माँ दुर्गा 💢 खुद को तैयार कर लो क्योंकि कुछ चौंकाने वाला आपके साथ होगा

मेरे बच्चे मैं तुमसे बहुत प्रश्न हूं
इसलिए अब तुम्हें इंतजार करने की
आवश्यकता नहीं मैं तुम्हारी जिंदगी से
बहुत ज्यादा प्रश्न हूं मैं उन बटन को

तुम्हें आज बताना चाहती हूं इसलिए आज
तुम्हें मैं विशेष आशीर्वाद देने आई है
मेरे बच्चे मेरी असलियत जन और मेरे स्वरूप
पहचान का वक्त ए चुका है क्योंकि मैं
तुमसे बहुत प्रेम करती हूं और मैं तुम्हें
किसी ब्रह्म में नहीं रखना चाहती हूं तुम

बहुत भाग्यशाली वह मेरे बच्चे जो मेरे
असली रूप को देख पाओगे मेरा प्रेम
तुम्हारे जीवन का हर भाई से मुक्त कर देगा
मेरे असली रूप क्या दर्शन होंगे मेरे
बच्चे मैं जानती हूं तुम्हें मेरे इस रूप
से डर लगता

मेरा रूप हमेशा क्रोधित दिखता है पर यह
नहीं है मेरे बच्चे यदि तुम्हें मेरे इस
रूप से डर लगता है तो तुम मुझे प्रेम कैसे
कर सकते हो इस डर का प्रेम से कोई संबंध
नहीं है मेरी प्रेम पर केवल उसका अधिकार
है जो मेरे समक्ष भाई मुक्त होकर मुझे
समझना हो

इस को मेरे प्रेम का अधिकारी है
मेरे बच्चे एक समय में मेरा प्रेम अत्यधिक
बाढ़ गया था तब मैंने यह रूप धरण किया मैं
तुम्हारी प्यारी पार्वती मां ही हूं मेरे
बच्चे अपने अंदर से डर को निकालकर मुझे
प्रेम करो क्योंकि तुम्हें मेरे रूप से

भले ही डर लगता हो परंतु मेरा हृदय तो वही
है पार्वती चौकी बहुत ही ज्यादा कोमल है
जो अपने बच्चों से बहुत प्रेम करती है
इसलिए तुम आज से बल्कि अभी से डरना छोड़
दो किसी भी कार्य की चिंता तुम्हें नहीं

करनी है ना ही भविष्य की यह सोचकर की आगे
क्या होगा बस तुम्हें अपने पर ध्यान देना
बेल को धोना इतना ही आवश्यक है जितना की
तुम्हारे तन को शुद्ध करना जी तरह तुम्हें
प्रतिदिन साफ और शुद्ध कपड़े पहने से एक
ऊर्जा प्राप्त होती है और तुम्हें ताज
रखती है

इस प्रकार तुम्हारे अंदर की शुद्धता
तुम्हें ताज रखेगी परंतु एक बात का ध्यान
रखना की जब मैं भोलेनाथ से क्रोध में थी
तभी मैंने काली का रूप धरण किया और
राक्षसों का वध किया अनर्थ में बर्दाश्त
नहीं कर शक्ति

इसलिए मुझे काली मां से क्रोधित काली मां
का रूप धरण करने पर मजबूर मत करना क्योंकि
जितना मेरा प्रेम प्यार है उतना ही मेरा
क्रोध सबसे खतरनाक है जी प्रकार भोलेनाथ
से तुम्हारी सभी इच्छाओं को पूर्ण करते
हैं मैं उनकी अर्धांगिनी पार्वती जो की

काली के रूप में तुम्हें दिखाई देती हूं
मैं भी तुम्हारे सभी कार्य को पूर्ण
करूंगी तुम्हें चुन्नी हुई मंजिल का मार
आसानी से मैं प्राप्त कराऊंगी मेरे बच्चे
क्योंकि किसी भी मंजिल का यदि मार्ग
तुम्हें प्राप्त हो जाए तो मंजिल मिलन

बहुत ही आसन होता है बस तुम्हें अपने ताकत
से मेहनत करनी होगी और एकाग्र मां से उसे
कार्य को करना होगा तब तुम्हारा कार्य
शीघ्र ही पूर्ण हो जाएगा यह मैं तुम्हें
वचन देती हूं

मेरे बच्चे यदि तुम्हारे साथ कोई भी गलत
करता है तो तुम्हें उसके साथ गलत नहीं
करना है और ना ही तुम्हें किसी से डरना है
क्योंकि किसी के गलत करने से तुम्हारा गलत
नहीं होगा जब तक मैं तुम्हारी रक्षक हूं

तब तक तुम्हारा कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता
बल्कि ऐसे व्यक्ति पर मेरी कर दृष्टि रहती
है और उसे दंड अवश्य मिलेगा तुम्हें ऐसे
व्यक्ति के लिए चिंतित होने की आवश्यकता
नहीं क्योंकि जी प्रकार बच्चे अपने माता
पिता की छाया में सुरक्षित रहते हैं इस

प्रकार तुम मेरी छाया में सुरक्षित हो
है इसके साथ साथ मेरे बच्चे तुम्हें एक
कार्य करना है तुम प्रतिदिन जब सुबह उठाते
हो तो जितनी जल्दी हो सके तुम सभी कार्य
से निम्नतम होकर स्वच्छ हो जो उसके पश्चात
जितने बार तुमसे हो सके उतनी बार ओम नमः
शिवाय मंत्र का शरण करो ऐसा करने से मुझे
बहुत ज्यादा प्रसन्नता होती है और मैं आज
एक रात से पर्दा उठाने जा रही हूं

तुम्हारे जीवन में जो तुम्हारी सबसे बड़ी
उलझन है इस बात को लेकर उलझन में फैंस हुए
हो तुमको उसके आगे का सोचना है परंतु तुम
वहां तक देख नहीं सकते तुम वहां तक सोच
नहीं सकते की तुम्हारे जीवन में आगे क्या
होने वाला है इसी राज से आज मैं पर्दा उठा

दूंगी की यदि तुम बहुत परिश्रम कर रहे हो
तो तुम्हें उसका फल प्राप्त नहीं हो रहा
है ईमानदारी करने के पश्चात भी सही कर्म
करने के बाद भी तुम्हारा धर्म पर चलना फिर
भी फल को प्राप्त नहीं करना इस बात से

