मां काली 🕉️जबर्दस्त झटका लगा है जो आपने चाहा वहीं हुआ पलट गई पुरी कहानी देख लो, आ

तुम्हे छल कपट नहीं आता है तुम्हारे मन

में जो बात होती है वही बात तुम्हारे

जुबान पर होती है चाहे वह बात कड़वी हो पर

तुम लोगों से हमेशा सच बोलना जानते हो तुम

षड्यंत्र नहीं रचते हो अगर तुम्हें कोई

व्यक्ति पसंद है तो तुम उसके मुंह पर बता

देते हो और अगर उसने कोई गलती की है तो वो

भी तुम मुंह पर बता देते हो तुम्हें कुदरत

ने कुछ दिया है अगर तुम्हें मैंने कुछ

दिया है तो तुम वो भी लोगों को खुशी खुशी

बता देते हो तुम्हें छुपाने की आदत नहीं

है तुमने हमेशा यही सोचा है कि मुझे इस

कुदरत ने इस यूनिवर्स ने मेरी मां ने मुझे

बहुत कुछ दिया है और मैं बहुत किस्मत वाला

हूं हर तरफ से मुझे मिला ही है और वो

खुशियां मैं सब में बांटना चाहता हूं मैं

सबको बताना चाहता हूं कि वो मेरी माता पर

यकीन रखें उन्हें वो सब कुछ मिलेगा

क्योंकि इतना कुछ झेल कर भी अगर मैं खुश

हूं मैं हंस पा रहा हूं तो दुनिया में कोई

भी खुश रह सकता है हमारे घर पर कोई आ जाए

जिसको मदद की जरूरत है तो तुम अपना पूरा

घर खाली करके उसे दे सकते हो ऐसा हृदय है

तुम्हारा तुम कहीं भी किसी को भी मुसीबत

में देखते हो तो उसकी मदद जरूर करते तुम

हमेशा मुझसे मदद मांगते हो मेरे बच्चे

हमेशा मेरी शक्ति मांगते हो कि माता मुझे

शक्ति दो पर वह शक्ति तो तुम्हारे भीतर ही

है वह अग्नि तुम्हारे भीतर ही है जो इस

पूरे ब्रह्मांड को जला सकती है तो पूरे

ब्रह्मांड को रोशनी भी दे सकती है तुमने

हमेशा इस बात का ध्यान दिया होगा कि जब

तुम पूजा पाठ करते हो या जब तुम कोई दीपक

जलाते हो तो तुम्हें एक अलग प्रकार की

ऊर्जा महसूस होती है एक ऐसी ऊर्जा जैसे

तुम्हारे अगल बगल कोई है कोई है जो

तुम्हारी रक्षा कर रहा है तो वह अग्नि की

ताकत है जो तुम्हें जगाती है तो अगर

तुम्हें ध्यान लगाना शुरू करना है तो सबसे

पहला एक दिया जलाकर उस पर ध्यान लगाना

शुरू करो क्योंकि वह अग्नि तत्व है

तुम्हारे अंदर और वही तुम्हारी शक्ति है

मैं खुद तुम्हारे अंदर वास करती हूं मेरे

बच्चे और वक्त वक्त पर मैंने तुम्हारे

बहुत इम्तिहान लिए हैं बहुत रूप में आई

हूं यह देखने कि मेरा बच्चा मदद करता है

मेरी या नहीं करता है तो तुम मुझसे जिस

शक्ति को बार-बार मांग रहे हो तुम्हारे

पास तो बहुत कुछ है तुमने स्वयं अपनी माता

को बहुत कुछ दिया है मेरे बच्चे तुमने

मुझे वो प्रेम दिया है जो मुझे लाखों बार

रुला गया है तुमने मुझे वो सम्मान दिया है

कि मैं पूरे जगह की मां कहलाती हूं अगर

तुम ही ना होते अगर तुम्हारा यह प्रेम ही

ना होता तुम्हारा यह यकीन ही ना होता तो

मैं भी ना होती तो वो शक्ति तुम्हारे अंदर

है अपनी शक्ति को पहचानो मुझे पता है

तुम्हारा यह जो स्वभाव है अपनी हर बात

दूसरों को बता देने का अपना दिल खोल देने

