नहीं डरी कांग्रेस तो ED CBI IT और पुलिस को बनाया हथियार, मचा वबाल!

नमस्कार दोस्तों क्या भारत मदर ऑफ
डेमोक्रेसी है क्या भारत
सरकार इस देश में इंसाफ देती है क्या भारत
सरकार इस देश में सही न्याय व्यवस्था और
जांच प्रणाली को अपनाती है क्या भारत

सरकार भ्रष्टाचार के खिलाफ है क्या भारत
सरकार इस देश के आम नागरिकों को एक अच्छा
प्रशासन देना चाहती है क्या भारत सरकार
अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता देती है जब हम
इन सारे सवालों पर बात करते हैं तो जवाब
एक ही आता है ना भारत मदर ऑफ डेमोक्रेसी
बचा है और ना भारत में न्याय व्यवस्था
कानून व्यवस्था और जांच प्रणाली स्वस्थ है

जब हम यह बात करते हैं कि भारत सरकार एक
वसूली व्यवस्था नहीं बन गई है तो निश्चित
रूप से वो एक वसूली व्यवस्था बन गई है और

जब हम अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की बात
करते हैं तो वह अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता
छीनने वाली सरकार बन गई है यह संभव हुआ है
जिसे कहते हैं यह नामुमकिन को मुमकिन कर
दे बाली स्टाइल में नरेंद्र मोदी ने यह
मुमकिन किया है

कि मोदी है तो मुमकिन है कि भारत मदर ऑफ
डेमोक्रेसी नहीं रहेगा भारत में
अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता नहीं रहेगी भारत
में आपको न्याय नहीं मिलेगा भारत में आपकी

सही जांच नहीं होगी भारत में यदि आप आवा
निकालेंगे तो कुचल दी जाएगी
और भारत में आपसे हर तरह की वसूली
हो यह मैं यूं ही नहीं कह रहा य भारत
सरकार के आचरण से प्रतीत होता
है एलन मस्क जो मालिक है ट्विटर जो अ एक्स

बन चुका है उसके जो सबसे बड़ा अभिव्यक्ति
की उसका पोषक होता था वह आज उनको निर्देश
पहुंचता है वह सार्वजनिक मंच पर कहते हैं
अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कहते हैं कि हमें
भारत सरकार से यह निर्देश प्राप्त हुआ है
कि यहां पर आंदोलन करने वाले विरोध करने

वाले और सवाल उठाने वालों
के ट्विटर अकाउंट यानी एक्स अकाउंट बंद कर
दिए
जाए हम अभिव्यक्त की स्वतंत्रता के पक्षधर
हैं और हम भारत सरकार की इस कार्यवाई के

इस मांग के खिलाफ है मगर कानूनों को ध्यान
में रखते हुए हमें यह मानना
पड़ेगा
यानी गला घोटना पड़ेगा यह जानते हुए भी कि
वह हमसे गलत कह

रहे गलत फैसला है फिर भी मानना पड़ेगा तो
यह बाध्यता कर दी है इस हद तक उतर आए अभी
पीछे आपको याद होगा एप्पल ने तमाम सारे
महत्त्वपूर्ण लोगों के उसमें मैसेज भेजा

था कि भारत
सरकार
आपके मोबाइल को हैक करना चाहती है उसको
सर्विलांस में रखना
चाहती एक समय में फोन टैपिंग को लेकर बड़े
बवाल होते थे सरकारें गिर जाया करती थी आज
फोन टैपिंग तो बड़ी छोटी चीज हो गई आपकी

हर गतिविधि को वाच किया जाए आपके फोन में
स्पाई वेयर डाल दिया जाए और आपकी हर
एक्टिविटी को वाच किया जाए इसकी भी

व्यवस्था कर दी गई आप क्या ट्वीट करते हैं
आप क्या फेसबुक पर लिखते हैं आप क्या ा पर
लिखते हैं या किसी और प्लेटफार्म पर लिखते
हैं या कहीं बात करते हैं यह सारी बातें
आपकी कैच की जाए और फिर आपको कैसे सबक
सिखाना है इसके बारे में प्लानिंग तैयार

