तुम बहुत मासूम हो मेरे बच्चे।।🕉️ तुम्हारा शत्रु का यह हाल करूगी में 🕉️

मेरे बच्चे अब तुम्हें न्याय मिलने का समय आ गया है तुम्हारे शत्रुओं को जो करना था वह कर चुके अब उनके

परिणाम भगाने का समय आ गया है मेरे बच्चे तुम्हारे शत्रु तुम्हारे पीठ पीछे बहुत बड़ी चल चल रहे हैं तुम्हारी

खुशी तुम्हारी प्रगति वह देख नहीं पा रहे हैं मेरे बच्चे वह लोग तुम्हारे विषय में लोगों से गलत बातें बोल रहे हैं फैला रहे हैं तुम्हें नीचा दिखाने की कोशिश कर रहे हैं वह सब से का कि तुम पैसों के बड़े लालची हो धोखेबाज हो तुम्हें

रिश्तो की कदर नहीं तुम्हें कोई अंतर नहीं पड़ता यह लोग तुम्हारे लिए अपनी जान भी दे दे मेरे बच्चे कि तुम कितने अच्छे हो तुमने सदैव सबका हित चाहा है कभी अपने मतलब के लिए तुमने दूसरों की भावनाओं का नहीं

बनाया परंतु लोगों ने ही इसलिए तुम बेपरवाह हो गए हो अब तुम्हें फर्क नहीं पड़ता हेलो तुम्हारे बारे में क्या सोचते हैं क्या बात करते हैं मेरे बच्चे पहले तुम्हारा शत्रु अपने चाल में तुम्हें फंसा लेते थे तुम बहुत ज्यादा मासूम थे लोग तुम्हें मानसिक कीड़ा दे रहे थे और तब तुम कमजोर थे लोगों के अधीन थे

Leave a Comment