का किसी को भी अपना मान लेने का और जिसको

तुमने अपना माना है उस पर सब कुछ निछावर

कर देने का इसकी वजह से तुम्हें बहुत धोखे

मिले लोगों ने तुम्हारे पैसे खाए हैं

तुम्हारी भावनाओं को आहत किया है तुम्हारे

साथ छल किया है तुम्हें धोखा दिया है तो

तुम मुझसे यही कहते हो कि माता अगर मुझ

में कोई शक्ति होती तो मेरे साथ यह सब

होता क्या मैं इतना रोता क्या जो मैंने आज

तक बचपन से झेला है वह सब कुछ देखना पता

माता मुझे मैं तो एक साधारण सा व्यक्ति

हूं मेरे भीतर कोई शक्ति नहीं है पर मेरे

बच्चे याद करो जब जब उन लोगों ने तुम्हें

धोखा दिया तो उनका असली चेहरा तुरंत

तुम्हारे सामने आया तो मैं तकलीफ भी इसलिए

हुई ताकि तुम संभल जाओ और लोगों का असली

चेहरा पहचानने लोगों पर ऐसा नहीं है कि

तुम्हारी अंतरात्मा ने तुम्हें संदेश नहीं

दिए थे ऐसा नहीं है कि तुम्हारी अंतरात्मा

ने तुम्हें बताया नहीं था तुम्हारे भीतर

की शक्ति ने हर कदम पर तुम्हें पहले ही

चेतावनी दी है कि यहीं रुक जाओ तुम किसी

से मिलते हो कोई नया कार्य शुरू करते हो

तो तुम्हें उसकी ऊर्जा पहले से महसूस हो

जाती है कि तुम्हें उस काम में सफलता

मिलेगी या नहीं मिलेगी और कभी यह मत सोचना

कि तुमने अपना सब कुछ खो दिया कभी यह मत

सोचना मेरे बच्चे की तुमने इतना त्याग

किया दूसरों का हमेशा भला सोचा अपना सब

कुछ छोड़ दिया पर उसके बदले तुम्हें क्या

मिला तुम्हें हमेशा धोखा मिला मेरे बच्चे

तुम्हारे निस्वार्थ प्रेम के बदले

तुम्हारे त्याग के बदले तुम्हें मैं मिली

हूं और मैं तुम्हारी हर कदम पर तुम्हारे

साथ हूं चाहे परिस्थितियां तुम्हारे

विपरीत क्यों ना चली जाए तुम्हारी माता

तुम्हें गिरने नहीं देंगी

तुम्हें हारने नहीं देंगे तो हमेशा एक बात

याद रखना इस संसार में शायद कोई तुम्हें

ना मिला हो किसी ने तुम्हारे प्रेम को

तुम्हारी भावनाओं को ना समझा हो पर मैंने

समझा और मैंने देखा है कि तुम्हारे भीतर

क्या शक्ति है सिर्फ मैं जानती हूं और

तुमने अपना त्याग करके इतना सब कुछ करके

इतना पुण्य कमाकर अपनी माता को पाया है जो

तुम्ह सफलता जरूर दिलाएंगे मेरे बच्चे आज

मैं तुमसे बहुत महत्त्वपूर्ण बात करने आई

हूं बहुत दिनों से देख रही हूं इस दुनिया

की भागदौड़ में जिम्मेदारियों के बोझ में

तुम अपने स्वास्थ्य का बिल्कुल भी ध्यान

नहीं रख रहे हो मुझे पता है तुमने बहुत

कुछ सहा है और अब सफलता तुम्हें बहुत

जल्दी चाहिए मुझे पता है अब तुमसे इंतजार

नहीं हो रहा है इसलिए तुम दिन मेहनत कर

रहे हो पर मेरे बच्चे होगा तो वही ना जो

मैंने चाहा होगा तुम्हें चीजें तभी

मिलेंगे जब मैंने निर्धारित कर रखी है

मेरे समय के हिसाब से ही सब कुछ होगा तो

तुम अपने आप को बिना वजह के इतना

प्रताडि़त क्यों कर रहे हो तुम परिश्रम

करो दिन रात एक कर दो मैं तुम्हें यह करने

