मां आदि शक्ति 🕉️ तुम बेहद भाग्यशाली हो जो तुम्हें यह मिला हैं

मेरे बच्चे आज का दिन बहुत ही शुभ है आज
से अन्याय की डोर मैं अपने हाथों में लेने
वाली हूं जो हमेशा सत्य के मार्ग पर चलते
हैं वह एक सकारात्मक ऊर्जा को अनुभव कर
रहे

होंगे मेरे बच्चे क्या तुम अपने बारे में
इतनी बड़ी बात जानते हो आज जान लो तुम
मेरे सबसे प्यारे बच्चे हो तभी तो मैं
तुम्हारी प्रार्थना सुन लेती हूं मैंने

तुम्हारे बारे में यह जाना है कि तुम्हारे
हृदय में सभी के लिए केवल प्रेम ही
है तुम इस संसार के सभी व्यक्तियों के लिए
अपने हृदय में केवल प्रेम और कृतज्ञता
रखते हो तुम्हारा मन बिल्कुल साफ और सच्चा
है तुम्हारे जीवन में जो कुछ भी तुम्हें

प्राप्त हुआ है तुम उन सभी चीजों के लिए
सदैव आभार व्यक्त करते आए
हो मेरे बच्चे तुमने अपनी जिंदगी में इतने
बर्ताव की वजह से तुम हमेशा उत्तम से

उत्तम परिस्थितियों को अपनी ओर आकर्षित
करते हो तुम्हारे ऐसे व्यवहार की वजह से
तुम सदा अपने जीवन में दुखों के बावजूद भी
खुशी को ही चुनते आए

हो मेरे बच्चे क्या तुम इस प्राकृतिक में
एक शुद्ध हवा एक शुद्ध अनुभव को महसूस कर
पा रहे हो आज यह हवा ईश्वर का गुणगान कर
रही है आज से सब कुछ बदलने वाला है हर एक
चीज में बदलाव आएगा क्योंकि आज का दिन और
आने वाला दिन अत्यंत शुभ है जो व्यक्ति

अपने जीवन के अनगिनत दुखों के बावजूद भी
खुश रह सकता है वह अपने जीवन में कुछ भी
कर सकता है और ऐसे व्यक्ति के जीवन में
स्वयं ईश्वर उनके पथ पर आगे जाने के लिए
सहयोग देते

हैं मेरे बच्चे सफलता तुम्हारे द्वार पर
दस्तक दे रही है तुम्हें बस द्वार को
खोलना है तुम अपने जीवन के प्रति कृतज्ञ
हो और संसार के सभी जीवों के प्रति परस्पर
प्रेम भाव रखते हो मेरे बच्चे तुम्हारे

सच्चे मन के ऐसे प्रतिपक्ष की वजह से तुम
बड़ी ही सरलता से सभी पर विश्वास कर लेते
हो तुम स्वयं के जैसे ही सच्चाई सभी के मन
में देखते हो सभी को अपने जैसा ही मानकर
तुम उनकी कई तरह से मदद भी कर देते
हो मेरे बच्चे तुम्हें लगता है कि सभी लोग
तुम्हारे विश्वास के पात्र हैं किंतु ऐसा

नहीं है सभी व्यक्ति तुम्हारे भरोसे के
लायक बिल्कुल भी नहीं होते ते हैं तुम्हें
यह बात मानना आवश्यक

है तुम्हारे इसी विश्वास का गलत फायदा
उठाकर वह लोग तुम्हारे साथ विश्वास घात
करते हैं और तुम्हारा कई तरह से नुकसान भी
होता है मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन को लेकर

जो सोच है वह बहुत अच्छी है मैं इससे बहुत
प्रसन्न हूं परंतु तुम्हें सदैव दूसरों पर
विश्वास करने से पूर्व

सतर्क भी रहना चाहिए तुम्हें यह समझना
होगा कि जैसे तुम संसार के सभी का भला
सोचते हो वैसे ही सोच सभी की नहीं होती
सभी ऐसा नहीं सोचते

