माँ दुर्गा सपने मे किन किन रूपों में दर्शन देती है

कि जो आज का जो विषय है वह विषय
कि यह है कि मां दुर्गा हमें किन रूपों
में दर्शन देती है देखिए मां भगवती मां
दुर्गा दर्शन देती हैं उन व्यक्तियों को
दर्शन देते हैं जो उनकी पूजा करते हैं
लेकिन जो व्यक्ति मां भगवती से जुड़े होते

हैं जिनका अपराध से जुड़ा होता है तो उनको
भी
कई ऐसे होते हैं जिनके माध्यम से मां
भगवती आपको हैं
में उद्यमिता होते हैं वह हमेशा हमें
अधिकांश से स्वप्न के माध्यम से दर्शन
देते हैं तो वह स्वप्न में हमें अलग-अलग
रूपों में दर्शन देते हैं लेकिन ज्ञान के
अभाव में हम उनको पहचान नहीं पाते और

दर्शन देने का उद्देश्य यही होता है कि जब
हम उनकी सेवा करते हैं जब हम उनकी अराधना
करते हैं साधना करते हैं तो उसके लिए व हम
से प्रसन्न होकर ही वह में दर्शन देते हैं
कई बार उनका दर्शन देने का जो उद्देश्य
होता है वह यह भी होता है कि वह हमारे

प्रारब्ध को जागृत करना चाहते हैं यानी
हमारे जो पहला जनता उसमें अवराम ने उनकी
सेवा आराधना या पूजा की है और इस जन्म में
आ करके हमें विस्मृति हो गई है यह हम भूल
गए हैं कि हम अपने पूर्व जन्म में सभी भूल

जाते हैं इस की सेवा आराधना करते हैं तो
जो शक्ति हमारी पिछले जन्म से जुड़ी होती
है वह हमें इस जन्म में भी संकेत देती है
तो जो सबसे बड़ा संकेत तो शक्तियां देती
है वह अपने के माध्यम से देती हैं तो
इसलिए भी मारूंगा आपको स्वप्न में दिखाई
देती हैं

है क्योंकि मेरे पास मैसेज आते रहते हैं
कहते हैं कि हम बिलकुल भी जैसे कि कोई
करता है मां काली की पूजा करते हैं लेकिन
हम मां दुर्गा की पूजा नहीं करते लेकिन
हमारा आकर्षण स्वत ही मां दुर्गा की तरफ

हो जाता है तो इसका यही कारण होता है कि
शक्तियां आपके जीवन में कहीं ना कहीं
जुड़ी होती है इसी कारण से आपके मन में यह
आकर्षण पैदा होता है तो अब जानते हैं कि
मां भगवती मां दुर्गा किन-किन रूपों में
आपको दर्शन देती है स्वप्न के माध्यम से अ
कि मैं देखिए मित्रों अगर आपको स्वप्न में

कोई छोटी बच्ची दिखाई देती है छोटी बच्ची
यानि कोई छोटी बच्ची पांच-छह साल की सात
आठ साल के घर छोटी बच्ची आपको दिखाई देती
और कंजिका रूप में दिखाई देती है गंजा
यानि लाल वस्त्र पहने दिखाई देती है चुनरी

ओढ़े हुए दिखाई देती है और हंसती हुई
दिखाई देती है ढलती हुई दिखाई देती है
कहीं पर झूला झूल रही है या दो तीन अध्याय
17 ग्रुप बनाकर खेल रही हैं तो कुंजिका के
माध्यम से भी मां दुर्गा आपको दर्शन देती
हैं

कि यह मां भगवती अवसर है कि दर्शन देती है
और अक्सर ऐसे स्वप्न बहुत वह बच्चों को
आते रहते हैं उनको छोटी छोटी कन्याए दिखाई
देती है साथ ही आपको मां दुर्गा 15 16
वर्ष की कन्या के रूप में दिखाई देती हैं

या छोटी उम्र की लड़की और उसकी मां भगवती
लाल रंग की चुनरी में कभी
भी

आपको स्वप्न दोष है तो आपको जान लेना
चाहिए कि आपको संकेत दे रही हैं आपको
दर्शन दे रही थी मां भगवती आपको एक
सुहागिन स्त्री के रूप में भी आपको दिखाई
देती है यानि स्त्री के रूप में कि अगर
आपको कोई स्त्री दिखाई देती है
वह स्त्री को मां दुर्गा की जो सबसे बड़ी
विशेषता है कि वह गांव में मां के दर्शन
करते हैं

उनका रंग काला होता है लेकिन जब आप को भी
रंग की स्त्री के रूप में भी खैर जाती है
वह उनकी जो भी दर्शन आपको प्राप्त हुए
उसमें जो स्त्री हो गया कन्या होगी उसका
रंग गौर वर्ण होगा यानी बिल्कुल गोरे रंग
में मां भगवती आपको दिखाई देंगे और सुहागन
स्त्री सोलह सिंगार वाली आपको दिखाई देगी
जिसमें पूरा श्रृंगार किया होगा हाथों में
आलता महावर लगाया होगा

