माँ महाकाली 🕉 Mahakali Urgent Message 🕉

मेरे बच्चे कैसे हो मैं जानती हूं कि तुम

मुझसे बहुत प्रेम करते हो इसीलिए मैं

तुम्हारे प्रेम बाध्य होकर तुम्हें एक

विशेष ज्ञान से अवगत करना चाहती हूं

तुम्हारे जीवन में जो घटित हो रहा है उसका

कारण केवल और केवल यह है कि तुमने उसकी

कदर नहीं की लेकिन मेरे बच्चे घबराने की

आवश्यकता नहीं है अभी भी तुम्हारे पास समय

शेष है इसीलिए आज मैं तुम्हें बता रही हूं

उसको ध्यान पूर्वक सुनो मेरे बच्चे

तुम्हें निश्चित ही यह करना होगा क्योंकि

जिस प्रकार दुर्घटना भले कितनी भी बड़ी

हो परंतु यदि समय रहते उसका उपचार नहीं

किया गया तो वह दुर्घटना व्यक्ति की जान

भी ले सकती है इसलिए तुम समय रहते इन

बातों पर ध्यान दो और एक बात का ध्यान

रखना कि पृथ्वी पर कुछ चीजें ऐसी हैं

जिनकी कदर यदि तुम ना करो तो निश्चित ही

संसार भी तुम्हारी कदर करना छोड़ देता है

जो मेरे साक्षात स्वरूप है उनकी कद्र करना

तुम्हारे लिए अत्यंत आवश्यक है जैसे कि

यदि तुम उस समय की कद्र नहीं कर पाते हो

जो तुम्हारे जीवन में तुम्हारा एक खास

मौका तुम्हें प्राप्त होता है यदि तुम उस

मौके की तलाश में यहां वहां भटकते रहते हो

और तुम्हारा हाथों से आया हुआ मौका भी तुम

गवा देते हो व्यर्थ की चिंता में तुम

कीमती समय निकाल देते हो इसके साथ ही

तुम्हें एक बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए

कि तुमने मुझे कभी प्रत्यक्ष देखा नहीं इस

संसार में मैंने तुम्हें भले ही भेजा है

लेकिन किसी के माध्यम से भेजा है जिसके

माध्यम से मैंने तुम्हें इस पृथ्वी पर

भेजा है तुम उनका निरादर करोगे या इज्जत

नहीं करोगे तो तुम जीवन में उन्नति तरक्की

तो बहुत दूर की बात है जीवन को सुखमय नहीं

कर पाओगे खुशियां तुमसे दूर भागी दुख

तुम्हारे पीछे साय की तरह पड़ जाएगी

क्योंकि इस बात को बहुत अच्छे से समझ लो

इस संसार में तुम्हारे लिए अगर किसी का

प्रथम स्थान है तो वह तुम्हारे माता-पिता

का है और दूसरा स्थान तुम्हारे गुरु का है

इनको कभी भी निरादर करते हो तो जीवन में

तुम पाप करते हो मेरे बच्चे तुम इस भ्रम

से बाहर निकलो तुम आंखें बंद करके किसी भी

मार्ग को कैसे चुन सकते हो किसी भी मार्ग

पर चलने से पहले तुम्हें उस मार्ग का आकलन

करना होगा कि वह मार्ग तुम्हारे लिए सही

है या नहीं यदि तुम किसी गलत मार्ग को

चुनते हो तो उस पर प्राप्त होने वाली

मंजिल से वंचित रह जाते हो इस बात का खास

ख्याल रखना कि तुम्हारे चुने हुए मार्ग का

सही होना अत्यंत आवश्यक है मेरे बच्चे इस

बात का विशेष ध्यान रखो कि यदि जीवन में

तुम अपने मन का और हृदय का का शुद्धिकरण

करने के लिए सुबह प्रातः काल एकांत में

बैठकर तुम अपनी अंत आत्मा में झांक कर

देखो कि तुम्हारा मन क्या सोचता है क्या

चाहता है और यदि तुम्हारे मन में कुछ ऐसे

विचार आते हैं जो तुम्हारे जीवन में आगे

के मार्ग के लिए सही नहीं है तो उन

विचारों को रोकने का हर संभव प्रयास करो

मैं स्वयं हाथ पकड़कर ऐसे मुकाम पर

तुम्हें लेकर जाऊंगी जहां तुम्हें पहले से

अधिक निश्चित ही सफलता प्राप्त

होगी और जीवन में तुम्हारा किसी भी

व्यक्ति के गलत करने पर भी तुम्हारा कोई

कुछ बिगाड़ नहीं सकता क्योंकि जो मेरे

बताए हुए रास्ते पर चलता है उनके साथ मेरी

शक्तियां चलती हैं और जिनको मेरे साथ-साथ

शक्ति प्राप्त होती