हैं मेरे बच्चे इस संसार में ज्यादातर
व्यक्तियों की सोच में कपट भरा हुआ है
तुम्हें ऐसे व्यक्तियों से बचकर रहना
चाहिए यह बहुत आवश्यक है तुम्हारे लिए
तुम्हें किसी भी व्यक्तियों पर आसानी से
विश्वास नहीं कर लेना

चाहिए किसी भी व्यक्ति पर विश्वास करने से
पूर्व तुम्हें उस व्यक्ति से जुड़ी सभी
बातों की अच्छे से जांच कर लेनी चाहिए
उसकी विश्वास पात्रता को सुनिश्चित कर
लेना चाहिए तुम्हें स्वयं पर गर्व होना
चाहिए कि तुम्हारे जैसे इस संसार में

सच्चे और अच्छे व्यक्ति बहुत ही कम
है मेरे बच्चे तुम्हारे जैसे व्यक्तियों

को इस संसार को अधिक से अधिक आवश्यकता है
मेरे बच्चे जीवन में चाहे कुछ भी करो बस
एक बात याद रखना अगर सत्य के साथ हो तो
ईश्वर के साथ

हो क्रोध को प्यार से बुराई को अच्छाई से
स्वार्थ को उदारता से और झूठे व्यक्ति को
सच्चाई से जीता जा सकता है बस अच्छा काम
करते रहो मैं तुम्हारा साथ कभी भी नहीं
छोडूंगी

मेरे बच्चे कोई तुम्हारा सम्मान करे या
अपमान मैं अपने बच्चे का सम्मान जरूर करती
हूं इसलिए तुम्हें अपने सम्मान की चिंता
करने की कोई आवश्यकता नहीं है मैं तो सब
जानती हूं कि किसका सम्मान करना
है मेरे बच्चे स्वाभिमान तुम्हारे

लड़खड़ाते कदमों को ऊर्जावान कर उनमें
दृढ़ता प्रदान करता है कठिन परिस्थितियों
और विपन्न अवस्था में भी स्वाभिमान
तुम्हें डूबने नहीं देता अभिमान अज्ञान के
अंधेरे में ढकेल होता

है अभिमान ज्ञान घमंड और अपने को बड़ा
ताकतवर समझकर झूटा बनाता है व्यक्ति को
अपने ज्ञान का अभिमान तो होता है लेकिन
अपने अभिमान का ज्ञान नहीं होता है मेरे
बच्चे अपने स्वाभिमान को जांच रहो कहीं ये
अभिमान में तो नहीं बदल रहा

मेरे बच्चे अभिमान के रास्ते बड़े सूक्ष्म
होते हैं कभी यह त्याग के रास्ते आता है
कभी विनम्रता के कभी भक्ति के तो कभी
स्वाभिमान के इसकी पहचान करने का एक ही
तरीका है जहां भी मैं का भाव उठे तो समझ
जाना कि अभिमान उत्पन्न हो रहा

है अगर अभिमान उत्पन्न हो रहा है तो उसे
अभी रोक लो मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे
साथ है मेरे अगले संदेश की प्रतीक्षा करना
मैं फिर आऊंगी तुमसे मिलने ओम नमः शिवाय
जय मां काली जय मां काल

रात्रि मेरे बच्चे मैं तुम्हें बहुत लंबे
समय से सुनते आ रही
हूं मैंने तुम्हारी हर बात हजार बार सुनी
है कि तुम्हें कोई नहीं

समझता और इसकी वजह से तुम दुखी हो जाते हो
और अपने आत्मविश्वास को हानि पहुंचाते
हो मेरे प्यारे बच्चे एक बात को हमेशा
ध्यान रखो कि इससे कोई फर्क नहीं
पड़ता कि तुम्हें कोई समझ रहा है या नहीं
अपितु फर्क इससे पड़ता है कि क्या तुम

