रहे हो मेरे
बच्चे इस संसार में बहुत सारे मनुष्य हैं
उनका सबका एक उद्देश्य है लेकिन हर कोई
इतना सौभाग्यशाली नहीं कि वह अपने
उद्देश्य को समझने की राह में आगे बढ़ पाए
लेकिन तुम्हारे मन में यह जग जगी तुम्हारे
मन में यह उठा कि तुम जानना चाहे कि
तुम्हारा वास्तविक आत्म उद्देश्य क्या है
मेरे बच्चे तुम्हारे मन में सदा से
यह ज्वाला प्रज्वलित होती रही है तुम सदैव
से यह जानने की मंशा जाहिर करते आए हो कि
आखिर तुमने इस धरती पर जन्म क्यों लिया है
तुम्हारे मन में यह प्रश्न कौन रहा है और
यही कारण है कि तुम्हारा चुनाव हुआ वह
व्यक्ति जो अपनी मनसा जाहिर करता है जो
अपने इरादे स्पष्ट करता है वह इस मार्ग पर
आगे आ पाता है उसका चयन किया जाता है क्या
तुमने कभी विचार किया कि तुम अपने कुल में
अपने परिवार में इकलौते ऐसे सदस्य क्यों
रहे जो अध्यात्म की राह में इतनी आगे आ
पाए इकलौते ऐसे सदस्य क्यों रहे जो अपने
वास्तविकता को जानने के इतने करीब क्यों आ
पाए मेरे बच्चे जिसके मन में ऐसा प्रश्न
बार बार क्यों कंद रहा आखिर तुम्हारे अपने
ही परिवार में लोग अहंकार भोग विलास और
नफरत ईर्ष्या के जाल में फंसे हुए हैं एक
दूसरे के प्रति अहंकार दिखाना और नफरत की
भावना रखना यह तुम्हें कहीं और किसी और
समुदाय में देखने झांकने की आवश्यकता नहीं
मेरे बच्चे तुम्हारे अपने परिवार में ऐसा
घटित हो रहा है ऐसा तुम्हारे अपने परिवार
के सदस्य कर रहे हैं तो क्या तुम्हारे मन
में यह कभी प्रश्न नहीं उठा कि तुम कैसे
इन सबसे धीरे-धीरे ऊपर उठते गए कैसे
तुम्हारे भीतर का अहंकार धीरे-धीरे खत्म
होता रहा कैसे तुम्हारे अंदर ईर्ष्या की
भावना ने पहले ही दम तोड़ना प्रारंभ कर
दिया मेरे बच्चे तुम अपने साथ-साथ अपने
साथी को अपने परिवार जनों को बदल रहे हो
तुम उनके जीवन में सकारात्मकता का संचार
कर रहे हो तुम नायक हो तुम नेता हो वह
नेता नहीं जो अनावश्यक दूसरों को अपनी
बातों में उलझाया रहता है वास्तव में तुम
एक अग्रदूत हो एक ऐसा अग्रदूत जिसके आगे
आगे चलने पर उसके पीछे चलने वाले खुद को
सुरक्षित खुद को समर्पित और खुद को
आध्यात्मिक मानने लगते
हैं मेरे बच्चे तुम प्रेरणा के स्रोत हो
तुम्हें किसी से प्रे प्रणा लेने की
आवश्यकता नहीं तुम्हारी वास्तविक प्रेरणा
तुम स्वयं हो तुम्हारी प्रेरणा मैं हूं और
मैं तुमसे अलग नहीं हूं मैं तुम्हारे शरीर
में बसी तुम्हारे मन बुद्धि चित्त में बसा
हुआ तुम्हारा ही एक रूप हूं तुम्हें
आवश्यकता है तो अपने भीतर की शक्तियों को
जागृत करने
की मेरे बच्चे तुम में जो क्षमता है वह
सामान्य नहीं है वह बिल्कुल ही अलग है इस
क्षमता का उपयोग करके बहुत से सज्जन संत
बन चुके हैं इस क्षमता का उपयोग करके बहुत
से लोगों ने बहुत से नाम धन दौलत या शोहरत
कमाया है और तुम भी उस राह में आगे ही हो
किंतु मेरे बच्चे तुम्हें एक बाधा रोक रही
है केवल एक ऐसी चीज जिसे तुम्हारा मन समझ
नहीं पा रहा है तुम्हें विचार करना है भय
का त्याग करोगे तो तुम वह जान पाओगे कि वह
कौन सी बाधा है जो तुम्हें आगे बढ़ने से
