मां आदिशक्ति 🕉️मेरे बच्चे मैं तुमसे बात करने के लिए रोई हूं मैं तुमसे अभी बात करना चाहती

मेरे बच्चे मैंने तुम्हारी पुकार सुन ली

है यदि तुम्हें मेरा संदेश मिला है तो मैं

तुम्हें वरदान दूंगी इससे पहले जो बता रही

हूं उसे ध्यानपूर्वक सुना बहुत जरूरी है

मेरे बच्चे कल के दिन मैं तुम्हें वरदान

उसे समय दूंगी जी समय मैं तुम्हें बता रही

हूं लेकिन उसके लिए तुम्हें एक कम करना

होगा

मेरे वरदान का कभी तुम गलत फायदा मत उठाना

क्योंकि तुम्हें मिली हुई शक्ति तुम्हें

मिला हुआ वह चीज जो मैं तुम्हें देने वाली

हूं

इस का तुम भला ही करना लेकिन किसी का

नुकसान कभी मत करना ऐसा कोई कार्य मत करना

जिससे किसी के हृदय को कष्ट हो क्योंकि जो

वरदान में तुम्हें देने वाली हूं

उससे तुम्हारा केवल अपना भला हो और दूसरों

का भी भला हो अगर ऐसा कार्य करोगे तो वह

वरदान तुम्हारे जीवन में मेरे आशीर्वाद से

फलेगा फूलेगा और तुम बहुत आगे तक जा पाओगे

मेरा वरदान तुम्हें शक्ति से परिपूर्ण

बनाने का है तुम इतने शक्तिशाली हो जाओगे

केवल हृदय से ही नहीं कोई कार्य को करने

से भी

और तुम्हारा दिमाग भी एक शक्तिशाली दिमाग

बन जाएगा जो हर मुसीबत से कैसे निकालना है

वह सोच पाओगे मेरे बच्चे इसे लाइक करके

अपना नाम टाइप करो मेरे बच्चे जी प्रकार

मैंने बुराई की नस थी ऐसे ही तुम संसार

में लोगों की सहायता करने के समाज उतने ही

श्रेष्ठ व्यक्ति बन पाओगे

क्योंकि मेरे बच्चे जो श्रेष्ठ होता है

वही किसी की मदद कर पता है कमजोर व्यक्ति

किसी की क्या मदद करेगा उसे तो खुद सहायता

की जरूर होती है इसलिए तुम कभी भी अपनी

शक्ति का दुरुपयोग मत करना इस बात का खास

ख्याल रखना कल संध्याकाल में जब तुम मेरे

समक्ष दीपक जल आओगे कुछ समय केवल एक कम

करना

कुछ समय के लिए एकांत मां करके बैठना और

सोचना की इस संसार में तुमसे तुम्हें सबसे

बड़ा क्या लगता है कौन सी ऐसी मंजिल है जो

सबसे बड़ा है वैसा ही कोई भी उभर तो मुझे

मांग लेना उसे समय जब तुम्हारे मां की

शक्ति बहुत ज्यादा बड़ी हुई होगी और जी

कार्य पर तुम्हें अंदर से यह विश्वास हो

की हां वह मंजिल तुम्हारे लिए ही बनी है

या वह खुशी तुम्हें मिलनी ही चाहिए तो

यहां मेरा तुमसे वादा है और मेरा तुम्हारे

लिए वरदान भी है जी समय तुम्हें तुम्हारे

हृदय से ऐसे ही आवाज आने लगेगी की यह

मंजिल तुम्हारे लिए बनी है और तुम इसके

अधिकारी हो

तुम्हें यह चीज मिलनी ही चाहिए तब

तुम्हारे लिए मैं यह तुम्हारे जीवन में

सत्य करूंगी मेरे बच्चे मैं तुम्हें दुखी

नहीं देख शक्ति लेकिन जीवन में तुम्हारी

की गई कुछ ऐसी गलतियां जिनको तुम्हें

भुगतना पड़ता है और उसे समय मैं मजबूर हो

जाति हूं क्योंकि मेरे बच्चे प्रकृति का

और संसार में हर देवी देवता का यही नियम

है कर्म का फल तो भोगना ही पड़ता है वह

अच्छा हो या बड़ा उसमें छह कर भी मैं

तुम्हें तुम्हारे कासन से बच्चा नहीं

शक्ति अगर कुछ करना है तो उससे पहले

तुम्हें अपने कर्मों पर भी ध्यान देना

होगा मेरे बच्चे मुझे मानते हो तो हां

टाइप करके इस चैनल को सब्सक्राइब करो

मेरे बच्चे अच्छा करना तो दुनिया में हर

व्यक्ति चाहता है लेकिन मेरे बच्चे खुद

अच्छा कोई नहीं करना चाहता जैसे तुम अपने

लिए चाहते हो वैसा ही करना प्रारंभ करो तब

तुम्हें कुछ मांगने की जरूर नहीं होगी सब

कुछ बिन मांगे ही मिल जाएगा क्योंकि जैसा