है क्योंकि वह शक्ति तो तुम्हारा एक

सुरक्षा कवच बनकर तुम्हारी रक्षा करती है

वह शक्ति तुम्हें गलत मार्ग पर भी जाने से

रोक लेती है क्योंकि तुम्हारे दिल में अब

सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न होती है जो

तुम्हारे हाथों से गलती नहीं

होगी मेरे बच्चे मैं तुम्हें एक बात बताना

चाहती हूं कि तुम वक्त की वे कदर मत करो

मेरे बच्चे आज मेरी बातों को शीघ्र ही

अपना कर अपने जीवन में होने वाली मुसीबत

से स्वयं को बचाओ तुम मुझे जब याद करते हो

मैं आ जाती हूं तुम्हें मार्गदर्शन कराने

मेरे बच्चे इस संसार के हर चीज से प्रेम

करना सीख लो ब्रह्मांड की हर चीज से करो

मैं ब्रह्मांड के हर पत्ते पत्ते में

स्थित हूं इसके अलावा अपने माता-पिता से

प्रेम करो प्रेम को पाने का सबसे सरल

मार्ग है मां की ममता को पाना चाहे वह फिर

मेरा प्रेम हो या जन्म देने वाली मां का

जो कि निस्वार्थ होता है प्रेम स्वयं में

इतना महान होता है कि इसमें कुछ गलत सही

नहीं होता प्रेम ही तो है जो सबसे शुद्ध

और सच्चा होता है प्रेम तुम्हारे हृदय में

नकारात्मक ऊर्जा को नष्ट कर देता है और

सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न करता है तब

तुम्हारे हृदय में मेरे प्रति प्रेम बनकर

वास करता है यह ऊर्जा तुम्हारे जीवन में

बहुत महत्व रखती है इस ऊर्जा के बिना

तुम्हारा जीवन उस पेड़ की तरह है जिस पर

फल नहीं जिसका कोई महत्व ही नहीं ऊर्जा ही

है जो तुम्हें खुश और तरोताजा रखती है इस

ऊर्जा के बिना बेजान मुर्दे की तरह

तुम जो चाहते हो जैसा चाहते हो मैं

तुम्हारी हर इच्छा पूरी करती हूं और

तुम्हारा मुझसे प्रेम करना भी ऊर्जा का

अनुभव कराता है शायद तुम्हें ज्ञात नहीं

कि तुम्हारे अंदर एक ऊर्जा छुपी हुई है जब

माता-पिता और मुझसे प्रेम करते हैं तब

तुम्हें प्रेम की ऊर्जा का सही अनुभव होता

है तुम्हारा प्रेम ही तो है जो तुम्हें हर

कदम पर सही मार्ग दिखाता है और उन्नति

दिलाता है क्योंकि प्रेम से ही सभी काम

बनते हैं और क्रोध से बिगड़ जाते हैं

इसलिए अधिक से अधिक प्रेम करो तुम मेरी इस

कही हुई बात पर विशेष ध्यान देना मैं कदम

कदम पर तुम्हारे साथ हूं तुम्हारे जीवन

में जो बदलाव हो रहे हैं उस बदलाव को

तुम्हें अपने जीवन का हिस्सा ही समझना

चाहिए क्योंकि यह बदलाव आने वाले जीवन के

लिए आवश्यक है यह बदलाव तुम्हारे स्वयं के

विकास के लिए हैं जब तुम एक छोटे से बीज

को लगाते हो तब वह एक छोटा सा बीज समय के

साथ बदलकर एक विशाल पेड़ बन जाता है तभी

तुम्हें उस छोटे से बीज का महत्व समझ आता

है और तभी तुम परिवर्तन के चक्र को समझ

पाते हो कि परिवर्तन जीवन के लिए कितना

आवश है इसलिए परिवर्तन इसलिए परिवर्तन से

डरना नहीं चाहिए बल्कि परिवर्तन के साथ

चलना चाहिए यह बदलाव तो सभी के जीवन में

आते रहते हैं और यह बदलाव बेहद आवश्यक

होता है तुम्हारे जीवन के विकास के लिए

संसार में हर क्षण बदलाव होते रहते हैं

मनुष्य के जीवन में बदलाव होना कुछ गलत

नहीं है तुम जितने जल्दी इस परिवर्तन को

अपनाते हो उतनी ही जल्दी से अपने जीवन में

सफलता के मार्ग पर खुल जाते हो जीवन में

बदलाव इसलिए आते हैं जिससे तुम जीवन में

आगे बढ़

सको नई नई चीजों को सीख सको नई नई चीजों

का अनुभव कर सको बदलाव किसी भी मनुष्य के

जीवन में उसे रोके ही आता बल्कि वह अपने