अनजान हो तुम वही बात मैं आज मैं अवगत
करने वाली हूं मेरी इस बात को ध्यानपूर्वक
सुनो मेरे बच्चे यदि तुम परिश्रम ईमानदारी
से सही कर्म से कर रहे हो तो आज मैं

तुम्हें एक बात बता डन की तुम्हें निश्चित
रहना है चिंता नहीं करनी है क्योंकि उसका
फल अवश्य प्राप्त होगा मैं जानती हूं की
तुम्हें कठिनाइयां का सामना करना पद रहा
है लेकिन आने वाला समय तुम्हारा बहुत
ज्यादा अच्छा होगा क्योंकि मैं सदा
तुम्हें देख रही हूं मैं सुन रही हूं

तुम्हें मैं समझती हूं तुम्हारे सभी कार्य
को ध्यान से देखते हूं और उसका फल समय
अच्छा देने वाली हूं मेरे बच्चे तुम स्वयं
भी ज्ञात नहीं कर पाओगे

आश्चर्यचकित हो जो रे इसलिए तुम निश्चित
होकर अपने कर्मों को करते जो मेरे बच्चे
मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ रहेगा
तुम्हें जब भी कोई परेशानी होगी मैं स्वयं
आऊंगी तुम्हारी रक्षा करने के लिए तुम

वहां तक सोच नहीं सकते की तुम्हारे जीवन
में आगे क्या होने वाला है इसी राज से आज
मैं पर्दा उठा दूंगी की यदि तुम बहुत
परिश्रम कर रहे हो तो तुम्हें उसका फल
प्राप्त नहीं हो रहा है ईमानदारी करने के

पश्चात भी सही कर्म करने के बाद भी
तुम्हारा धर्म पर चलना फिर भी फल को
प्राप्त नहीं करना इस बात से अनजान हो तुम
वही बात मैं आज मैं अवगत करने वाली हूं
मेरी इस बात को ध्यान सुनो सुनो मेरे

बच्चे यदि तुम परिश्रम ईमानदारी से सही
कर्म से कर रहे हो तो आज मैं तुम्हें एक
बात बता डन की तुम्हें निश्चित रहना है
चिंता नहीं करनी है क्योंकि उसका फल अवश्य
प्राप्त होगा मैं जानती हूं की तुम्हें

कठिनाइयां का सामना करना पद रहा है लेकिन
आने वाला समय तुम्हारा बहुत ज्यादा अच्छा
होगा क्योंकि मैं सदा तुम्हें देख रही हूं
मैं सुन रही हूं तुम्हें मैं समझती हूं

तुम्हारे सभी कार्य को ध्यान से देखते हूं
और उसका फल मैं तुम्हें अच्छा देने वाली
हूं मेरे बच्चे तुम स्वयं भी ज्ञात नहीं
कर पाओगे आश्चर्य चकित हो जो रे इसलिए तुम
निश्चित होकर अपने कर्मों को करते जो मेरे
बच्चे मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ
रहेगा तुम्हें जब भी कोई परेशानी होगी मैं

स्वयं आऊंगी तुम्हारी रक्षा करने के लिए
मेरे बच्चे
समझोगे तुम्हारा जीवन निश्चित ही खुशियों
से भर जाएगा यह मेरा तुमसे वादा है मैं
अपने वादों को पूर्ण रूप से निभाऊंगी

मेरे बच्चे और इसे जानकर तुम्हारे होश उड़
जाएंगे और शायद तुम्हें मेरी बटन पर यकीन
भी ना हो मेरे बच्चे परंतु यह सत्य नहीं
की मैं तुम्हें कुछ देती नहीं या तुमको
कुछ मेरे द्वारा प्राप्त होता नहीं सच या
नहीं है मेरे बच्चे बल्कि सच यह है
की तुम जो सोचते हो वही तुम्हें प्राप्त
होता है

की तुम जो मांगते हो उसके पीछे कुछ बजा है
उसको जानना तुम्हारे लिए अत्यंत आवश्यक
क्योंकि तुम जो चाहते हो की तुम्हें बैठकर
सब कुछ मिले तो मेरे बच्चे मैं तुम्हें
बता देना चाहती हूं की संसार में कर्म के
बिना कुछ भी संभव नहीं
तुम मांगते तो हो लेकिन उसके लिए पोर्ट
प्रयास नहीं करते अधूरा किया गया प्रयास
तुम्हें वहां तक नहीं पहुंच सकता तुम्हारी

अधूरी इच्छा को पूर्ण करने की शक्ति नहीं
रखना अधूरा कार्य अधूरी शक्ति रखना है
इसलिए जब भी कोई बड़ी मंजिल तुम्हें
प्राप्त करनी हो या कोई बहुत बड़ा मुकाम
हासिल करना हो तो उसे बड़े मुकाम के लिए
तुम्हें कार्य भी बड़े-बड़े करने होंगे

तुम शांत बैठकर यही सोचते रहोगे तो
तुम्हें कुछ भी प्राप्त नहीं होगा
यह संसार में भीख मांग कर कुछ प्राप्त
नहीं किया जा सकता मेरे बच्चे बल्कि साहस
हिम्मत रखो और अपने आप को ताकतवर समझकर
महसूस करो की तुम्हारे साथ एक शक्ति है
तुम किसी भी कार्य को कर गुजरते में उसकी
सहायता ले रहे हो

और उसकी सहायता से तुम कुछ भी कर लोग जो
तुम चाहते हो यदि तुमने इस शक्ति को समझ
लिया तो तुमने मुझे समझ लिया यदि तुम ऐसा
महसूस कर का रहे हो की वह शक्ति तुम्हारे
साथ है तो निश्चित ही मैं तुम्हारे साथ
हूं

