भगवान कल्कि का अवतार कब और कैसे होगा? उन्हें क्यों है 7 चिरंजीवियों की जरूरत?

नमस्कार आप देख रहे हैं न्यूजनेशन का
डिजिटल प्लेटफार्म मैं अंकिता और मेरे
सहयोगी वरुण मेरे साथ यहां पर मौजूद है
देखिए उत्तर प्रदेश के संभल जिले का नजारा
बेहद खूबसूरत रहा आज पीएम नरेंद्र मोदी ने
संबल जिले में कल्की धाम का शिलान्यास भी

किया देखिए कल्की भगवान कल्की को लेकर
तरह-तरह के सवाल रहते हैं हम सबके मन में
तो वरुण आपसे जानेंगे आज कि भगवान कलकी
आखिर कौन है और उनका उद्देश्य क्या है
बिल्कुल
देखिए हम आगे बढ़े उससे पहले मैं आप लोगों
को थोड़ा कल्की धाम के बारे में बता
बिल्कुल मैं खुद कई मर्तबा कलकी धाम गया
हूं मैंने संभल देखा है गंगा नदी के एक

तरफ बुलंद शहर पड़ता है गंगा नदी के दूसरी
तरफ संभल पड़ता है तो आने जाने का जो
रास्ता है वह कई बार पहले पीपे के पुल से
जाना होता था अब तो खैर आवागमन की तमाम
अच्छी सुविधाएं हैं मैं पुरानी बात बता
रहा हूं 1015 साल पुरानी तो कल्की धाम उस
वक्त बहुत अपने अच्छे स्वरूप में नहीं था

छोटा मंदिर था बहुत बड़ा मंदिर नहीं था
लेकिन लेकिन जो आस्था लोगों की है वह बहुत
बड़ी है बिलकुल है ना लोग यह चाहते हैं कि
वहां भगवान कल्की का एक विराट मंदिर बने
दिव्य मंदिर बने भव्य मंदिर बने और उसी को
लेकर जो पीएम मोदी हैं उन्होंने आज वहां
शिलान्यास कर दिया और बहुत जल्द हमारे
सामने जिस तरीके से हमने देखा कि महाकाल

मंदिर का स्वरूप वर्तमान में है जिस तरह
हमने देखा कि राम मंदिर का वर्तमान स्वरूप
है जिस तरह हमने देखा कि काशी संवर रही है
जिस तरह मथुरा संवर रहा उसी तरीके से मुझे
लगता है कि आने वाले वक्त में कल्की धाम

भी बहुत ही सुंदर दिव्य भव्य बनेगा
बिल्कुल तो अब एक बात जब हम कर रहे होते
हैं भगवान कल्की की तब जरूर हम बात करते
हैं उसके आसपास के इलाके की ऐसा कहा गया
है पहले हमारे पुराणों में हमारे

शास्त्रों में के जो भगवान कलकी हैं वो
संभल ग्राम में जन्म लेंगे तब उससे अंदाज
लगा गया कि संभल ग्राम वही जगह है पश्चिमी
उत्तर प्रदेश की संभल जिले की जहां पर

 

भगवान कलकी जन्म लेंगे अब बहुत सारे लोग
पूछते हैं कि कल्की भगवान कौन है तो कल्की
भगवान भगवान विष्णु के दसव अवतार हैं तो
यह जो कंसेप्ट है हमारे हिंदुओं के अंदर
यहां भगवान विष्णु के 10 अवतारों की

मान्यता है जिसे दशावतार कहा जाता है तो
जो दसव अवतार है भगवान कल की वो यहां जन्म
लेंगे वो एक सफेद घोड़े पर विराजमान होंगे
और ये पूर्ण अवतार होंगे मतलब साक्षात
विष्णु होंगे ऐसा कह सकते हैं जी इनको 64

कलाओं का ज्ञान होगा और जब ये घोड़े पर
बैठकर निकलेंगे तलवार इनके हाथ में होगी
तब ये तमाम जितने असुर हैं उनको खत्म कर
देंगे जितने बुरे लोग हैं जितनी बुराइयां
है संसार की उनको खत्म कर देंगे और ऐसा
कहा गया है कि यह कली नाम के एक राक्षस को
खत्म करेंगे अब यह जो कली है इसको लेकर दो