के लिए मना नहीं कर रही हूं पर उस परिश्रम

में तुम ना पीना भूल जाय हो तुम्हारा सोने

उठने का कोई निर्धारित समय नहीं है क्या

तुम यह सही कर रहे हो तुम मुझसे बहुत सारी

चीजें मांगते हो कि माता आप मुझे यह दे दो

माता आप मुझे वो दे दो तुम्हें मैंने

मनुष्य का जीवन दिया है तुम्हे मैंने यह

शरीर दिया है क्या तुम शरीर का अपमान नहीं

कर रहे हो क्या तुम अपनी माता की थी चीजों

का अपमान नहीं कर रहे हो मेरे बच्चे अभी

तुम जिस चीज को नजरअंदाज कर रहे हो वही

सबसे बड़ी पूंजी है तुम्हारे लिए तुम्हारा

यह शरीर ही सबसे बड़ी पूंजी है तुम्हारी

तुम्हारा यह शरीर ही है जो मृत्यु तक

तुम्हारे साथ रहेगा सब छोड़कर चले जाए धन

दौलत चली जाए पर अगर तुम सही रहोगे

तुम्हारा स्वास्थ्य सही रहेगा तुम कभी भी

वो सारी चीजें खड़ी कर सकते हो तो अपने

स्वास्थ्य को नजरअंदाज मत करो तुम्हारे

दिमाग में एक बार में बातें चलती है

अपने विचारों को साफ करो अपने विचारों को

क्लियर रखो कि तुम्हें चाहिए क्या एक पैर

यहां रख लू एक पैर वहां रखी हूं यह भी कर

लू वो भी कर लू ऐसे सफलता नहीं मिलेगी

तुम्ह मैंने तुम्हारे लिए कुछ निर्धारित

कर रखा है मैंने तुम्हारे लिए कुछ सोच रखा

सिर्फ तुम उसी मार्ग पर चलो और सिर्फ उसी

मार्ग पर परिश्रम करो इस समय तुम्हारे लिए

बहुत जरूरी है कि थोड़ा विश्राम दो अपने

आप को और अपने दिमाग को आराम से बैठो

विचार करो हर चीज का एक निर्धारित समय रख

दो पर अपने स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ डडड

मत करो मेरे दिए शरीर के साथ खिलवाड़ मत

करो मेरे बच्चे क्योंकि मैं नहीं चाहती कि

जब सफलता तुम्हारे पास आए तो इतनी परिश्रम

के बाद तुम्हें कोई बीमारी हो जाए तुम्हें

कोई रोग हो जाए फिर तुम उसके लिए मुझसे

विनती करो कि मात्रा में बहुत परेशान हूं

मेरी बीमारियों को दूर कर दो मैं तो यह

चाहती हूं कि जब मेरा बच्चा सफल हो वह

मुझसे बस धन्यवाद करने आए कि मा देखो

मैंने कर दिखाया यह जमाना मुझसे कहता था

कि तू सफल नहीं होगा देखो माता मैंने कर

दिखाया

तुम्हारी मां था बस यही चाहती है कि सफलता

के बाद तुम मुझसे कभी कुछ मांगो ना

तुम्हें कभी किसी से कुछ मांगने की जरूरत

ना पड़े मेरे बच्चे इसलिए अपने शरीर का

अपने स्वास्थ्य का अपने दिमाग का ध्यान

रखना शुरू कर दो आज से अपने दिनचर्या सही

कर लो ध्यान लगाओ योग करो तो तुम्हारी

बुद्धि सही रहेगी तभी तुम्हारा जीवन सही

होगा जो तुम्हारा स्वास्थ्य सही रहेगा तभी

तुम परिश्रम कर पाओगे मेरे बच्चे तुम्हें

ऐसा क्यों लगता है कि तुमसे कुछ नहीं हो

पाएगा तुम्हारा जीवन व्यर्थ है तुम किसी

को सुख नहीं दे सकते मेरे बच्चे तुम खुद

को इतना दुर्लभ क्यों बना लेते हो सब

इंसान में सब गुण होते हैं मेरे बच्चे बस

फर्क इतना है कि कुछ व्यक्ति अपने गुणों

को अपनी खूबियों को देख नहीं पाते और कुछ