रोक रही है बहुत से लोगों ने तुम्हारी ही
कला का उपयोग करके पूर्व जन्मों में अपना
नाम कमाया है मेरे बच्चे यदि तुम अतीत को
गहराई से झा कोगे तो तुम जान पाओगे कि
बहुत से ऐसे मनुष्य रहे हैं जिनके अंदर
वही प्रतिभा विद्यमान थी जो तुम्हारे भीतर
है और उन्होंने बहुत नाम कमाया शोहरत कमाई
और असंख्य मात्रा में दौलत भी
कमाई मेरे बच्चे तुम भी बहुत ज्यादा दौलत
बहुत ज्यादा शोहरत यह कमाने की राह में हो
और ऐसा नहीं है कि तुम यह कमा नहीं पाओगे
निश्चित तौर पर तुम यह कमाओगे भी लेकिन
मेरे बच्चे तुम्हें अपनी सोच में परिवर्तन
कर करने की आवश्यकता है तुम्हारी सोच में
ऐसा क्या है जो बाधा बन रहा है उसे समझने
का प्रयत्न करो सीखने का प्रयत्न करो मेरे
बच्चे अपने जीवन का आकलन करो लिखना
प्रारंभ करो अपने जीवन के बारे में लिखना
प्रारंभ करो अपने भय के बारे में लिखना
प्रारंभ करो अपनी अच्छाइयों के बारे में
लिखना प्रारंभ करो जो भी तुम्हारे भीतर
अच्छाइयां है तुमने जो छोटी-छोटी सफलताएं
अर्जित की है उनके बारे में लिखना प्रारंभ
करो मेरे बच्चे जब तुम ऐसा करोगे तो तुम
यह जान पाओगे कि वास्तविकता में तुम्हारे
भीतर क्या गुण और अवगुण विद्यमान है तब
तुम यह जान पाओगे कि ऐसा क्या है जो
तुम्हें प्रगति पाने से रोक रहा है
क्योंकि तुम में सारी क्षमताएं मौजूद है
क्योंकि तुम्हारा व्यक्तित्व श्रेष्ठ है
वास्तव में सर्वश्रेष्ठ है तुम जीत पाने
के ना केवल इच्छुक हो बल्कि अधिकारी भी हो
तुम्हारे जीवन में अब तक प्रेम का जो अभाव
रहा है उस वजह से तुम्हारे मन में बहुत
कुंठा आई है तुम खुलकर लोगों से अपनी बात
नहीं कह पाते थे इस वजह से तुम्हारे मन
में बहुत कुंठा आई है चाहे विद्यालय रहा
हो या तुम्हारा कार्य क्षेत्र या तुम्हारा
परिवार रहा हो तुमने बहुत सी बातें खुलकर
नहीं कही और यह कुंठा बाद में तुम्हारे
लिए नासूर बन गया जो तुम्हें पीड़ देता है
तुम्हें इस कुंठा को त्यागना है तुम्हें
अपने आत्मविश्वास में वृद्धि करनी है मेरे
बच्चे बहुत सी चीजें तुम्हारे आत्मविश्वास
को रोक रही है तुम्हारे विश्वास की डोर को
ढीला कर रही है कहीं यह पतंग कटना जाए
अपने आत्मविश्वास रूपी पतंग को कटने से
पहले इसे जोड़ लो इसमें ऐसा मांझा लगा दो
जो कोई इसके करीब भी आए तो वह सदा ही कट
जाए और तुम्हें जरा भी हानि ना हो मेरे
बच्चे इसका अर्थ यह है कि तुम अपनी
मान्यताओं को त्याग दो और अपने अनुभवों के
आधार पर अपने जीवन को इतना प्रभावशाली बना
डालो अपने आत्मविश्वास को इतना मजबूत कर
लो कि कोई तुम्हें कभी भयभीत ना कर पाए ना
धन के आधार पर ना मान्यताओं के आधार पर ना
ईश्वर का भय दिखाकर ना शैतान का भय दिखाकर
ना ही किसी और चीज का भय दिखाकर कोई
तुम्हें कभी भी डरा सके कोई तुम्हें
पराजित नहीं कर
सकता मेरे बच्चे मेरी ऊर्जा तुम्हारे
संरक्षण में सदैव मौजूद है मैं तुम्हारे
जीवन में जीत की पूरी श्रृंखला बिछा रही
हूं फिर तुम्हें किस बात का भय है जब यह
मां तुम्हारे जीव का मां है तो तुम्हें
किस बात का भय है जब तुम्हारा जीवन एक
