माँ काली 🕉बहुत बड़ी योजना हो रही है कोई दिव्यलोक से तुम्हें धमाका होगा

मेरे बच्चे कैसे हो क्या हुआ की सोच में
दुबे हुए हो तुम्हारे मां की दुविधाएं मां
से नहीं निकाल रहे हैं
आशंकाएं लगातार बढ़नी नजर ए रहे हैं
उम्मीद का दमन छोटा पढ़ने लगा है

परेशानियां की घटाएं बार-बार तुम्हारे ऊपर
मधुरा रहे हैं जो तुम्हारे मां को बहुत
ज्यादा दारा रहे हैं क्या कभी आपने सोचा

है की आप इतना क्यों डरते हो क्या कभी खुद
से प्रश्न किया है इस वजह का नहीं ना
परंतु डर की वजह कुछ और है एक ऐसी शक्ति
जिसके संपर्क में तुम नहीं हो और यही
शक्ति तुमको मैं प्रधान करूंगी और उसके

लिए तुम्हें स्वयं मेरे बताए हुए मार्ग को
अपनाते ही तुम्हारे अंदर का डर का डर बाहर
निकाल जाएगा और एक ऐसी शक्ति तुम्हारे
अंदर समाहित होगी इस शक्ति के द्वारा अगले
9 घंटा में तुम्हारी सभी परेशानियां को
दूर करने का प्रारंभ होगा क्योंकि मेरे

द्वारा बताया
कोई साधारण कार्य नहीं है एक ऐसा
शक्तिशाली कार्य है जिसकी शक्ति आपके अंदर
के डर को निकालकर कार्य को पूर्ण होने में
सहायक होगी सबसे पहले तो तुम्हें मेरे एक
सवाल का जवाब देना होगा क्या तुम एकांत

में बैठकर अपने मां को शून्य कर सकते हो
क्या मां को इतना एकाग्र कर सकते हो की
कुछ पाल के लिए तुम्हारे मां में
शक्ति विद्यमान हो पाएगी और तुम्हारे अगले

9 घंटा में बिगड़े हुए जितने भी कार्य हैं
वह सब बन्ना प्रारंभ होंगे यदि तुम यह
नहीं कर सकते तो मेरे बच्चे उसके लिए
तुम्हें कुछ समय लगातार यह करने की कोशिश
करनी होगी तभी तुम ऐसा कर पाओगे सबसे पहले
तुम ऐसा करने का

अभ्यास करो की एकांत में बैठकर अपने दिमाग
से कुछ पाल के लिए सभी बटन को हटाना सीखो
सिर्फ और सिर्फ एक बात जो की तुम्हारे
जीवन में तुम प्राप्त करना चाहते हो उसे

बात को बार-बार ध्यान करने के लिए
तुम्हारा जो अब चेतन मां है उसको एकाग्र
करना होगा उसके बाद ही तुम्हारी जो भी
परेशानी जो भी उलझन है तुम उसका उसका
ध्यान करो अपने मां में बार-बार ध्यान करो
परंतु परेशानी को परेशानी की तरह ध्यान
नहीं करना है तुम्हें उसे परेशानी के बड़े
में

सोचते हुए यह सोचना है तुम्हारे पास ऐसी
कोई परेशानी ऐसा कोई कार्य नहीं है जो
अधूरा है सभी कार्य पूर्ण है मैं केवल
तुम्हें मार्ग दिखा शक्ति हूं मेरे बच्चे
मार्ग पर चलना तुम्हें है इसलिए तुम अच्छे

बुरे में फर्क पहचाना सीखो स्वयं को
दूसरों के हाथों ठगने से बचाना सीखो मैं
तुम्हें पहचान देती हूं की यदि मेरे बताए
हुए मार्ग पर तुम चल पाओगे तो अगले 9 घंटे
में ही तुम्हारे जीवन में हर बिगड़े हुए
कार्य चमत साड़ी रूप से बने लगेंगे मेरी
बताई हुई बटन को भले भांति सुनकर अपने
जीवन में उतारना प्रारंभ करो तो मंदार से

बहुत ज्यादा टूट चुके हो एक बात को सदैव
याद रखना संसार में अच्छे लोग भी होते हैं
और बुरे लोग भी होते हैं इसलिए तुम कभी
किसी पर आंख बैंड करके बिल्कुल भी विश्वास

ठगी
अच्छे हो तुम अपनी तरह दुनिया को समझते हो
और तुमने जो मुझे अपनी प्रार्थना में सदैव
मांगा है तुम्हारा भाग्य जैसा भी हो
तुम्हें घबराना नहीं तुमको भाग्य के भरोसे
सब कुछ प्राप्त होगा जो भाग्य में है
तुम्हें अवश्य मिलेगा तुम्हारी सबसे बड़ी
भूल है क्योंकि कर्म के बिना भाग्य कुछ भी
नहीं बिना कर्म जो तुम्हें प्राप्त हो

चुका है वह तुम्हारे पिछले किया गए कर्मों
के फल स्वरूप तुम्हारे भाग्य लिखा है
मैंने जी प्रकार किसी भी परीक्षा को पास
करने के लिए तुम्हें कठिन परिश्रम करना
पड़ता है तुम्हारा भाग्य रूपी फल तुम्हें

परिश्रम से ही प्राप्त होगा तो इन बटन को
ध्यान रखो परिश्रम के साथ मुझमें पर
विश्वास होना अति आवश्यक
के साथ

 

मेहनत करने की शक्ति प्राप्त होगी
तुम्हारे किस्मत के सितारे चमकते वाले हैं
क्योंकि मैं तुमसे बहुत ही ज्यादा प्रश्न
हूं मुझमें पर विश्वास सदैव करते रहना
होगा मेरा आशीर्वाद तुम्हारे साथ है मेरे

अगले संदेश की प्रतीक्षा करना तुम्हारा
कल्याण हो
ज्ञान हो ज्ञान हो आज इन्हीं सुंदर
नेत्रों के लिए यह खाट लिखा गया
तो समझ लेना अब वहां जान वाले हो जीवन एक
नए मोड के लिए करवट लेने को तैयार है मेरे
बच्चे तुम्हारे हृदय से बा रही प्रेम की
सुंदर बंदे मुझे प्रत्येक क्षण स्पर्श कर

 

रही हैं
क्योंकि तुम एक दिव्या आत्मा हो तुम्हारी
पवित्र ऊर्जा बढ़नी जा रही है जिसके फल
स्वरूप जो तुम्हारा अर्थ स्वरूप है वह
तुम्हारे निकट पहुंच रहा है मेरे प्रिया
जी प्रकार एक चुंबक दूसरे चुंबक को

आकर्षित करता है इस प्रकार तुम्हारा
दिव्या प्रेम तुम्हें आकर्षित कर रहा है
तुम्हारे हृदय में प्रेम के लिए जो पवित्र
भावनाएं उत्पन्न हुई
आकर्षण का फल है जी प्रकार तुम अपने
दिव्या प्रेम के बिना अधूरे हो इस प्रकार
तुम्हारा दिव्या प्रेम तुम्हारे बिना

पूर्ण कैसे हो सकता है आज तुम्हें मैं वह
सत्य बताऊंगा जिससे जानकर तुम खुशी से झूठ
उठो गए वह सत्य है तुम्हारे दिव्या प्रेम
के मिलने का समय मेरे प्रिया तुम दोनों के
मिलने का समय मैंने निर्धारित कर दिया है

