दुर्गा मां🕉 मेरे क्रोध की ज्वाला कहीं तुम पर ही ना बरस जाए

तुम्हारी माता तुम्हें बहुत बड़ी खुशखबरी
देने आई हैं तुम्हारे कर्मों का फल आज
तुम्हें
मिलेगा जिन चीजों का तुम्हें बेसब्र से
इंतजार था वह सब चीज भी आज तुम्हें
प्राप्त होंगी लेकिन मेरी एक बात याद रखना
इन सब चीजों को प्राप्त करने के बाद
तुम्हारे अंदर कभी भी किसी प्रकार का अहम
ना
आए जैसे आज तुम मेरे प्रिय भक्त हो वैसे
ही तुम हमेशा जिंदगी भर बने रहना जैसे तुम
आज सभी का भला करते हो अच्छे कार्य करते
हो ऐसे ही जीवन में बने रहना इससे
तुम्हारी खुद की भी उन्नति होगी और
तुम्हारे आसपास के लोगों को भी उन्नति
मिलेगी हमेशा जीवन में हम यही सोचते हैं
कि जिसने हमारे साथ बुरा किया उसी के साथ
हमें वैसा ही करना चाहिए और जब तक हम ऐसा
नहीं करते तब तक हमें अपने मन के अंदर
शांति नहीं मिलती है हर समय हमारे दिमाग
में यही लगा रहता है कि उसने हमारे साथ
ऐसा किया उसने हमें बुरा बोला था हमें भी
उसके साथ ऐसा ही करना
चाहिए लेकिन ऐसा करना सही नहीं है मेरे
बच्चों क्योंकि मैं तुम्हें हमेशा अच्छाई
के रास्ते के लिए चुनती हूं मैं चाहती हूं
कि तुम जीवन में हमेशा सभी के साथ अच्छा
व्यवहार करो एक छोटी सी गलती के कारण अपने
पूरे जीवन को तुम बर्बाद कर सकते
हो हमेशा याद रखना अच्छे के साथ अच्छा बने
पर बुरे के साथ बुरा नहीं क्योंकि हीरे से
हीरे को तराशा जा सकता है लेकिन कीचड़ से
कीचड़ को साफ नहीं किया जा सकता इसलिए अगर
कोई आपके साथ बुरा व व्यवहार करता है तो
वह उसके कर्म होंगे लेकिन आप भी बुरा
करोगे उनके साथ वैसा ही व्यवहार करोगे तो
फिर आपको किस प्रकार से अच्छे कर्म मिल
सकते
हैं यह कलयुग की दुनिया है और उस दुनिया
में हर कोई लोग मतलबी है लेकिन आपको उनके
जैसा नहीं बनना है आपको हमेशा जीवन में
सबकी मदद करनी है
अपने से बड़ों का आदर सत्कार करना है आपके
घर में जो आपके माता-पिता हैं उन सबका भी
आदर सत्कार करना है उनका सम्मान करें किसी
के लिए भी गलत शब्दों का प्रयोग ना
करें मैं जानती हूं इस जीवन में धन की
आवश्यकता सबको होती है लेकिन धन यदि नमक
की तरह होता है तो जरूरी होता है मगर अगर
जरूरत से ज्यादा हो जाए तो जिंदगी का
स्वाद भी बिगड़ जाता है क्योंकि ज्यादा धन
आने पर इंसान को अहंकार हो जाता है और वह
गलत रास्ते पर चलने लगता
है तुम्हें अपने दिल को हमेशा साफ रखना
चाहिए दूसरों का हमेशा सम्मान करना चाहिए
अच्छे कर्म करने चाहिए अच्छे कर्म करोगे
तो तुम्हारा आने वाला जीवन भी अच्छा होगा
और तुम्हें जीवन में बहुत सारी खुशियां
मिलेंगी
मेरे बच्चों अगर आपने इस जीवन में पूजा
अर्चना मेरी करी होगी किसी का दिल नहीं
दुखाया होगा तो आपको मेरा वरदान जरूर
प्राप्त होगा मेरे बच्चे मुझे धन की देवी
कहा जाता है मेरी कृपा जिस पर हो जाती है
वह कभी भी दुखी और दरिद्र नहीं रहता है
[संगीत]
जो मेरा सच्चा भक्त होता है उसको सुख
संपत्ति धन ऐश्वर्य वैभव सब कुछ प्राप्त
होता है मेरी कृपा जिस पर होती है वह पल
भर में राजा से रंग और रंग से राजा बन
जाता
है मैं यही चाहती हूं कि सृष्टि के सभी