निर्मल जल की तरह बह रहा है तो तुम्हें
किस बात का भय है मेरे बच्चे तुम अपने मन
से भय का त्याग कर दो और उस नदी की तरह
अपना जीवन जियो जो जिधर धारा में है उधर
बहती रहती है जिधर मार्ग मिलता है उधर
बहती रहती है और यदि उसके राह में बड़े
चट्टान रूपी कोई बाधा आ जाए तो उसे भी वह
ध्वस्त कर डालती है उसे भी वह बर्बाद कर
डालती है मेरे बच्चे अपने ऊपर विश्वास रखो
किसी चीज को खोने से मत डरो मैं तुमसे कुछ
भी जुदा नहीं होने दूंगी लेकिन यदि तुम
निरंतर खोने की भावना को जागृत करते रहोगे
तो तुम प्रकृति के नियमों के आधार पर खोना
ही आकर्षित कर लोगे इसलिए चाहे तुम्हारा
साथी हो चाहे धन हो चाहे तुम्हारा कार्य
हो किसी भी चीज को खोने से मत डरो अपने
आत्मविश्वास के साथ किसी प्रकार का समझौता
मत करो अपने आत्मविश्वास को मजबूत हो जाने
दो उसे हारने मत दो तुम्हारा आत्मविश्वास
ही तुम्हारा असली हथियार है ऐसा हथियार
जिसके दम पर जिसके बल पर तुम जीव को हासिल
करने वाले हो मेरे बच्चे जी तुमसे बहुत
दूर नहीं है वास्तव में देखा जाए तो बहुत
नजदीक है बहुत करीब यूं समझो कि बस
तुम्हारे हाथों में आने वाली है लेकिन
तुम्हें अपनी इच्छा के अलावा अपनी योग्यता
को प्रदर्शित करना होगा मेरे बच्चे मुझे
ज्ञात है कि तुम योग्य हो किंतु इसका
प्रदर्शन तो तुम्हें करना ही होगा और इसके
लिए तुम्हें अपने भीतर के भय को त्यागना
होगा तुम्हें अपने आत्मविश्वास को
प्रदर्शित करना होगा तुम्हारा आत्मविश्वास
ही वह आधार है जो तुम्हें जीत दिलाएगा ना
केवल तुम्हें बल्कि तुम्हारे परिवार के
अन्य सदस्यों को भी वह सुविधा वह सहजता
प्रदान करेगा वह जीवन भर तुम्हारा ही
गुणगान
करेंगे मेरे बच्चे वास्तव में तुम इतनी
सफलता पाने वाले हो कि तुम्हारे जीवन में
धन छप्पर फाड़कर बरसेगा और इतना बरसेगा कि
तुम उसे संभाल नहीं पाओगे धन की ऐसी वर्षा
होगी जिसे संभाल पाना सामान्य नहीं
होगा लेकिन तुम्हें अपना आत्मविश्वास
दिखाना ही होगा अपने आत्मविश्वास को मजबूत
रखना ही होगा फिर तुम्हारे जीवन में एक
नया सवेरा होगा एक नया सूरज खिलेगा यह
प्रसन्नता का सूरज होगा यह खुशियों की
रोशनी होगी और तुम्हारे चेहरे पर ऐसी
अभूतपूर्व चमक होगी कि जिसकी तुम कल्पना
नहीं कर
सकते मेरे बच्चे जी तुम्हारे लिए सामान्य
बात हो जाएगी जीव ऐसी हो जाएगी जैसे
तुम्हारे लिए किसी चीज को आसानी से पा
लेना मेरे बच्चे इस जीभ को तुम्हें
आकर्षित करना है इस जीभ की तुम्हें पुष्टि
करनी है इस जीव को अपने रोम रोम में बसा
लेना है इस जीव को अपनी आदत बना लेनी है
मेरे बच्चे जीत तुम्हारा अधिकार है जीतने
के तुम योग्य हो तुम्हें इस धारणा को इस
भावना को अपने हृदय में बसा लेना है इसकी
पुष्टि करो अपने जीत की पुष्टि करो यह
पुष्टि करने के लिए तुम्हें अभी संख्या
2222 लिखना होगा और इसके साथ ही यह भी
लिखना होगा कि मैं बहुत भाग्यशाली हूं मैं
जीत की पुष्टि करता हूं मैं साहस पाने का
आग्रह करता हूं मेरे जीवन में साहस प्रदान
किया जाए मेरे जीवन में साथी प्रदान किया
जाए एक ऐसा साथी जो मेरा गुरु भी हो एक