वह तुम्हारे जीवन में अप्रत्यक्ष रूप से
तो पहले ही प्रवेश कर चुका है किंतु मैं
तुम्हें वह समय बता रहा हूं जब वह
प्रत्यक्ष रूप से तुम्हारे निकट होगा
ध्यान से सुनो जब तुम्हारी शक्ति मणिपुर
चक्र केंद्रित होगी जब अनाहट चक्र में
ऊर्जा बढ़ाने के करण तुम्हारा हृदय
अत्यधिक कर से भर जाएगा और हर रंग तुम्हें
आकर्षित करने लगेगा जब तुम्हें इतिहास में

 

हुई घटनाओं को जीवन का अनुभव समझकर
प्रसन्नचित मां से आगे बढ़ो खेत ठीक इस
समय तुम्हारे जीवन में आर्थिक लाभ होने
प्रारंभ हो जाएंगे तुम्हारे चेतन का स्टार
ऊपर उठ चुका होगा इस दिन इस मा में वह

प्रत्यक्ष रूप से तुम्हारे सामने आएगा
क्योंकि जब तक तुम दोनों की है आध्यात्मिक
यात्रा एक स्टार पर नहीं आई जब तक
तुम्हारा मिलन पांच्याम्म में संभव नहीं
हो सकता इसे इस प्रकार समझो जैसे कलाकार

अपनी रचना को पूर्ण करने के लिए उसके दो
भागन को अलग-अलग तब तक घिसते हुए तैयार
करता है जब तक वह दोनों एक समाज सुंदर रूप
में नहीं ए जाति जैसे की दोनों टुकड़ों के

रूप में आते हैं वैसे ही कलाकार उसे
जोड़कर अपनी रचना को नाम देता है यदि वह
ऐसा ना करें तो क्या होगा उसकी कोई भी
रचना सुंदर नहीं बनेगी कोई भाग छोटा तो
कोई बड़ा र जाएगा क्योंकि जोड़ने के बाद

उसमें ज्यादा घिसाई संभव नहीं मेरे प्रिया
बच्चे ऐसे ही तुम दोनों मेरे ही सुंदर
रचना हो जब तक तुम दोनों की ऊर्जा को मैं
एक स्टार पर नहीं ले आता तो उसे मैं पहले
ही कैसे जोड़ सकता हूं तुम ही बताओ मेरा

ऐसा करना उचित है या अनुचित महत्वपूर्ण है
स्पष्ट बता रहा हूं की जो तुम्हारा दिव्या
प्रेम है उसकी ऊर्जा का स्टार तुमसे कहानी
ऊपर उठ चुका है उसकी यात्रा तुमसे पहले

प्रारंभ हुई थी किंतु प्रसन्नता की बात यह
है
जितनी यात्रा कई वर्षों में ते की तुमने
उसे कुछ मा में ही पूरा किया है बस कुछ कम
और तुम्हें आगे बढ़ाना होगा अपने चेतन के
स्टार को उसके चेतन के स्टार के समाज लाना
होगा मेरे बच्चे जैसे ही तुम्हारी ऊर्जा
का स्टार उसकी ऊर्जा के स्टार से मेल
खाएगा तुम दोनों स्वयं अपने आप ही जुड़

जाओगे मेरे प्रिया क्या तुम तैयार हो अपनी
ऊर्जा को ऊपर उठाने के लिए यदि हां आज से
हर दिन 5 मिनट अपना ध्यान अनाहट चक्र पर
केंद्रित करते हुए प्रेम की ऊर्जा को जीवन
में आमंत्रित करो अपने आप से बहुत ज्यादा
प्यार करो अपने आप को रचनात्मक चीजों से
जोड़ो देखो तुम्हारा जीवन चमत्कार बन
जाएगा और हर वक्त तुम्हें आनंद की अनुभूति
होगी मेरे बच्चे

आज तुम्हें मेरा संदेश प्राप्त हुआ है तो
इसका अर्थ है तुम्हारी मांगी हुई खुशी
तुम्हें देने जा रही हूं दिल को जो चीज
अच्छी लगती है यदि वह प्राप्त हो जाए तो
दिल खुश हो जाता है और जो दिल को अच्छी
नहीं लगती वह प्राप्त हो तो दिल दुखी हो
जाता है लेकिन कुछ हृदय की ऐसी अधूरी
इच्छाएं होती हैं जो हृदय उन्हें पूरा
होता देखना चाहता है और तभी उनको पूरा
होने में रुकावट आने लगती है और मां बेचैन
होंठ है ऐसे में मेरे बच्चे का किसी कम

में दिल नहीं लगता और केवल वही बात दिमाग
के अंदर घूमती रहती है मेरा बच्चा बहुत
ज्यादा इस बात से परेशान हो जाता है की
आखिर वह कार्य पूरा क्यों नहीं हो रहा वह
मेरी इच्छा अधूरी क्यों है ऐसा मैं क्या
करूं
जिससे की वह मेरी अधूरी इच्छा पुरी हो जाए
क्योंकि जब दिल खुश नहीं राहत तो किसी भी
कम में मां लगा असंभव है किसी भी कम में

मां लगे के लिए दिल का खुश रहना बहुत
जरूरी है लेकिन आज मैं कुछ ऐसी बातें
बताने वाली हूं जिसके सुनते ही तुम्हारा
मां भी लगेगा कम में और तुम्हारा हृदय भी
प्रश्न हो जाएगा तुम्हारे मां की इच्छाओं
को पूर्ण जरूर करूंगी यदि तुमने सच्चे मां
से पुरी श्रद्धा से और मेहनत से किसी

कार्य को लगन लगाकर किया है तो मैं आज
तुमसे वादा करती हूं की तुम्हारा वह कार्य
जिसके लिए तुमने पुरी ईमानदारी और मेहनत
के साथ उसे कार्य को किया है मैं उसे
अवश्य पूर्ण करूंगी लेकिन तुम भी इस बात
को बहुत अच्छे से समझ लो की जी पर तुमने
इतनी मेहनत कर दी है और तुमने इतनी
ईमानदारी से कम को किया है तो वह कम भी
तुम्हारी मेहनत के सामने छोटा पद रहा है

इसलिए उससे भी बड़ा और उससे भी ऊंचा
तुम्हें मुकाम हासिल होगा मैं आज खुद
तुमसे यह वादा करती हूं की तुम मुझे भी
ऊंची जिसके लिए तुमने कार्य किया है उससे
भी बड़ी खुशी को तुमको प्राप्त होगी एक
कार्य जैसे-जैसे तुम्हें करोगे वैसे वैसे
सच में तुम्हारे अंदर वह शक्ति

विराजमान होती चली जाएगी जिससे तुम्हारा
मां शांत रहने लगेगा और यदि तुम्हारा मां
शांत रहने लगेगा तो तुम निश्चित ही अपने
कार्य को मां लगाकर कर पाओगे क्योंकि यदि
अशांत मां से कार्य करोगे तो कोई
हो नहीं पाएगा और खुशी प्राप्त होने के
पहले ही यह किसी कार्य को प्राप्त करने के

पहले ही तुम बिखरने और टूटने लगोगे सुबह
जब तुम प्रातः कल उठाते हो तो अपने नित्य
क्रिया से निवृत्ति होकर पूजा के समय ओम
शांति ओम शांति ओम शांति ओम शांति का 41
बार उच्चारण करो