मानव जन खुश रहे इसमें मुझे तुम्हारी
सहायता चाहिए और मैं अपने प्रिय भक्तों को
यही कार्य देती हूं जिन पर मुझे पूरा
विश्वास होता है और जिनको मैंने अपनी
शक्ति दी होती है तुम वही मेरे प्रिय भक्त
हो जो मेरे संदेश को सृष्टि के बाकी लोगों
तक पहुंचा सकते हो और उनकी सहायता कर सकते
हो मेरे बच्चों बस तुम मुझ पर विश्वास
रखना है और अपनी काबिलियत पर विश्वास रखना
है कि तुम सभी कार्य कर सकते हो चाहे
कितनी भी विपत्तियां आए कितनी भी बाधाएं
आए तुम्हें सारे कार्य करते जाना है मेरे
बच्चे अपने से बड़ों का आशीर्वाद लो उनका
सम्मान करो उनका नृत्य प्रति आदर करो उनके
आशीर्वाद से और अपने कर्मों से तुम अपने
लक्ष्य पर पहुंच
जाओगे मेरे बच्चों आज अपने दिल की बातों
को मेरे सामने रख दो तुम इतने परेशान
क्यों हो जब तुम्हारी माता तुम्हारे साथ
है आज तुम अपनी माता को देखकर खुश हुए या
नहीं मेरे बच्चों आज बात समझने की कोशिश
करना ज्ञान कर्म एवं भक्ति इन तीनों का
संगम अगर आपके जीवन में है तो उससे बड़ा
कोई तीर्थ नहीं
है मनुष्य गलतियों से सीखकर आगे बढ़ने का
प्रयास करता है और बिना प्रयास किए उसको
सफलता नहीं मिल सकती है इसलिए अपने जीवन
में प्रयास करते जाइए जो मनुष्य इस डर से
बैठ जाता है और कार्य नहीं करता है कि
मुझसे गलती हो गई मैं कोशिश भी नहीं
करूंगा तो उसको जीवन में कभी भी सफलता
नहीं मिल सकती
है कष्ट और विपत्ति मनुष्य को शिक्षा देने
वाले गुण हैं जो साहस के साथ उनका सामना
करते हैं वह जीवन में सफल हो जाते हैं
इसलिए कभी भी कष्ट और विपत्ति आने पर आपको
परेशान नहीं होना
चाहिए बल्कि ऐसे में शांत मन से धैर्य से
अपने परिवार के साथ सूझबूझ से उस विपत्ति
से बाहर निकलने के उपाय सोचने
चाहिए मेरे बच्चों आज एक बात जो मैं आपको
बताना चाहती हूं उससे आपके जीवन में आपको
सुख की प्राप्ति होगी यदि आप दीर्घायु
चाहते हैं तो भोजन आधा करें जल दुगना पिए
कसरत तीन गुना करें और हंसना चार गुना
[संगीत]
करें जिसने जीवन में इन चारों बातों को
अपना लिया उसका जीवन स्वर्ग से भी ज्यादा
सुंदर हो
जाएगा आप जीवन में कभी भी अहंकार मत करना
क्योंकि अहंकार मनुष्य का सबसे बड़ा
दुश्मन है वह सोने के हार को भी मिट्टी
बना देता
है
[संगीत]
आपको जीवन में कभी भी आलस नहीं करना चाहिए
क्योंकि आलसी व्यक्ति का ना तो कोई
वर्तमान होता है ना ही भविष्य होता है
क्योंकि वह अपने सारे कार्य कल पर छोड़
देता है और वह कल उसके जीवन में कभी नहीं
आता है क्योंकि समय कभी भी किसी का इंतजार
नहीं करता है वह निरंतर गतिमान रहता
है
जीवन में कोशिश करना हमारा कर्तव्य है अगर
हम कर्तव्य को पूरा नहीं करेंगे तो हम
ईश्वर को गुनहगार नहीं ठहरा सकते हैं
क्योंकि जब तक आप अपने जीवन में कोशिश ही
नहीं करेंगे तो भगवान को दोषी कैसे ठहरा
सकते हैं कि आपने हमें जीवन में कुछ नहीं
दिया वह इंसान जीवन में कभी भी सुख
प्राप्त नहीं कर सकता है जिसने कभी दूसरों
को सुख देने के लिए कुछ कोशिश ही ना करी
हो अगर आप जीवन में अच्छे कार्य करना
चाहते हैं तो इसके लिए कभी भी गलत उपायों