ऐसा साथी जो मेरे जीवन को खुशियों से भर
दे मेरे बच्चे यह पुष्टि तुम्हारे द्वारा
की गई सर्वश्रेष्ठ पुष्टि होनी चाहिए
इसमें झिझक नहीं होना चाहिए इसमें भय नहीं
होना चाहिए इसमें डर नहीं होना
चाहिए मेरे बच्चे यह याद रखो क्योंकि अब
तुम्हारे किस्मत की चाबी तुम्हारे हाथ
लगने वाली है और तुम्हारे जीत का ताला
खुलने वाला है एक बात सदैव याद रखना
परिस्थिति चाहे कैसी भी हो तुम कभी अकेले
नहीं रहोगे मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे
साथ रहेगा मेरे आने वाले संदेशों की
प्रतीक्षा करना मैं तुम्हारा मार्गदर्शन
करने अवश्य आऊंगी तुम्हारा कल्याण होगा जय
हो माता रानी हर हर
महादेव मेरे बच्चे तुम अध्यात्म की राह
में आगे बढ़ रहे हो और इसके लिए तुम्हें
किसी प्रकार की पाखंड करने की आवश्यकता
नहीं है क्योंकि वास्तव में तुम मन से
आध्यात्मिक ही हो तुम्हें केवल उन तथ्यों
को याद रखने की आवश्यकता है मेरे बच्चे
सर्वप्रथम तुम्हारा यह समझना बहुत जरूरी
है कि आत्मा ही वास्तविक रूप से परमात्मा
का अंग है जो तुम्हारे भीतर ही विराजमान
है तुम परमानंद अपनी माता के शरण में हो
जहां अनंत प्रसन्नता वर्तमान में ही
व्याप्त होती है और यह अनंत प्रसन्नता ही
तुम्हारे दुखों का अंत करती है और अब तुम
सफलता के बहुत करीब आ गए और इस सफलता को
अर्जित करने के लिए तुम्हारा इस संदेश को
पूर्ण सुनना बहुत आवश्यक है इसलिए इस
संदेश को पूर्ण सुनना किसी भी परिस्थिति
में इसे बीच में ना
छोड़ना मेरे बच्चे जीवन जब पूर्ण रूप से
अव्यवस्थित लग रहा हो तुम्हारा आंतरिक शोर
तुम्हें परेशान कर रहा हो जब मनुष्य बाहरी
शोर से अधिक आंतरिक सोर से विचलित होने
लगता है जब उसके भीतर निराशा रह रह कर घर
करने लगती है तब वह उसे सकारात्मक शक्ति
से जुड़ने नहीं
देती मेरे बच्चे तुम एक अत्यंत ही पवित्र
आत्मा हो वास्तव में तुम शक्तियों से
भरपूर हो तुम्हारे ब्राह्मण चंद्र में वही
ऊर्जा संचारित हो रही है जो इस ब्रह्मांड
का निरंतर विस्तार कर रही है तुम उस
अत्यंत पूर्ण अनंत चेतना से अलग नहीं हो
वही पवित्र ऊर्जा जो बहुत शक्तिशाली है जो
किसी भी तरह के संकल्प को पूर्ण करने में
उसे सिद्ध करने में पूरी तरह से सक्षम है
मेरे बच्चे इतनी शक्ति तुम्हारे पास होते
हुए भी यदि तुम अपने लक्ष्य से दूर होते
हो अपने उद्देश्य को समझ नहीं पाते हो
अपनी मंजिल तक पहुंच नहीं पाते हो तो इसका
एक मुख्य कारण यही है कि तुम्हारा चंचल मन
तुम्हें निरंतर फंसा रहा है जैसे ही कोई
मनुष्य अपने भीतर के सोर को रोकने का
प्रयत्न करता है उसके लिए बाधाएं उत्पन्न
करता है तो वह भीतर का सोर उसे तोड़ने का
अथक प्रयत्न करता है लेकिन रे बच्चे जैसे
ही वह थोड़ा ठहर करर अध्यात्म के मार्ग पर
आगे बढ़ता है उसके मन की तरंगे स्थिर होने
लगती है और वह अपनी भीतर की ऊर्जा को
वास्तविक रूप में महसूस करना प्रारंभ कर
देता है स्थिर मन एक बेहद ही विवेकपूर्ण
निर्णय लेता है और व्यक्ति अपने अंदर
संचारित हो रही दिव्य शक्तियों को उसी
दृष्टि से देख पाता है जिस प्रकार से कोई