होती जब यह होता है तो निश्चित रूप से
सवाल किसान आंदोलन कर ही रहे
हैं वो एमएसपी की मांग करते हैं तो उनको
गोली मार दी जाती है और कहा जाता है मदर
ऑफ
डेमोक्रेसी इसको लेकर के राहुल गांधी ने
बड़े बेहतर तरीके से कहा किसान एमएसपी

मांगे तो गोली मारो यह है मदर डेमोक्रेसी
मोदी की जवान नियुक्ति मांगे तो उसकी
बातें तक ना सुनो इंकार कर दो यह है मदर
ऑफ

डेमोक्रेसी पूर्व गवर्नर सच बोले तो उनके
यहां सीबीआई भेज दो यह है मदर ऑफ
डेमोक्रेसी सबसे प्रमुख विपक्षी दल का
बैंक अकाउंट फ्रीज कर दो यह है मदर ऑफ
डेमोक्रेसी धारा 144 इंटरनेट बैन नुकीली

तारे आंसू गैस के गोले और पैलेट गन यह है
मदर ऑफ डेमोक्रेसी मीडिया हो या सोशल
मीडिया सच की हर आवाज को दबा दो यह है मदर
ऑफ डेमोक्रेसी मोदी जी जनता जानती है आपने
लोकतंत्र की हत्या की है और जनता जवाब
देगी यह बात राहुल गांधी ने
कही बिल्कुल यह बात सत्य है आप देखें

कांग्रेस पार्टी आज पूरे देश में भारतीय
जनता पार्टी की और उनकी
सहयोगी दलों के साथ जहां सरकारें चल रही
है उनकी जो फासीवादी नीतियां है उनका
विरोध करने के कारण उन पर लाठियां बरस

लेकिन कांग्रेस पार्टी पूरे देश भर में
में विरोध कर
रही कल उड़ीसा में महिला कांग्रेस का
प्रोटेस्ट था बीजू जनता दल भारतीय जनता
पार्टी के साथ मिलकर काम करती है इसका
उदाहरण है जो रेल मंत्री है अश्वनी वैष्णो
उन्हें राज्यसभा में भेजने के लिए बीजू

जनता दल ने उनको समर्थन
किया सरकार का केंद्र सरकार का जो भी नीति
आती
है उस परे वह सपोर्ट करते बदले में वह

उनकी उड़ीसा में सरकार
बनवाते तो स्थिति है वहां पर कांग्रेस
पार्टी के नेतृत्व में अल्का लांबा के
नेतृत्व में प्रोटेस्ट कर रहे थे न
महिलाओं पर लाठी चली अल्का लांबा समेत
तमाम लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया और

उनकी बात को भी नहीं सुना गया व
शांतिपूर्ण ढंग से अपना ज्ञापन देना चाहि
य स्थि इसी तरीके से जयपुर में यूथ
कांग्रेस के लड़के वो प्रोटेस्ट कर रहे थे

लोगों को नौकरियों से निकाला जा रहा है
जिस तरीके से नियुक्ति नहीं दी जा रही और
दूसरी चीजें और इसके अलावा किसानों के ऊपर
जिस तरीके से अत्याचार किया जा रहा है
इसको लेकर वो प्रोटेस्ट कर रहे थे उन पर

लाठियां चली उन परे वाटर कैनन से उ छोड़ा
गया और फिर गिरफ्तार किया गया और सब
कुछ कई लोगों की पीठ देख रहा था मैं
बिल्कुल
इतने बरते पड़ी हुई है कि देख के डर लगता
है फिर आइए इसी तरीके से दिल्ली में
कांग्रेस के लोग दिल्ली कांग्रेस के लोग
प्रोटेस्ट कर रहे थे तो उन्हें कैद कर

दिया गया उनके दफ्तर के उधर लेकिन फिर भी
वह निकलने की कोशिश कर रहे थे तो उन परे
लाठी
चलाई
यह राहुल गांधी जिस तरह भारत जोड़ो न्याय
यात्रा कर रहे हैं इस दौरान तमाम सारी
दिक्कतें पैदा की की जा रही कैसे कैसे