यदि तुम विश्वास से भरे हुए हो और तुम्हें
ऐसा ग रहा है की कोई तुम्हारे साथ नहीं है
मेरे बच्चे तुम्हारे साथ कोई नहीं क्योंकि
सब कुछ तुम्हारे हृदय पर निर्भर करता है
तुम्हारा हृदय क्या महसूस करता है
अगर तुम्हारे हृदय के अंदर
नकारात्मकता भारी हुई है तो फिर तुम्हें
अपने हृदय में एक शक्ति को विराजमान करने
के लिए मेट्रो का नहीं साफ दिल का होना
बहुत जरूरी है लोगों की भलाई करना बहुत
जरूरी है सबके लिए अच्छा सोचना जरूरी है
[संगीत]
सबका आधार सम्मान करना जरूरी है उसे तरह
के महकते हुए फूल की तरह बन जो जो कोमल
होता है और सबको अपने खुशबू से महकता है
और सब तुम्हारे करीब आना चाहे ना की
कांटों की तरह जो लोग कांटों से दूर रहना
चाहते हैं
क्योंकि जब तक तुम्हारे पास कोई शक्ति
रहेगी तब तक जीवन में तुम्हें सही मार्ग
दिखाई रहेगी तुम्हारे पूरे शरीर पर उसका
अधिकार रहेगा सोने समझना की शक्ति प्रबल
रहेगी जीवन में खुशियां तब प्राप्त होती
हैं जब तुम्हें खुशी का आभास होता है
तब नहीं जब तुम्हें सब कुछ मिलता है लेकिन
फिर भी तुम किसी और इच्छा के लिए उदास
रहते हो बल्कि जब तक तुम्हें जो मिल रहा
है तुम उसमें खुश रहते हो तो स्वयं
तुम्हारे अंदर हर एक शक्ति विराजमान रहती
है
मेरे बच्चे यदि कुछ कमी है तो सिर्फ
तुम्हें पहचान की तुम्हारे जीवन में कोई
भी खुशी तुमसे दूर नहीं रहेगी यदि तुम
केवल हाथ पर हाथ रखकर बैठ जाओगे और कोई
कार्य ही नहीं करोगे और ऐसा अपने जीवन में
आभास करोगे
की मुझे कोई चीज प्राप्त ही नहीं होती और
उसे चीज के लिए रोटी रहोगे तो आगे के
मार्ग बैंड होने लगेंगे इसलिए उठो खड़े हो
सभी चिटा को त्याग दो और कार्य पर ग जो
जैसे-जैसे तुम कार्य करोगे
वैसे-वैसे आगे के मार्ग खुलती चले जाएंगे
तुम्हें अपने आप वह मार्ग दिखाई देने
लगेगा जो तुम्हें चाहिए मेरे बच्चे होकर
तुम कमजोर कैसे बाढ़ सकते हो मैं जानती
हूं हर दिन एक समाज नहीं होता किंतु
तुम्हें कैसे भूल जाते हो की तुम विशेष हो
[संगीत]
तो मैं सर्वश्रेष्ठ बच्चे हो तुम्हारे लिए
कुछ भी असंभव नहीं
संपर्क में आते हैं
[संगीत]
तुम्हारे साथ बात करके दूसरों को सुख का
अनुभव होता है लोग तुमसे प्रेरित होते हैं
और तुम खुद को ही इतना कम क्यों समझ लेते
हो
[संगीत]
मेरे बच्चे तुम वह रतन हो जो खुद अपने चमक
नहीं देख पता कभी-कभी चुप हो जाना अच्छा
है किंतु मायूस होना नहीं
[संगीत]
मेरे प्रश्न का उत्तर दो पिछले कुछ दोनों
में या कुछ मीना में तुमने अपने आसपास
अथवा अपने भीतर
[संगीत]
कुछ बदलाव महसूस नहीं किया हैं एक कागज और
कलाम उठाओ और अपने हाथ से उन बदलावों को
उसमें लिखो
छोटी सी छोटी उपलब्धियां को स्मरण करो और
उसे लिखो तब तुम पाओगे तुमने हर दिन एक
जंग जीती है कुछ ऐसी घटनाएं तुम्हारे जीवन
में होने वाली थी
जो तुम्हें दुर्भाग्य का भाग्य बना देती
लेकिन मैंने पहले ही तुम्हें बच्चा लिया
है
संकट में जान से पहले ही तुम्हारा भाग्य
दिव्या तरीके से परिवर्तित कर दिया
[संगीत]
तुम्हारे हृदय में वह
सकारात्मक ज्योति जलती रहती है
क्या तुम उसे अनुभव नहीं कर पाते
मेरे बच्चे तुम स्वयं जानते हो तुम सही हो
मैं जानती हूं कभी-कभी हिम्मत टूटती है
लगातार संघर्ष करते हुए सफलता ना मिलने पर
व्यक्ति कमजोर होता है लेकिन तुम्हारे
जैसे विशेष बच्चे के लिए यह करना उचित
नहीं है
तुम तो मेरे बहादुर और सबसे प्यार बच्चे
हो यदि तुम अपने मार्ग पर विचलित हो गए तब
तुम समाज में उदाहरण स्थापित कैसे करोगे
मेरे बच्चे ऐसा मौका कुछ विशेष प्राणियों
को ही मिलता है
उदाहरण स्थापित करते हैं
[संगीत]
तुम्हें अपने जीवन के उद्देश्य के साथ-साथ
अपनी आत्मा के उद्देश्य का स्मरण रखना
चाहिए
अंततः जीत तुम्हारी होगी यह सत्य है की
तुम मेरी सुरक्षा कवच में सदैव सुरक्षित
हो अब तुम उठोगे फिर से चलोगे और फिर से
रफ्तार से दौड़ लगाओगे
जब जब तुम प्रश्न करते हो की इस वर्ष ने
मुझे इतनी साड़ी परेशानियां क्यों दी हैं
[संगीत]
तुम मुझे आध्यात्मिक दुख पहुंचने हो
मैं तुम्हारी जन्मदाता हूं भला मैं अपने
ही बच्चों को क्यों पीड़ा डन कैसे दुख
पहुंच शक्ति हूं मेरा हाथ पकड़ लो और मेरे
दिखाएं मार्ग पर चलो जीत तुम्हारी होगी
[संगीत]
मेरे अगले संदेश की प्रतीक्षा करना मैं
फिर आऊंगी तुमसे मिलने मेरा आशीर्वाद सदैव
तुम्हारे साथ है तुम्हारा कल्याण हो मेरे