मनुष्य उठते सूर्य को देखता है जिस प्रकार
से कोई मनुष्य ध्यान मिलीन पंछियों की
कोलाहल को सुनता है यह जो निरर्थक ही
बोलता रहता है उसे शांति में बिठाना इस
संसार का सर्वाधिक कठिन कार्य लगने लगता
है लेकिन यदि दृढ़ निश्चय हो जाए तो यह
बेहद ही आसान हो जाता है और वही मन
तुम्हारा वास्तविक मित्र हो जाता है और
फिर तुम तुम्हारी माता से मिलने का मार्ग
कोई रोक नहीं सकता है मेरे बच्चे तुम्हारे
मुख से निकला हर संकल्प सत्य होने लगता है
यदि तुम अपनी आंतरिक शक्ति से जुड़ जाते
हो वास्तव में संकल्प की शक्ति ही
सर्वाधिक शक्तिशाली है केवल तुम्हें इसे
अपने मन से जोड़ना है और एक बार तुमने यदि
ऐसा कर लिया तो इस संसार की कोई भी ताकत
चाहे वह सकारा हो या नकारात्मक तुम्हें
पराजित नहीं कर सकती और देखो तुम ऐसा कर
रहे थे यही कारण है कि तुम अब अपने लक्ष्य
के बहुत ही करीब आ चुके हो अब तुम्हारे
परीक्षाओं का अंत हो रहा है लेकिन मेरे
बच्चे जब परीक्षाओं का अंत होता है तो यह
विचलित करने वाली घड़ी होती है जब तुमने
कभी कोई परीक्षा दी थी और जब उसका परिणाम
आता है तो तुम्हा रे मन में कैसा विचलन
पैदा होता है कैसी दुविधा पैदा होती है यह
दुविधा तुम्हारे आंतरिक मन में अभी भी हो
रही है जिसका अभी तुम्हें ज्ञान नहीं है
लेकिन तुम आगे बढ़ रहे हो तुम हर दिन नई
ऊर्जा के साथ अपना संपूर्ण प्रयत्न कर रहे
हो मेरे बच्चे मैं जानती हूं तुमने अपने
जीवन में कई बार गलतियां की है लेकिन यदि
तुम बार-बार
गलती कर रहे हो तो उसका यह अर्थ नहीं है
कि तुम हार रहे हो इसका तो सीधा सा अर्थ
है कि तुमने हार नहीं मानी है और यही कारण
है कि तुम बार-बार प्रयत्न कर रहे हो और
हर प्रयास तुम्हें मंजिल के एक कदम करीब
ही लेकर जा रही है मेरे बच्चे जिस व्यक्ति
ने इस संसार में कभी कोई गलती नहीं की
तुम्हें क्या लगता है क्या उसने कभी कोई
नया का किया होगा क्या वह कभी अपनी मंजिल
तक पहुंच भी
पाएगा मेरे बच्चे तुमने हर मुश्किल का
डटकर सामना किया है तुम तब भी खड़े रहे जब
बहुत से लोग टूटकर चकनाचूर हो गए लोगों का
अहंकार टूटा भ्रम टूटे यहां तक कि उनकी
इच्छा शक्ति भी टूट गई लेकिन तुम इन सबसे
आगे बढ़ते रहे तुमने हर चोट को अपने मन से
सराहा है तुमने जि में अपना समय व्यर्थ
नहीं
गवाया मेरे बच्चे तुमने कभी कभार कुछ समय
के लिए कुछ घंटों के लिए कुछ दिनों के लिए
तुम उदास रहे लेकिन यही तो तुम्हारी
काबिलियत है कि तुमने हर बार अपने आप को
खड़ा कर दिया ऐसी परिस्थिति में खड़ा किया
मेरे बच्चे जब हर कोई टूट रहा था जब किसी
को कोई उम्मीद नहीं दिख रही थी तुम केवल
उमीद के भरोसे नहीं रहे तुम केवल दूसरों
के भरोसे नहीं रहे तुमने स्वयं के लिए वह
मार्ग प्रशस्त किया है तुम सृजन कर्ता के
रूप में आगे आए हो मेरे बच्चे वास्तव में
तुम ही पालन करता तुम ही सृजन करता और तुम
ही संधार बने हर मुश्किल में तुमने अपने
विपत्तियों का अपने मुश्किलों का अपनी
चिंताओं का दमन किया और ऐसा करते ही
तुम्हा भीतर का संघार जग गया मेरे बच्चे