व्यक्ति सदैव खुद से कहते हैं मुझसे कुछ

नहीं हो सकता और यह मानकर बैठ जाते हैं

कुछ करने के लिए कुछ प्रयास भी तो करना

होगा यदि कुछ करने के बाद भी फल नहीं मिल

रहा तो और ज्यादा प्रयास करो तुम मुझे

मानते हो मुझसे प्रेम करते हो तो तुम

अवश्य जानते हो कि मैं तुम्हें कभी हारने

नहीं दूंगी मेरे ऊपर समर्पण का भाव रखते

हो ना

मेरे बच्चे समर्पण का अर्थ ही है मुझे

तुम्हारे जीवन का हर निर्णय लेने का

अधिकार देना जब तुम्हारे जीवन का भार

तुमने मुझे सौंप दिया है तो हर पल इस

चिंता का कारण क्या है यदि समर्पण केवल

तुम्हारे मुख से हो रहा है और मन अभी भी

है कि क्यों नहीं हो रहा है कैसा होगा कब

होगा इस चिंता में डूबा है तो वह पूर्णता

समर्पण नहीं

यदि तुम पूर्णता समर्पण के साथ अपना कर्म

सही रखो तो तुम बहुत जल्द अपने लक्ष में

सफल हो जाओगे यह निश्चित है और यह मेरा

तुमसे वादा भी

है मेरे बच्चे अपनी माता रानी के लिए इस

संदेश को लाइक करके चैनल को सब्सक्राइब कर

दीजिए और साथ ही साथ जय हो माता रानी लिख

दीजिए मेरे बच्चे अब उस व्यक्ति का मुखौटा

उतरने वाला है जिसने तुम्हें बर्बाद करने

के लिए बहुत षड्यंत्र रखे अब उसका असली

चेहरा यह समाज के सामने आएगा उसने तुम्हें

बहुत बदनाम किया तुम्हारी बहुत बुराई की

वो वो किसी के भी मुंह से तुम्हारी

प्रशंसा नहीं सुन सकता है उसने तुम्हारे

रिश्तों में भी बहुत फूट डाली सबको

तुम्हारे खिलाफ खड्डे ढा कर दिया तुम्हें

छोटी-छोटी बातों के लिए अपनों को सफाई

देनी पड़ी पर किसी ने तुम्हारा यकीन नहीं

किया उसने तुम्हें सबसे दूर कर दिया मेरे

बच्चे और तुम बार-बार उसे समझाने की कोशिश

करते रहे क्योंकि तुम उससे प्रेम करते थे

तुम्हें यह लगता रहा कि एक दिन वह व्यक्ति

सुधर जाएगा इसलिए तुमने उसे अनेक को मौके

दिए हैं तुमने उसे बहुत बार समझाया

तुम्हें यह पहले दिन से ही पता था कि वो

व्यक्ति तुम्हारे लिए सही नहीं है उसका

बर्ताव व जैसे तुमसे बात करता था जैसे

तुम्हारी चीजों को लेता था तुम्हें पता तो

था मेरे बच्चे की वह व्यक्ति सही नहीं है

और जब भी तुम मुझसे बात करते हो तो

तुम्हारे साथ कुछ ना कुछ बुरा जरूर होता

है यह मेरा संदेश है तुम्हारे लिए कि उस

व्यक्ति से हमेशा दूर रहना उसके अंदर बहुत

नकारात्मकता है वो हर बात में झूठ बोलता

है उसकी कोई भी बात सच नहीं है मेरे बच्चे

इस पर दावा करने के लिए

अंक टाइप करके लाइक करो मेरे बच्चे वे

एक छोटी सी छोटी बात तुमसे छुपाता है उसके

जीवन का पूरा सत्य तो कोई नहीं जानता मेरे

बच्चे उसने तुम्हें बहुत रुलाया एक वक्त

ऐसा आ गया था कि तुम्हें तुम्हारा जीवन

अंत करने का मन करता था तुम्ह कुछ समझ में

नहीं आता था क्योंकि तुमने उसके साथ

परिवार सपने देख रखे तुमने उसके साथ

अनेकों उतार चर हाव देख रखे थे पर उसको उन