बच्चे आज तुम्हारा और इस पूरे जगत का पिता
तुमसे बात करने आया हूं मेरे बच्चे तुम
अपने पिता से क्यों रूठे हो क्यों मुझे
नाराज हो मैं ऐसी सवाल का जवाब तुमसे
जानना चाहता हूं इसलिए मैं तुमसे बात करते
आया हूं मेरे बच्चे क्या हुआ तुम्हें तो
अकेले में इतना क्या सोच रहे हो तुम्हें
क्या लगता है तुम मुझे नहीं बताओगे तुम
मुझे कुछ पता नहीं चलेगा मेरे बच्चे मैं
फिर भी तुम्हारे मां को पढ़ लेट हूं मैं
तुम्हारी हर तकलीफ और दर्द को समझना हूं
परंतु मेरे बच्चे मेरी बात हमेशा याद रखना
इस संसार में जो कुछ भी होता है
वह सब अच्छे के लिए होता है हर चीज के
पीछे एक बड़ा रहस्य होता है जिसके बड़े
में तुम्हें कुछ पता नहीं होता उसे सिर्फ
मैं जान सकता हूं तुम्हारे जीवन में जो
घटना घटती है उसे मैं भाले प्रकार परिचित
हो जो की एक उद्देश्य के लिए रखा गया है
इस संसार में कोई भी घटना यूं ही नहीं
होती उसके पीछे कोई ना कोई राज छुपा होता
है जो केवल तुम्हारे पिता महादेव को ही
मालूम होता है
जो भी समस्या तुम्हारी जिंदगी में घाट रही
है वह समस्या तो कुछ भी नहीं है
एक समय ऐसा आएगा जो भी परेशानी एवं घटना
तुम्हारे साथ हो रही है मैं तुम्हें
अत्यंत छोटी और कुछ प्रतीत होने लगेगी
मेरे बच्चे मुझे पता है तुम हर रोज मुझे
याद करते रहते हो केवल यह सोचकर की आज
तुम्हें तुम्हारे सभी प्रश्नों उत्तर मिल
जाएगा
हमेशा अपने मां में कुछ बात करते रहते हो
मुझे याद करें परंतु मेरे बच्चे मुझे कुछ
नहीं छुपा है
मैं सब जानता हूं मैं तुम्हारी साड़ी
गतिविधियों को देखा राहत हूं तुम्हारे मां
में उठ रहे सभी सवालों को मैं भाले प्रकार
से जानता हूं
तुम्हें इस चीज का आभास नहीं है मेरे
बच्चे परंतु मैं हर पाल अपने भक्तों के
साथ राहत हूं मैं जानता हूं की मेरा
तुम्हारे साथ रहना अति आवश्यक है तुम्हारा
जन्म एक उद्देश्य के लिए संसार में हुआ है
जिसके करण तूने बहुत सी चीजों का सामना
करना पद रहा है
इस संसार में हर प्राणी को दुख सुख आते
रहते हैं यही करण है की तुम्हारे रास्ते
में अनेक प्रकार के दुख ए रहे हैं
परंतु मेरे बच्चे तुम्हें दुखों से घबराना
नहीं है तुम्हारा मुझमें पर अटूट विश्वास
होना अति आवश्यक है मैं तुम्हें कभी भी
अपनी हिम्मत टूटने नहीं दूंगा
मैं हमेशा तुम्हारे साथ रहूंगा और
तुम्हारी हर तकलीफ को दूर करूंगा फिर चाहे
वह कितनी भी बड़ी क्यों ना हो उसको मैं
तुम्हारे जीवन से हमेशा के लिए बाहर कर
दूंगा
तुम्हें अभी भी दुख में नहीं रहना चाहिए
ना ही कभी स्वयं को कमजोर समझना चाहिए
स्वयं को कमजोर वह लोग समझते हैं जो कर
होते हैं निडर लोग स्वयं को हमेशा ताकतवर
और बुद्धिमान समझते हैं यही उनकी ताकत की
असली पहचान होती है
और कर लोग हमेशा बहाने ढूंढते रहते हैं
मैंने तुम्हें असीम शक्तियां प्रधान की है
लेकिन शायद तुम्हें उसका अंदाज़ नहीं है
मेरे द्वारा प्रधान की गई शक्तियां तुम
भाले प्रकार उपयोग करना नहीं जानते अगर
तुम्हें जान गए तो तुम्हारे जीवन से आदि
से ज्यादा समस्या स्वयं ही दूर हो जाएंगे
तुम्हारी जिंदगी में कई कष्ट आएंगे परंतु
मेरे बच्चे तुम्हें उन कासन से स्वयं ही
बाहर निकालना है
इसका यह मतलब नहीं की मैं तुम्हारे साथ
नहीं हूं मैं सदा तुम्हारे साथ हूं परंतु
अपने दुखों से खुद ही लड़ना होगा फिर
तुम्हें किस बात की चिंता है मैं तुम्हें
इस बार भी कासन से बच्चा लूंगा मेरे होते
हुए कोई तुम तक नहीं पहुंच पाएगा
परंतु तुम्हें उन कासन से स्वयं ही लड़ना
है मेरे बच्चे मेरे आशीर्वाद से तुम सभी
कासन से बाहर निकाल जाओगे और भविष्य में
भी तुम्हें सभी परेशानियां से छुटकारा मिल
जाएगा
तुम केवल ध्यान के मध्य से जुड़ने की
कोशिश करो क्योंकि ध्यान ही एक ऐसी कुंजी
है जिससे तुम मुझे भाले प्रकार से जुड़
सकते हो
मैं तुम्हारे लिए सभी रास्ते को खोल दूंगा
और तुम्हारे प्रश्नों के उत्तर देकर
तुम्हारे मां की नकारात्मक सोच को
सकारात्मक सोच में बादल दूंगा
मेरे बच्चे मेरा हाथ तुम्हारे सर पर हमेशा
रहेगा
तुम्हारा कल्याण हो जय भोलेनाथ ओम नमः
शिवाय
मेरे बच्चे यह जानना सभी चाहते हैं अधूरे
सपना कब पूरे होंगे कब प्राप्त होगा कर्म
का फल तुम्हारी ये चाहत पूर्ण कब होगी
तुम्हारा समय कब पलटेगा यह जानना तुम्हारे
लिए उतना ही जरूरी है जितना की तुम्हारा
परिश्रम करना क्योंकि तुम्हारा अधिकार है