जीवन में तरक्की कर सके इसलिए आता है

इसलिए इससे डरना नहीं है बल्कि खुश होकर

उसे स्वीकार

करो अब और नहीं मेरे बच्चे जितना तुम सहन

कर सकते थे उतना तुमने सहन किया लेकिन अब

बहुत हुआ कठिनाइयां झेलते हुए तुमने यह जो

कर्म किए हैं तुम्हारी इन कर्मों ने मुझे

प्रसन्न कर दिया है और तुमने मुझे अपनी ओर

आकर्षित किया है अपने आपको परिश्रम से और

विश्वास से तुम यहां तक पहुंचे हो तुम सब

बच्चों से अलग हो मेरे बच्चे क्योंकि

तुमने औरों की तरह रोने में अपना समय और

किस्मत को खराब नहीं किया बल्कि तुमने

भाग्य को मेरी सहायता से और स्वयं के

कर्मों से बदलने की कोशिश की है और तुम

निश्चिंत ही अपने कर्मों के द्वारा अपनी

किस्मत को बदल पाए हो तुमने मुझे विवश कर

दिया है कि मैं तुम्हारे भाग्य को सौभाग्य

में परिवर्तित करूं मेरे बच्चे जो लोग हार

मानकर बैठ जाते हैं और अपने जीवन में

निराश होकर गलत रास्ते को चुन लेते हैं

चोरी चकारी करते हैं और किसी के पराय धन

पर गलत निगाहें डालते हैं अपने कर्मों को

सही नहीं करते और वहीं किसी भी तरीके से

धन को अर्जित करने की कोशिश करने वाले

व्यक्ति असाय व्यक्ति को परेशान करते हैं

और अन्य गलत कार्य करते हैं उन सभी बच्चों

को तुमने गलत साबित कर दिया तुमने साबित

कर दिया है कि भाग्य को बदला भी जा सकता

है बस कर्म करने की कमी होती है मेरे

बच्चे तुमने बता दिया दुनिया के हर

व्यक्ति को कि यदि जीवन में कुछ ठान लो तो

हर चीज संभव है इसके साथ ही तुम नियमों को

कभी नहीं तोड़ते मैं मैंने बहुत बार देखा

है कि तुम प्रतिदिन मुझे पूजा करते हो कई

बार तो ऐसा हुआ है लोगों के लिए बहुत सारी

बारिश होते हुए मुझ तक नहीं आए लेकिन

तुमने ना बारिश को देखा है कि जो बस

तुम्हें मन में एक ही धारणा हुई कि मुझे

पूजा करने जाना है और तुम आए मुझे

तुम्हारी ऐसी ही बातें तुम्हारी ओर

आकर्षित करती हैं मुझे बाध्य करती हैं

मेरे बच्चे दो ही चीज ऐसी हैं जो इंसान तो

क्या मुझे भी अपनी ओर आकर्षित करती हैं

पहला तुम्हारा प्रेम और दूसरा तुम्हारे

विश्वास पर जो कि पूरी सृष्टि को झुकाने

की ताकत रखती है विश्वास ही वह चीज है जो

तुम्हें जीवन में सब कुछ प्राप्त कराने की

ताकत रखती है जो विश्वास और सब का मान

रखते हैं वैसे ही तुम्हारी यह कर्म है जो

मुझे मजबूर कर देते

कि मैं तुम्हें ऊंचाइयों पर लेकर जाऊं

इसलिए मेरे बच्चे मैंने यह निर्णय लिया है

और यह मैं तुमसे वादा करती हूं कि अब बस

बहुत हो चुका तुमने अपने जीवन में बहुत

सहन कर लिया तुम्हारे कांटों से भरे जीवन

का मार्ग अब फूलों से भरा होगा तुम्हारे

जीवन में जितनी भी उलझन थी वह भी मैं

समाप्त कर दूंगी आने वाले पल तुम्हारे

खुशि से भरे भरे होंगे तुम्हारे जीवन में

गम का तिनका भी नहीं होगा और खुशियों की

बहार तुम पर बारिश करेगी अब हर इच्छा

तुम्हारी पूर्ण होने के लिए तैयार है तुम

बस एक कार्य को करना प्रारंभ करो मेरे

बच्चे कल से भोलेनाथ को तुम जल अर्पित करो

और शाम के वक्त तुम उनके सामने दीपक दिखाओ

और उनके नियमों को निभाओ और आने वाले

दिनों में गलत चीजों का सेवन मत करना और

उनको प्रसन्न करने के लिए तुम्हें उन्हें

प्रतिदिन भांग चढ़ाना मेरे बच्चे भोलेनाथ

तुम्हारी भावना के भूखे हैं इतना करते ही

वह तुमसे अत्यधिक प्रसन्न होंगे मेरे

बच्चे तुम्हारी सबसे बड़ी शक्ति तुम्हारा