जैसे-जैसे तुम प्रतिदिन इसका उच्चारण
करोगे वैसे ही इसका असर तुम्हारे मस्तिष्क
और पूरे शरीर पर होने लगेगा और तुम्हारे
दिमाग में शांति उत्पन्न होने लगेगी शांत
मां खुश राहत है क्योंकि खुशी को अपने के
लिए सबसे पहले मां का शांत होना जरूरी है
मेरे बच्चे यदि तुम्हें मनुष्य का जीवन

मिला है तो उसे दुखी रहकर व्यतीत मत करो
की खुश रहकर गुजरो इस पृथ्वी पर मनुष्य को
ही इतनी दिमागी शक्ति मिली है जो हर चीज
को सोच सकता है समझ सकता है और हर कम को
दिमाग से कर सकता है लेकिन यदि तुम उदास
हो जाओगे तो तुम्हारा दिमाग भी कम करना

बैंड कर देगा और तुम जो सही कर रहे हो उसे
भी कर नहीं पाओगे तुम्हारी बड़ी से बड़ी
खुशी को मैं पूरा करूंगी अगर तुम मुझे एक
वादा करो की आज के बाद तुम कभी उदास नहीं
होंगे तो मैं भी तुमसे एक वादा करती हूं

हर खुशी तुमको प्राप्त होगी बाकी मेरे ऊपर
छोड़ दो और सब सही होगा और अच्छा होगा
मेरे बच्चे कभी रोना मत इस बात पर विश्वास
रखना की तुम्हारी हर खुशी में पुरी करूंगी
तुम्हारी हर इच्छा पुरी करूंगी जीवन में

तुम्हारी एक कोई इच्छा अधूरी नहीं रहेगी
मेरे बच्चे रन से तुम्हारे अंदर नकारात्मक
ऊर्जा उत्पन्न होती है और सकारात्मक ऊर्जा
नष्ट होती है जिससे तुम्हारे हृदय में

विराजमान नहीं र पाऊंगी मेरे अगले संदेश
की प्रतीक्षा करना ओम नमः शिवाय
मेरे बच्चे तुम्हें मेरा संदेश प्राप्त
होना कोई आम बात नहीं बल्कि मैं तुम्हारी
मां तुम्हें एक ऐसी बात से अवगत करना
चाहती हूं जो यह संदेश के द्वारा प्राप्त

होने वाला है मेरे बच्चे तुम्हें आने वाले
दो दोनों में वह प्राप्त होगा जिसको
प्राप्त करने के लिए इस संसार का हर
व्यक्ति तरस रहा है और वह क्या है वह मैं

तुम्हें बताऊंगी और समझाऊंगी की तुम्हें
किस तरह से उसे कीमती चीज को प्राप्त करना
है इसलिए मेरी बटन को सुना और धैर्य से
समझना मेरे बच्चे तुम्हें क्या कर रहे हो
कुछ दोनों से तुम बहुत ज्यादा बादल गए हो
तुम अपनों के साथ अपने जैसा प्यार नहीं कर

रहे हो तुम्हारे व्यवहार में अंतर ए रहा
है
धीरे-धीरे तुम दूसरों की बटन में आकर
अपनों से दूरी बना रहे हो मेरे बच्चे
असलियत को पहचानो जिससे तुम दूरी बना रहे

हो दूसरों के बहकावे में आकर दरअसल
उन्होंने तुम्हें अपने हृदय में बसाया हुआ
है उनके प्रेम को समझो उनके प्रेम को
पहचानो मेरे बच्चे संसार में सबसे कीमती
क्या है यह तुम्हें ज्ञात है तो अच्छी बात
है परंतु यदि वही तुम्हें ज्ञात नहीं किया
है तो मैं स्वयं तुम्हें ज्ञात कराऊंगी

