दुर्गा मां 🕉 तुम्हारे इस भोलेपन का लोग फायदा उठा रहे हैं।

मेरे बच्चे मेरी असलिया जन और मेरे इस रूप
को पहचान का वक्त ए चुका है क्योंकि मैं
तुमसे बहुत प्रेम करती हूं और मैं तुम्हें
किसी ब्रह्म में नहीं रखना चाहती हूं तुम
बहुत भाग्यशाली हो मेरे बच्चे जो मेरे

असली रूप को देख पाओगे मेरा प्रेम
तुम्हारे जीवन को हर भाई से मुक्त करेगा
मेरे असली रूप के आज दर्शन होंगे मेरे
बच्चे मैं यहां जानती हूं तुम्हें मेरे इस

रूप से डर लगता है मेरा रूप हमेशा क्रोध
दिखता है पर यह नहीं है मेरे बच्चे यदि
तुम्हें मेरे इस रूप से डर लगता है तो तुम
मुझे प्रेम कैसे कर सकते हो इस डर का
प्रेम से कोई संबंध नहीं है मेरी प्रेम पर
केवल उसका अधिकार है जो मेरे समक्ष वह कर
मुझे समझना है इस को मेरे इस प्रेम का
अधिकार है मेरे बच्चे एक समय में मेरा

प्रेम अत्यधिक बाढ़ गया था तब मैंने यह
रूप धरण किया मैं तुम्हारी प्यारी पार्वती
मां ही हूं मेरे बच्चे अपने अंदर से डर को
निकाल कर मुझे प्रेम करो क्योंकि तुम्हें
मेरे रूप से भले ही डर लगता हो परंतु मेरा
हृदय तो वही है पार्वती जो की बहुत ही
ज्यादा कोमल है जो अपने बच्चों से बहुत
प्रेम करते हैं इसलिए तुम आज से बल्कि अभी
से डरना छोड़ दो

किसी भी कार्य की चिंता तुम्हें नहीं करनी
है ना ही भविष्य की यह सोचकर के आगे क्या
होगा बस तुम्हें अपने आप पर ध्यान देना है
जो कार्य कर रहे हो वह कार्यशफ और शुद्ध
मां से किया हुए होने चाहिए

तुम्हारे मां के मोर को धोना इतना ही
आवश्यक है जितना की तुम्हारे तन को शुद्ध
करना जी तरह तुम्हें प्रतिदिन साफ और
शुद्ध कपड़े पहने से एक ऊर्जा प्राप्त
होती है और तुम्हें तरोताजा रखती है
इस प्रकार तुम्हारी अंदर की शुद्धता का
महत्व ताज रखें परंतु एक बात का ध्यान
रखना की जब मैं भोलेनाथ से क्रोध में थी
तभी मैंने काली का रूप धरण किया और
राक्षसों का वध किया अनाथ में बर्दाश्त
नहीं कर सकते

इसलिए मुझे काली मां से क्रोधित काली मां
का रूप धरण करने पर मजबूर मत करना क्योंकि
जितना मेरा प्रेम प्यार है उतना ही मेरा
क्रोध सबसे खतरनाक है जी प्रकार भोलेनाथ
जी तुम्हारी सभी इच्छाओं को पूर्ण करते
हैं

मैं उनकी अर्धांगिनी पार्वती जो की काली
के रूप में तुम्हें दिखाई देती हूं मैं भी
तुम्हारे सभी कार्य को पूर्ण करूंगी तो
मैं चुन्नी हुई मंजिल का मार्ग आसानी से
मैं प्राप्त कराऊंगी

मेरे बच्चे क्योंकि किसी भी मंजिल का यदि
मार्ग तुम्हें प्राप्त हो जाए तो मंजिल
मिलन बहुत ही आसन होता है वास्तु में अपनी
ताकत से मेहनत करनी होगी और एकाग्र मां से
उसे कार्य को करना होगा तब तुम्हारा कार्य
शीघ्र ही पूर्ण हो जाएगा यह मैं तुम्हें
वचन

मेरे बच्चे यदि तुम्हारे साथ कोई भी गलत
करता है तो तुम्हें उसके साथ गलत नहीं
करना है और ना ही तुम्हें किसी से डरना है
क्योंकि किसी के गलत करने से तुम्हारा गलत
नहीं होगा जब तक मैं तुम्हारी रक्षक हूं
तब तक तुम्हारा कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता

और उसे दंड अवश्य मिलेगा तो मैं ऐसे
व्यक्ति के लिए चिंतित होने की आवश्यकता
नहीं है क्योंकि जी प्रकार बच्चे अपने
माता-पिता बिछाया में सुरक्षित रहते हैं
इस प्रकार जो मेरी छाया में सुरक्षित हो
इसके साथ-साथ मेरे बच्चे तुम्हें एक कार्य
करना है तुम प्रतिदिन जब सुबह उठाते हो तो
जितनी जल्दी हो सके तुम सभी कार्य से
निर्मित होकर स्वच्छ हो जो उसके पश्चात
जितनी बार हो सके

