तुम जीवित कैसे हो यह सिर्फ मैं जानती हूं बड़े से बड़े शत्रुओं का

आज तुम्हारी मां तुम्हारे लिए एक संदेश
लेकर आई हैं मेरा यह संदेश मेरे बच्चों के
लिए है जो मुझसे प्यार करते हैं तुम कैसे
हो मेरे बच्चों तुम्हारी मां तुमसे मिलने
आई हैं आज जो बातें मैं तुम्हें बताने जा

रही हूं वह तुम्हारी जीवन शैली को बदलने
वाली हैं इसलिए मेरे बच्चे मेरी इस बात को
स्वीकार कर अपने जीवन में आगे बढ़ो
तुम्हारी मां की शक्तियां तुम्हारे साथ
हैं मेरे बच्चे कठिन से कठिन परिस्थितियों
में भी तुम्हारा शांत रहना यह दर्शाता है
कि तुम्हारा मुझ पर अटूट विश्वास है
तुम्हारे इसी विश्वास को बनाए रखना मेरा

भी आशीर्वाद है तुम्हारे लिए मैं कभी कुछ
गलत नहीं करूंगी यदि तुम मान और सम्मान की
लड़ाई में कभी स्वयं को अकेले महसूस करोगे
तो मुझे अपने पास पाओगे यह मेरा वचन है
परंतु कभी भी संसार समक्ष के निर्बल मत
दिखाई देना जैसे ही तुम संसार को निर्बल

प्रतीत होने लगे तो समझो तुम्हारी हार तय
है अपनी निर्बलता को दूर करो अपनी
निर्बलता को दूर करने के लिए प्रयास करने
पड़ते हैं अपनी सीमाओं को पार करना पड़ता
है मेरे प्यारे ब

नई और कठिन चुनौतियों का सामना करना पड़ता
है तुम्हें स्वयं पर विश्वास करना होगा इस
संसार में मैंने प्रत्येक मनुष्य को किसी
ना किसी कार्य को पुनः करके ही भेजा है
जिससे कि वह इस संसार में अपना सहयोग दे
सके इस संसार में अपने हिस्से का कार्य कर
सके इसलिए मेरे बच्चे जब कोई कुछ कहे तो
उसे मन से मत लगाया करो

ना ही किसी के व्यक्ति में इतनी ताकत होनी
चाहिए कि वह तुम्हारे मन को दुखी कर सके
अपने सुख और दुख की डोर यदि दूसरों के हाथ
में दे दोगे तो तुम्हारा उन व्यक्ति के
साथ सुखी रहना असंभव हो जाएगा मेरे प्यारे
बच्चे यदि तुम्हारे पास छिपाने के लिए कुछ

भी नहीं है तो तुम हमेशा तनाव मुक्त रहोगे
यदि तुम बाहर कुछ और अंदर कुछ और हो तो
हमेशा चिंता ग्रस्त परिस्थिति में रहोगे
इससे बचकर रहना चाहिए मेरे बच्चे सांसारिक
संबंधों को निभाना आसान नहीं है इसके लिए
कई बार सहमत ना होते हुए भी सामने वाले की

बात को समझने का प्रयास करना पड़ता है
सामने वाले से कोई भूल हो जाए तो उसे
क्षमा भी करना पड़ता है किसी को क्षमा
करना हमें बड़ा ही बनाता है इससे हमारे और
सामने वाले के मन को शांति भी मिलती है
ऐसी परिस्थितियों को समझना होता है मेरे
प्यारे बच्चे मुझे आशा है कि अब तुम अपने

आप को थोड़ा सा समय दोगे मुझसे थोड़ा समय
निकालकर बातें करोगे मुझे तुमसे बातें
करके बहुत अच्छा लगता है जब तुम मुझसे बात
करते हो तो
तो मैं तुम्हें दिखाई नहीं देती परंतु मैं
तुम्हारे समीप ही बैठी रहती हूं मैं