मेरे बच्चे इस बात का ध्यान रखो की अपनों
का प्यार बहुत ज्यादा कीमती होता है इस
संसार में यदि कोई सबसे बड़ी चीज तुम
प्राप्त करना चाहे तो वह अपनों का प्रेम
तुम्हें चाहे कुछ भी प्राप्त हो जाए सब
व्यर्थ है
लिए आने वाले दोनों में तुम्हारे जो भी
अपने हैं उनकी रक्षा के लिए एक कार्य
अवश्य करना यदि तुमने कार्य को कर दिया तो
तुम्हारे अपनों का प्यार सदा के लिए
तुम्हारे साथ जीवन भर और उनका साथ में
लंबे समय तक प्राप्त होता रहेगा उनके साथ
जो खुशियां तुम्हें प्राप्त होगी वह संसार
की ना तो कोई दौलत तुम्हें दे शक्ति है और
ना ही कोई संसार की बड़ी से बड़ी चीज
तुम्हें दे शक्ति है मेरे बच्चे तुम्हें
मां दुर्गा की पूजा करनी है और लाल रंग की
ध्वज चढ़ाना और प्रेम में सफलता की
मनोकामना मांगना ऐसे करते ही तुम्हारे
जीवन में बदलाव शुरू हो जाएगा मेरे बच्चे
जीवन का गुजरा एक-एक पाल तुम्हारे हाथ से
निकाल रहा है इसलिए जितनी खुशियां बटर
सकते हो बटर लो क्योंकि तुम्हें इस बात को
समझना होगा मेरे बच्चे की तुम्हें इस धरती
पर किसी के लिए भेजो गया है इसलिए मेरे
बच्चे अपने धर्म को बहुत अच्छे से निभाना
सीखो और प्यार को अपने शक्ति बना लो
क्योंकि मेरे बच्चे प्यार जैसे तुमको सब
में दिखाओगे तो वैसे ही तुम्हें सबसे भी
प्रेम प्राप्त होता है और प्राप्त किया
प्रेम तुम्हारे लिए शक्ति साली बन जाएगा
और तुम्हें हर कर में वह शक्ति सफलता
दिलाएगा तुम मेरी इस बात का विश्वास करो
यदि तुम ऐसा करते हो तो संसार में जीत और
केवल जीत होगी यह मैं तुम्हें विश्वास
दिलाती हूं मेरी बताई हुई बटन को भूलना
नहीं ध्यान रखना किस वादे को तुम कभी मत
तोड़ना
जीवन में कितनी भी कठिनाइयां का सामना
तुमने किया है या कर रहे हो परंतु आज नहीं
छोड़ना किसी चीज की किसी बात की क्योंकि
यही आशा किरण तुम्हें तुम्हारी मंजिल तक
पहुंचाएगी और मेरे बच्चे जीवन में चाहे
कितनी भी बड़ी समस्या हो तुम्हारे जीवन
में एक समय ऐसा होता है जो बहुत ही
शक्तिशाली होता है उसे समय जो भी बोला
जाता है उसका प्रभाव तुम्हारे जीवन पर
पड़ता है मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन में
वैसा ही घटित होना आरंभ हो जाता है मेरे
बच्चे तुम मुझे एक वादा करो की तुम ऐसा
कभी भी नहीं करोगे तुम मुझमें पर विश्वास
करते रहना मेरे बच्चे जब मंजिल पहाड़ों से
ऊपर बहुत ऊंचाई पर हो
अपने पैरों से ऊपर चढ़ाई पर चढ़ते जो
क्योंकि मेरे बच्चे मंजिलात इतनी आसानी से
नहीं मिलती समस्याएं जीवन में कितनी भी हो
परंतु तुम मुझे वादा करो की तुम मुझमें पर
कभी अपना विश्वास नहीं तोड़ोगे कभी भी बीच
रास्ते में रुक नहीं जाओगे मेरे बच्चे तुम
अपने मंजिल तक पहुंचने ही वाले हो बस तुम
अपने आप पर विश्वास रखो और आगे बढ़ते जो
बस मेरे बच्चे अपने हृदय में प्रेम को बस
लो क्योंकि यही है जो तुम्हारे जीवन में
खुशियां बिखेर देती है और सभी कासन को
समाप्त कर देती है जैसे जैसे तुम आगे
बढ़ते जाओगे वैसे ही तुम्हारे जीवन में
खुशियों की बरसात होगी और तुम खुशियों की
बरसात में भी आनंद का अनुभव प्राप्त करोगे
अब तुम्हारे जीवन में सुनहरे दिन का आगमन
होने वाला है वाला है इतनी साड़ी खुशियां
एक साथ तुम्हें प्राप्त होने वाली है जो
तुमने पहले कभी महसूस नहीं की होगी तुम
हैरान र जाओगे जिसे तुम भूल नहीं पाओगे यह
बहुत ही अद्भुत होने जा रहा है मेरे बच्चे
बस तुम सबसे प्रेम करना प्रारंभ करो ऐसा
करते ही तुम्हारा जीवन पुरी तरह से बादल
जाएगा मेरे बच्चे ऐसा क्यों होता है
तुम्हारे साथ की तुम जितना भी सबके साथ
अच्छा करो किंतु सबको तुम्हारी गलती ही
दिखाई पड़ती है और तुम्हारी अच्छाई सब और
देखा कर देते हैं दूसरों की बटन ने भी
तुम्हें कष्ट दिया मेरे प्यार बच्चे
तुम्हारा मां जितना भी साफ है परंतु
कभी-कभी तुम बहुत ही उग्र हो जाते हो कभी
तो
बेवजह अशांत हो जाते हो और क्रोध तो
तुम्हारे अप्प से बाहर ही होता है मेरे
बच्चे तुम्हारे ऊपर जो गलत प्रभाव पड़ा है
वह तुम शायद नहीं देख का रहे हो परंतु यह
गलत प्रभाव तुम्हारे अपने ही कर्म के करण
बाढ़ रहे हैं जो तुम्हें पहले कभी किया थे
परंतु आज तुम भूल चुके हो मेरे बच्चे
तुम्हें डरने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि
तुमने कभी किसी का बड़ा नहीं चाहा बस एक
ही भूल तुम सुधार नहीं का रहे हो और वही
गलती तुम्हारे मां में नकारात्मकता का वास
होने में सहायता कर रहा है जो तुम्हें
धीरे-धीरे सब की नजरों में शत्रु बना रहा
है और तुम भी इसे समझना में डेरी कर रहे
हो मेरे प्यार बच्चे मैं तुम्हें अपनी भूल
से अवगत करवाना चाहती हूं और तुम्हें कष्ट
से बाहर निकालना चाहती हूं मेरी बटन को
शांत मां से समझना जो आज मैं तुम्हें बताई
हूं उसे पर विचार करना मैं सदैव तुम्हारे
साथ हूं
मेरे बच्चे आज मैं यह जरूरी संदेश
तुम्हारे लिए भेज रही हूं मेरे बच्चे आने
वाले दोनों में तुम्हें कुछ लोग मिलेंगे
जो तुम्हें तुम्हारे मार्ग से भड़काने का
प्रयास करेंगे
परंतु मुझे पूर्ण विश्वास है की तुम अपने
मार्ग पर अटल रहोगे आज मैं तुम्हें एक
बहुत बड़ी बात बताने जा रही हूं क्या
तुम्हें पता है तुम्हारी सकारात्मक ऊर्जा
निरंतर बाढ़ रही है इसलिए मैं यह चाहती
हूं की तुम अपनी ऊर्जा का प्रयोग सही सही
और एक साहित्य
मेरे बच्चे आने वाले दोनों में तुम्हारे
जीवन में कुछ होने वाला है अब तुम इस बात
का बेसब्री से इंतजार कर रहे हो की क्या
होने वाला है
मेरे बच्चे आने वाले दोनों में आजीविका के
नए अवसर प्राप्त होंगे मुझे ज्ञात है
तुम्हारा सपना अभी पूरा नहीं हुआ है परंतु
मेरे बच्चे जब तुम्हारा सपना तुम्हारे र