मुझे पूछने का तुम्हें ज्ञात करने से पहले
मैं बताना चाहती हूं जीवन में जब इतना
खराब समय आने लगेगा तुम्हारे हृदय को ऐसा
आभास हो इससे ज्यादा खराब समय तुम्हारे
लिए नहीं ए सकता अर्थात खराब स्थिति का
अंत होने लगे तो तुम समझ लेना की अच्छे
समय का प्रारंभ होने को है क्योंकि सूर्य
निकालने से पहले का अंधकार बहुत ज्यादा
गहरा होता है तुम्हारे अधूरे सपना सच होने
को है क्योंकि वही अंतिम पड़ाव होता है
तुम्हारा सफलता के पूर्व तुम्हारे जीवन
में ऐसा लगे लगे की बहुत ज्यादा कष्ट
तुम्हारे सामने से उत्पन्न होने लगे हैं
लगातार तो तुम समझ लेना की तुम्हारे जीवन
में तुम्हारे सपना सच होने का समय ए चुका
है इसलिए तुम्हारे साथ ऐसा हो रहा है
भक्ति में इतनी शक्ति होती है की वह मुझे
झुकना की शक्ति रखती है क्योंकि यह भक्ति
प्रेम की है और प्रेम में ही शक्ति होती
है और मैं तुमसे बहुत प्रेम करती हूं
खुशियां इतनी मिलेगी जिनको तुम सोच भी
नहीं सकते तुम्हारे कल्पना से भी पैर हैं
मेरे प्यार बच्चे आज का दिन तुम्हारे लिए
अति आवश्यक है
टकराऊंगी जिससे प्राप्त करने के बाद
तुम्हारे जीवन में उलझने हैं वह सभी
समाप्त होने लगेंगे क्योंकि जब अज्ञानता
में फंसा हुआ व्यक्ति समझ नहीं पता है
क्यों उलझन उसके जीवन में क्यों ए रही है
आपके यहां से परिपूर्ण हो जाओगे तो आपकी
उलझने नहीं रहेंगे बल्कि बिना ज्ञान ही
व्यक्ति उलझन में फास्ट हैं जिसके करण
तुम्हारी गति और भी धीमी हो जाति है जिससे
की कार्य पूर्ण होने की वजह अधूरा र जाता
है मार्ग मिलन और भी मुश्किल हो जाता है
तुम जीवन में सुख भोगना चाहते हो और सुख
तुम मेरे द्वारा ही प्राप्त कर सकते हो जी
प्रकार लक्ष्मी तुम्हें धन देती हैं जो
मेरी बहन है परंतु सुख तुम्हें केवल मैं
ही दे शक्ति हूं धन से सुख प्राप्त नहीं
मेरे बच्चे सुख के लिए हर प्रकार से सुखी
रहना अत्यंत आवश्यक होता है
तुम्हारे जीवन में धन तो होता है
परंतु सुख नहीं उसके लिए तुम्हें कुछ ऐसे
कार्यों पर विशेष ध्यान देना अत्यावश्यक
है जिससे की तुम अपने जीवन को सुख पूर्वक
व्यतीत कर सकते हो धन के साथ कुछ ऐसे
कार्य हैं जींस तुम्हें बचाना जरूरी है
तुम्हारे जिन कार्यों को करने से मुझे
बहुत ज्यादा क्रोध आता है उनसे तुम्हें
बचाना है यदि उन कार्यों को करते रहते हो
तो मेरे बच्चे जीवन में तुम तंतु काम लोग
पर सुख प्राप्त करना मुश्किल ही होगा अब
ध्यान दो मेरे थे तुमको जीवन में सुख
भोगना है तो तुम सुबह उठाते ही स्नान करने
के पश्चात एक लाल गुलाब लेकर पहले कार्य
है तुम्हारा मेरी बहन लक्ष्मी को दीपक जलन
के बाद बात
को चड्ढा दो और उनके समक्ष 11 बार ओम
लक्ष्मी नमः मंत्र को बोलते हुए उनको
प्रणाम करो उसके पश्चात तुम इस बात का
विशेष ध्यान रखो मुझे क्रोध आता है जो
किसी बुजुर्ग महिलाओं को परेशान करते हैं
नींबू अचार सेवन करते हो तो इन चीजों से
मुझे बहुत कष्ट होता है क्योंकि यह सब चीज
मुझे प्रिया नहीं है मेरे प्यार बच्चे जी
कार्य की थान लेते हो उसे पूरा करके ही दम
लेते हो यह ज़िद ही तुम्हारी तुम्हारे लिए
कामयाबी का एक बहुत बड़ा हिस्सा है तू
मेरे बच्चे जय हो मैं समझना चाहती हूं यदि
मेरे बच्चे तुम ऐसा समझते हो की तुम किसी
एक देवता की पूजा करते हो हम में से किसी
भी देवी देवता की पूजा करते हो और बाकी की
देवता या देवी मां करते हो तो वहीं जहां
तुम श्रद्धा विश्वास से सबकी पूजा भले ही
ना कर पाव परंतु सबका मां रखो तो सभी
तुमसे प्रश्न रहेंगे अन्यथा तुम्हारा पूजा
करना सफल हो जाता है क्योंकि मेरे बच्चे
हम सभी एक ही हैं जिन्हें तुम अलग-अलग
रूपन में पूजते हो उनका मां करते हो
प्रार्थना करते हो हम सब एक हैं इसलिए
किसी एक तापमान करना सभी का अपमान हो जाता
है इस बात को मेरे बच्चे इस तरह से समझो
यदि तुम्हारे परिवार में सभी सदस्य हैं और
तुम्हारी किसी अपमान करता है
तो निश्चित ही तुम्हें भी बड़ा और सबको
बड़ा लगेगा जितना की तुम्हारे परिवार के
सदस्य को बड़ा लगेगा जिसका अपमान किया गया
इसी प्रकार है जीवन बहुत ही गहराईयां से
जुड़ा हुआ है इन बटन से मेरी बताई हुई बटन
पर तुम ध्यान देना मेरे बच्चे और सभी बटन
को स्मरण रखना भी आंखों के समक्ष यदि मेरा
संदेश आया है तो निश्चित ही तुम्हें आज
मेरा यह एक वरदान प्राप्त होगा जिसके लिए
पूरा संसार तरस रहा है वह तुम्हें प्राप्त