थ्योरी है एक तो कली राक्षस है और एक कली
युग है तो कली युग को खत्म करने का भी
उनको वरदान है कहा गया है कि वह कलियुग को
भी खत्म करेंगे और कली राक्षस को भी खत्म
करेंगे अब कलियुग जो है जब यह खत्म होगा
तब दोबारा से सतयुग प्रारंभ होगा तो जितना

भी अभी हमने देखा सबसे पहले सतयुग था उसके
बाद
तोय जो चार युग का कांसेप्ट है य टार्ट
होगा और यह जो रीस्टार्ट करने के लिए जो
देव आ रहे हैं जो अवतार आ रहे हैं उन्हीं
का नाम है भगवान कल्क क बिल्कुल तो देखिए
जब जब भी भगवान कल्की की बात होती है तो
वरुण उनके साथ हमने देखा है कि सात
चिरंजीवी की भी बात होती है तो इनका भगवान
कल्की से क्या संबंध है इसके बारे में भी
दर्शकों को विस्तार से बताइए देखिए जब हम

बात करते हैं भगवान कलकी की तो उसके लिए
हमें बहुत जरूरी है हमें असुर कली की बात
करना जी तो जो असुर कली हैं उनके बारे में
ऐसा कहा जाता है माना जाता है कि वो इतने

ज्यादा ताकतवर हैं कि भगवान कल की जो
साक्षात विष्णु हैं वह उन्हें अकेले हरा

नहीं सकेंगे उनको हराने के लिए मदद की
जरूरत होगी और सात चिरंजीवी उनकी मदद
करेंगे और यह सात चिरंजीवी कौन है तो सबसे
पहले चिरंजी हैं हनुमान तो ऐसा कहते हैं

के अवतार हैं बिलकुल और वह इतने ज्यादा
पावरफुल हैं इतने ज्यादा ताकतवर हैं कि
जिस युद्ध में वह आ जाते हैं उस युद्ध में
किसी और के होने की आवश्यकता ही नहीं होती
लेकिन उसके बावजूद
यदि कलकी महाराज को कलकी भगवान को अगर
जरूरत पड़ रही है सात

चिरंजीविकल यह जो कली है यह कितना ज्यादा
ताकतवर है बकल तो हनुमान खुद जो मदद
करेंगे कल्की की वो करेंगे इसके अलावा
अश्वथामा मदद करेंगे अश्वथामा आपको ध्यान
होगा महाभारत काल की बात है और अश्वथामा

को ऐसा श्राप दिया गया भगवान कृष्ण के
द्वारा के वो दुनिया के अंत तक वो रहेंगे
जीवित तो उनके पास अमरता का वरदान है और
राजा बाली उनको
जब वामन अवतार लिया था भगवान विष्णु ने तब
राजा बली को यह उन्होंने आशीर्वाद दिया था
कि तुम भी अमर हो जाओ तो वो अमरता का उनको

वरदान है इसके अलावा विभीषण को अमरता का
वरदान है विभीषण रावण के छोटे भाई हैं
उनके पास बहुत ज्ञान है और ज्ञान के
साथ-साथ देखिए कि उनके पास में तमाम
संसाधन भी हैं हम जिस पुष्पक विमान की बात

करते हैं जिसको लेके तमाम रिसर्च अभी तक
हो रही है कि वो भी कहीं छुपा हुआ है तो
वो उनके पास है तमाम ज्ञान उनके पास है
साइंस उनके पास है और पिछले दिनों एक
डिस्कवरी प डॉक्यूमेंट्री दिखाई गई जिसमें
यह बात बताई गई
के अभी भी लंका में कई स्टार गट की
आकृतियां मिली है स्टार गेट यानी दूसरे
यूनिवर्स में आने जाने का रास्ता हो सकता

है तो अगर ऐसा वाकई है मुझे नहीं पता है
या नहीं है अगर ऐसा वाकई है तो हम यह समझ
सकते हैं कि लंका की साइंस कितनी ज्यादा
उस वक्त विकसित थी और अब यदि ण आएंगे तो