उनकी बातों को दिल पर लगा बैठे हो क्योंकि
अगर ऐसा है तो तुम बहुत बड़ी समस्या में
हो क्योंकि इस प्रक्रिया में तुम्हारा मन
प्रभावित हो रहा

है किसी भी बुरे विचारों को तुम्हें अपने
मन में जगह नहीं देनी
है हमेशा सकारात्मकता की ओर आगे बढ़ना है
अपने मन के नकारात्मक ख्यालों से बाहर
निकलो

सच क्या है यह समझने की कोशिश करो स्वयं
के कर्मों को दर्पण में
देखो और इसका आकलन करो कि कौन सी विचारों
को ग्रहण करना तुम्हारे लिए उत्तम रहेगा
और कौन से विचारों को ग्रहण करना अच्छा
नहीं

रहेगा याद रखो मेरे बच्चे इंसान अपने
विचारों से बड़ा होता है इसलिए अपने
विचारों को उच्च श्रेणी का
बनाओ तुम्हारा कल्याण

हो मेरे बच्चे तुम्हें हमेशा मुझसे यह
शिकायत रहती है कि जिसने भी तुम्हारे साथ
बुरा किया
है वह हमेशा अपने कर्म फल से बच क्यों
जाता

है उसे कभी भी दुख का सामना नहीं करना
पड़ता तो बुरे काम करके भी सुख भोगते हैं
तुम्हारी इसी गलतफहमी को मैं दूर करने आई
हूं मेरे

बच्चे तुम जो यह सोचते रहते हो कि वह तो
बुरा काम करके भी आजाद घूम रहा है और
तुमने कुछ नहीं किया फिर भी तुम्हें दुख
का भागी बनना पड़ रहा

है तो मैं तुम्हारा यह भ्रम तोड़ने आई हूं
मेरी
बच्चे सबको उसके कर्मों का फल प्राप्त
होता

है बस उस फल को भोगने का समय अलग रहता
है और यही मैं तुम्हें बताने आई हूं कि उस
बुरे व्यक्ति का बुरा समय आ चुका
है उस व्यक्ति से उसकी सारी खुशियां छिन
चुकी है वह हर रोज कई आंसू बहाता
है

वह व्यक्ति अपने पतन पर है जो बुरा उसने
तुम्हारे साथ किया अब उसका पता सबको चल
चुका है और जो लोग उसे पहले अच्छा समझते
थे उन सभी लोगों के सामने उसकी सच्चाई
बाहर आ गई

है अब लोगों को यही समझ आने लगा
है कि वह व्यक्ति कितना कपटी था वह कभी
किसी का भी भला नहीं सोचता
था सिर्फ अपने फायदे के बारे में ही सोचता
था और दूसरों का नुकसान कर बैठता
था धीरे-धीरे उसके सभी दोस्त उसका साथ
छोड़कर जा रहे

हैं वह अब किसी का भी विश्वास पात्र नहीं
रहा यह सब उसी के बुरे कर्म का फल है जो
लौटकर उसके पास ही वापस आ रहा
है वह जो आज महसूस कर रहा है उससे उसे यह
पता चल रहा है कि उसने तुम्हारे साथ कितना
गलत किया

है और अब उसे अपने गलती का एहसास हो रहा
है आज वह अपने जीवन में सबसे बुरे दौर से
गुजर रहा
है उसके सभी दोस्तों ने उसका साथ छड़ दिया
है और उसकी मदद करने से भी इंकार कर दिया
है अब वह एकदम अकेला और निराश
है और अपने बुरे कर्मों के लिए मुझसे माफी
मांग रहा

है इन सब बातों से तुम खुश मत हो ना मेरे
बच्चे तुम बस यही स्मरण रखो कि बुरे
कर्मों का फल सदैव बुरा ही होता
है बुरा कर्म कभी किसी को सच्चा मान
सम्मान और सच्ची प्रतिष्ठा नहीं दिला

