मां काली तुम्हारे शत्रु को बर्बाद कर

मेरे बच्चे स्वागत नहीं करोगे अपनी माता
का आज से गुप्त नवरात्री शुरू हो रही है
और तुम्हारी माता तुम्हे बहुत सारा
आशीर्वाद लेने आई है मुझे पता है तुम्हारे
जीवन में दुख का पड़ टूट गया है हर तरफ से
परेशानिया ही

परेशानिया तुम्हारा दिल रही है और रिश्तो
से यकीन उठ गया है मेरे बच्चे तुम्हारे
दिन बहुत जल्दी बदलने वाले हैं मेरे बच्चे
और तुम्हें अच्छे कर्मों का फल मिलेगा
तुम्हे तुम्हारे साथ न्याय हो रहा है
तुम्हे रुलाने वाले तुम्हारी आंखों में

आंसू लाने वाले लोगों को उनकी कर्मों की
सजा मिल रही है और वह अपने किए का हिसाब
दे रही है तुम्हारी शादीशुदा जिंदगी में
प्रेम संबंधों में बहुत गलतफहमी पैदा हो
गई है बहुत तनाव आ गया है तुम्हारे श्तो
तुमने बहुत विनती की है और बहुत धैर्य

दिखाया है कि माता लोगों ने मेरे साथ बहुत
बर्ताव किया है किस किसने मेरी परिस्थिति
का फायदा नहीं उठाया मुझे क्या कुछ नहीं
बोला कितना नीचा दिखाया यह

मैं कभी नहीं भूलूंगा मुझे इनकी वार है और
उस दिन का जब इनका सबको कर्मों की सजा
मिलेगी और मेरी परिस्थिति ठीक नहीं है पर
मुझे पता है आप मेरे साथ है और आप सब देख
रही है अपने मेरे दिल में और मैं कैसा

इंसान हूं यह भी जानती है अब मैं जाकर भी
लोगों को बुरा बर्ताव नहीं कर सकता लेकिन
उनकी बातें मैं कभी नहीं भूल

साथ
मेरी गलती बस यही थी कि मैंने प्रेम किया
और लोगों को अपना माना पर सबने मुझे
अंधेरे में धकेल दिया जहां से भी चाकर मैं
बाहर नहीं निकल पा रहा हूं मैं किसी का
बुरा नहीं चाहता माता बस अपने साथ चाहता
हूं मुझे सफलता चाहता हूं मुझसे जो छीना

गया है मेरा हक वह हक मुझे वापस दे दो जब
तक उन लोगों को दंड नहीं मिलेगा मैं कितना
भी चीक चिल्ला कोई मेरी बातों पर यकीन
नहीं करने वाला तुम्हारे जीवन से दुखों के

बादल छट गए हैं मेरे बच्चे तुम्हारा जीवन
सुनहरे रंगों से बर दूंगी मैं और में
तुम्हे हमेशा साथ दूंगी और मैंने सब कुछ
देखा है तुम्हें धैर्य और सब्र का फल
तुम्हें बहुत जल्दी दूंगी मैं तुम्हारे इस

चैप्टर का अंत करने वाली हूं मैं जितना
दुख देखना था तुमने देख लिया है परेशान
रहो तुम बहुत हाथ
पैर
मार रहे

हो बहुत मेहनत कर रहे हो सारी योजनाए असफल
हो रही है हर बार तुम्हें हाल मिल रही है
हर रिश्ते में तुम्हें धोखा मिल रहा है अब
तुम्हें प्लान बनाने की कोई आवश्यकता नहीं
है कोई जरूरत नहीं है क्योंकि अब मैं
तुम्हें तुम्हारे लिए योजना बनाऊंगी
तुम्हे रास्ता दिखाने आ रही

हूं मैं तुम्हें बस मुझ पर यकीन रखकर चलते
जाओ तुम्हारे जीवन की खुशियों से भर दूंगी
और उन सबके जीवन में सिर्फ अंधेरा होगा
जिन लोगों ने तुम्हें रुलाया है तुम्हें

पीड़ित अता किया है तुम्हारे इंतजार का
अंत आ गया है मेरे बच्चे और तुम्हें जिसका
आएगा इंतजार है तुम्हें वह न्याय मिल रहा
है तुम्हारे पूर्वज भी तुम्हारा साथ दे
रहे हैं और वह भी तुम्हें तुम्हारे कर्मों
का फल
देंगे

इस जर्नी में तुम्हारी बहुत बड़ी मदद
करेंगे वह तुम्हें अपने अच्छे कर्मों से
बहुत सारी दुआएं कमाई है मुझे पता है कि
तुम सोचते हो माता बस मुझे बुरा बोलते हैं
मुझसे ही दिक्कत है सबको लेकिन तुम्हारे
निस्वार्थ प्रेम से तुम्हें बहुत सारे

लोगों को प्रभावित किया है और उनकी दुआओं
के साथ-साथ ईश्वरी शक्तियों की भी बहुत
सारी ब्लेसिंग कमाई है तुमने अब तुम्हारी
मादा आ गई है मेरे बच्चे और वह तुम्हें
बहुत सारा प्रेम देने वाली है अब नवरात्रि

न्यू मून के समय है इससे अच्छा समय हो ही
नहीं सकता है तुम्हारे जीवन का नया अध्याय
लिखने के लिए अगले नौ दिनों में तुम अपना
जीवन बदलते देखोगे मेरे बच्चे तुम्हें
न्याय प्रेम सम्मान सब कुछ मिलेगा सुहे

संकल्प के साथ काला चालीसा का पाठ करना
होगा कि माता मैं अगले नौ दिनों और रोज नौ
बर आपकी चालीसा का पाठ करूंगा बस मुझे इस
समस्या से बाहर निकालो मेरी इच्छा पूरी कर
दो और अपनी वह इच्छा बहुत सोच समझकर चुनना
मेरे बच्चे अगर तुम चाहो तो संपर्क लेकर

अखंड जत भी जला सकते
हो तुम्हें मेरी पूजा शाम के समय ही करनी
है या रात
में ही करनी है और 18 फरवरी को अपनी इच्छा
अनुसार अपने स्मर अनुसार जितना तुमसे हो
पाए किसी छोटी बच्ची की मदद करना उसे कुछ
मीठा खिलाना या खिलौने या कपड़े दिलाना
तुम्हारी बड़ी से बड़ी इच्छा इन नौ दिनों
में पूरी हो जाएगी मेरे बच्चे अगर तुम्हें

अपने
आसपास नकारात्मक ऊर्जा महसूस हो रही है तो
करते समय एक गिलास पानी रखकर
बैठना और पूजा के बाद के रूप में उस पानी
को पी
लेना अपने परिवार के सदस्यों में भी उसे
देना और अगर तुम्हारे घर में कोई बीमार
रहता है तो न दिनों तक लगातार उसे यह जल

पिलाना उसके स्वास्थ्य में भी सुधार होगा
अब तुम्हें परेशान होने की रोने की और
गड़गड़ा की जरूरत नहीं है मेरे बच्चे
तुम्हारी माता तुम्हारे हर सपने को सच
करेगी और तुम संसार की सारी खुशियां दूंगी
मैं बस सच्चे दिल से और पूरे विश्वास के
साथ यही सोचकर तुम्हारी इच्छा पूरी हो गई
है तब तुम मेरा धन्यवाद कैसे

Leave a Comment