वही बनेंगे तुम्हारी गति को और बढ़ा देंगे

तुम्हारा वेट लगातार बढ़ता ही जाएगा

तुम्हारे मन की आकर्ष शक्ति को अत्यधिक

भंसाली करेंगे तुमको हर कार्य को करने की

उमंग भर देंगे मेरे बच्चे तुम्हारे हृदय

में कुछ भी कर गुजरने की शक्ति प्रदान

करने वाले हैं क्योंकि प्रेम वह शक्ति है

जब तुम किसी को सच्चा प्रेम करते हो तब

तुम उनकी खुशियों का ज्यादा ख्याल रखते हो

तुम चाहते हो कि तुम्हारी वजह से कोई कमी

ना रहे सारे संसार की खुश खुशिया तुम उसे

देना चाहते हो और तुम अपने प्रेम से बहुत

खुश होते हो तुम्हारी खुशियां उसी से

मिलती हैं तुम गलती नहीं करते हो और जब

तुम अत्यधिक खुश होते हो तुम्हारे हर

कार्य में मन लगाकर पूरी शक्ति से कार्य

को और शक्ति से किए गए कार्य शीघ्र ही

सफलता प्राप्त होती है क्योंकि यही प्रेम

की शक्ति है इस शक्ति से तुम किसी भी

मंजिल को प्राप्त करने की शक्ति प्राप्त

होती है मन में उमंग उठती है यह प्रेम की

शक्ति तुम्हें मुझसे और भोलेनाथ से

प्राप्त होती है और तुम्हारे माता-पिता से

प्राप्त होती है और तुम्हारे जितने भी

अपने हैं उन सबसे प्राप्त होती है क्योंकि

प्रेम एक डोरी है जो तुम्हें बांध कर रखती

है और नफरत वह कैची है जो सब कुछ काटकर

अलग-अलग कर देती है मेरे बच्चे तुम सबसे

और मुझसे बहुत प्रेम करो मेरे बच्चे

तुम्हारे अंदर जो भी प्रेम और सोहत की

भावना है तुम्हें उसका इस्तेमाल सबसे पहले

स्वयं की देखभाल करने में करना चाहिए

तुम्हें स्वयं से पूर्ण बनने का प्रयास

करना चाहिए संसार में सदा सदैव तुम्हारी

रक्षा के लिए कोई नहीं आएगा तुम्हें अपने

जीवन के पथ पर अकेले ही आगे बढ़ने की

क्षमता रखनी चाहिए क्योंकि एक तुम ही हो

जो स्वयं का साथ जीवन भर दोगे तुम्हें इस

बात का सदैव स्मरण रखना चाहिए कि यदि तुम

वर्तमान के अलावा किसी और समय की बात को

लेकर परेशान हो तो वह परेशानी एकदम व्यर्थ

है यदि तुम बीते हुए कल या आने वाले कल को

लेकर ही परेशान रहोगे तो तुम और किसी का

नहीं बल्कि स्वयं को हानि ही हानि पहुंचाओ

ग मेरे बच्चे प्रसन्न जीवन का सबसे छोटा

मार्ग है स्वयं से प्रेम करना यदि तुम

स्वयं से अटूट प्रेम करते हो तो तुम्हारे

जीवन में चाहे कितनी भी परेशानियां क्यों

ना आए तुम्हारी खुशियों का अंत कभी नहीं

होगा मेरे बच्चे इस कार्य को साधारण मत

समझना लेकिन यदि मेरे बच्चे जो कार्य

देखने में बहुत साधारण लगते हैं परंतु

उसके अंदर इतनी शक्ति होती है कि वह

तुम्हारे जीवन को एक नई दिशा में मोड़

सकती है इसलिए किसी भी कार्य को छोटा मत

समझना सभी कार्य अपनी अपनी जगह अहम भूमिका

रखते हैं और तुम्हारी परिश्रम पूर्ण

निष्ठा और विश्वास के साथ है तो तुम्हें

फल जरूर मिलेगा मैं जानती हूं कि तुम्हारा

मुझ पर अटूट श्रद्धा और विश्वास है इसलिए

मैं हमेशा तुम्हें सही मार्ग बताती हूं

मैं कभी भी तुम्हें भटकने नहीं दूंगी तुम

मेरे प्रिय भक्त हो और मैं हमेशा तुम्हारे

साथ रहूंगी चाहे परिस्थिति कैसी भी क्यों

ना हो मेरे बच्चे तुम बिल्कुल भी चिंता मत

करना मैंने तुम्हारे लिए सारे द्वार खोल

दिए हैं अब तुम्हारी सफलता निश्चित है जो

भी तुम्हारे मार्ग में रुकावटें थी वह सब

अब दूर हो चुकी हैं अब केवल तुम्हारे

मार्ग में खुशियां ही खुशियां हैं जो

तुम्हें तुम्हारी सफलता के लिए अति आवश्यक

है

तुम्हा

Leave a Comment