सकता यह सब सिर्फ और सिर्फ सच्चाई की ताकत
से ही कमाई जा सकती
है इसलिए अपने कर्मों को सदैव उत्तम रखो
मेरे

बच्चे और दूसरों की मदद में उपयोगी
बनो तुम्हारा कभी भी कुछ बुरा नहीं होगा
मेरे बच्चे आज मैं बहुत प्रसन्न हूं मैं
तुम्हें यह बताने आई हूं कि पूर्व समय में
तुमने जो भी बुरे कर्म किए

थे उन सबकी सूची खत्म हो गई
है तुम्हारा बुरा दौर अब समाप्त हुआ तुमने
अपने सभी बुरे कर्मों के फल को भोग लिया
है इस प्रक्रिया के दौरान तुम बहुत बार
हताश हुए निराश हुए मुझसे माफी भी मांगी
मैंने तुम्हें जितने भी बुरे दौर दिखाए

तुमने उन सबको सफलता पूर्वक पार
किया मैंने जो भी सबक तुम्हें सिखाने चाहे
तुमने उन सबको सीखा और अपने जीवन में
निरंतर आगे बढ़ते चले

गए मैं तुम्हारी इस कामयाबी से अत्यंत
प्रसन्न हूं इस अवधि के दौरान तुम्हारे
अंदर बहुत परिवर्तनों ने जन्म लिया
तुम कई बार टूटे भी मेरे सामने रोकर अपने
दुखों को व्यक्त किया और अपनी करने के लिए
क्षमा याचना भी

की ऐसा करने से तुमने अपनी उन्नति के
द्वार खोल दिए मेरे
बच्चे हम सब कभी ना कभी अपने मार्ग से भटक
जाते हैं बुरे रास्ते हमें अपनी ओर
आकर्षित कर लेते

हैं परंतु आपको अच्छे और बुरे का फर्क
समझकर अपना चयन करना था एक व्यक्ति के
व्यक्तित्व को उसका ही दृष्टिकोण बनाता है
आप जैसा दृष्टिकोण रखेंगे आपके रास्ते
उतने ही पवित्र और सरल बनते

जाएंगे किसी भी कार्य को करने से पहले यह
जानना बहुत आवश्यक है कि वह मार्ग आपको
सत्यता की ओर ले जा रहा है या नहीं
आपका एक चयनित मार्ग आपके भविष्य को
निर्धारित करता

है इसलिए मैं बार-बार आपके जीवन में
प्रवेश करती
हूं और आपको सत्य के मार्ग पर चलने के लिए
प्रेरणा भी देती हूं आप में से कुछ तो
मेरी बातों को समझकर तुरंत ही अपने मार्ग
को सकारात्मक बना लेते

हैं परंतु जो व्यक्ति मेरे प्रेम प्रेम से
समझाने पर भी नहीं समझता वह मेरे दंड का
भागी बनता है और उसे मेरे कुद्र रूप का
सामना करना पड़ता है और वह अपने जीवन में
कष्ट का भागी बनता

है और फिर शुरू होती है उसकी
यात्रा जो उसे बार-बार कष्ट पहुंचाती है
वह अपने जब तक भ्रमित मार्ग से बाहर नहीं
आ जाता और सत्य का चयन नहीं कर लेता और जब
वह अपने पापों का प्रायश्चित कर लेता
है तब उसे मेरी कृपा दृष्टि प्राप्त होती

पार कर
लिया है और पुनः सत्य के मार्ग पर अग्रसर
हो चुके हो भट स्वरूप मैं आपको आपका
मनचाहा वरदान देती
हूं आपकी जो भी इच्छा वह अगले 24 घंटों
में पूरी अवश्य
होगी आप हमेशा सत्य के मार्ग पर यूं ही
बने रहे और अपने से जुड़े सभी लोगों का
भला करते
रहे आपका कल्याण अवश्य
होगा

Leave a Comment