मां काली 🕉️जिसके लिए तुमने सब त्याग दिया वो लोग तुम्हारे पीछे ये बोलते हैं अब तुम मेरा

मेरे बच्चे आजकल लोग तुम्हारे बड़े में

बहुत बातें कर रही हैं वो यही सोच रहे हैं

की तुम कितने बादल गए हो उनकी लाख कोशिश

के बाद भी ना तुम रो रहे हो ना तुम चढ़

रहे हो ना तुम उन पर गुस्सा कर रही हूं

जिसकी वजह से उन्हें बहुत गुस्सा ए रहा है

उन्हें भी दिखे रहा है की तुम कैसे अपने

सपनों को पूरा करने के लिए भाग रहे हो

अब तुम किसी व्यक्ति के पीछे नहीं भागते

हो अब तुम किसी से प्रेम के लिए

गिड़गिड़ाते नहीं हो सम्मान की भीख नहीं

मांगते हो अब तुम्हें समझ में ए गया है की

अगर सम्मान कहानी मिलेगा तो वह सिर्फ और

सिर्फ अपने सपनों को पूरा करने के बाद ही

मिलेगा इसलिए तुम सिर्फ और सिर्फ अपने

सपनों के पीछे भाग रहे हो

आजकल बस वो तुम्हारी ही चर्चा कर रही हैं

लोगों के बीच में उनको तो यह लगता है की

तुम कितने मतलबी हो गए हो वह तुम्हारी वजह

तुम्हारी वजह से ए रही है और वह तुम्हें

बहुत खुश रही है मेरे बच्चे बहुत बद्दुआ

दे रहे हैं

की कोई मारे या जिए उससे तुम्हें कोई फर्क

ही नहीं पड़ता है वो तो तुम्हें कितना

अच्छा और कितना कोमल हृदय का व्यक्ति

समझते थे पर तुम तो अंदर से शैतान निकले

और अब वो यही सब बातें करके लोगों के

सामने रो रहे हैं मेरे बच्चे तुम मुझे

अपनी माता मानते हो तो हां लिखकर इस संदेश

को लाइक करके चैनल को सब्सक्राइब करना और

साथ ही साथ मेरा भाग्यशाली अब

लिखकर मुझे अपनी स्वीकृति प्रधान कर

देना मेरे मेरे बच्चे मैं जानती हूं

की तुम आज भी अकेले रोटी हो अपने अतीत का

सोच कर आज भी तुम रोटी हो जब तुम्हें यह

बात पता चलती है की तुम्हारा कोई अपना ही

तुम्हें पीछे खींचना की कोशिश कर रहा है

तुम्हें रोना आता है तुम्हें बड़ा लगता है

तुम्हारा मां व्याकुल होता है सिर्फ मैं

जानती हूं क्योंकि तुम सिर्फ मेरे सामने

रो हो

और कोई भी कुछ भी तुम्हारी वजह से नहीं

भोग रहा है वो तो अपने कर्मों का फल भोग

रहे हैं उन्होंने जो राय जो प्रताड़ित

किया उनको यह ग रहा है की कोई मारे या जिए

उससे तुम्हें फर्क नहीं पड़ता जब वो

तुम्हें मरता हुआ छोड़कर चले गए थे तो

क्या उनको फर्क पड़ा था मां इस समाज में

किसी को भी कभी भी तुम्हारे दुख से फर्क

पड़ा था

जब तुम उनके पीछे भागते थे तब वो तुम्हारे

साथ कैसा व्यवहार करते थे

तुम्हें गलियां देते थे तुम्हें अनाप-शनाप

शब्द बोलते थे तुम्हारे परिवार को निशा

दिखाई थे तो तुम तो उन्हें तब भी पसंद

नहीं ए रहे थे अब आज जब तुम अपने लिए लाड

रही हो अपने सपनों के लिए लाड रहे हो और

उनसे भी नहीं लाड रहे हो तुम तो उनसे कोई

शिकायत भी नहीं करने जाते हो तुम्हें तो

उनका नाम भी लेना पसंद नहीं है

पर उन्हें इस चीज से भी दिक्कत है उनको

ऐसा ग रहा है की इतना कष्ट देने के बाद भी

यह व्यक्ति हंस कैसे सकता है और वह उसे

चीज को अपना प्रेम दिखा रहे हैं वह लोगों

के सामने यह बोलकर रो रही है

की मैं उसे व्यक्ति से बहुत प्रेम करता था

वह मुझे छोड़कर चला गया ये तो कोई प्रेम

नहीं है

मेरे बच्चे तो तुम अपने ऊपर यह बोझ लेकर

मत चलो की तुम्हारी वजह से कोई रोएगा हर

मनुष्य अपना कर्म भोक्ता है उन्होंने जो