उतनी बार ओम नमः शिवाय मंत्र का उच्चारण
करो
ऐसा करने से मुझे बहुत ज्यादा प्रसन्नता
होती है और मैं आज एक रात से पर्दा उठाने
जा रही हूं तुम्हारी जीवन में जो तुम्हारी
सबसे बड़ी उलझन है इस बात को लेकर उलझन
में फैंस हुए हो तुमको उसके आगे का सोचना
है परंतु तुम वहां तक देख नहीं सकते

तुम वहां तक सोच नहीं सकते की तुम्हारे
जीवन में आगे क्या होने वाला है इसी राज
से आज मैं पर्दा उठा दूंगी की यदि तुम
बहुत परीक्षण कर रहे हो तो तुम मैं उसका
फल प्राप्त नहीं हो रहा है ईमानदारी करने
के पश्चात भी

सही कर्म करने के बाद भी तुम्हारा धर्म पर
चलना फिर भी फल को प्राप्त नहीं करना इस
बात से अनजान हो तुम वही बात मैं आज
तुम्हें अवगत करने वाली हूं मेरे इस बात
को ध्यानपूर्वक सुनो मेरे बच्चे यदि तुम
परीक्षाराम ईमानदारी से सही कर्म कर रहे
हो

तो आज मैं तुम्हें एक बात बता डन की
तुम्हें निश्चित रहना है चिंता नहीं करनी
है क्योंकि उसका फल अवश्य प्राप्त होगा
मैं जानती हूं की तुम्हें कठिनाइयां का
सामना करना पद रहा है लेकिन आने वाला समय
तुम्हारा बहुत ज्यादा अच्छा होगा
क्योंकि मैं सदा तुम्हें देख रही हूं मैं

सुन रही हूं तुम्हें मैं समझती हूं
तुम्हारे सभी कार्य को ध्यान से देखते हूं
और उसका फल मैं तुम्हें अच्छा देने वाली
हूं मेरे बच्चे तो मैं स्वयं भी ज्ञात

नहीं कर पाओगे आश्चर्य चकित हो जाओगे
इसलिए तुम निश्चित होकर अपने कर्मों को
करते जो मेरे बच्चे मेरा आशीर्वाद सदैव
तुम्हारे साथ रहेगा तो मैं जब भी कोई
परेशानी होगी मैं स्वयं आऊंगी तुम्हारी
रक्षा करने के लिए मेरे बच्चे क्यों इतना
अकेला महसूस कर रहे हो मैं सब देख रही

हूं
जिन लोगों के साथ तुमने हमेशा अच्छा किया
हमेशा उनका अच्छा सोचा वह लोग उन सभी बटन
को भूल गए आज तुम्हारा अपमान करते हैं
मेरे बच्चे तुम ऐसे ही हो तुम्हारा दिल
बहुत साफ है तुम हमेशा से लोगों के लिए
कार्य करते हो

कभी अपने परिवार के लिए तो कभी मित्रों के
लिए तुमने हमेशा सबका भला सोचा है इसलिए
तुम सबसे अलग हो सबसे खास हो क्योंकि तुम
कभी बदले नहीं मेरे दिल में तुम्हारी अलग
जगह है मैं तुमसे प्रेम करती हूं
क्योंकि तुम हमेशा दूसरों के बड़े में

सोने वाले हो तुम बचपन से लेकर आज तक बहुत
कुछ देखा है और शाह है पर तुमने कभी हर
नहीं मैन लोगों ने हमेशा तुम्हारा बड़ा
चाहा हमेशा तुम्हारी बुराई की फिर भी तुम
उन सब से प्रेम करते रहे
मुझे बोलते रहे मां सबको माफ कर देना मैं
तुमसे बहुत प्रश्न हूं मेरे बच्चे मुझे

तुम पर गर्व है मेरा यह संदेश प्राप्त
होते हैं तुम्हारे जीवन में चमत्कार होंगे
इस संदेश के मिलते ही तुम जो कुछ भी चाहते
हो करना शुरू कर देना

अपने दिमाग से नकारात्मक विचार निकाल के
यह सोचना शुरू कर दो की तुम्हारे पास सब
कुछ है तुम सब हासिल कर सकते हो तुम्हारे
पास धन दौलत नाम सब कुछ है क्योंकि मैंने
तुम्हारी किस्मत में वह सब लिखा है यह
तुम्हारी मां का आशीर्वाद है

 

Leave a Comment