तुम्हारी हर बात को सुनती हूं तथा
तुम्हारी बातों को सुनकर मुस्कुराती हूं
तुम मुझे महसूस नहीं कर सकते परंतु यदि
तुम्हारी भक्ति सच्ची है तो तुम मेरे होने
का एहसास अवश्य कर सकते हो अब तुम्हारी
मां का संदेश समाप्त हुआ मेरा आज का यह
संदेश केवल तुम्हारी आंखें खोलने के लिए

था ताकि तुम अपने मां से दूर ना रहो मुझसे
बातें करो मेरे बच्चे अब मैं चलती हूं मैं
अगले संदेश में तुम्हें दोबारा मिलूंगी
तुम अपना ध्यान रखना तुम्हारा कल्याण हो
मेरे बच्चे मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे
साथ है मेरे बच्चे यदि आज तुम्हें मेरा

संदेश प्राप्त हुआ है तो इसका अर्थ है
तुम्हारी मांगी हुई खुशी तुम्हें देने जा
रहे हूं दिल को जो चीज अच्छी लगती है यदि
वह प्राप्त हो जाए तो दिल खुश हो जाता है
और जो दिल को अच्छी नहीं लगती वह प्राप्त

हो तो दिल दुखी हो जाता है लेकिन कुछ हृदय
की ऐसी अधूरी इच्छाएं होती हैं जो हृदय
उन्हें पूरा होता देखना चाहता है और तभी
उनको पूरा होने में रुकावट आने लगती हैं
और मन बेचैन हो उठता है ऐसे में मेरे
बच्चे का किसी काम में दिल नहीं लगता और

केवल वही बात दिमाग के अंदर घूमती रहती है
मेरा बच्चा बहुत ज्यादा इस बात से परेशान
हो जाता है कि आखिर वह कार्य पूरा क्यों
नहीं हो रहा वह मेरी इच्छा अधूरी क्यों है
ऐसा मैं क्या करूं जिससे कि वह मेरी अधूरी

इच्छा पूरी हो जाए क्योंकि जब दिल खुश
नहीं रहता तो किसी भी काम में मन लगना
असंभव है किसी भी काम में मन लगने के लिए
दिल का खुश रहना बहुत जरूरी है लेकिन आज
मैं कुछ ऐसी बातें बताने वाली हूं जिसके

सुनते ही तुम्हारा मन भी लगेगा काम में और
तुम्हारा हृदय भी प्रसन्न हो जाएगा
तुम्हारे मन की इच्छाओं को पूर्ण जरूर
करूंगी यदि तुमने सच्चे मन से पूरी
श्रद्धा से और मेहनत से किसी कार्य को लगन
लगाकर किया है तो मैं आज तुमसे वादा करती

हूं कि तुम्हारा वह कार्य जिसके लिए तुमने
पूरी ईमानदारी और मेहनत के साथ उस कार्य
को किया है मैं उसे अवश्य पूर्ण करूंगी
लेकिन तुम भी इस बात को बहुत अच्छे से समझ
लो कि जिस पर तुमने इतनी मेहनत कर दी है
और तुमने इतनी ईमानदारी से काम को किया है

तो वह काम भी तुम्हारी मेहनत के सामने
छोटा पड़ रहा है इसलिए उससे भी बड़ा और
उससे भी ऊंचा तुम्हें मुकाम हासिल होगा
मैं आज खुद तुमसे यह वादा करती हूं कि तुम
उससे भी ऊंची जिसके लिए तुमने कार्य किया
है उससे भी बड़ी खुशी को तुमको प्राप्त

होगी एक कार्य जैसे जैसे तुम यह करो
वैसे वैसे सच में तुम्हारे अंदर वह शक्ति
विराजमान होती चली जाएगी जिससे तुम्हारा
मन शांत रहने लगेगा और यदि तुम्हारा मन
शांत रहने लगेगा तो तुम निश्चित ही अपने