बड़ा किया सिर्फ तुम्हारे साथ नहीं

उन्होंने समाज में बहुत लोगों के साथ बड़ा

किया है और वो आज भी नहीं रुक रही है अगर

उनको अपनी गलती का एहसास होता तो वो तुमसे

दिल से माफी मांगते

वो खुद को सुधारने की कोशिश करते हैं अपनी

गलतियां को अपनाते हैं अपनी गलतियां को

मानते हैं की हां उन्होंने तुम्हारे साथ

बड़ा किया है पर वो व्यक्ति ऐसा कुछ भी

नहीं कर रहा है वह तो अभी भी तुम्हारे

पीछे तुम्हारे बुराई कर रहा है वह तो अभी

भी लोगों को तुम्हारे खिलाफ भड़काने की

कोशिश कर रहा है

तुम मेरे बच्चे तुम जी मार्ग पर चल रहे हो

वो मार्क सही है तुम ऐसे लोगों को कोई भाव

नहीं दे रहे हो इस बात से उन्हें क्रोध ए

रहा है और मुझे हंसी ए रही है मुझे तुम पर

प्रेम ए रहा है की आखिरकार अंत में तुम

मेरे दिखाएं मां पर चलने लगे उसे व्यक्ति

को तो यह ग रहा है की तुम्हारे जीवन में

संतुलन कैसे ए रहा है

तुम खुश हो क्योंकि तुम्हारे जीवन में कोई

और है वो तुम्हें किसी और से बात करने

नहीं देता था जबकि वो तो बाकी सब से बात

करता था जिससे उसका जब मनाया तब बात करता

था उसने कभी तुम्हारे भावनाओं की कादर

नहीं की तो उसका कर रहा है वह कर्म उसने

जो तुम्हारे साथ धोखा किया तुम्हारे साथ

चल किया

अब उसके दिमाग में वही बातें बार-बार ए

रही है की उसके साथ भी ऐसा होगा उसका भाई

और उसके कर उसे रुला रही है मेरे बच्चे पर

तुम पीछे मुड़कर मत देखो तुम किसी की बटन

में मत आओ किसी की बटन को मत सुनो

सब कुछ अनसुना और अनदेखा करके बस अपने

मार्ग पर चलो क्योंकि सफलता बहुत निकट है

अब अगर तुम पीछे मुड़कर देखोगे तो तुम

बहुत पीछे चले जाओगे और मुझे पता है की

पीछे जो हुआ था वो भयावा मंजर तुम फिर से

नहीं देखना चाहते हो इस रास्ते में इस

मार्ग में कोई नहीं है पर मैं चल रही हूं

तुम्हारे साथ

तुम्हारा हर एक कम रखना से पहले मेरा कम

पहले पड़ता है तो मैं हूं मेरे बच्चे बस

मेरे साथ रहो बाकी दुनिया की मत सुनो मेरे

बच्चे इस पर विश्वास है तो अंक लिखकर

इस संदेश को शेर करना और साथ ही साथ

धन्यवाद माता लिखकर मुझे अपनी स्वीकृति

प्रधान कर देना मेरे बच्चे तुम अभी यही

सोच रहे हो ना की तुम्हारे जीवन में कभी

भी तुम्हारे साथ न्याय नहीं हुआ

लोगों ने हमेशा तुम्हारे साथ धोखा किया

तुमने बहुत परिश्रम की खाना पीना छोड़

दिया दिन-रात एक कर दिया उसके बाद भी

तुम्हारे परिश्रम का फल तुम्हें नहीं मिला

तुम जहां पर काम करते हो वहां भी तुम्हें

कभी प्रशंसा नहीं मिले तुम आगे तभी नहीं

बाढ़ पे लाख महत के बाद भी तुम वहीं के

वहीं खड़े र गए

पर ऐसा नहीं है मेरे बच्चे तुम आगे बढ़ हो

और धीरे-धीरे तुम आगे ही बाढ़ रहे हो

तुम्हें अभी ग रहा है की तुम्हारे साथ

न्याय नहीं हो रहा है तुम अभी रो रहे हो

क्योंकि तुम्हें ऐसा ग रहा है की जिन

लोगों ने तुम्हारे साथ बड़ा किया वो खुश

है वह बस खुश होने का दिखावा कर रही है

मेरे बच्चे मैं जानती हूं की उनके भीतर

कितनी

उथल-पुथल मची हुई है

उनके जीवन में कितनी

उथल-पुथल मची हुई है

यह मैं जानती हूं वो तुम्हारे सामने अपनी

हर को नहीं दिखाना चाहते हैं उनका हम

तुम्हारे सामने उन्हें झुकना नहीं दे रहा

