मां काली 🕉️तुम अभी तक जीवित कैसे हो यह सिर्फ मैं जानती हूं तुम्हारी शक्तियों को

मेरे बच्चे तुम्हारे साथ हमेशा भेदभाव हुआ

है बचपन से ही तुम्हारे पास मेरे अलावा

कोई और नहीं था तुम हमेशा से अकेले रहे

तुम्हारे परिवार के लोगों ने ही कभी

तुम्हें नहीं समझा हमेशा तुम्हें अकेला और

अलग महसूस कराया गया हमेशा तुम्हारे साथ

ऐसा व्यवहार हुआ जैसे तुम अजीब हो

तुम वाक्य से अलग हो और उसे अकेलेपन में

ही उन लोगों के उसे व्यवहार नहीं तुम्हें

मुझे जोड़ दिया तुम्हें हमेशा ऐसा एहसास

कराया गया की हर चीज में तुम्हारी गलती है

तुम्हें कुछ नहीं आता है तुम्हारे अंदर

कुछ गुड नहीं है और बचपन की उन्हें यादों

ने उन्हें बटन ने तुम्हें आज तक प्रताड़ित

किया है

क्योंकि जब भी लोगों ने तुम्हारे साथ पूरा

किया तुम्हारे साथ धोखा किया तो तुम्हें

ऐसा लगा की तुम में कुछ गलती है और तुम

खुद को सुधारने लगे तुमने हमेशा दूसरों का

जीवन देखा और तुम्हें लगा की काश तुम उनके

जैसी जिंदगी जी पाते काश उनके परिवार में

जो सम्मान है वह तुम्हें कभी मिलता

वह प्रेम वी स्नेहा इस दुनिया से तुम्हें

कभी मिलता और बचपन की उन याद होने उन

प्रताड़नाओं ने तुम्हें सहाना शिखा दिया

लोगों के पाप उनकी प्रताड़ना सब कुछ हंसकर

सहाना शिखा दिया मेरे बच्चे तुम्हें इस

समाज ने हमेशा यह एहसास दिलाया की तुम्हें

कोई हक नहीं है खुश रहने का तुम्हें कोई

हक नहीं है सपना देखने का

क्योंकि कभी भी तुम्हारे कोई सपना पूरे

नहीं होंगे क्योंकि तुम इस लायक ही नहीं

हो और तुमने इस झूठी दुनिया की उन झूठी

बटन को अपनी सच्चाई मां लिया और इसमें

तुम्हारी भी कोई गलती नहीं है मेरे बच्चे

इस पर विश्वास है तो हां लिखकर इस संदेश

को लाइक करके चैनल को सब्सक्राइब करना और

साथ ही साथ

आई लव यू मी लिखकर मुझे अपनी स्वीकृति

प्रधान कर देना मेरे बच्चे तुम्हारे उसे

मासूम मां में वो बात बैठा दी गई की तुम

वाक्य से अलग हो इसीलिए तुम्हें दुख मिल

रहा है अगर तुम उनके जैसे होते तो तुम आज

खुश रहते इसीलिए तुम हर बात में खुद को

दोष देते हो खुद को प्रताड़ित करते हो की

माता मैं ऐसा क्यों हूं

क्यों आपने मुझे ऐसा बना दिया क्यों मेरे

जीवन में सारे दुख लिख दिए हैं माता क्यों

मुझे इस धरती पर भेज दिया जहां खुद के

परिवार में मेरा कोई सम्मान नहीं है ना

चाहते हुए भी मुझे सब की बातें सनी पड़ती

है सब कुछ झेलता चला रहा हूं मैं

इसे पलट कर कुछ नहीं का सकता क्योंकि शायद

गलती मेरी ही है क्योंकि मैंने ऐसे जन्म

लिया है तुम्हें हमेशा अपने जीवन में उसे

प्रेम की कमी खाली वो स्नेहा तुम्हें कभी

किसी से नहीं मिला तुम्हारी छोटी सी छोटी

बटन का इतना बड़ा बदन दर्द बनाया गया

तुम्हारे बड़े में क्या कुछ नहीं कहा गया

तुमने अपनी खुशियां त्याग दी अपना सब कुछ

त्याग दिया उसके बाद भी तुम्हारा कोई

सम्मान नहीं था और जो लोग पाप कर रहे थे

जो लोग बुराइयां कर रहे थे उनको लोग सर पर

बैठा कर रखते थे अपनों के साथ रहकर भी

तुम्हें हमेशा पराया सा महसूस हुआ तुमने

फिर भी सबकी साड़ी इच्छाएं पुरी की उनके

मुंह से निकालने की डेरी थी

है की वह चीज तुम पुरी कर देते थे मेरे

बच्चे और तुम्हें हमेशा ऐसा ही लगता था की