कार्य को मन लगाकर कर पाओगे क्योंकि यदि
अशांत मन से कार्य करोगे तो कोई कार्य हो
नहीं पाएगा और खुशी प्राप्त होने के पहले
ही या वह किसी कार्य को प्राप्त करने के

पहले ही तुम बिखरने और टूटने लगोगे सुबह
जब तुम प्रातः काल उठते हो तो अपने नित्य
क्रिया से निवृत होकर पूजा के समय ओम
शांति ओम शांति ओम शांति ओम शांति का 41
बार उच्चारण करो जैसे जैसे तुम प्रतिदिन
इसका उच्चारण करोगे वैसे ही इसका असर
तुम्हारे मस्तिष्क और पूरे शरीर पर होने
लगेगा और तुम्हारे दिमाग में शांति

उत्पन्न होने लगेगी शांत मन खुश रहता है
क्योंकि खुशी को पाने के लिए सबसे पहले मन
का शांत होना जरूरी है मेरे बच्चे यदि

दुखी रहकर व्यतीत मत करो बल्कि खुश रहकर
गुजारो इस पृथ्वी पर मनुष्य को ही इतनी
दिमागी शक्ति मिली है जो हर चीज को सोच
सकता है समझ सकता है और हर काम को दिमाग

से कर सकता है लेकिन यदि तुम उदास हो
जाओगे तो तुम्हारा दिमाग भी काम करना बंद
कर देगा और तुम जो सही कर रहे हो उसे भी
कर नहीं पाओगे तुम्हारी बड़ी से बड़ी खुशी