जब परिस्थितियां बिल्कुल ही विपरीत थी तब
तुमने अपने लिए एक नए समय का निर्माण करना
जारी रखा अपने प्रयास को निरंतर आगे
बढ़ाते गए और यही वह पड़ाव था जब तुम्हारे
भीतर का सृजन करता तुम में जाग रहा था और
उन परिस्थितियों में भी हार ना मानकर
तुमने सब कुछ सहा और एक नए स्वप्न को दे
देख करके उस दिशा में अपने कदम तुम बढ़ाते
गए और यह वही समय था जब तुम्हारे भीतर के
पालनकर्ता की ऊर्जा ने तुम्हें बल दिया
मेरे बच्चे वास्तव में इस ब्रह्मा से तुम
अलग नहीं हो तुम में मुझ में ब्रह्मा में
परमात्मा में जरा भी अंतर नहीं यह सब उसी
एक का ही अंग है वह एक जिसे तुम जानना
चाहते हो वही एक जिसे अच्छे से अच्छे पढ़े
लोग भी नहीं जान पाए वही एक जिसे ज्ञानी
से ज्ञानी पुरुष भी नहीं जान पाया लेकिन
मेरे बच्चे जिसने जान लिया फिर चाहे वह
कितना ही बड़ा अज्ञानी अनपढ रहा हो वह इस
भौतिक संसार से तर गया वह इस माया के पार
चला गया और फिर इस संसार में वास्तव में
इस ब्रह्मांड में कोई ऐसा नहीं हुआ जो उसे
पराजित कर सके मेरे बच्चे तुम उसी एक को
समझने की राह में हो और मुझसे यह कहते हुए
बहुत हर्ष हो रहा है कि तुम अब उस राह में
बहुत आगे आ चुके हो तुम्हारी मंजिल तुमसे
इतनी करीब है कि तुम सोच भी नहीं सकते बस
एक कदम और उसके बाद पूरी दुनिया तुम्हारे
कदमों में झुक जाएगी और ऐसा इसलिए नहीं है
कि तुम ऐसा चाहते थे वास्तव में तुमने तो
अपने लिए बहुत ही साधारण जीवन की कल्पना
की है एक ऐसा साधारण जीवन जिसमें तुम अपने
घर की कल्पना करते आए हो वाहन की कल्पना
करते आए हो कुछ भ्रमण की कल्पना करते आए
हो थोड़े से धन की कल्पना करते आए हो मेरे
बच्चे जो तुमने मांगा है वह बहुत छोटा है
इस संसार में परमात्मा के पास बहुत कुछ है
वह सब जो तुम मांग रहे हो वह सागर में
बूंद समान मात्र है तो फिर यह तुम्हें
क्यों नहीं मिलेगा यह निश्चित तौर पर
तुम्हें मिल
जाएगा लेकिन मेरे बच्चे क्या तुम्हारे
जीवन का वास्तविक उद्देश्य इतना साही है
क्या तुम्हारा लक्ष्य इतना छोटा ही है
मेरे बच्चे तुम जो हो वह समझ नहीं पा रहे
तुम में जो क्षमता है वह जान नहीं पा रहे
इस संसार में कोई ऐसा नहीं हुआ जो जन्म से
यह जान पाया हो कि उसमें क्या क्षमता थी
मेरे बच्चे लोगों ने ढूंढने का प्रयास
किया जब उनके भीतर की कुंठा उन्हें निराश
कर रही थी जब वह अपने जीवन को बधाल समझकर
आगे बढ़ रहे थे उसी क्षण उनके साथ चमत्कार
हुआ लेकिन इसकी एक शर्त होती है सर्वप्रथम
हर मनुष्य ऐसा सोचता है कि उसका एक लक्ष्य
है और वह उसे खोजने का प्रयत्न भी करता है
लेकिन कुछ समय बाद वह भ्रमित हो जाता है
और इस भ्रम के दौरान वो इतनी शिकायत इतनी
निंदा करता है कि फिर कोई चाकर भी उसकी की
मदद नहीं कर सकता और ऐसी परिस्थिति में
उसे वह भी नहीं मिल पाता जो बूंद समान
मात्र है लेकिन मेरे बच्चे तुमने अपना
विकास जारी रखा तुम ने अध्यात्म को अपना
लिया है तुम कहीं रुक नहीं गए तुम हर दिन
एक कदम आगे बढ़ा रहे हो तुमने निंदा एं
करना शिकायतें करना बंद कर दिया है मेरे
बच्चे वास्तव में धीरे-धीरे कर तुम इसी