तुम एक दिन उन सबका प्रेम जीत लोग तुम उन

सब को इतना प्रेम डॉग की वो बदले में

तुम्हें वो सम्मान वो प्रेम वो इसने ही एक

दिन देंगे और तुम वो जीवन जी पाओगे जी

जीवन की तुमने हमेशा कल्पना की थी और इस

प्रेम और स्नेहा की लोग ने

उसकी तलाश में तुम हमेशा गलत लोगों के दाल

में फास्ट चले गए तुमसे किसी ने प्यार से

दो मीठे बोल बोल दिए तो तुम उनके बटन में

आकर अपना सब कुछ न्योछावर करने पर तैयार

हो गए तो मैं ऐसा लगता था की चलो अंत में

मुझे किसी ने तो समझा मुझे किसी ने तो

प्रेम दिया मैंने इतना सब कुछ हमेशा त्याग

ही तो किया है

हमेशा सब कुछ छोड़ ही तो है उन लोगों के

लिए सब कुछ छोड़ दिया जिन्होंने मुझे कभी

पलट कर कुछ नहीं दिया तो यह व्यक्ति तो

मुझे प्रेम करता है इसके लिए मैं इतना तो

कर ही सकता हूं और तुम्हारी इस भावनाओं का

लोगों ने हमेशा फायदा उठाया तुम्हारे

अकेलेपन का लोगों ने हमेशा फायदा उठाया

मेरे बच्चे

तो मैं यह लगा की तुम उसे परिवार से उसे

झंझट से बाहर निकालकर प्रेम ढूंढोगे इस

दुनिया में कोई तो ऐसा होगा जो तुम्हें

समझेगा पर तुम्हें जो भी लोग मिले

उन्होंने हमेशा तुम्हें ठगा तुम्हें धोखा

दिया तुम्हारी भावनाओं के साथ चल ही किया

और अब तुम्हें ऐसा ग रहा है तुम्हारे

दिमाग में ऐसे विचार ए रहे हैं की माता

बहुत हो गया है इन दर्द का

की माता बहुत हो गया बहुत दर्द जेल लिया

मैंने बहुत तमाशा देख लिए हमेशा तो दूसरों

के हिसाब से जिया हूं पर अब अपना जीवन

अपने हिसाब से अंत करूंगा

पर मेरे बच्चे यह गलती करने की यह पाप

करने की सोना भी मत तुम एक दिव्या शक्ति

हो वह दिव्या शक्ति जोर-जोर चाहे वह कर

शक्ति है तुमने खुद चुनाव यह दर्द तुमने

खुद चुनाव के तुम उन लोगों के पीछे रहोगे

तुम्हारे परिवार में प्रेम नहीं मिला अगर

वह प्रेम मिलता तो क्या तुम वो कार्य करते

जिसका कार्य को करने के लिए तुम्हें

पृथ्वी प्यार आया हो तुम नहीं करते अगर वो

लोग तुम्हारे जीवन में होते हैं तो तुम

क्या बड़े सपना देखते नहीं देखते मेरे

बच्चे तुम अपना सब कुछ उन लोगों के पीछे

त्याग देते और मैं ये होता हुआ नहीं देख

शक्ति तो अपनी ताकत को पहचानो ऐसा डरपोक

व्यक्ति की तरह भागो मत

तुमने हमेशा अपनी स्थिति का दत कर सामना

किया है तुमने तो वो परिस्थितियों अच्छी

है और बचपन से अच्छी है ए मेरे बच्चे तो

आज तुम्हारी हिम्मत क्यों टूट रही है उसे

छोटे बच्चे मैं तुमसे ज्यादा साहस था तो

अपने भीतर के छोटे बच्चे को याद करो जिसका

कोई नहीं था जिसने सिर्फ अपनी माता का हाथ

थम था

और मेरा हाथ थम लो तुम इस दुनिया को जितने

के लिए आए हो तुम ऐसे हाथ नहीं मां सकते

तुम ऐसे तक नहीं सकते मेरे बच्चे तुम्हें

यह जंग पुरी लड़नी ही पड़ेगी क्योंकि तुम

इस जंग को जितने के लिए पैदा हुए हो तुम

छोटे सपना देखने के लिए नहीं पैदा हुए हो

और तुम यह बात बात जो कहते हो की माता

बहुत वर्ष हो गए

माता इतने वर्षों से तो यह सब कुछ सही रहा

हो इतने वर्षों से तो यह सब देख रहा हूं

अब तो जीवन का अंत निकट ए गया है यह तुम

निर्धारित नहीं करोगे की तुम्हारे जीवन का

अंत निकट आया है या नहीं आया है तुम अपनी

आशा का अंत कर रहे हो अपनी उम्मीद का अंत

कर रहे हो तुम यह गलती नहीं कर रही है