को मैं पूरा करूंगी अगर तुम मुझसे एक वादा
करो कि आज के बाद तुम कभी उदास नहीं होगे
तो मैं भी तुमसे एक वादा करती हूं हर खुशी
तुमको प्राप्त होगी बाकी मेरे ऊपर छोड़ दो
और सब सही होगा और अच्छा होगा मेरे बच्चे
कभी रोना मत इस बात पर विश्वास रखना कि
तुम्हारी हर खुशी मैं पूरी करूंगी
तुम्हारी हर इच्छा पूरी करूंगी जीवन में
तुम्हारी एक
कोई इच्छा अधूरी नहीं रहेगी मेरे बच्चे
रोने से तुम्हारे अंदर नकारात्मक ऊर्जा
उत्पन्न होती है और सकारात्मक ऊर्जा नष्ट
होती है जिससे तुम्हारे हृदय में विराजमान
नहीं रह पाऊंगी मेरे अगले संदेश की
प्रतीक्षा करना ओम नमः शिवाय आज आप बहुत
ही ज्यादा खुश होने वाले हो आपको बहुत ही
ज्यादा मजबूत बनाया जा रहा है जब भी यह
पूरी कायनात आप को मजबूत बनाने में लग
जाते हैं तब आपके साथ ऐसा होने लग जाता
है ऐसा अगर आपके साथ भी हो रहा
है तब आपको बहुत ही ज्यादा खुश हो जाना
चाहिए क्योंकि ऐसा आपके साथ इसीलिए हो रहा
है क्योंकि ब्रह्मांड की एक बहुत ही बड़ी
योजना है इसीलिए आपके जीवन में ऐसी
परिस्थितियां आ रही हैं तो वह कौन सी
योजना है जिसके तहत
ब्रह्मांड आपके साथ ऐसा कर रहे हैं क्यों
ब्रह्मांड आपको पहले से ही तैयार करना
चाहते हैं आपको अपने जीवन में ऐसा महसूस
क्यों हो रहा
है तो आज जब आप इन सच्चाई को जानोगे तो
आपको बहुत ज्यादा खुशी मिलेगी तब आप समझ
जाओगे कि क्यों आपके साथ अब तक ऐसा हुआ
हुआ है आज ब्रह्मांड की इस योजना को जानकर
आप बेहद बेहद खुश होने वाले हैं तो सबसे
पहला संकेत कि ब्रह्मांड आपको मजबूत बना
रहे हैं और किसी बड़ी योजना के तहत आपको
पहले से ही तैयार कर रहे हैं कई बार आपके
जीवन में ऐसे लोग आएंगे जो आकर आपको बेहद
दुखी करेंगे और आपको परेशान करके आपके
जीवन से चले जाएंगे क्योंकि आप बहुत
ज्यादा इमोशनल इंसान हो किसी पर भी बहुत
जल्दी विश्वास कर लेते हो इसी कारण वे लोग
आपके जीवन में आकर आपका फायदा उठा लेते
हैं और आपके जीवन से चले जाते हैं उनका
अपना काम जैसे ही होता है वह आपके जीवन
से दूर हो जाते हैं यदि ऐसा आपके साथ हुआ
है या हो रहा है तो यहां पर आपको एक चीज
समझ लेना है ब्रह्मांड आपको किसी बड़ी
योजना के तहत तैयार कर रहे हैं जब वैसे
लोग जो आपका फायदा उठाकर आपसे दूर हो जाते
हैं तो आपको दुखी होने की आवश्यकता नहीं
है यह सब एक योजना के तहत हुआ है जो आने
वाले जीवन में आपको स्पष्ट हो जाएगा आपको
बस इतना समझना है कि कुछ बहुत ही बड़ा
होने वाला है इसीलिए आपको अभी यह सीख मिल
रही है अब दूसरा संकेत भी जान लो आपके
जीवन में एक के बाद एक बहुत सारी
परेशानियां आ रही हैं अगर आपके साथ ऐसा हो
रहा है कि आपके जीवन में परेशानी तो आ रही
है लेकिन अब आप उन परेशानियों से बिल्कुल
नहीं डरते हैं बिल्कुल भी नहीं
डरते और ना ही आप घबराते हो आप बहुत ही
ज्यादा मजबूत होकर उन सारी परिस्थितियों
का डटकर सामना कर रहे हो अपना संबंध
ब्रह्मांड के साथ और मजबूत कर रहे हो तो
समझ जाइए कि यह एक यह कुछ टेस्ट
है जो आप पार कर रहे हो कुछ ऐसे कर्मा है
जो आपके जीवन से कट रहे हैं और यह सारी
परिस्थितियां आपके जीवन में इसीलिए आई है
ताकि आपको मजबूत बनाया जाए अभी आपको बस