होगा क्योंकि तुम
भाग्यशाली वह मेरे बच्चे तुम्हारे अंदर यह
बहुत अच्छा गन है की तुम किसी को गिरने की
कोशिश नहीं करते हो लेकिन अब मेरी कहानी
हुई बात पर विशेष ध्यान दो तुम संसार में
हर व्यक्ति को क्या चाहिए किस चीज में
उसकी खुशी है
भिन्न-भिन्न प्रकार के व्यक्तियों के
भिन्न-भिन्न प्रकार की खुशियां होती हैं
लेकिन खुशियां कुछ चीजों से ही लगभग सबकी
जुड़ी होती है जैसे की किसी को ढांचा किसी
को संतान चाहिए किसी को घर चाहिए किसी को
व्यवसाय चाहिए लेकिन हर चीज जुड़ी हुई
केवल एक चीज से है और हर चीज है इस संसार
में प्राप्त होने वाले आपके अच्छे किस्मत
किस्मत अच्छी होगी तो आपको कोई भी चीज
मुफ्त में मिल जाएगी जरूरी नहीं की आपको
पैसे ही काम कर कोई चीज प्राप्त हो बल्कि
आपकी बुद्धि इतनी बलवान होगी की आप उसे कम
पैसों में भी बड़े से बड़े मुकाम पर पहुंच
सकते हो क्योंकि संसार में बड़े मुकाम आम
आम पर पहुंचने के लिए तुम्हें जो चाहिए वह
मैं तुम्हें आज बताऊंगी और वहां तक
पहुंचने का रास्ता भी बनाऊंगी लेकिन तुम
भी मुझे वादा करो की तुम वहां तक पहुंचने
के लिए पहला स्वयं करोगे इसके लिए तुम्हें
बड़ा बन्ना होगा एक बात ध्यान रखना जितने
ज्यादा बुरे बनोगे उतना ही सफल हो जाओगे
बुरे का अर्थ किसी का गलत करना नहीं होता
बुरे बानो स्वयं के लिए इस तरह बन जाओगे
[संगीत]
अपने मां मां को दृढ़ निश्चय लेने वाला एक
कठोर पत्थर की तरह बना लेना मेरा आशीर्वाद
सदा तुम्हारे साथ है मेरे अगले संदेश की
प्रतीक्षा करना मैं फिर तुमसे मिलने आऊंगी
ओम नमः शिवाय
[संगीत]
मेरे बच्चे आज तुम्हारी मां तुम्हारी
साड़ी समस्याओं और साड़ी परेशानियां का
अंत करने आई है मेरे बच्चे आज के इस कलयुग
में लोग एक दूसरे से ईर्ष्या भाव रखते हैं
और यदि कोई इंसान तरक्की करता है तो लोग
उससे जलने लगता हैं मैं जानती हूं मेरे
बच्चे की तुम मुझे प्रार्थना कर रहे हो
अपनी सभी परेशानियां के समाधान के लिए
और मैं अभी जानती हूं की तुम अपने मां की
बातें मुझे पूछ रहे हो की तुम्हारी यह सभी
समस्या कब दूर होगी मेरे सभी भक्ति किसी
ना किसी समस्या से परेशान है कोई पैसे को
लेकर तो कोई अपनी बीमारी को लेकर कोई अपनी
शादीशुदा जिंदगी को लेकर कोई माता पिता को
लेकर कोई अपना मनचाहा प्यार को हासिल करने
के लिए किसी वजह से परेशान हैं
परंतु मेरे बच्चे तुम मेरी बटन को ध्यान
से सुनो तुम्हारे मां में चाहे जितने भी
सवाल क्यों ना उठ खड़े हो केवल एक चीज का
ध्यान रखना की अपने मां से सभी नकारात्मक
बटन को निकाल दो मेरे बच्चे इन नकारात्मक
विचारों को त्याग कर तुम सिर्फ मेरी
आराधना में बिलियन हो जो पर मुझमें पर
पूरा विश्वास रखो क्योंकि मैं ही देने
वाली हूं और मैं ही लेने वाली हूं
मैं ही बनाने वाली हूं और मैं ही बिगड़ने
वाली हूं मुझमें में ही सब कुछ समाहित है
और मुझे ही सब कुछ का अंत है क्या तुम्हें
पता है मेरे बच्चे यह जो समस्या तुम्हारी
जिंदगी में है की क्यों है क्या तुमने कभी
इस पर विचार किया है यह समस्या तुम्हें
बार-बार क्यों मिल रही है
यह समस्या तुम्हारे जीवन में इसलिए है
ताकि तुम खुद को मजबूत कर सको खुद को
स्थिति के हिसाब से डालना सिख सुकून यदि
तुम अपने जीवन में दुखों का अनुभव नहीं
करोगे तो तुम्हारी जिंदगी में सुखों का
कोई महत्व नहीं र जाएगा
यह सुख दुख मेरे ही चक्र है जी प्रकार दिन
के बाद रात आई है इस प्रकार दुख के बाद
सुख और सुख के बाद दुख आता है
परंतु तुम्हें इन दुखों से घबराने की
आवश्यकता नहीं है क्योंकि तुम्हारी माता
ने इन्हें केवल तुम्हें कुछ समय के लिए
दिया है
ताकि तुम अपने द्वारा की गई सभी भूलों को
सुधार सुकून और भविष्य में फिर कभी ऐसी
गलतियां दोबारा ना करो और तुम्हारी जिंदगी
में आने वाली चुनौतियां का तुम सामना कर
सकोगे और अपने आप को मजबूत बना सकोगे
मेरे बच्चे अगर मैं तुम्हारी जिंदगी में
हमेशा खुशियां और फल दूंगी तो यह तुम्हारे
अहंकार को बढ़ाएगी लेकिन इसका अर्थ यह
नहीं है की तुम्हारी मां ने तुम्हें दुख
और तकलीफ ही दी है यह तुम्हारे द्वारा की
गई कर्मों की ही करनी है जो तुम करते हो
वही तुम भारते हो इसलिए मैं हर संदेश में
यही कहती हूं अपने कर्मों को सुधरो यदि
तुम्हारे कर्म सुधार गए तो तुम्हारा जीवन
अपने आप ही सुधार जाएगा
इस दुनिया में अपने आप को कभी भी
सर्वश्रेष्ठ मानना शुरू मत करना क्योंकि