धारा 144 लगा दी जा रही है कहीं कुछ किया
जा रहा है कहीं कोर्ट के नोटिस भेजे जा
रहे हैं और सब कुछ किया जा रहा मध्य

प्रदेश में यूथ कांग्रेस के लड़के जो है
प्रोटेस्ट कर रहे थे जो भर्ती परीक्षाओं
में गड़बड़ियां हुई है और सारी चीजें उनको
लेकर के और नौकरी और रोजगार की बात कर रहे
थे कि युवाओं को रोजगार दो और सब पे तो उन
परे लाठियां चल रही थी उनको मारा जा रहा
था जेल भेजा जा रहा था एक जगह नहीं है

चाहे कहीं पर भी हो इस तरह की स्थिति है
और जब इस तरह की स्थिति हो तो सवाल उठता
है तो आवाज को सिर्फ यही नहीं दबाए किसान
आंदोलन कर रहे हैं तो उन पर गोली चलाई
जाएगी और सब कुछ किया जाएगा सारी
चीज तो इस तरह से किया जाता

है पूर्व राज्यपाल और भारतीय जनता पार्टी
के राष्ट्रीय
उपाध्यक्ष सतपाल मलिक
सच बोलते हैं गवर्नर रहते हुए सच बोलते थे
तो उन्हें गवर्नर के पद से हटाया गया फिर

उन्होंने उसी तरह तब भी बोलते थे जब सत्ता
में थे बाहर आए तब भी बोल रहे थे उसका
नतीजा यह हुआ कि उनके यहां उन्होंने
कंप्लेंट दी थी कि किस तरीके से 300 करोड़
रुपया का हाइड्रो पावर मामले में उन्हें
रिश्वत की पेशकश की गई और यह दलाली कराने

वाला भारतीय जनता पार्टी का एक शीर्ष
आरएसएस का शीर्ष नेता
था सब कुछ बताने के बाद उस पर ना कार्यवाई
हुई ना उस कंपनी पर कार्रवाई हुई आज सतपाल
मलिक के घर पर छापे पड़
गए सीबीआई ने छापे मार
दिए 30 जगह और मारे उनके ड्राइवर उनके

दूसरे कर्मचारियों के यहां छापे मारे जा
रहे मतलब देख के लगता है और वो
हॉस्पिटलाइज है तब महाराजा जा रहा दो दिन
वेट नहीं किया जा

सकता इससे आप समझ सकते हैं कि कैसे आवाज
को दबाया जाता है यह वही सतपाल मलिक है
जिनके समय में एक गलत तरीके से कश्मीर में
अनुच्छेद 370 खत्म किया गया 35 खत्म किया

गया और उसके बाद में उनको जिस तरीके से
बंधक बना दिया गया यूटी बना दिया गया और
यूटी बनाने के साथ जितने खेल

पुलवामा कराया गया उस पुलवामा को क्या हम
भूल
जाए उसका सच सामने ना आ जाए
इसलिए सतपाल मलिक को डराना है डराने की
साजिश
इतनी कि वसूली तंत्र कैसे बन गया है यह भी

समझना
जरूरी वसूली तंत्र ऐसे बना दिया गया है
कि ईडी सीबीआई इनकम टैक्स इन संस् ओ के
जरिए पुलिस के जरिए इस तरह से लोगों को
फसाया जाता है कि वो खुद ब खुद या तो फस

के आ जाए हमारे पास नहीं तो हम निकाल लेे
इसी डर से तमाम विपक्षी दल के नेताओं को
भी डरा के रखा गया है चाहे ममता बनर्जी हो
चाहे कोई हो चाहे कोई हो हालांकि वो सोचते

हैं कि हम बच गए बचते कोई नहीं वो कहीं ना
कहीं और दबोच से
हैं लेकिन चलिए तो आज स्थिति ये है