इतना समझ लेना है कि आपके जीवन में एक
बहुत बड़ी योजना को सोच रखी है क्योंकि यह
सब संकेत आपको कुछ और नहीं बता रहे हैं
बल्कि आपको
मजबूत शक्तिशाली व्यक्तित्व के रूप से
तैयार किया जा रहा है अब तीसरा संकेत भी
बहुत जरूरी है जानना एक चीज ध्यान दिया
होगा कि आप दिन प्रतिदिन अपने आप से और और
ज्यादा करीबी बढ़ा रहे हैं करीबी बढ़ा रहे
हैं मतलब आप अपने आप से जुड़ते जा रहे हैं
आप अपने रहस्य को बस अपने तक ही रख रहे हो
आपकी आगे की जितनी भी योजना है आप किसी और
से साझा नहीं कर रहे हो आप भविष्य के लिए
कुछ नया जरूर सोच रहे हो लेकिन आप यह बात
अब अपने मन ही रखते हो आप पहले जैसे नहीं
रहे जो अपनी कदर नहीं करता था अब आप अपनी
बहुत ही ज्यादा इज्जत करने लगे हो आप अपनी
कदर खुद ही समझ रहे हो और अपने आपके अंदर
आप इस बात को महसूस करने लगे हो कि आपको
किसी और की सलाह लेने की आवश्यकता नहीं है
क्योंकि अब आप समझ चुके हैं आपके जीवन में
सबसे बेहतर सलाह आप ही अपने आप को दे सकते
हैं आपको पता है कि आपने जी जीवन में सही
क्या आप कर सकते हैं आपको किसी और से
पूछने की आवश्यकता नहीं है अब आप अपने
भीतर ही कई सारे उत्तर को ढूंढ सकते हैं
आप अपने आप के साथ दिन पर दिन जुड़ते जा
रहे हैं अगर आप अपने आप से प्यार करने लगे
हो तो समझ जाइए कि यह सारी चीजें जो आपके
जीवन में हो रही हैं यह आपको अपने आप के
साथ जोड़ रही है आपको और ज्यादा मजबूत बना
रहे हैं दिन पर दिन आपकी परिस्थितियों में
भी सुधार आ रहे हैं और जिस कारण यह सारी
योजना आपके साथ की जा रही है ब्रह्मांड की
बड़ी योजना के तहत तो बताओ आपके साथ भी
ऐसा हो रहा है कि नहीं यदि हां तो आप बेहद
किस्मत वाले हो आपकी पूरी दुनिया बदलने
वाली है खुश हो जाओ और ब्रह्मांड को ढेर
सारा धन्यवाद कहो खुश हो जाओ और ब्रह्मांड
को ढेर सारा धन्यवाद कहो
मेरे बच्चे आज का दिन बहुत ही शुभ है आज
से अन्याय की डोर मैं अपने हाथों में लेने
वाली हूं जो हमेशा सत्य के मार्ग पर चलते
हैं वह एक सकारात्मक ऊर्जा को अनुभव कर
रहे
होंगे मेरे बच्चे क्या तुम इस प्राकृतिक
में एक शुद्ध हवा एक शुद्ध अनुभव को महसूस
कर पा रहे हो आज यह हवा ईश्वर का गुणगान
रही है आज से सब कुछ बदलने वाला है हर एक
चीज में बदलाव आएगा क्योंकि आज का दिन और
आने वाला दिन अत्यंत शुभ है मेरे बच्चे
कुछ नया और अद्भुत प्रारंभ हो रहा है तुम
यह सोच लो कि तुम्हारी विजय निश्चित है
जिस ड़ की
प्रतीक्षा तुम कई महीनों से कर रहे हो अब
वह समय आरंभ होने वाला है मेरे बच्चे आपके
लिए शुभ योग शुरू होने जा रहा है क्योंकि
यह महीना और आने वाले महीने तुम्हारे लिए
अत्यंत शुभ रहने वाले हैं मेरे बच्चे अब
तुम सभी चिंताओं से बाहर निकल जाओ अब
तुम्हें अपने विचारों पर ध्यान रखना है
मैं जानती हूं कि तुम बहुत दुखी हो इसलिए
तुम अपने विचारों पर काबू नहीं पा रहे हो
किंतु मेरे बच्चे तुम्हें अब करना ही होगा
तुम्हारे विचार तुम्हारे भविष्य निर्धारित
करने वाले हैं इसलिए तुम जो सच में पाना
चाहते हो केवल तुम्हें सिर्फ वही विचार
करना है तुम्हें अपने विचारों की शक्ति को
पहचानना है क्योंकि तुम अपने जीवन को जैसा