तुम दूसरों को देते हो वैसा खुद ना खुद

प्राकृतिक तुम्हारी और खींच कर ले आई है

तुम्हारा मां स्थिर होता है तभी तुम्हारे

मां की शक्ति कई गुना बाढ़ जाति है मेरे

बच्चे तुम्हारी इस खराब हालात के

जिम्मेदार तुम नहीं हो बल्कि कोई और है

इससे पहले की वह तुम्हें पूरा बर्बाद कर

दी उसे अपने जीवन से निकाल फेंका नहीं तो

बहुत तुम्हें कहानी और का नहीं छोड़ेगा

यदि तुम चाहते हो की सदैव तुम्हारी ऐसी

हालात ना रहे

तो तुम्हारी जीवन से उसको निकालना अति

आवश्यक है क्योंकि उसके रहते हुए तुम्हारा

जीवन बहुत ज्यादा अस्त व्यस्त हो रहा है

मेरे बच्चे तुम मुझे एक बात का जवाब दो

जीवन में सबसे आवश्यक क्या है तुम्हारे

लिए यही ना की तुम अपने जीवन में खुशियों

को प्राप्त करो संसार में तुम्हारी हर

इच्छा पुरी हो

ऐसे में यदि किसी करण बस तुम्हारा मार्ग

कोई रोकने की कोशिश करता है तो निश्चित ही

बात तुम्हारा सबसे बड़ा दुश्मन है और जब

तक तुम्हें अपने दुश्मन के बड़े में बताना

हो तो तुम अपने दुश्मन को अपने मार्ग से

हटा नहीं सकते क्योंकि मार्च से हटाने के

लिए उसको जानना तुम्हारे लिए अति आवश्यक

है

वही मैं तुम्हें आज ज्ञात कराऊंगी की वह

कौन है और उसे अपने मार्ग से हटाने का

रास्ता भी तुम्हें दिखाऊंगी बस तुम

ध्यानपूर्वक मेरी सभी बटन को सुना और

समझना

निश्चित ही तुम्हारी मार्ग में आने वाली

मुसीबत समाप्त हो जाएगी और तुम्हारे जीवन

में चमत्कार होगा बिगड़ने हुए सभी कार्य

बने ग जाएंगे मेरे बच्चे इस संदेश को शेर

करना और अब टाइप करना मेरे बच्चे में

जानती हूं की तुम्हारे अंदर मां में यही

बात बार-बार घूम रही होगी की वह व्यक्ति

कौन है

जो तुम्हारे रास्ते में रुकावट बन रहा है

और तुम इस बात को जन के लिए बहुत बेचैन हो

रही हो मेरे बच्चे तुम्हें चिंतित होने की

कोई आवश्यकता नहीं है क्योंकि वह कोई

व्यक्ति नहीं है जो तुम्हारे रास्ते में

रुकावट बन रहा है और तुम्हारे कार्य को

पूरा नहीं होने दे रहा है वह तुम्हारा ही

अलसी है

जो की तुम्हारा सबसे बड़ा दुश्मन है बनते

बनते कार्य को बिगाड़ देता है इसलिए मेरे

बच्चे तुम जीवन में यदि सोची हुई मंजिल को

प्राप्त करना चाहते हो तो तुम्हें उसे

त्याग कर देना चाहिए मेरे बच्चे जब

तुम्हें मंजिल प्राप्त कुछ समय के लिए ना

होता है तो चिंतित होकर तुम बार-बार उन

बटन को सोचते रहते हो

और तुम्हारा शरीर कम करना बैंड कर देता है

बस दिमाग कम करता है मेरे बच्चे यह सब

अलसी का करण होता है तुम्हारा अवचेतन मां

जो सोचता ज्यादा है और शरीर इतना कम नहीं

कर पता इसलिए अपने शरीर को अलसी त्याग कर

ऐसा बना जिससे की वह कम अत्यधिक करें

परिश्रम करने के लिए हमेशा तुम्हारा शरीर

तत्पर रहे

पर निश्चित ही मेरी इस बात पर तुम खुद

विश्वास करो की जैसे तुम यहां करना

प्रारंभ करोगे तुम्हारे जीवन की कठिनाइयां

झट से समाप्त हो जाएगी यदि तुम अपने शरीर

से अलसी को निकालना में सक्षम नहीं हो तो

उसके लिए तुम प्रतिदिन सुबह सूरज निकालने

से पहले उठो और सूर्य को जल और कुमकुम एक

लोट में डालकर

उसमें एक पुष्प डालकर

सुख जल अर्पित करो और अपने मां को शांत

रखना का संकल्प लो और यह संकल्प तुम्हारे

हाथों से टूटना नहीं चाहिए क्योंकि मेरे

बच्चे सोचता तो हर कोई है परंतु उसे मां

पर कितनी कठिनाइयां कितनी मुश्किलें आई है

[संगीत]