कि एक बरा जो चुनाव बंड का मामला था उसमें
कुछ चीजें सामने आने लगी सामने आया कि 30
ऐसी कंपनियां थी जिन कंपनियों में ईडी की
रेड कराई गई और रेड होने के बाद वह लोग
परेशान हुए और फिर साहिब के पास आ गए
नतीजा उनसे 335 करोड़
रुपया वस ला गया जो उन्होंने पार्टी फंड
में डोनेट किया और उसके बाद में ईडी का
मामला
बंद समझ
ली इसी तरीके से आपको याद
हो और भी तमाम सारे लोगों पर हुआ कारवाई
होती है तमाम तरह के एक्शन होते हैं और
उसके बाद में
स तो ऐसे ही एक है जिन्होंने महुआ मोइत्रा
के खिलाफ एक जो है बयान दिया था और लेटर
जारी कर दिया था कि साब उनको हमने गिफ्ट
दिए और इस कारण से उनको तो आपने फसा करके
उनकी सदस्यता रद्द कर दी लेकिन अब उनके
यहां भी इनकम टैक्स की रेड हो गई और तमाम
सारी चीजें सामने आ
रही संभव है वह भी पहुंच जाएंगे और खत्म
हो जाएगा इसी तरीके से कहीं पर इनकम टैक्स
कहीं सीबीआई कहीं कोई रेड होती कांग्रेस
पार्टी लगातार बोल रही तो उसका नतीजा क्या
हुआ कि कांग्रेस पार्टी का जो खाता था
उनको फ्रीज कर दिया गया और अब उससे 55
करोड़ रुपया निकाल भी लिए
गए यूथ कांग्रेस के खाते से भी सवा करोड़
रुपया निकाल दिया गया स्टूडेंट्स का जो
फंड होता है एनएसयूआई के खाते से भी पैसा
निकाल लिया गया यानी स्टूडेंट्स का भी
पैसा आपने निकाल लिया जो उन्होंने जोड़ के
दिया था आपने यूथ का वो लड़ता है आवाज
बनता है तो उसका भी आपने निकाल लिया और
कांग्रेस पार्टी का तो निकाल ही लिया तो
इस तरह की स्थिति
है अब आप समझ सकते हैं कि कौन सा खेल चल
रहा है तो इससे क्या है बहुत सारे लोग डर
जाते
हैं और वो डर के
कारण कभी विपक्षी दलों को डोनेशन देना बंद
कर देते वैसे भी डोनेशन देना लगभग लगभग
बंद ही कर चुके हैं थोड़ा ही बहुत बता है
90 पर से अधिक जो है भारतीय जनता पार्टी
को मिलता है 10 पर से कम में सारी
पार्टियों को मिलता
है तो इस तरह की भी स्थि इसके
बाद जो पार्टी के नेता है उनको भी डराया
जाता है कि आपके यहां क्या-क्या हो जाएगा
तो ऐसे तमाम सारे नेता है जिनके यहां जिन
पर भ्रष्टाचार के और दूसरे आरोप लगे और वो
भारतीय जनता पार्टी का जब पट्टा पहन लेते
हैं तो सबब पाक साफ हो जाते हैं नाम बताने
की जरूरत नहीं है आप सब जानते
हैं तो भारतीय जनता पार्टी का कुल
कैरेक्टर इस देश में डराओ धमका वसूली करो
यदि आप अपने हक मांगोगे तो गोली चलेगी
आपको लाठियां मिलेंगी आपको आंसू गैस के
गोले मिलेंगे वो हमारे किसान जो है देख
रहे हैं लगातार पहले भी मिला था उन्हें
बदनाम कि किया जाएगा किसी को खालिस्तानी
बताया जाएगा किसी को नक्सली बताया जाएगा
किसी को अर्बन नक्सली बताया जाएगा किसी को
पाकिस्तानी बताया
जाएगा तो इस तरह का खेल पूरे देश में चल
रहा है और जब यह चल रहा हो तो निश्चित रूप
से आता है कि आखिर देश को ले कहां जा यही
सारे विषयों को लेके राहुल गांधी बार-बार