चूड़ियां बड़े-बड़े हाथ जिन्होंने पहने
होंगे और लाल रंग के वस्त्र जिन्होंने
धारण किए होंगे और सिंदूर मां भगवती ने
पूरा मांगे भारत का होगा तो ऐसी स्त्री
अगर आपको सपने में दिखाई देती हैं तो वह
मां दुर्गा ही है जो आपको स्वप्न में
दर्शन दे रही हैं

कि मां दुर्गा कभी-कभी आपको मूर्ति के रूप
में भी दिखाई देती है जैसे कि मां भगवती
की मूर्ति आपको दिखाई देती है कभी-कभी वह
मूर्ति आपको किसी मंदिर में दिखाई देती है
कभी-कभी वह ही मूर्ति आपको किसी सूने मन
में दिखाई देती है या जंगल में भी दिखाई

देती है तो मूर्ति के माध्यम से भी मां
भगवती आपको दर्शन देती हैं मूर्ति के
माध्यम से साथ ही मूर्ति आपको इस प्रकार
से दिखाई देती कभी विशाल मूर्ति दिखाई
देते हैं कभी छोटी मूर्ति दिखाई देती है
लेकिन दिखाई देती है मूर्ति है

कि तुम मूर्ति के माध्यम से भी मां भगवती
आपको दर्शन देती है कभी-कभी मां दुर्गा
आपको स्वयं के रूप में दिखाई देती है यानी
ऐसा लगता है जैसे कि आप अगर स्त्री हैं
स्त्रियों को ज्यादा दर्शन देती है मां
भगवती तो जो स्त्रियां होती है उन्हें
लगता है कि हमने सोलह श्रृंगार कर रखा है
हमने ऐसे आभूषण पहन रखे हैं जो हमने कभी
जीवन में देखें भी नहीं थी इस तरह के
आभूषण और उनकी जोर चमक होती आभूषण कि वह
ऐसी होती है जो इस समय के जो पृथ्वी के जो
आभूषणों उन जैसी चमक उन आभूषणों की नहीं
होती उससे बिल्कुल अलग चमक आभूषणों की
होती है और महावर आपने हाथ में लगा रखा है
आपको ऐसा दिखाई देता है लगा वाले गहने
आपने पैन रखिए अलग-अलग पत्थर वाले गहने
आपने पहन रखे हैं तो इस तरह का स्वप्न
आपको दिखाई देता है यह स्वं स्वं के रूप
में मां भगवती आपको दर्शन दे दिया यह भी
एक अलग रख दर्शन होता है मां के माध्यम से
जो आपको प्राप्त होता है साथ ही मां
दुर्गा आपको कभी-कभी आपके गुरु के रूप में
भी दर्शन देती हैं यानी अ गुरु आपकी कोई
अपनी है जैसे सभी बच्चा कल स्त्रियां में
गुरु बनती है पुरुष भी बनते दोनों प्रकार
से शुरू होते गुरु गुरु होता है क्योंकि
गुरु एक पद्धति है उसमें स्त्री-पुरुष
नहीं होता आ है तो गुरु के रूप में भी मां
भगवती आपको दर्शन देती हैं और उसमें भी
आपको बहुत अच्छा फल मिलता है गुरु के रूप
में मां भगवती के दर्शन करने का और गुरु
हमारे जीवन का आधार होते हैं और माई मुनि
के रूप में हमें दर्शन देती हैं
कि कभी-कभी मां भगवती हमें वन में दिखाई
देती है वन का रस होता है यानी जंगल में
सुनी मार्ग में हमें मां भगवती दिखाई देती
है जैसे कि कोई स्त्री खड़ी है हम किसी
रास्ते से जा रहे हैं और कोई स्त्री
साधारण वस्त्रों में खड़ी है लेकिन वर्ड
जो होगा उनका गौर ही होगा यानी गोरा रंग
ही मां भगवती का या और आप जा रहे हैं और
जाते समय आप रास्ता भटक रही हैं तो वह
आपको रास्ता बता रही हैं इधर से नहीं जाना
है उधर से जाना है यह आपसे पूछ रही हैं कि
आप कहां जा रहे हैं आपके जाने का क्या
उद्देश्य हैं तो इस तरह से भी मां भगवती
आपको दर्शन देती है यानी रास्ता बताती हुई
मां भगवती आपको दिखाई देती है साथ ही मां
दुर्गा आपको कभी कभी अपने भोग के रूप में
भी दर्शन देते हैं यानि अपने भोग के दर्शन
भी वह आपको देती हैं जैसे कि आपको हलवा
चेहरा दिखाई देता है आपको भंडारा होते हुए
दिखाई देता है जैसे मां भगवती का हलवा चने
का पूरी हो का प्रसाद बढ़ रहा है तो उस
रूप में भी मां भगवती आपको दर्शन देती