तो तुम्हें मंजिल प्राप्त हो पाएगी उसके

लिए तुम्हें अलसी से दूर रहना होगा

क्योंकि लगातार अभ्यास करने से ही तुम

किसी भी कार्य में सक्षम हो पाओगे और आनंद

से करोगे तो तुम प्रयास कर नहीं पाओगे

क्योंकि अलसी के करण व्यक्ति अपने जीवन का

कीमती समय नष्ट कर देता है बाद में उसे

व्यक्ति को पछतावा भी होता है लेकिन समय

बीट जान पर वापस नहीं आता है

आदत से ही दरिद्रता का करण है जीवन और समय

के महत्व को ना समझना वाला अपना कीमती

जीवन और समय अलसी के करण गाव देता है

[संगीत]

इसलिए मेरे बच्चे अलसी को जितना जल्दी हो

सके उतना जल्दी त्याग दो मेरे बच्चे मैं

नहीं चाहती की तुम आलसी की वजह से जिंदगी

बर्बाद करो मेरे बच्चे मैं हर पाल

तुम्हारे साथ होती हूं हर पाल तुम्हारे

सुरक्षा करती हूं मैं जानती हूं की तुम

लोगों की सदैव ही मदद करते हो तुम लोगों

से अत्यधिक प्रेम करते हो

इसी करण से मैं तुम्हें अत्यधिक पसंद करती

हूं इसी वजह से तुम्हारे पास आई हूं की

मेरे बच्चे को कष्ट हो रहा है मेरे बच्चे

तुम बहुत ही ज्यादा भोले हो और इसी भोलेपन

के करण ही लोगों ने तुम्हारा बहुत ही

फायदा उठाया है लोग तुम्हारे साथ गलत करते

हैं तुम्हें बड़ा तो लगता है

की जिनके लिए तुम इतना करते हो जिनके लिए

इतना सोचते हो वही लोग जब तुम्हें धोखा

देते हैं और तुम किसी कहते नहीं हो परंतु

अंदर से तुम टूट जाते हो मेरे बच्चे तुम

बहुत सच्चे और बहुत ही ज्यादा अच्छे हो

मैं जानती हूं की तुम्हारे कुछ कुछ शत्रु

भी है जो तुम्हारा भला नहीं चाहते हैं

वह तुम्हें खुशी देखना नहीं चाहते क्योंकि

तुम जितने ही अच्छे होंगे उतने ही लोग जो

बुरे होते हैं बड़ा कार्य करते

[संगीत]

[संगीत]

क्योंकि तुम मेरे बताए गए मार्ग पर चलते

हो क्या तुम यह जानते हो तुमसे भी कुछ

कर्म गलत होने वाले होते हैं परंतु मैं

तुम्हारा हाथ थम लेती हूं मैं तुम्हें हर

बुरे कार्य को करने से बचती हूं मेरे

बच्चे जो कुछ भी तुम्हारे जीवन में इस

वक्त हो रहा है इसके पीछे एक बहुत बड़ा

उद्देश्य छुपा हुआ है

मैं जानती हूं की तुम बहुत ही जल्दी घबरा

जाते हो तुम बहुत ही जल्द हर मां लेते हो

परंतु तुम यह तो जानते हो की इस धरती पर

जो होता है अच्छे के लिए होता है और उसके

पीछे कुछ वजह होती है मेरे होते हुए दुखी

क्यों होते हो

मेरे बच्चे तुम मेरी इतनी आराधना करते हो

मुझे तुम सच्चे दिल से मानते हो तो फिर

क्यों डरते हो हर पाल मैं तुम्हारे साथ

हूं तुम्हें मैं सदा तुम्हारे शत्रुओं से

बचती हूं और आगे भी बचती रहूंगी मैं

तुम्हें कुछ भी नहीं होने दूंगी अपनी मां

पर भरोसा रखो मेरे बच्चे मैं जानती हूं की

तुम भी यही तलाश कर रहे हो

जो हर कोई करता है हर कोई अपने लिए अच्छे

मित्र अच्छे साथी की तलाश करता है और वह

उनके अच्छे गन को ढूंढता है परंतु एक ही

व्यक्ति में तुम जो अच्छे गुना को ढूंढते

हो वह तुम्हें कभी नहीं मिलेगा क्योंकि

संसार में कोई भी मनुष्य ऐसा है ही नहीं

जिसमें तुम्हारे मां के अनुसार सारे गन हो

Leave a Comment