है मेरे बच्चे पर वो हाथ चुके हैं तुम

उनकी हर को नहीं देख रहे हो तुम तो बस

उनकी झूठी मुस्कान को देख के खुद को

प्रताड़ित कर रहे हो

मुझे पता है तुम जहां काम करते हो बिना

मां के भी तुमने बहुत परिश्रम की वहां पर

तुम्हें कभी वह प्रशंसा नहीं मिली

तुम्हारी परिश्रम का फल तुम्हारी परिश्रम

का श्री तो दूसरा कोई ले गया तब भी

तुम्हारा दिल बहुत टूटा तुम जितनी परिश्रम

करते हो उतनी नहीं है तुम्हारी तब भी

तुम्हारा दिल बहुत टूटा

पर फिर भी तुम में मां से सब कुछ करते रहे

और बाद में बैठकर तुमने किस्मत को दोष दे

दिया मेरे बच्चे एक बात हमेशा याद रखना

जब शेर किसी पिंजरे में राहत है तो वो इस

पिंजरे का वासी हो जाता है उसको यही लगता

है की वो पिंजरा ही उसका घर है वो अपनी

असली ताकत को भूल जाता है वो ये भूल जाता

है की जिन लोगों ने उसको पिंजरे में रखा

है वो उससे कितने भयभीत है वो लोग कितना

डरते हैं उससे उसकी एक बाहर से वो लोग काम

जाते हैं

मेरे बच्चे पर वो शेर उन लोगों से डर जाता

है वो उसे पिंजरे को ही अपनी हकीकत बना

लेट है वह अपनी ताकत को भूल जाता है वह यह

भूल जाता है पुरी मनुष्य प्रजाति उससे

कितना भाई खाती है तो तुम वो पिंजरे के

शेर बनते जा रहे हो जो अपने विचारों का

कैदी होता जा रहा है जो लोगों की बटन का

कैदी बंता जा रहा है

जिसको लोग यह बता रहे हैं की उसकी ताकत

कितनी है और वह कितना दहाड़ सकता है इसको

लोग यह बता रहे हैं की लोग उससे नहीं डरते

हैं पर हकीकत कुछ और है मेरे बच्चे उसे

शेर की भांति ही हकीकत ये है की तुम्हारे

शत्रु तुमसे डरते हैं पर वो तुम्हारे

सामने ऐसा दिखाना चाहते हैं की तुम उनसे

डर के रहो

और तुम वहीं कर रहे हो तुम उनसे डर रहे हो

जहां पर तुम्हारा सम्मान नहीं है अगर

तुम्हारे कार्यक्षेत्र में तुम्हारा हक

तुम्हें नहीं मिल रहा है तो वह छोड़ दो

कुछ नया शुरू करो बहुत सारे रास्ते हैं

तुम किसी भी रास्ते पर मेरा नाम लेकर चलना

तुम्हें सफलता अगर ना मिले तब तुम मुझे

कहना

पर अगर तुम मुझे ऊपर मेरी बटन से ऊपर

लोगों की बटन को रख रहे हो तो फिर मुझे

शिकायत मत करो मेरे बच्चे अगर तुम मुझे

माता मानते हो तो क्या तुम्हें अपनी माता

पर इतना यकीन नहीं है की वह तुम्हें गिरने

नहीं देंगे और सिर्फ अपने लक्ष्य को देखो

हां हो सकता है थोड़ा समय लगे थोड़ा अधिक

समय लगे

पर सपना बड़े देखो इन छोटे-छोटे सपनों में

अपना समय व्यर्थ मत करो अपने अपने जीवन को

व्यर्थ मत करो और लोगों को सफाई मत दो

लोगों को वह मत दो जो हो तुमसे चाहते हैं

तुम कुछ भी हासिल कर सकते हो तुम

प्रधानमंत्री

राष्ट्रपति भी बन सकते हो मेरे बच्चे तो

सपना बड़े देखना शुरू करो अपने आप को इतना

काम मत समझो

अपने आप को इतना छोटा मत बना कितने

छोटे-छोटे सपना देखो और ऐसे लोगों की बटन

पे रन लगो बड़े सपना देखो और अपना लक्ष्य

निर्धारित करके सिर्फ उसे लक्ष्य को देखो

और कुछ मत देखो तुम सब कुछ हासिल कर सकते

हो अपनी माता पर इतना यकीन रखो

मेरे बच्चे इस पर विश्वास है तो हां लिखकर

इस संदेश को लाइक करके चैनल को सब्सक्राइब

करना और साथ ही साथ मेरा भाग्य

लिखकर मुझे अपनी स्वीकृति प्रधान कर

देना ओम नमः शिवाय

Leave a Comment