मेरे बच्चे तुम ये बहुत बड़ा पाप कर रहे

हो तुम्हारे जीवन के आखिरी दिन भी चमत्कार

हो सकता है तुम्हें उसे विश्वास के साथ गम

करना है और उसे विश्वास के साथ एक योद्धा

की तरह यह जंग लड़नी है क्योंकि तुम से

ज्यादा सांस ही तो मेरा वो छोटा सा बच्चा

था तो कर मत बानो मेरे बच्चे अपने सपनों

को ऐसे त्याग मत दो

भगवान कृष्णा से लेकर प्रभु राम तक के

जीवन में कष्ट थे मेरे बच्चे पर उन्होंने

हर नहीं मनी उनके जीवन में भी कष्ट इसीलिए

थे ताकि वह अपना लक्ष्य नाम भूल जाए वह

कष्ट उनको उनके लक्ष्य की तरफ लेकर जा रहे

थे

तुम्हारे जीवन का यह दर्द तुम्हें

तुम्हारे लक्ष्य की तरफ लेकर जा रहा है वो

तो रोटी नहीं थे वो तो शिकायत नहीं करते

थे तो तुम क्यों शिकायत कर रहे हो अपने

भीतर की दिव्या शक्ति को पहचानो उसे ऊर्जा

का प्रयोग करो अपने लक्ष्य को अपने में

मेरे बच्चे तुम मुझे अपनी माता मानते हो

तो इस संदेश को लाइक करके चैनल को

सब्सक्राइब करना और साथ ही साथ

मेरा भाग्यशाली अंक लिखकर मुझे अपनी

स्वीकृति प्रधान कर देना मेरे बच्चे में

तुमसे सिर्फ एक बात से नाराज हूं क्योंकि

तुम मेरी बटन पर ध्यान नहीं दे रहे हो उन

पर गौर नहीं कर रहे हो तुमको बताना चाहती

हूं की समय रहते ही स्वयं में परिवर्तन लो

समय बहुत ही शक्तिशाली होता है

परंतु तुम अभी

उलझनों में फैंस हुए हो और आगे नहीं जा

रहे हो मेरे बच्चे संसार में तुम मेरी

सबसे श्रेष्ठ रचना हो मेरे बच्चे स्वयं का

समय बर्बाद मत करो तुम्हें निरंतर प्रयास

करना होगा तभी तुम्हारे जीवन में परिवर्तन

आएगा और सतारात्मक ऊर्जा से तुम्हारे आने

वाला समय भारत होगा

मेरे बच्चे तुम्हें विचार करना चाहिए की

तुम किसी कार्य में निपुण हो तो इस को

प्रारंभ करो मुझे तुम्हारी चिंता है मेरे

बच्चे तुम कहानी जीवन में इस मार्ग पर

बहुत पीछे ना र जाऊं मैं तुम्हें उन्नति

के मार्ग पर चलाना चाहती हूं जहां

तुम्हारी मंजिल तुम्हारा इंतजार कर रही है

और मेरा क्रोध भी तुम्हारे बड़े में चिंता

करने वाला प्रेम ही है और इसी करण से ही

मुझे नाराजगी होती है मेरे बच्चे तुम

कोशिश नहीं कर रही हो तुम व्यर्थ की चिंता

में अपना कीमती समय को गुर्जर रहे हो मेरे

बच्चे मैं तुम्हारे प्रेम से बंदी हूं

इसलिए तुम्हारा मार्गदर्शन करना मेरा

कर्तव्य है

और तुम्हारी सभी समस्याओं से मुक्ति

दिलाना धर्म है मेरा मेरे बच्चे मुझे किस

प्रकार से प्रश्न कर पाओगे मैं तुम्हारी

शारदा और भावनाओं की भूखी हूं तुम जी

प्रकार से प्रश्न करना चाहोगे मैं प्रश्न

हो जाऊंगी मेरे बच्चे ऐसा करते ही

तुम्हारे अंदर एक सकारात्मक शक्ति उत्पन्न

होगी

जो की तुम्हारी सभी समस्याओं से तुम्हें

मुक्ति दिलाएगा और नकारात्मक शक्ति को

नष्ट करेंगे मैं तुमसे अपने असली रूप में

नहीं मिल शक्ति क्योंकि यह सृष्टि के

नियमों के विरुद्ध है यह निश्चित है की

तुम जब भी मुझे पुकारते हो

मैं तुम्हारे समक्ष होती हूं परंतु सृष्टि

के चलते तुम्हें दिखाई नहीं देती इसलिए

तुम कभी भी अपने आप को अकेला महसूस मत करो

मैं सदियों से तुम्हारे साथ हूं और रहूंगी

मेरा आशीर्वाद सदा ही तुम्हारे जीवन पर

रहेगा तुम्हारा कल्याण हो मेरे बच्चे

[संगीत]

Leave a Comment