अपने साथ वह कितनी बड़ी सेना ला सकते हैं
किस तरीके की साइंस ला सकते हैं किस तरीके
की टेक्नोलॉजी ला सकते हैं बात कृपाचार्य
की भी हमें करनी चाहिए कृपाचार्य भी जो
कौरव और पांडव थे उनके गुरु थे और उनके
पास भी तमाम तरीके के दिव्य अस्त्र शस्त्र
हैं वो भी इस युद्ध में कल्की की तरफ से

लड़ाई करेंगे और महाभारत के जो रचयिता हैं
वेदव्यास वो उन्हें भी अमरता का वरदान है
वह भी कल्की की तरफ से लड़ाई करेंगे और

ऋषि मारकंडे के बारे में भी ऐसा कहा जा
जाता है कि व भी यहां पर कलकी का साथ
देंगे तो एक चीज इसमें अंकिता देखने वाली
यह है कि कलकी जो भगवान हैं वह भगवान
विष्णु के अवतार हैं दसवें अवतार हैं
दशावतार हैं और दूसरी बात यह कि वो कली का
वध करेंगे कली को मारेंगे कली का संहार
करेंगे और उसी के लिए वह अवतार भी ले रहे
हैं जितनी तमाम बुराइयां कलयुग में हैं
जितना तमाम सब कुछ जो हम देखते हैं अरे

यार अब तो कलयुग आ गया तो कलयुग में क्या
होगा कलयुग में की आएंगे और कल की जो
बुराइयां है उनको खत्म करेंगे और दोबारा
से सतयुग को शुरू करेंगे और रीस्टार्ट इस

को मैं कह रहा हूं बार-बार बिल्कुल तो ये
जो रीस्टार्ट हो रहा है यह एक तरीके से
मानवता का रीस्टार्ट होगा एक तरीके से
सृष्टि का रीस्टार्ट होगा और यह रीस्टार्ट
होगा तमाम बुराइयों के खत्म होने से

अच्छाइयों के शुरू होने का बिल्कुल
बिल्कुल बिल्कुल और जब हम बात कर रहे हैं
कलकी की जब हम बात सात चिरंजीवी की कर रहे

ऐसी पूरी स्थिति परिस्थिति में हमें यह
देखना होगा कि जो किस्से हैं कहानियां हैं
किवदंती यां हैं यह तमाम आपके पास
वो एक घाव है और वो घाव जब ठीक हो जाएगा
तब वही वक्त होगा कि जब कल की अवतार लेंगे
वही वक्त होगा अब उस घोड़े की प्रतिमा पर

एक घाव का निशान है और वह धीरे-धीरे धीरे
धीरे अपने आप हील हो रहा है ये अपने आप
में एक चमत्कार है और भारत चमत्कारों का

देश है यहां हमने देखा कि मूर्तियां दूध
पीती हैं हमने देखा कि कई जगहों पर ऐसी
वीडियो आते हैं जहां काल
भैरव शराब का सेवन करते हैं तो यहां मैं
मैं मुझे बिल्कुल अचंभा नहीं है जब हम इस
चीज को देखते हैं कि एक प्रतिमा है उसके
पास एक घाव है और वो घाव अपने आप हील हो
रहा है ठीक हो रहा है तो देखिए यहां पर
हमारे सहयोगी वरुण ने तमाम जानकारियां दी
आपको कली और भगवान कली को लेकर चिरंजीवी
को भी लेकर और तमाम जानकारियां जो आपको भी
पहुंचाने थी वो वरुण ने आप सबको दी एक-एक
पॉइंट्स पर आपने देखा कि उन्होंने सारी
चीजों को कितनी अच्छी से आपके सामने रखा
तो आपके भी मन में जो भी सवाल थे वह भी आप
कमेंट सेक्शन पर जरूर बताइएगा इसके अलावा
अगर आपने अभी तक न्यूज़ नेशनल स्तुति को
सब्सक्राइब नहीं किया तो फटाफट से कर
लीजिए क्योंकि धर्म कर्म से जुड़ी तमाम
जानकारियां सिर्फ और सिर्फ आपको यहां पे
मिलेंगी बहुत-बहुत शुक्रिया

Leave a Comment