यानि अपने भंडारी के भी मां भगवती दर्शन
दे दिया है तो यह भी अपने आप में एक बहुत
इस शुभ संकेत माना जाता है कि जब मां
भगवती आपको भंडारे के रूप में दर्शन देती
है या अन्य धन निर्धन के घर में आपकी
आशीर्वाद देने के लिए मां भगवती अपने
भंडारी के रूप में आपको दर्शन देती है और
जिनको ऐसे दर्शन प्राप्त होते हैं मां
भगवती उनके मरते भंडार भर दिया है
अबे साधी मा भगवती कभी-कभी आपको अपने
धर्मों के माध्यम से भी दर्शन देती है
यानी आपको कोई ऐसी स्त्री मिलती है जो
आपका हाथ पकड़कर के आपको ली जाती है आप
अपने मंदिरों के दर्शन यानि भवन के दर्शन
कराती है कभी किसी मंदिर में ले जाती है
कभी किसी मंदिर में ले जाती हैं वहां पर
जब आप देखते हो तो मां दुर्गा बैठे हैं
मां वैष्णो बैठी हैं सिंह वाहिनी बैठी हैं
महिषासुरमर्दिनी बैठी हैं
तो इस प्रकार से अलग-अलग मां भगवती
अलग-अलग धर्मों पर विराजमान आपको दिखाई
देती है तो वह भी मां दुर्गा के दर्शन
होते हैं साथ ही मां भगवती कभी-कभी आपको
अपने सीने के माध्यम से यानि अपने शरीर के
माध्यम से अपनी सवारी के माध्यम से भी
दर्शन देती हैं कि आप देखते हैं स्वप्न
में आपको CR दिखाई देता है तो शेयर दिखना
शुभ संकेत देता है उससे कुछ लोग डर जाते
हैं कई बार शेष तरह से मैं आपको दिखा देता
है या नहीं अगर आपसे कभी कभी कोई पूजा छूट
जाती है जैसे आप मां दुर्गा की लगातार
पूजा करते आ रहे हैं या आप पहले मां
दुर्गा के व्रत करती थी के बाद में आपने
वह व्रत करने छोड़ दिए तो आपको क्या दिखाई
देगा कि आपको शेयर दिखाई देगा कि वह उसका
पीछा करता है या आपके गेट के पास आकर बैठ
जाता है
लेकिन वह आपको किसी भी प्रकार की हानि
नहीं पड़ता लेकिन वह बस आपके आसपास घूमता
रहता है तो वह भी मां भगवती के दर्शन नहीं
होते हैं मां दुर्गा के दर्शन होते हैं
मां की सवारी के दर्शन होते हैं तो इस
प्रकार से भी मां भगवती आपको दर्शन देती
हैं
मैं एक और तरह से मां भगवती आपको दर्शन
देती हैं महारानी आपको सोलह शृंगार के
दर्शन कराती हैं जैसे स्वप्न में आपको
श्रृंगार का सामान दिखाई देता है खासतौर
से आपको चुनरी दिखाई देती है यह आपको
महावर दिखाई देता है महावर मां को बहुत
प्रिय होता है तो अगर आपको महावर दिखाई
देता है और यह चुनरी दिखाई देती है या
सोलह सिंगार चूड़ियां आपको दिखाई देती हैं
तो इस प्रकार से कर आपको शृंगार के दर्शन
होते हैं तो वह भी मां दुर्गा के दर्शन
होते हैं क्योंकि श्रंगार मां को बहुत
प्रिय है और जो मार्किट से प्रेम करते हैं
वह व्यक्ति भी सोलह श्रृंगार धारण करना
पसंद करते हैं पुरूष के अंदर भी यह तत्व
अपने आप ही जागृत हो जाता है स्वस्थ जागृत
हो जाता है जो शक्तियों उपासक होते हैं
उनका मन भी सिंगल करने को स्वता ही करने
लगता है इसलिए आपने देखा होगा जो पुरुष
शक्ति उपासक होते हैं उनके अंदर थोड़ा सा
स्त्रियां गुण अवश्य आता है यह मां की
महिमा के कारण लेकिन इसमें कोई शर्म वाली
बात नहीं होती क्योंकि मां की मेहर किसी
को नहीं मिलती और जिस पर मां की महत्व
रखती है वह इस संसार में एक आलू कि
व्यक्ति होता है अलग व्यक्तित्व होता है
तो मैं तो यह जानकारी आप सभी के लिए मां
भगवती से यही प्रार्थना करते हैं कि वह
आपके बारे में आपकी सभी मनोकामनाओं को
पूर्ण करती रही फिर मिलूंगी अपने अगले
विडियो में तब तक के लिए जय महाकाली जय
महाकाल की

Leave a Comment