दिशा में बढ़ रहे हो कि तुम्हारे मन से
शिकायत पूरी तरह से समाप्त हो जाए और यह
बहुत ही काबिले तारीफ बात है क्योंकि जब
मनुष्य शिकायतों का त्याग कर देता है
निंदा का त्याग कर देता है तब उसके भीतर
केवल आभार बचा रहता है और जिस व्यक्ति के
भीतर आभार शेष हो जाता है फिर तो उसका
जीवन स्वर्ग समान हो जाता है और जिसके
भीतर आभार नहीं बसा वह इस स्वर्ग में भी
अपने लिए नरक का निर्माण कर लेता है मेरे
बच्चे कुछ मनुष्य ऐसे होते हैं कि उन्हें
कितनी भी अच्छी परिस्थिति दे दो वो उसमें
बुराई ढूंढ ही लेते हैं लेकिन तुम वैसे
नहीं हो तुम तो बुराई में भी अच्छाई ढूंढ
लेते हो वास्तव में तुम दिव्यता से भी ऊपर
हो तुम्हारी क्षमता तुम्हारा सामर्थ्य
विशेष है यही कारण है कि तुम्हें चुन लिया
गया है एक विजेता के रूप में अब तुम्हारी
पहचान होने वाली है कुछ क्षण ऐसे बीते जब
किसी ने तुम्हारा साथ नहीं दिया
कुछ क्षण ऐसे बीते जब तुम्हारे मन के
अकेलेपन ने तुम्हें रह रह कर खा लिया कुछ
क्षण ऐसे भी बीते जब तुम अपने प्रेम का
इजहार करना चाहते थे अपने साथी से अपने
अपने मित्रों से अपने परिवार जनों से अपने
करीबियों से लेकिन तुम कर नहीं पाए
क्योंकि कहीं ना कहीं तुम्हारे भीतर एक
गुंठा बस गई जिसकी वजह से तुम अपनी भावना
को स्वतंत्र रूप से स्वच्छंद रूप से कह ना
सके लेकिन मेरे बच्चे मुझे ज्ञात है
तुम्हारे भीतर कितनी करुणा कितनी दयालुता
और कितना प्रेम बसा है यह प्रेम सामान्य
नहीं है वास्तव में तुम तुलना करने में
समय जाया नहीं करते लेकिन यदि तुम
सकारात्मक तुलना करोगे तो तुम यह जान
पाओगे कि तुम्हारा प्रेम महान है तब तुम
यह जान पाओगे कि तुम अपनों को कितना दिल
से चाहते हो और उनके जीवन में जरा सा भी
दुख नहीं
चाहते मेरे बच्चे मनुष्य के भीतर बसा भय
ही उसके हार का कारण होता है वह भय में वह
कल्पनाएं करता है जो उसके साथ अभी घट नहीं
हुई जब उसके ऊपर कोई चिंता आने लगती है तो
वह पहले से ही इतनी कल्पनाएं कर लेता है
कि विष्य में वह स्वतः ही उसे आकर्षित कर
लेता है और वह घटित हो जाता है इसलिए मैं
तुम्हें बताना चाहती हूं कि जो कुछ भी अभी
तक घटित नहीं हुआ फिर भले ही तुम्हें लग
रहा हो कि ऐसी बुरी से बुरी घटना होगी तुम
उसका विचार ना करो खुद में इतना साहस लाओ
कि कोई तुम पर उंगली भी ना उठा सके कोई
तुम पर आंच ना लगा सके मैंने बच्चे तुम इस
संसार में कभी अकेले रहे ही नहीं हो मेरी
शक्तियां सदैव किसी ना किसी रूप में
तुम्हारे साथ रही है तुम जब जब भी मुसीबत
में आए हो मेरी शक्तियों ने तुम्हारा
समर्थन किया है और तुम्हारी जिंदगी के हर
एक क्षण हर एक पल में मैंने तुम्हारी
गतिविधियों का आकलन किया है मेरे बच्चे
तुम जब हार रहे थे तुम जब उदास थे तुम जब
खुश थे तुम जब वासना में डूबे हुए थे तब
मैं हर क्षण में तुम्हें देख रही थी और
मैं तुम्हें यह बताना चाहती हूं कि
तुम्हें अपने भीतर किसी भी प्रकार की
ग्लानि महसूस करने की आवश्यकता नहीं है
तुमने कुछ भी गलत नहीं किया तुम बस जिस
मार्ग पर थे उसका तुम्हें ज्ञान नहीं था