भी बनाना चाहते हो वह सिर्फ तुम्हारे अपने
विचार से ही कर सकते हो मेरे बच्चे मेरी
शक्तियों को जानो और पहचानो और सकारात्मक
ऊर्जा की शक्ति को पहचानो इन शक्तियों से
तुम अपने जीवन में कुछ भी हासिल कर सकते
हो जो तुम पाना चाहते हो वह तुम पा सकते
हो तुम कुछ भी कर सकते केवल अपने आप को
नकारात्मक ऊर्जा से दूर रखो मेरे बच्चे
तुम बहुत ही भाग्यशाली हो और मैं तुम्हारे
साथ हूं अब जो मैं तुम्हें बताने जा रही
उसे ध्यान पूर्वक समझो कभी भी किसी भी
अभिमानी व्यक्ति को समझाने का प्रयास भूल
से भी मत करना क्योंकि ज्ञानी व्यक्ति को
समझाना आसान होता है और यदि कोई अज्ञानी
है तो उसे भी समझाया जा सकता है किंतु यदि
कोई व्यक्ति अभिमान से भरा हुआ है तो उसे
समझाना बहुत मुश्किल होता है मेरे बच्चे
ऐसे व्यक्तियों का इलाज केवल वक्त का कर
सकता है इसलिए मेरे बच्चे ना तो कभी भी
अभिमानी बनो और ना ही कभी किसी अभिमानी
व्यक्तियों का साथ दो जो इंसान सरल होता
है संस्कारी होता है केवल वही व्यक्ति
अपने जीवन में आगे बढ़ता है और तरक्की भी
करता है और सफलता को भी प्राप्त करता है
तुम्हारा जीवन तुम्हारी ही सोच और व्यवहार
का परिणाम है इसलिए अ मान से दूर रहो और
स्वाभिमानी व्यक्ति हमेशा सहज होते हैं
क्योंकि उनका दृष्टिकोण हमेशा सरल एवं
आशावादी होता है उन्हें अपनी कमियां एवं
खूबियां मालूम रहती हैं जबकि अभिमानी
हमेशा अपनी कमियों को ढकने की कोशिश करता
है और अपनी गलतियां कभी स्वीकार नहीं करते
हैं अभिमानी लोगों के रिश्ते दर्द भरे
होते हैं उनके रिश्ते उनकी महत्वता एवं
घमंड पर टिके होते हैं अभिमानी सफलता
प्राप्त करने के लिए रिश्ते तोड़ सकते हैं
जबकि स्वाभिमानी व्यक्ति हमेशा दूसरों की
भावनाओं का ख्याल रखते हैं इनके रिश्ते
मजबूत एवं सुखमय होते हैं इसलिए मेरे
बच्चे कभी भी अभिमानी व्यक्ति मत बनना
मेरे बच्चे अभिमानी व्यक्ति चाहता है कि
सिर्फ उसकी सुनी और मानी जाए यह दूसरों की
बातों या विचारों को महत्व नहीं देते जबकि
स्वाभिमानी अपने विचारों को दूसरों पर
नहीं थोपते हैं वह अपनी गलती अपने पर लेते
हैं अभिमानी व्यक्ति हमेशा आंखें बचाकर
बात करते हैं एवं उनकी आंखों में दूसरों
को हमेशा नीचे दिखाने का भाव होता है जबकि
स्वाभिमानी व्यक्ति की आंखें सरल होती हैं
एवं उन आंखों में दूसरों के लिए सम्मान का
भाव होता
मेरे बच्चे अभिमानी के रास्ते में बड़े
सूक्ष्म होते हैं कभी यह त्याग के रास्ते
आता है कभी विनम्रता के कभी भक्ति के तो
कभी स्वाभिमान के इसकी पहचान करने का एक
ही तरीका है जहां भी मैं का भाव उठे तो
समझ जाना कि अभिमान उत्पन्न हो रहा है
मेरे बच्चे स्वाभिमान तुम्हारे लड़खड़ाते
कदमों को ऊर्जावान कर उनमें दृढ़ता प्रदान
करता है कठिन परिस्थितियों
और विपन्न वस्था में भी स्वाभिमान तुम्हें
डूबने नहीं देता अभिमान अज्ञान के अंधेरे
में ढकेल होता है अभिमान ज्ञान घमंड और
अपनों को बड़ा ताकतवर समझकर झूटा बनाता है
व्यक्ति को अपने ज्ञान का अभिमान तो होता
है लेकिन अपने अभिमान का ज्ञान नहीं होता
है मेरे बच्चे अपने स्वाभिमान को जांच रहो
कहीं ये अभिमान में तो नहीं
है

Leave a Comment