से बहुत निकट हो जाता हो जाता है तब तो
मैं तकलीफ मिलती है लेकिन तुम्हें इन
तकलीफ से भगाना नहीं
इससे वह भी धोना है क्योंकि जितनी बड़ी
तुम्हारी तकलीफ होगी उतनी ही बड़ी
तुम्हारी कामयाबी होगी मेरे बच्चे क्या
तुम्हें पता है जो तुम सोचते हो उन्हें को
का लेते हो इसलिए आज मैं तुमसे कहना चाहती
हूं की तुम की तो मैं अब बड़ा सोचना है
तुम मेरी संतान हो मुझे ही उत्पन्न हुए हो
मुझे अपना एक बच्चा
अति प्रिया है मेरे बच्चे तुम मेरे ही गॉड
में पूर्ण रूप से सुरक्षित हो इसलिए
तुम्हें किसी से भयभीत होने की आवश्यकता
नहीं है इसलिए निडर होकर अपने सफर में आगे
बढ़ो तुम सही दिशा में सही मार्ग पर चल
रहे हो क्योंकि मैं स्वयं तुम्हारा
मार्गदर्शन कर रही हूं ऐसा कोई कम नहीं
जहां मैं तुम्हारा मार्गदर्शन नहीं कर रही
हूं मेरा आशीर्वाद और मेरा प्रेम सदा
तुम्हारे साथ ही है जब तुम किसी बात को
लेकर चिंतित में रहते हो तब कोई अदृश्य
पवित्र आत्मा तुम्हें विभिन्न विभिन्न
प्रकार से संकेत देते हैं तुम्हें बताते
हैं की तुम अपने जीवन में अकेले नहीं हो
कोई अदृश्य शक्ति है जो तुम्हारे समक्ष
मेरे बच्चे जब हवा का जोका तो मैं ऊ जाए
जब अचानक ही तो मैं कुछ अंक दिखाई देने
लगे रंग बिरंगी तितलियां दिखाई देने लगे
बिना बादल के तुम्हारे शरीर पर बारिश की
बूंद बाढ़ जाना तब समझ लेना मैं तुम्हारी
समक्ष हूं तुम्हारे बहुत करीब हूं क्या
तुम्हें ऐसा अनुभव नहीं किया है मेरे
बच्चे यह बहुत बड़ा संकेत है की मैं
तुम्हारे समक्ष ही हूं और तुम्हारे साथ
जुड़े हुए हूं मैं जानती हूं की तुम्हारा
हृदय अत्यंत कोमल है इसलिए तो तुम सभी
भावनाओं को हृदय से महसूस कर पाते हो मेरे
बच्चे तुम बहुत ही भावुक हो इसलिए तो
मैंने रस नहीं होना चाहिए
तुम्हारा हृदय
कोमल और इतना पवित्र है तुम्हारा हर एक
आंसू मेरे लिए बेहद कीमती है मेरे लिए तुम
अनमोल मोती के समाज हो अपने आप को कम कभी
मत समझना अपने आंखों से एक आंसू निकालना
से पहले सो बार जरूर सोचना की तुम मेरे
लिए क्या हो अपने आंसू की यूं ही किसी पर
व्यर्थ ना करो क्योंकि इसका मूल्य तो तुम
स्वयं नहीं जानते हो
आज तो मैं अपने भीतर एक पवित्र ऊर्जा का
आभास होगा आज जब तुम ध्यान या प्रार्थना
में बैठोगे तो तुम्हें मेरे आस-पास होने
का एहसास होगा पवित्र ऊर्जा का स्टार
तुम्हारे भीतर बढ़ेगा शुद्ध वातावरण होगा
जो तुम्हें मनमोहन लगेगी मेरे बच्चे आज
शीतल व्यू तो मैं स्पष्ट करें तो समझ जाना
की मेरा आगमन हो चुका है आज मुझे एक वादा
करो तुम ऐसे ही सजा मुझे प्रेम करते रहोगे
मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन में चमत्कार
होने वाला है इस बात को ध्यान रखो की
चमत्कार एक दिन में या एक रात में नहीं
होता या कुछ समय मैं नहीं होता उसके लिए
काफी वर्षों की तपस्या होती है तब जाकर एक
चमत्कार तुम्हारे जीवन में प्रवेश करता है
क्योंकि तुम्हारे सभी
मुझे बाध्य करती है तुम्हारे जीवन में
किसी अद्भुत शक्ति का आभास होता है तुमने
काफी बरसों से कुछ कार्य पहले से ही किया
हुए हैं जिससे तुम्हारी एक शक्ति आकर्षित
हो चुकी है अब एक छोटा सा कार्य उसे तुम
करो इस तरह समझो तुम्हारे शरीर के लिए
केवल हाथ कार्य कर इस तरह तुम्हारे जीवन
को अच्छा प्रभावित करने के लिए तुम्हारे
हाथ ही जिम्मेदार होते हैं जैसा कर्म करते
हैं वैसा ही तुम्हारे जीवन को बना देते
हैं हाथों की रेखाओं में मां लक्ष्मी
[संगीत]
के लिए संभव नहीं की जी प्रकार हर
नहीं होती इस प्रकार हर किसी हृदय स्वच्छ
नहीं होता और जिसका हृदय साफ-साफ होता है
मैं उसके हृदय में वास करती हूं
जी प्रकार तुम केवल मंदिर में बैठकर मुझे
स्मरण कर सकते हो इस प्रकार तुम अपने घर
को मंदिर के समाज बना दो तभी भी ईश्वर का
तुम्हारी घर में वास होगा जी प्रकार पूजा
पूर्ण होने पर आखरी में आरती करने के
पश्चात ही पूजा संपूर्ण मनी जाति है इस
प्रकार तुम्हारे सभी की एक अच्छे कार्यों
के पश्चात छोटा सा आखरी का कम करने के
पश्चात तुम्हारी सभी कार्य पूर्ण हो
जाएंगे उसके लिए संध्याकाल में कल में भी
कर सकते हो मेरी बहन लक्ष्मी जी मेरे साथ
सदैव और मेरे समक्ष रहते हैं जब भी तुम
मेरे पास आओगे संध्याकाल में यात्रा कल
में तभी तुम थोड़ा सा सिंदूर लेकर पहले
मेरी बहन लक्ष्मी के चरणों में अर्पित
करते हुए एक 11 बार बोलना हिमालय लक्ष्मी
मुझमें पर कृपा करो और माता लक्ष्मी को
सिंदूर चड्ढा देना और जब तुम मुझे सिंदूर
चढ़ाओगे तब भी तुमने 11 बार बोलना है है
मां लक्ष्मी मुझमें पर कृपा करो बोलते हुए
सिंदूर को चढ़ाना तुम जैसे ही इतना करोगे
तुम्हारी शक्ति बहुत ज्यादा प्रबल हो
जाएगी मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन में
मुसीबत को झेलना और उनका सामना करके उनसे
डर कर पीछे भगाना भी एक बहुत बड़ी गलती
होती है हमेशा हिम्मत से डर उनका सामना
करना चाहिए नफरत को हमेशा नफरत से नहीं
प्रेम से जीता जा सकता है यदि तुम से कोई
क्रोध करता है तो उसे प्रेम से बात करो वह
कितना भी क्रोध करें लेकिन तुम क्रोध में
कभी उससे वार्तालाप ना करने की कोशिश करो
क्योंकि यदि तुम प्रेम से बात करते हो
रहोगे तो उसका गुस्सा भी धीरे-धीरे
करके साथ हो जाएगा इस बात को कभी मत भूलना
के चुप व्यक्ति व को हर देता है अवश्य का
नहीं की तुम मुझे क्या अर्पित कर रहे हो
आवश्यक यह है की तुम कितने विश्वास के साथ
अर्पित कर रहे हो कितनी श्रद्धा के साथ
अर्पित कर रहे हो यदि तुम्हारे हृदय में
शारदा भाव है तो तुम्हारा चड्ढा हुआ एक
छोटा सा फूल का पत्ता भी मेरे लिए बहुत
कीमती है यदि तुम्हारे हृदय में प्रेम ही
नहीं सरदार नहीं विश्वास नहीं तो वह