अब बोध के अभाव में किए गए अनुचित कार्य
भी गलतियां नहीं होती इसलिए मेरे बच्चे अब
तुम्हें डरने की आवश्यकता नहीं है मनुष्य
अपनी आदत जब बनाना प्रारंभ करता है तो
धीरे-धीरे वह आदत उसे बनाने लगती है इस
बात के रहस्य को समझना और ऐसा ही कुछ
तुम्हारे भी साथ हुआ कुछ आदत जो अनुचित है
जो न्याय संगत नहीं है और जिन्हें तुम
चाहते भी नहीं हो उन आदतों का तुम्हारे
भीतर बस जाना ऐसा नहीं है कि तुम कोई गलत
कार्य कर रहे हो मेरे बच्चे तुम्हें स्वयं
को गलानी मुक्त करना होगा तुम्हें स्वयं
को माफ करना होगा इसके अलावा तुम्हें उन
सभी लोगों को हृदय से माफ करना होगा
जिन्होंने तुम्हारे साथ कभी भी कुछ भी
अनुचित किया हो गलत व्यवहार किया हो
तुम्हें यह सब भूलना होगा यह सारी चीजें
तुम्हें त्याग नहीं होंगी और जब एक बार
मनुष्य के मन से नफरत ईर्ष्या द्वेष
समाप्त हो जाता है तब वहां जो शेष बचता है
उसे ही प्रेम कहते हैं और तुम्हारे भीतर
यह प्रेम कूटकूट कर भरा हुआ है मेरे बच्चे
यह प्रेम जो प्रत्येक मनुष्य प्रत्येक जीव
के लिए तुम्हारे मन में बसा है तुम्हें
इसका ज्ञान नहीं लेकिन जब परिस्थिति ऐसी
आएगी तो तुम यह जान जाओगे कि तुम इस संसार
के प्रत्येक जीव से प्रेम करते हो तुम
किसी को भी कष्ट में नहीं देख
पाओगे मेरे बच्चे तुम्हारे भीतर इतनी
दयालुता इतनी करुणा इतना विवेक और इतना
प्रेम बसा है यह प्रेम तुम्हारे भीतर ममता
बनकर बहती है मेरे बच्चे तुम्हें ज्ञान
नहीं लेकिन ऐसा कई बार हुआ है जब तुम्हारे
भीतर का प्रेम छलक कर बाहर आ गया किंतु
तुम्हें उसका का बोध ही नहीं हो पाया कई
बार चलचित्र देखते समय कई बार कोई ऐसा
दृश्य देखते समय तुम्हारे भीतर का प्रेम
करुणा बनकर बाहर आ गया और उस समय तुमने
अपने मन को नियंत्रित करने का प्रयास किया
है मेरे बच्चे मैं जानती हूं तुम हसमुख
स्वभाव के मनुष्य हो और तुम झगड़े झंझट इन
सबसे दूर रहना चाहते हो लेकिन परिस्थिति
ऐसी है कि हिंसा का माहौल बन ही जाता है
फिर भी तुम अपने ऊपर नियंत्रण करने का
प्रयास करते हो और यही तुम्हारी मुख्य बात
है यही तुम्हारी काबिलियत है और तुम्हारा
यही काबिलियत तुम्हारे लिए उचित समय का
निर्माण कर रहा है मेरे बच्चे तुम्हारी
जीत के समय का निर्माण कर रहा है यही वह
समय है जब तुम्हारे जीवन में इतना प्रेम
आएगा कि तुम उसे मिट भी ना पाओगे इस प्रेम
से तुम्हारा मन भाव विभोर हो जाएगा इस
प्रेम से तुम्हारे भीतर दिल पसी जाएगा और
तुम प्रसन्नता के आंसू रो दोगे मेरे बच्चे
अब जीत स्वीकार कर लो अब बहुत हो चुका
चिंताओं का दौर अब खत्म हो रहा है
समस्याओं का दौर खत्म हो रहा है वह सभी
बाधाएं समाप्त हो रही हैं जिन बाधाओं ने
तुम्हें रोक कर रखा था अब केवल प्रेम
बचेगा प्रेम उसी प्रकार से मनुष्य के जीवन
में घर कर जाता है जिस प्रकार से सवेरा
होने पर आकाश में लाली मां छा जाती है
मेरे बच्चे प्रेम मनुष्य का नैसर्गिक गुण
है यह उसके भीतर विद्यमान नहीं करना पड़ता
यह ऐसे ही है जैसे अंधकार के छटनी पर
प्रकाश स्वतः ही रह जाता है

Leave a Comment