बोलते रहे क्योंकि इस देश का मीडिया सिर्फ
चरण चुंबन करता दिखाई देता है उसे राहुल
गांधी की यात्रा में उमड़ी हजारों लाखों
की भीड़ नजर नहीं आती जहां
कहीं उसमें भीड़ कम होती है उसके वीडियो
और फुटेज बना लिए जाते हैं और उनको
प्रसारित किया जाता है कि साहब यह तो भाई
यात्रा जब चल रही है कहीं पर किसी को
प्रायोजित तो है नहीं कि नरेंद्र मोदी की
यात्रा की तरह प्रायोजित हो कि हां सबको
एक जैसी ड्रेस पहना के बैठा दिया जाए और
बोला जाए आठ रोड शो देखिए और एक किलोमीटर
का रोड शो हो जिसमें भी मोदी किस तरीके से
कहीं फूल बरस रहा हो कहीं कुछ बरस रहा हो
कहीं कुछ सरकारी धन से यह सब हो रहा
हो तो आप समझिए यहां तो जनता के धन से
जनता के लिए हो रहा है और जब जनता के धन
से जनता के लिए होता है तो सरकार को डर
लगता है इसीलिए अकाउंट बंद करा दिया जाता
है पैसे जप्त कर लिए जाते है
जबक किसी भी पॉलिटिकल पार्टी को एक रुपया
भी इनकम टैक्स नहीं देना होता है तो फिर
इनकम टैक्स जप्त क्यों कर रहा है वह कह
रहा है आपने 14 लाख रुपए जो कैश अपने
कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों से लिए उसकी
सूचना वक्त पर नहीं दी इसलिए हम आपसे
210 करोड़ जो है वसू लेंगे पूरी कांग्रेस
के सारी विंग को मिलाकर भी 100 करोड़ नहीं
और 100 करोड़ भी मैं ज्यादा कह रहा हूं 70
करोड़ भी
नहीं जो थे वह आपने निकाल
लिए तो इस तरह की स्थिति है और रही बात
इनकम टैक्स की तो इंडिविजुअल इनकम टैक्स
जो लिया जाता है वह चाहे राहुल गांधी हो
चाहे प्रियंका गांधी हो चाहे मल्लिकार्जुन
खड़गे हो या कोई भी हो सारे नेता देते हैं
अपने अपने हिसाब
से तो ऐसी स्थिति में आप अकाउंट जप्त करके
क्या कर रहे वह आवाज रोक रहे हैं वह आवाज
बंद कर रहे हैं जो आपको आईना
दिखाती उस आवाज को आप रोक रहे हैं जो आपको
ललकार इसीलिए राहुल गांधी बारबार सरेआम
आपको
लानिया बोलते हैं और आप वास्तव में मदर ऑफ
डेमोक्रेसी के
हत्यारे आप मदर ऑ डेमोक्रेसी पर गोली
चलाते हैं किसानों पर
नहीं आप इस देश के स्टूडेंट्स को मरने को
मजबूर करते हैं आप तमाम सारे महिलाओं को
मजबूर करते हैं आप दूसरों को करते हैं
क्यों क्योंकि वह
आपके जो गलत आचरण है गलत हरकतें हैं उन सब
का विरोध करते गलत नीतियों का विरोध करते
हैं आप
युवाओं
को जो सेवा करना चाहते हैं देश की उन्हें
अग्निवीर बना देते हैं और उनके लिए कुछ
नहीं होता है तो ऐसी स्थिति में निश्चित
रूप से आपने इस देश को बर्बाद किया है तो
जब बर्बाद किया है तो उसी की लड़ाई लड़ने
राहुल गांधी निकल रहे हैं तो वह ना कर पाए
इसके लिए आप उनके सारे अकाउंट के पैसे खा
जाते और इसके बाद भी कि अभी और लेंगे
तो आप समझ सकते हैं कि कितने गंभीर हालत
में इस देश के लोकतंत्र को पहुंचा दिया है
नरेंद्र मोदी ने और यह कभी हमारे पुरोधा
ने सोचा नहीं रहा वह हालत कर दि

Leave a Comment