चढ़ाया हुआ 56 भोग भी बेकार है मैं
तुम्हारे प्रेम की भूखी हूं
मेरे प्यार बच्चे आज तुम्हें कुछ आवश्यक
बातें बताने आई हूं इसलिए मेरे संदेश को
अंत तक सुना मेरे बच्चे मैं चाहती हूं की
तुम अपने जीवन में एक नए सूरज को उदित
होने दो तुम्हें अपने जीवन में बदलाव की
आवश्यकता है और उसे बदलाव के लिए तुम्हें
अपने जीवन को पूर्ण रूप से बदलना होगा मैं
चाहती हूं मेरे बच्चे की तुमने अपने जीवन
में जो भी बुरे कर्म किया थे या करें हो
उन सभी बुरे कर्मों को अब करना छोड़ दो
तथा अपने जीवन को नए कर्मों की और अग्रसर
करो मैंने तुम्हें सदैव ही अपने दुखों के
करण परेशान होते हुए देखा है और मैं अपने
बच्चे को इस प्रकार से परेशानी में नहीं
देख शक्ति मैं जानती हूं तुम्हारे अंदर
बेहतर होने की गुंजाइश है तुम इतने बुरे
नहीं हो जितने तुम बन चुके हो और यह केवल
तुम्हारे हालातो के करण है तुम्हारे
हालातो ने तुम्हें इस प्रकार से प्रवृत्ति
कर दिया
और मेरे बच्चे मैं यह बात जानती हूं की
तुम्हारे अंदर बुराई से ज्यादा अच्छाइयां
भारी हुई है और उन अच्छाइयों को तुम बाहर
आने से मत रोको उन्हें बाहर आने दो
क्योंकि अब समय ए गया है की तुम्हारे जीवन
में परिवर्तन अवश्य है मैं तुमसे यह चाहती
हूं की तुम अपने सभी बुरे कर्मों को त्याग
कर अच्छे कर्मों की और आगे बढ़ो और अच्छे
कर्मों से अपने जीवन से साड़ी बुराइयों को
दूर कर दो तुम्हारे हाथों से किया गया एक
भी अच्छा कार्य जान कल्याण के लिए के लिए
सार्थक साबित होगा क्योंकि तुम्हारे अंदर
इतनी क्षमता है की तुम चाहे तो अपने
साथ-साथ अपने आसपास के लोगों का जीवन भी
बादल सकते हो किंतु इस समय तुम केवल इन
दुखों के करण स्वयं को अकेला महसूस कर रहे
हो मेरे बच्चे तुम्हें अपने अंदर की कलाओं
का इस्तेमाल करना चाहिए तुम्हारे अंदर जो
क्षमता है उससे अपने जीवन के साथ-साथ अपने
आने वाले भविष्य के लिए भी तो मैं कुछ
करना चाहिए क्या तुम अपने इस नए जीवन के
लिए इस नए अवसर के लिए स्वयं को बदलना
नहीं जाओगे मैं चाहता हूं मेरे बच्चे की
तुम उन लोगों की मदद करो जो अपनी मदद खुद
नहीं कर पाते तुम उनके दुखों को समझकर
उनके जीवन से उन सभी दुखों को दूर कर दो
जींस वह पीड़ित हैं मेरे क्रोध के बहुत सी
बुराइयां तुम्हारे जीवन से पहले ही है
चुके हैं और जो बुराइयां तुम्हारे भीतर
शेष बच्ची हैं वह तुम्हें स्वयं हटाने
पढ़ेंगे एक बात याद रखो की तुम्हारी मां
तुम्हारे लिए सदैव अच्छा ही चाहती है मैं
यही चाहती हूं की तुम अपने अंदर की
बुराइयां खत्म करके मेरा साथ दो इन लोगों
की मदद करने में जिन लोगों को मदद की
आवश्यकता है मैं तुम्हें अपने लिए चुना
चाहती हूं ताकि तुम मेरे द्वारा उन सभी
कार्यों को पूर्ण करो जिससे मानवता का
कल्याण हो मेरे बच्चे यदि तुम मेरे इस
कार्य में साथ देते हो तो मैं तुम्हें वचन
देती हूं की तुम्हारे जीवन के लिए जो चीज
आवश्यक होगी वह सभी चीज मैं तुम्हें
उपलब्ध कराऊंगी तथा तुम्हें ऊंचाइयों पर
लेकर जाऊंगी जहां से तुम्हारा जीवन कभी
दुखों की और लोट कर नहीं जाएगा मेरी
दृष्टि से कोई बैक नहीं सका है मैं जानती
हूं की कब कौन क्या कर रहा है और किस करण
से कर रहा है यही वजह है की मैं तुम्हें
आज अपने संदेश के द्वारा यह बताने आई हूं
की तुम्हारे कर्म इतने बुरे नहीं हैं तुम
केवल इन दुखों के करण अपने कर्म बुरे बना
रहे हो और मैं यह भी जानती हूं की तुम मैं
सुधार की गुंजाइश है इसलिए मैं तुमसे यह
चाहती हूं की तुम भी अच्छे मार्ग पर चलना
शुरू कर दो अपनी मां की इस बात को मां लो
और अपने जीवन को एक नई दिशा की और लेकर
चलो तुम्हारे इस चयन से तुम्हारी आने वाली
नई पीढ़ी के जीवन में सुधार आएगा तथा मेरे
आशीर्वाद से तुम और तुम्हारा परिवार सदैव
के लिए इन कासन से दूर हो जाएगा जो कष्ट
तुम्हारे जीवन इसमें बार-बार दुखों के रूप
में ए जाते हैं तुम केवल खुद को और अपने
आने वाले कार्य को बेहतर बनाने में पहले
कम रखो उसके बाद मैं तुम्हें तक लेकर
जाऊंगी
कल्पना तुमने स्वप्न में भी नहीं की होगी
बस तुम मुझे है वादा करो की तुम अब फिर
कभी बुरे कार्य में स्वयं को लेकर नहीं
जाओगे तथा जीवन में केवल अच्छे कार्य ही
करोगे यदि तुम मुझे यह वादा करते हो तो
तुम्हारे जीवन से सारे दुखों को हटा दूंगी
यदि तुम मेरे सच्चे दिल से पूजा करते हो
तो तुमने अभी तक जो भी बुरे कर्म किया हैं
मैं उन सभी को माफ कर दूंगी मेरे बच्चे
तुम्हारी अतर आत्मा में अभी भी कई प्रकार
की अच्छाइयां बाकी हैं और मैं उन्हें
अच्छाइयों को जागने के लिए तुम्हारे पास
आई हूं
अच्छाइयों को जगन बेहद आवश्यक
तुम्हारी माता को जाना होगा लेकिन मेरे इन
बटन को अपने हृदय से लगाकर रखना और यदि
तुम फिर भी मार्ग से भटक गए तो मैं
तुम्हें दोबारा समझने अवश्य आऊंगी मेरे
अगले संदेश की प्रतीक्षा करना
करना
मेरे बच्चे मैं काली मां तुम्हारे जीवन को
बदलने के लिए आई कैसे हो मेरे प्रिया
बच्चों अब तुम्हें घबराने की आवश्यकता
नहीं
दूर कर दूंगी तुम्हारा जीवन बहुत सुनहरा
किंतु तुम स्वयं को नहीं पहचान का रहे तुम
जो कर सकते हो उसे केवल तुम ही कर सकते हो
मैं तो तुम्हें रास्ता दिखाने आई हूं ताकि
तुम उसे रास्ते पर चलकर अपने आप को कामयाब
बना सको तुम दूसरों की बटन में आकर स्वयं
के जीवन को बर्बाद करने की कोशिश मत किया
करो मेरे बच्चे दूसरों
के लिए जीते हैं और स्वार्थ इसलिए ही
दूसरों को हनी पहुंचने हैं ऐसे कलयुग में
तुम केवल स्वयं पर विश्वास रखो यदि
तुम्हारी हिम्मत टूटने लगे तो तुम अपनी
आंखों को बैंड करके अपने उसे लक्ष्य को
याद करो जो तुमने देखा है और जहां से
तुमने शुरुआत कारी थी उसे दिन को याद करके
