पूजा करते समय आँखों से आँसू आने से मिलते है ये 3 संकेत दुर्लक्ष ना करे

नमस्कार आप सभी का स्वागत है क्या पूजा
एवं आराधना करते समय आपकी आंखों में आंसू
आते हैं अगर आपके भी साथ ऐसा होता है तो
आप इस वीडियो को अंत तक जरूर देखें आज हम

आपको बताएंगे आखिर ऐसा क्यों होता है ऐसी
वह कौन सी अज्ञात अलौकिक शक्तियां हैं
जिनकी कृपा आप पर बनी हुई है और पूजा करते

समय आंखों में आंसू आना नींद आना या फिर
ओबासी आने का क्या अर्थ होता है हमारे
प्राचीन ग्रंथों के अनुसार शुरुआत में
संपूर्ण ब्रह्मांड खाली था हर तरफ केवल

अंधकार ही था तभी अचानक इस ब्रह्मांड में
एक शिवलिंग प्रकट हुआ जिसने इस संपूर्ण
ब्रह्मांड को ऊर्जा से भर दिया इसी कारण

ऐसा माना जाता है कि निराकार भगवान शिव का
इस समस्त ब्रह्मांड के कण कण में वास है
वे सृष्टि के संतुलन को बनाए हुए हैं शिव
ही आदि है और शिव ही अनंत है इसी कारण इस

ब्रह्मांड में जो कुछ भी होता है वह केवल
ईश्वर की मर्जी से ही होता है जब आप पूजा
करने बैठते हैं अथवा ईश्वर का ध्यान करने
बैठ जाते हैं तो आपकी आत्मा का कनेक्शन
ईश्वर के साथ होता है ईश्वर सर्वव्यापी है

समस्त सजीव और निर्जीव वस्तुओं में उनका
ही वास है इसी कारण जब भी पूजा पाठ करते
समय आपके साथ कुछ विचित्र घटनाएं घटती हैं

तो इसका अर्थ यह है कि ईश्वर आपको कुछ
संकेत देने की कोशिश कर रहे हैं कई लोग
इसे मात्र संयोग समझकर नजर अंदाज कर देते
हैं लेकिन ऐसा करने से अच्छा है कि आप उन

संकेतों को समझे आखिर ऐसा क्यों होता है
जब भी हम किसी मंदिर में प्रवेश करते हैं
तो मन प्रसन्न हो जाता है दुख और निराशा
भी अचानक समाप्त हो जाती है और व्यक्ति
फ्रेश महसूस करता है ऐसा इसीलिए क्योंकि

मंदिर के वातावरण में सकारात्मक शक्तियां
होती हैं जिनके प्रभाव में आने से व्यक्ति
मन में शांति और सुख का अनुभव करता है कई
बार विद्यार्थियों को को मां सरस्वती का
ध्यान करते समय आंखों में आंसू आ जाते हैं
या अचानक नींद आने लगती है साथ ही देवी
देवताओं की कथा सुनते वक्त भी अचानक

रोम-रोम खड़ा हो जाता है या आंखों से आंसू
भी आने लगते हैं कभी-कभी जब हमें ईश्वर की
उस अनंत शक्ति का एहसास हो जाता है तो

हमारे रोंगटे खड़े हो जाते हैं और ईश्वर
पर हमारा विश्वास और भी दृढ़ हो जाता है
दोस्तों क्या आपको भी पूजा करते समय ऐसे
संकेत मिलते हैं तो आइए आपको बताते हैं कि

इन संकेतों का क्या अर्थ होता है लेकिन
इससे पहले अगर आपने हमारे चैनल को
सब्सक्राइब नहीं किया है तो इसे
सब्सक्राइब जरूर करें ताकि आप ऐसी रहस्यमय

जानकारी वाले वीडियो देख सके साथ ही
वीडियो को एक लाइक जरूर करें क्योंकि बाद
में आप भूल जाते हैं सबसे पहला संकेत
आंखों से आंसू आना अगर पूजा एवं आराधना
करते समय अचानक से आंखों से आंसू आते हैं
तो यह ईश्वर का संकेत है कि आपकी आ आत्मा
और ईश्वरीय शक्ति का मिलन हो चुका है ऐसे

में आपको ईश्वर के सामने अपनी मन की इच्छा
एवं मनोकामना प्रकट करनी चाहिए ऐसे समय पर
प्रार्थना करने से उसका फल अवश्य मिलता है
कई लोग इसे संयोग समझकर इसे भूल जाते हैं

और ध्यान मग्न रहते हैं परंतु यही
सर्वोत्तम समय होता है ईश्वर से कुछ
मांगने का क्यों कि इस समय पर आप उस
अवस्था में पहुंच जाते हैं जब ईश्वर आपके
मन की बात सुन रहे होते हैं इसीलिए जब भी

पूजा करते समय आपकी आंखों से आंसू आए तो
ईश्वर से आपके कष्ट निवारण की प्रार्थना
जरूर करें आपकी मनोकामना अवश्य पूर्ण
होंगी साथ ही इसका यह भी कारण माना जाता
है कि आपके अंतर्मन की बुराई की सफाई हो

 

रही है और आपका अंतक शुद्ध हो रहा है
दूसरा संकेत धूपबत्ती का धुआं यदि आप पूजा
करते हुए यह देखते हैं कि आपके द्वारा
लगाई गई अगर बत्ती एवं धूपबत्ती का धुआं

आपके इष्टदेव की प्रतिमा की ओर जा रहा है
तो इसका अर्थ यह है कि आपकी पूजा को ईश्वर
ने स्वीकार कर लिया है और आपके इष्ट देव
आपकी भक्ति से प्रसन्न है तीसरा संकेत
जलाई हुई ज्योत बढ़ जाए दोस्तों अग्नि पंच
तत्त्वों में से एक है इसमें भगवान
भोलेनाथ का वास है अगर आप पूजा कर रहे हैं
और आपके सामने रखे दीपक या आरती की ोत बढ़

जाए तो यह एक ईश्वर का संकेत है कि वे
आपकी पूजा और सच्ची भक्ति से प्रसन्न है
ऐसे समय पर हमें ईश्वर से प्रार्थना करनी
चाहिए और अपनी मनोकामना बतानी चाहिए चौथा

संकेत द्वार पर गाय का आना भगवान शिव जी
की आरती एवं पूजा के समय अगर द्वार पर गाय
आती है तो यह बड़ा ही शुभ संकेत माना गया
है द्वार पर आई गाय की पूजा करें उसे रोटी
खिलाए और नमस्कार करके अपनी मनोकामना गौ

माता के सामने रखें आपकी इच्छा अवश्य पूरी
होगी प्राचीन ग्रंथों में गाय को हर
मनोकामना को पूर्ण करने वाली कामधेनु माना
गया है पांचवा संकेत फूल का गिरना अगर
आपने पूजा एवं ध्यान से पहले फूल ईश्वर की
प्रतिमा पर चढ़ाए हैं और ध्यान एवं पूजा

करते समय अगर वह फूल आपकी ओर गिरता है तो
यह बड़ा ही शुभ माना जाता है इसका अर्थ यह
है कि आपकी आराधना को ईश्वर ने स्वीकार
किया है और वे उसका उचित फल आपको तुरंत ही
प्रदान करेंगे तो दोस्तों क्या आपके भी
साथ ऐसा होता है तो हमें कमेंट में जरूर
बताइए वीडियो पसंद आया तो लाइक करें और

दोस्तों के साथ शेयर करें धन्यवाद

Leave a Comment