बातों से फर्क नहीं पड़ता था उसको

तुम्हारे आंसुओं से तुम्हारे दर्द से कभी

कोई फर्क पड़ ही नहीं उसको तो खुशी मिलती

थी जब तुम उसके सामने रोते थे जब तुम उसके

लिए उसके सामने गिड गिते थे मेरे बच्चे पर

अब और नहीं बहुत खेल खेल लिया उसने और

बहुत

रच उसने तुम्हारे खिलाफ और बहुत अच्छा बन

लिया इस समाज के सामने मेरे बच्चे इस पर

विश्वास है तो हां टाइप करो और इस चैनल को

सब्सक्राइब करो मेरा आशीर्वाद प्राप्त

होगा मेरे बच्चे उसने तुम्हारे अपनों को

ही तुम्हारे खिलाफ खड़ बढ़ा कर दिया था

लोग उसकी बातों पर ज्यादा यकीन करते थे वो

इतना अच्छा ही बनता था इतनी मीठी मीठी

बातें करता था वो इतना अच्छा बनता था इतनी

अच्छी-अच्छी बातें सबसे करता था कि तुम ही

सबको खराब लगने लगे थे तुमने प्रतिदिन

मुझसे प्रार्थना की है कि माता उसका असली

चेहरा समाज के सामने ले आओ वो कितना कपटी

है कितना छल करता है उसका मन कितना मैला

है ये पूरे समाज के सामने ले आओ तब

तुम्हारी प्रार्थना तुम्हारी माता ने सुन

ली है मेरे बच्चे तुम बहुत रोए हो आज भी

जब तुम उन बातों को याद करते हो तो

तुम्हारी आंखों में आंसू आ जाते हैं तुम

मुझसे यही प्रार्थना करते हो कि माता कभी

मुझे दोबारा वह दिन मत दिखाना और मुझे कभी

वैसे इंसान से फिर मत मिलवा तो अब मेरे

बच्चे ऐसा कुछ नहीं होगा तुम्हारे साथ

उसने मुझे चुनौती दे दी है उसको यह लगता

है कि मैं धोखा करता रहूंगा इसे रुलाता

रहूंगा इसे प्रताड़ित कर रहू कौन आएगा इसे

बचाने और यह तो ऐसे ही चुपचाप रोने वाला

इंसान है पर मैं आऊंगी यह तो मेरा ही खेल

है यह पूरा समाज ही दुनिया इसमें जो भी हो

रहा है यह मेरा रचा हुआ खेल है मेरे बच्चे

और वह समझ रहा है कि वह खेल रहा है अब मैं

उसे दिखाऊंगी कि वह मेरे बिछाए जार में

फसा है अब मैं उसे उसके कर्मों का उसके

पापों का दंड दूंगी और अब वो रोएगा अब उसे

समझ में आएगा कि उससे भी ऊपर कोई है वो

ऐसा व्यक्ति है जो सोचता है वह सबसे ऊपर

है पूरा ब्रह्मांड उसके इशारों पर नाचता

है उससे ऊपर तो कोई है ही नहीं उसे किसी

का भय नहीं है पर अब वह कहां कांपे अब

उसकी रूह कांपे गी और अब वो रोएगा एक एक

दिन याद करके उसने जब तुम्हें रुलाया था

और जब तुम्हें प्रताड़ित किया था और अब

उसे क्या उसके अगल पगल में किसी में भी

इतनी हिम्मत नहीं होगी कि वो किसी मासूम

को किसी कोमल हृदय के व्यक्ति को जो

निस्वार्थ मन से सबका भला करता है उसको

रुलाने की उसको प्रताड़ित करने की सोच सके

तुम आजाद होगे उन भावनाओं से उन दर्दों से

अब तुम आजाद होंगे मेरे बच्चे अब कोई

तुम्हें पीछे नहीं खींचेगा अब तुम्हें कोई

तुम्हारे सपनों को पूरा करने से नहीं रो

केगा अब तुम्हें कोई प्रतिदिन प्रता भित

नहीं करेगा अब तुम्हारी माता उन सबको दंड

देंगी अपनी माता पर विश्वास रखो मेरे

बच्चे मुझ पर विश्वास है

Leave a Comment