तुम स्वयं ही आगे बढ़ाने लगोगे अब दुनिया
ऐसी है की अगर आप उनके कम आते हैं तो ही
वह आपको पूछती है आपको अच्छा बताती है जी
दिन आप उनके कम नहीं आते हैं या उनके
कार्य करने को माना कर देते हैं उसे दिन
आप बहुत बुरे कहलाने हैं मेरे बच्चों ऐसे
लोगों से सटक रहे उन्हें जीवन में ना आने
दे उनसे दूरी बनाकर रखना में ही आपकी भलाई
है इसलिए सदैव ही आप सोच समझकर ही किसी भी
व्यक्ति पर भरोसा
लालच और झूठ तो ऐसी आदतें हैं जो इंसान को
इंसान नहीं रहने देती हैं इसलिए आप कभी भी
जीवन में लालच ना करें चाहे जीवन में
कितनी भी मुश्किल है
लेकिन आपको लालच नहीं करना है और ना ही
झूठ का साथ देना है झूठ बोलकर किया गए
कार्य कभी भी सफल नहीं होते मेरे बच्चों
आजकल की दुनिया में लोग बहुत दिखावा करते
हैं और आईने के सामने खड़े होकर खुद के
चेहरे को देख कर मुस्कुराते हैं किंतु ऐसे
लोग कभी भी आईने की तरह अपने आप को साफ और
पवित्र नहीं बना सकते हैं मेरे बच्चों
आजकल की कलयुग की दुनिया में लोग इतने
ज्यादा मतलबी हैं की जब उनकी जिंदगी में
नए लोग ए जाते हैं तो वह पुराने लोगों को
भूल जाते हैं मेरे बच्चों बराबर कभी भी
झूठ मत बोलना क्योंकि आपके द्वारा बोला
गया एक झूठ आपके सारे सत्य को शंका में
लाकर रख देगा उसके बाद यदि आप चाहे कितना
भी सच बोलेंगे किंतु कोई आपकी बटन पर
विश्वास नहीं करेगा इसलिए सदा ही झूठ से
दूर रहे मेरे बच्चों मेरे एक बात याद रखना
आप जीवन में प्रशंसा चाहे कितनी भी करें
कितने ही लोगों को मधुर बातें बोले लेकिन
कभी भी किसी का अपमान मत करना ना ही अब
शब्द बोलना अगर आप किसी का अपमान करेंगे
तो आपको जीवन में उसे अपमान का फल बास
सहित मिलेगा इसलिए कभी भी जीवन में किसी
का अपमान करने की गलती ना करें मेरे
बच्चों मैंने तुम्हें यही सिखाया है की
कभी जीवन में अपमान ना करें ना ही अब शब्द
बोले इसलिए
उन्हें अपनी माता की इन बटन को सदैव ही
अपने मां में स्मरण रखना है जो मेरी
प्रिया बच्चे होते हैं वह मेरी इन बटन का
अपने जीवन में नियम से पालनपुर करते हैं
और ऐसे बच्चे हमेशा कामयाबी हासिल करते
हैं आप खुद ही देखेंगे की अगर आपने इन सब
बटन को अपने जीवन में अपनाया तो आपका जीवन
बहुत ही खूबसूरत हो जाएगा और धीरे-धीरे
आपके जीवन के सभी कष्ट स्वयं दूर हो
जाएंगे जो व्यक्ति झूठ लालच हिंसा अब और
निंदा करने में अपना जीवन गुर्जर देते हैं
ऐसे व्यक्ति कभी भी कामयाबी हासिल नहीं कर
सकते हैं अब तुम अपना जीवन जीने के लिए
तैयार हो जो मैं चाहती हूं की तुम अपने
जीवन को उचित प्रकार से जियो और आने वाले
कल में स्वयं को आगे ले जो क्योंकि सुख
दुख जीवन में रहते रहते हैं अगर तुम दुखों
को देखकर बहुत परेशान हो गए तो तुम कुछ भी
कार्य नहीं कर पाओगे हमारे दुखों का करण
हम स्वयं होते हैं जो भी हम कर्म करते हैं
वही हमें सुख दुख प्रधान करते हैं इसलिए
हमेशा अच्छे कर्म करने चाहिए मेरे बच्चों
तुम सबसे ज्यादा अपने आसपास के लोगों के
व्यवहार से दुखी होते हो जो की गलत बात है
क्योंकि यह सब सोचकर तुम अपना समय बर्बाद
करते हो जो जैसा होता है वह कभी बदलते
नहीं है इसलिए तुम किसी के व्यवहार को कभी
बादल नहीं सकते हो यदि कोई तुम्हारे लिए
बड़ा भी कर रहा है तो तुम्हें सोने की
आवश्यकता नहीं है बस यह समझ लिया करो की
उनकी सोच ही वैसी है जैसे वह तुम्हारे लिए
सोच रहे हैं क्योंकि हम किसी की सोच को
बादल नहीं सकते हैं मेरे बच्चों ऐसे
नकारात्मक लोगों से दूर रहो क्योंकि ऐसे
लोग आपका जीवन बिल्कुल खराब कर देंगे आपकी
सोने समझना की शक्ति भी नष्ट हो जाएगी मैं
चाहती हूं की तुम हमेशा सकारात्मक लोगों
के साथ रहो ताकि तुम अच्छा सोचो और अपने
जीवन में अच्छे कार्य करो मेरे बच्चों मैं
ऐसा तुम्हें इसलिए का रही हूं क्योंकि तुम
दुखी रहोगे नकारात्मक सोचोगे तो तुम जीवन
में कभी आगे नहीं बाढ़ पाओगे ऐसे ही बातें
तुम्हारे दिमाग में बैठ जाएंगे और तुम्हें
आगे बढ़ाने नहीं देंगे मैंने तुम्हें जो
शक्तियां दी हैं तुम उनका प्रयोग करो अपने
जीवन में हमेशा अच्छे विचार रखो अच्छे
लोगों को अपने जीवन में अपने मेरे बच्चों
क्या सही है क्या गलत है
पर विश्वास रखो और अपने कार्य करते जो
तुम्हें जीवन में सफलता जरूर मिलेगी
क्योंकि जो मुझमें पर विश्वास रखना है मैं
कभी उसको हारने नहीं देती हूं मैं
तुम्हारे बिगड़े से बिगड़े कम बनाने की
ताकत तुम्हें दूंगी लेकिन तुम्हें मुझमें
पर भरोसा रखना होगा और मुझे वादा करना
होगा की जीवन में ऐसे नकारात्मक लोगों से
दूर रहोगे मैं तुम्हारे जीवन से सभी
बुराइयों को हमेशा के लिए समाप्त कर दूंगी
और जो तुम्हारे आसपास नकारात्मक लोग
उन्हें भी तुम्हारे जीवन से दूर कर दूंगी
मैं चाहती हूं तुम मुझमें पर विश्वास रखो
और मुझे ऐसे ही प्रेम करो श्रद्धा भक्ति
रखो तुम्हें जीवन में ऊंचाइयों पर
पहुंचाना मेरा कर्तव्य
जाना चाहती हूं और यही कहना चाहती हूं
मेरा आशीर्वाद सदा तुम्हारे साथ है
मेरे बच्चे सदा खुश रहना जय मां काली
मेरे बच्चे एक खूबसूरत तोहफा तुम्हारा
इंतजार कर रहा है आज वक्त है अपने पंख
फैलाने का इस खुला आकाश में उड़ जान का
मेरे बच्चे तुम अब तक जिसे अपना पूरा
संसार समझ रहे थे वह तो बस एक छोटा सा अंश
था अपने पंख खोलो तुम्हारा संसार तू है
खुला आकाश है जहां तुम बंधन मुक्त विचार
करते हो मेरे बच्चे एक खूबसूरत तोहफा
तुम्हारी और ए रहा है यह तोहफा मेरी तरफ
से मेरे बच्चे के लिए यह तुम्हारे जीवन
में उत्साह और उमंग को वापस लेगा इस
खूबसूरत तोहफे की पहचान तुम्हें स्वयं
करनी है किसी को यहां एक व्यक्ति के रूप
में प्राप्त होगा तो किसी को खूबसूरत जीवन
साथी के रूप में प्राप्त होगा किसी को