का सहारा नहीं लेना
[संगीत]
चाहिए मेरे बच्चों तुम जो इतनी विकट
परिस्थितियों से गुजर रहे हो उन्हें मैं
अच्छे से समझ सकतीं हू आज से ही तुम्हारे
सभी कष्टों का निवारण हो
जाएगा तुमने मेरी इतनी भक्ति की है और
पूजा अर्चना की है उन सबका फल आज मैं
तुम्हें देकर
जाऊंगी मैंने आज तक आपको जितनी भी
शक्तियां दी हैं वह सिर्फ इसलिए नहीं दी
कि आप इनका उपयोग करके धन के पीछे भागो और
पूरा दिन उसी में ही लगा लगा दो आप कुछ पल
अपने लिए भी निकालिए अपने परिवार अपने
आसपास अपने खुद के लिए भी समय निकालिए
ताकि आप जीवन भर हर छोटी बड़ी खुशी का
आनंद ले
सके आप अपने जीवन में हमेशा शांति संयम और
धैर्य से काम ले तभी आप अपने जीवन को
सुचारू रूप से चला
पाएंगे मनुष्य जैसा सोचता है वैसा ही बन
जा है इसलिए आप अपनी सोच अच्छी रखें ताकि
आप एक अच्छे इंसान बन
सके यदि कोई व्यक्ति शुद्ध और उत्तम
विचारों के साथ बोलता है या काम करता है
तो उसे जीवन में खुशियां ही मिलती हैं यह
खुशी उसकी परछाई की तरह उसका साथ कभी नहीं
छोड़ती हैं मेरे बच्चों जीवन में आप
भविष्य के बारे में सपना देखकर अपना समय
बर्बाद मत
करो आज मैं तुम्हारे पास एक ऐसी शक्ति को
भेजूंगी जो तुम्हारे जीवन में तुम्हारी
सहायता करेगी वह शक्ति किस रूप में होगी
यह तुम्हें तभी ज्ञात होगा जब तुम्हारी
उससे मुलाकात होगी मेरे बच्चे वह शुरुआत
होने वाली है जिसकी प्रतीक्षा तुम्हें
काफी समय से
[संगीत]
थी मेरे प्यारे बच्चे तुम ार जीवन का
दूसरा अध्याय प्रारंभ होने जा रहा
है जो तुम्हारे जीवन को एक नई दिशा देगा
अब एक नए चक्र के प्रारंभ होने से
तुम्हारी मुलाकात उससे होगी जो ईश्वर की
देन होगी वह तुम्हें किसी भी रूप में मिल
सकता है किंतु मनुष्य के रूप में ही
तुम्हें वह आज
मिलेगा मेरे बच्चे हर दिन एक शुभ दिन होता
है और आज का शुभ दिन इसलिए है क्योंकि आज
मैं तुम्हें जीवन के बारे में जो बातें
बताने आई हूं वह तुम्हारे लिए अनमोल है
जिससे तुम्हारा जीवन सवर जाएगा इसलिए आज
अपनी माता की बातों को ध्यान से
सुनना जैसे सुबह का भूला हुआ यदि शाम को
लौट आए तो उसे भूला हुआ नहीं कहते उसी
प्रकार यदि तुम भटक चुके हो तो तुम्हें
सही मार्ग पर लाना मेरा कर्तव्य है और यदि
तुम सही मार्ग पर आ गए हो तो तुम भटके हुए
नहीं कहलाओगे मेरे बच्चे जीवन की
परिस्थितियां बदलती रहती हैं मैं नहीं
चाहती कि तुम अपने जीवन में हमेशा परेशान
रहो मेरे बच्चे समय के महत्व को जिसने
पहचान लिया वह कभी अपने जीवन में धोखा
नहीं खाता यदि तुम समय के अनुसार खुद को
डालोगे तो तुम्हें कभी परेशानी नहीं आएगी
यह याद रखना समय सबसे बड़ा गुरु होता है
जो तुम्हें सही ज्ञान का बोध करवाता है
इसलिए मेरे बच्चे तुम्हें यह पता होना
चाहिए कि समय का महत्व कितना अनमोल
है यदि तुमने मेरा संदेश आखिरी तक सुना है
तो तुम मेरे सच्चे भक्त हो क्यों कि मुझे
केवल वही भक्त सुन सकते हैं जिनके अंदर
धैर्य और मुझे सुनने की क्षमता है
तुम्हारा कल्याण हो मेरे बच्चे सदा खुश
रहो सदा सुखी रहो यही मेरा आशीर्वाद
[संगीत]
है

Leave a Comment