इससे तुम्हारे अंदर कुर्ता और घमंड भर
जाएगा
तुम्हारे अंदर दया दिन की भावना खत्म हो
जाएगी और तुम्हें है नहीं जान पाओगे कौन
तुम्हारा अपना है और कौन पराया है
क्या सच है और क्या झूठ क्या सही है और
क्या गलत इन सभी चीजों में तुम फर्क करना
बैंड कर डॉग और यहां से तुम्हारी जिंदगी
नरक से भी बतर हो जाएगी मेरे बच्चे जिंदगी
में बात याद रखना मैं उन लोगों की मदद कभी
नहीं करती जो करण ही मेरे सामने आंसू बहन
शुरू कर देते हैं मेरे बच्चे अपनी मदद
पहले तुम स्वयं करो यदि तुम्हारे द्वारा
किया गए प्रयास के बाद भी तुम्हें उसे
सफलता नहीं मिलती तो तुम अपनी माता को याद
करो तब तुम्हारी
तुम्हारी सहायता करने आएगी मैं जानती हूं
की तुम्हारे भविष्य के लिए क्या तुम्हारे
लिए उचित है क्या अनुच्छेद मैं तुम्हें
कभी इस तरीके का भविष्य नहीं दूंगी जिससे
अंधेरे और तकलीफ हो मैं तुम्हारे भविष्य
को उज्जवल बनाना चाहती हूं मैं अपने सभी
भक्तों को वही दूंगी जितना तुमने पाया है
जो ईमानदारी तुम मेरे सामने दिखाओगे इस
प्रकार तुम्हें उसका फल मिलेगा अच्छे कर्म
करोगे तो अच्छा फल दूंगी बुरे कर्म करोगे
तो बड़ा फल दूंगी मेरी इन बटन से तुम्हें
निरसा नहीं होना चाहिए क्योंकि तुम्हारी
मां ने तुम्हारे लिए एक बेहतर भविष्य का
निर्माण किया है बस तुम्हें इस पर पूर्ण
विश्वास होना चाहिए की तुम्हें सब कुछ
प्राप्त होगा तुम बस मेरी आराधना करना और
मुझे हमेशा याद करना मेरे बच्चे तुम्हारी
मां को केवल तुमसे एक ही चीज चाहिए की
अपनी मां से प्रेम करो मुझमें पर विश्वास
करो और अपनी मां पर हमेशा भरोसा रखना की
वह तुम्हें कभी भी गलत मार्ग पर नहीं चलने
देगी अब तुम्हारी मां का जान का समय ए गया
है मुझे अब वापस जाना होगा परंतु इस बार
मुझे आशा है की मेरे द्वारा दिए गए ज्ञान
को तुम अपने जीवन में आज ही अभी से उतार
लोग तुम्हारी मां तो तुमसे बहुत प्रेम
करती है बस तुम्हें अपनी मां की आंखों से
मुझे देखना होगा मैं तुम्हें नजर अवश्य
आऊंगी मेरे बच्चे बस अपना ध्यान रखना और
अपने माता पिता से नाराज मत होना तुम्हारी
मां तुम्हारे लिए कभी गलत नहीं सोचती है
मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है
तुम्हारा कल्याण हो जय मां दुर्गा
मां दुर्गा
कोई ऐसा है तुम्हारे जीवन में एक अलग
प्रकार के खतरे को लाना चाहता है वह
तुम्हारे जीवन में नकारात्मकता के स्टार
को बढ़ाना चाहता है किंतु तुम मेरे अनन्या
भक्ति हो इसलिए मैं कभी भी ऐसा होने नहीं
दूंगा मैं उनकी किसी भी चल को सिद्ध नहीं
होने दूंगा तुम्हारा मुझमें पर जो विश्वास
है वह अटूट है मैं उसे अटूट विश्वास का
खंड नहीं होने दूंगा वह तुम्हें प्रगति
करते हुए देख नहीं सकते
अपनों के रूप में वह तुम्हारे दुश्मन बने
बैठे हैं
तुम भी तेरी मां से कभी उनके लिए कुछ भी
गलत विचार नहीं लेट किंतु है तुम्हारे
जितने अच्छे नहीं
वह तुम्हारा भला नहीं होने देना चाहते
किंतु मेरे बच्चे तुम सदैव निडर बने रहो
तुम्हें किसी से भी भयभीत होने की
आवश्यकता नहीं
तो केवल कुछ बटन पर
गौर करने की आवश्यकता है
तुम्हें ध्यान से देखना
को दुख देना सही नहीं होता तुम अपने हृदय
से पूछो की क्या जो वास्तव में तुमसे
प्रेम से प्रेम करते हैं तुम्हारी परवाह
करते हैं क्या तुम भी दिल से उन्हें उतना
प्रेम कर भी रहे हो
छोटी-छोटी बटन पर झगड़ा करने से
नाराज होकर चिल्लाने से यह बेवजह का शक
मां में पाल लेने से रिश्तों में केवल
कड़वाहट ही आई है क्या तुम याद करते हो
उसे दिन को जब तुम्हें प्रेम के लिए
तड़पते रहते थे उन दोनों में तुम खुद को
कितना अकेला और हर हुआ महसूस करते थे
लेकिन जब वास्तव में तुम्हें या नसीब हुआ
तू क्या तुमने उसकी इतनी कादर की जितना की
तुम इसे ना मिलने से पहले सोचा करते थे
मेरे बच्चे मनुष्य की यह फितरत होती है की
जब तक उसे कोई चीज नहीं मिलती तब तक वह
उसके लिए छटपटाता राहत है लेकिन जैसे ही
वह उसे मिल जाता है धीरे-धीरे उसके कद्र
भूल जाता है इसीलिए यह प्रकृति का नियम है
की जब मनुष्य को किसी चीज की कद्र नहीं
रहती तो वह चीज उससे छन ली जाति है इसलिए
फैसला तो सदा तुम्हारे हाथ में ही है बस
परिणाम तुम्हारे हाथ में नहीं है तुम मेरे
प्रिया भक्ति हो मैं नहीं चाहता की
तुम्हें किसी भी प्रकार का कष्ट उठाना
पड़े तुम्हारे जीवन में सच्चे प्रेम को