नन्हे शिशु के रूप में तो किसी को जीवन की
नई दिशा रूप में लेकिन यह सभी के लिए
अत्यंत भाग्यशाली होगा मेरे बच्चे
तुम्हारी ऊर्जा का स्टार बाढ़ चुका है यदि
तुम अपने आप को एक दृष्टि बनकर देखो तब
तुम पाओगे तुम्हारे व्यक्त तब ने अब तक
कितना परिवर्तन ए चुका है यह भी तुम अपनी
तुलना पहले से करो तब तुम देखोगे तुम्हारा
किस प्रकार रूपांतरण हुआ है मेरे बच्चे
क्या यह सब एक दिन में संभव था क्या तुमने
कभी कल्पना की थी जी प्रकार से तुम्हारा
विश्वास होगा क्योंकि यह सब प्राकृतिक
द्वारा पूर्व निर्धारित होता है जी प्रकार
विद्युत धारा प्रवाह के लिए इस तरह चयन
किया जाता है जी तार की क्षमता उसे धार को
प्रभावित कर सके
सूक्ष्म क्षमता की धार में अधिक धारा
प्रवाहित कर दी गई तो वह ध्वस्त हो जाएगी
ठीक इसी प्रकार व्यक्त के शरीर ऊर्जा का
प्रभाव है
जैसे-जैसे तुम्हारी छठा में विकास होता है
वैसे-वैसे तुम्हारे शरीर की ऊर्जा बढ़नी
है जो लगातार अपने हृदय में आध्यात्मिक
अग्नि को प्रज्वलित करती है उनकी क्षमता
बढ़नी चली जाति है और अनंत धारा उनके शरीर
में प्रभावित होती है
जिससे वह सरलता से सहन कर लेते हैं मेरे
बच्चे तुम्हारे साथ जो कुछ भी हो रहा है
तो मुझे घबराओ मत यह सब तुम्हारी यात्रा
का विशेष अंग है एक पहाड़ पर करते ही
तुम्हारे लिए दूसरा द्वारा खुला जाएगा
नहीं तो तुम मुझे पुकार लेना तब तुम्हें
ज्ञात होगा मैं सदा तुम्हारे साथ खड़ी थी
जो तोहफा मैंने तुम्हें भेजो है उसके लिए
खुद को तैयार करो क्योंकि बहुत जल्द है
तुम्हें मिलने वाला है चलो छोड़ो
मुस्कुराओ तुम्हारी मुस्कान पूरे वातावरण
को आनंददित करती है मेरे बच्चे यूं उदास
होकर ना बैठा करो एक बड़ी अच्छी कहावत है
जब एक द्वारा बैंड होता है तब ईश्वर स्वयं
तुम्हारे लिए एक नए द्वारा खोल देते हैं
कुछ मनुष्य ऐसे होते हैं जो अनुभव करते
हैं हमारे साथ तो ऐसा नहीं हुआ हमारे लिए
तो कोई नया द्वारा नहीं खुला कोई भी नया
द्वारा हमें नहीं मिला है उसे विषय में
चिंता करते हैं और दुखी हो जाते हैं और
सोचते हैं ऐसा क्यों हुआ किंतु
जो पुराना बैंड द्वारा है इस के समक्ष
दुखी होकर बैठ जाते हैं कुछ इस प्रकार बैठ
जाते हैं की नए द्वारा पर उनकी दृष्टि
पड़ती ही नहीं है मेरे बच्चे बस यही कहना
चाहती हूं की तुम्हारे जीवन के नए स्टार
पर ले जान के लिए मेरी शक्तियां तुम्हारी
और बाढ़ रही है वह अदृश्य शक्ति है जो तुम
तक पहुंचने वाली है जो एक पाल में तुम्हें
ऐसी सूचना देगी की तुम झूठ उठो जी मेरे
बच्चे यह तुम्हारी परीक्षा का फल है जो
खुशी बनकर तुम्हारे घर में शीघ्र प्रवेश
करेगी जिसके करण कार्यक्षेत्र में
तुम्हारी पदोन्नति होगी तुम्हारे आसपास के
लोग तुमसे अत्यधिक प्रभावित होंगे मेरे
बच्चे तुम्हारे माता पिता तुम पर गर्व
करेंगे क्योंकि तुम उन्हें वह देने वाले
हो जो किसी को अब तक नहीं दिया किसी भी
व्यक्ति के जीवन में चमत्कार तब प्रारंभ
होते हैं जब वह उनके की सबसे कम आप रखना
है तुम्हारे जीवन का वही निर्माण प्रारंभ
होगा जब चारों तरफ से चमत्कार की वर्षा
होगी ज्ञान का प्रकाश तुम्हारे लिए नए
द्वारा खोलेगा जहां तुम संसार को
आध्यात्मिक ज्ञान के बीच खड़े होंगे और
संसार में रहते हुए भी ईश्वर प्रेमी बनकर
सब कुछ प्राप्त करोगे मेरे बच्चे बहुत
जल्द तुम्हें ऐसी सूचना मिलेगी जो
तुम्हारे घर को खुशियों से भर देगी मेरे
बच्चे देखो यह दुनिया कितनी अच्छी है एक
ही समय में कोई अत्यधिक पीड़ा में होता है
तो कोई अत्यधिक प्रश्न एक ही समय में किसी
के घर में शिशु का जन्म होता है और उल्लास
का माहौल होता है वहीं इस समय एक घर में
किसी के घर दे
कोई दुख क्योंकि जिसने जन्म लिया
अपने एक नई यात्रा पर जहां उसे कोई अध्याय
जीवन रूप में सीखने
हुई है वह कई अध्याय सिख कर मेरे पास ए
रहा है यह चक्र तो तब तक चला रहेगा जब तक
वह आत्मा जीवन के साथ अध्याय पूर्ण से
ग्रहण ना कर ले इसी प्रकार जब तुम्हारे
जीवन में कोई लाभ होता है अथवा हनी होता
है तो तुम्हें एक समाज व्यवहार करना चाहिए
किसी भी स्थिति में अत्यधिक प्रश्न या
अत्यधिक दुखी नहीं होना चाहिए क्योंकि
दोनों ही तुम्हारे जीवन का महत्व पूर्ण
अंग है मेरे बच्चे आज तुम दुखी हो सकते हो
तो निश्चित ही कल तुम्हें इतनी ही मंत्र
में खुशी भी मिलेगी यदि आज तुम अत्यधिक
प्रश्न हो तो हो सकता है कल तुम्हें दुखी
भी होना पड़े इसलिए आज मैं तुम्हें
जीवन में स्थिति चाहे जो भी हो सदैव ईश्वर
का स्मरण हृदय से करते रहना ऐसा करने से
जीवन में सुख और दुख एक समाज लगे लगता हैं
जब तुम्हें कोई बड़ी उपलब्धि हासिल हो तो
उसे ईश्वर की सेवा समझकर ईश्वर के चरणों
में समर्पित कर दो ऐसा करने से तुम्हारे
भीतर अहंकार का वास नहीं होगा प्रत्येक
दिन जो भी अच्छे कर्म करो उसे ईश्वर की
सेवा समझो इसी प्रकार जब तुमसे कोई गलती
हो तो उसे भी ईश्वर के चरणों में समर्पित
कर स्वीकार करो आज तो मैंने तुम्हें बताया
है इसे जन में व्यक्ति को बरसों बीट जाते
हैं यदि आज इस गुप्त ज्ञान को तुम अपनी
पोटली में बंद लोग तो अनंत कल तक तुम्हारी
यात्रा सुखद होगी मेरे बच्चे एक बात मैं
तुम्हें आज बताती हूं
यह यात्रा बड़ी कठिन होती है और इसी करण
से सदैव तेज चलना शीघ्र गति से चलना ही
पर्याप्त और आवश्यक नहीं है इससे भी अधिक
महत्वपूर्ण है सोच समझकर चलना सोच समझकर
जब चलोगे तब वह कम सबसे अधिक श्रेष्ठ
होंगे कब किस मोड पर मुड़ना है कब किस मोड
पर नहीं मुड़ना है कब गति अधिक हनी चाहिए
कब नहीं कब रुकना है इस सब का ज्ञान
प्राप्त करना आवश्यक है मेरे अगले संदेश
की प्रतीक्षा करना मेरा आशीर्वाद सदैव
तुम्हारे साथ है
साथ है

Leave a Comment