भेजना मेरा दायित्व है और मैं यह करूंगा
भी लेकिन तुम उसे अपने के बाद उसके कद्र
करना मत भूलना
प्रेम और मिलन और दोनों ते करूंगा तुम
केवल नकारात्मकता को स्वयं पर हेवी मत
होने दो लोगों की अनावश्यक बटन को दिल से
मत लगाओ तुम्हारी छठा असीमित है तुम मेरी
वो रचना हो जिसे मैंने बड़े ही प्रेम
पूर्वक बनाया था दुख मिलने का अर्थ यह
नहीं की मैं तुमसे प्रेम नहीं करता
बल्कि यह तो केवल परिस्थितियों के
सद्भावना मंत्र का परिणाम है मेरी
शक्तियों का तुम्हारे जीवन में प्रवेश
होने वाला है इसे स्वीकार करने की तैयारी
करो मेरा आशीर्वाद हमेशा तुम्हारे साथ है
मैं आता रहूंगा तुम्हारा मार्गदर्शन करने
सदा सुखी रहो तुम्हारा कल्याण हो ओम नमः
शिवाय
मेरे बच्चे जब भी तुम्हारा मां उदास हो या
आंखों में आंसू हो तो यह बात याद रखना की
तुम्हारा पिता सदैव साथ है मेरे बच्चे
जिंदगी में दो चीज खास होते हैं पहले समय
दूसरा प्रेम समय किसी का नहीं होता और
प्रेम हर किसी का नहीं होता मेरे बच्चे
किसी को धोखा देना एक कर्ज है जो तुम्हें
भी किसी और के हाथों एक दिन जरूर मिलेगा
जब भी विनाश होने का प्रारंभ होता है तो
शुरुआत बनी के संयम होने से ही होता है
तुम स्वयं को तब तक स्वतंत्र नहीं कर सकते
जब तक तुम दूसरों को प्रभावित करने के लिए
खुद में बदलाव लेट रहोगे तुमने खुद को
कमजोर मां लिया है वरना तुम जो कर सकते हो
वह कोई दूसरा नहीं कर सकता मेरे बच्चे इस
संसार का सबसे मजबूत इंसान वही है जिसका
हृदय टूटे सपना भी टूटे अपने भी रूठे
लेकिन फिर भी कहे मैं ठीक हूं क्योंकि
अपनी तारीफ और निंदा दोनों को स्वीकार
करें क्योंकि एक फूल को उगने में सूरज और
बारिश दोनों ही लगता हैं भाग्य से जितना
अधिक उम्मीद रखोगे वह उतना ही निरसा करेगा
कर्म पे विश्वास रखो वो आपको आपकी उम्मीद
से भी अधिक देगा मेरे बच्चे ईश्वर सही समय
सही जगह व्यक्ति और आपकी प्रार्थनाओं का
सही उत्तर जानते हैं बस उन पर विश्वास
रखिए सब कुछ ठीक होगा तुम्हारा कल्याण हूं
मेरे बच्चे तुम्हें कभी ऐसा लगता है
मेरी जिंदगी में सब कुछ है पर कुछ भी नहीं
है
[संगीत]
कौन सी ऐसी वास्तु है जो मुझे कभी ना
मिटाने वाला आनंद प्रधान कर रही है
[संगीत]
इसकी क्या वजह है
यह प्रश्न बार-बार जब तुम्हारे हृदय पर
चोट करते हैं तो उसकी पीड़ा का आभास आप
मुझे भी होता है
मेरे बच्चे तुम्हारा जन्म क्यों हुआ इसका
उत्तर तुम्हें आज एन देता हूं
तुम मेरे सबसे प्रिया हो
मुझे तुम पर पूरा विश्वास है की जो कार्य
में तुम्हें दूंगा
मैं तुम किसी भी कीमत पर पूरा करोगे
इसी करण महायोग परिवर्तन कल में सत्य और
धर्म की रक्षा का कार्य मैंने तुम्हें
दिया है
क्योंकि मैं जानता हूं तुम वही हो जो अपने
भीतर की मार्शल को जलाकर धर्म की रक्षा कर
सकते हो
मेरे बच्चे तुम दूसरों से भिन्न इसलिए हो
क्योंकि तुम्हारा मां साफ है तुम अपने
सामने धर्म होते ना देख पाते हो ना सुन
पाते हो
इसमें तुम्हारा कोई दोस्त नहीं
तुम इस धरती के निवासी हो ही नहीं
तुम तो दिव्या लोग के निवासी रहे हो
इसी करण अभी भी वह पवित्र गन तुम्हारे
भीतर है जिन्हें तुम भूल जाते हो मेरे
बच्चे
मेरे प्रिया बच्चे जब भी तुम्हारा मां
विचलित हो तो एक बात याद रखना तुम्हारी
आंतरिक आवाज ईश्वर की आवाज है जो पहले
विचार तुम्हारे हृदय से उत्पन्न होता है
इस के अनुसार कार्य करो तुम्हें सफल होने
से कोई नहीं रॉक सकता क्योंकि सदैव
तुम्हारा मार्गदर्शन में करता आया हूं
जब तुम विचारों में उलझकर बाहरी धूम को
सुनते हो
तभी तुम विचलित होते हो जब जब तुमने अपना
ध्यान आंतरिक धुन पर केंद्रित किया
मेरे बच्चे तुम सही दिशा में हो
तुम्हें किसी भी प्रकार से डरने या घबराने
की आवश्यकता नहीं है इस वक्त तुम्हें अपने
चारों और अंधकार दिखाई पद सकता है
किंतु यह तब तक तुम अपने प्रकाश को नहीं
देखते तुम स्वयं एक प्रकाश मंडल हो
पुरी सृष्टि को प्रकाशित करने का प्रकाश
तुम्हारे भीतर है
फिर इस छोटे से अंधकार से भयभीत क्यों
होते हो अपना ध्यान मस्तक के बिशन बीच
केंद्र करो और मेरी आवाज ध्यान से सुनो
तुम अपार शक्तियों के मलिक हो तुम धर्म की
रक्षा के लिए पैदा हुए हो उठो और अपनी
शक्तियों को जागृत करो क्योंकि अब विलंब
करने का कोई लाभ नहीं
[संगीत]
तुम्हारे जीवन में कुछ अद्भुत घटित होगा
जो तुम्हारी सोच से पैर है

Leave a Comment