मां काली 🕉️बेचारे तुम्हारे शत्रु बहुत ही परेशान हैं कल से पहले नहीं देखा तो जिंदगी

मैं तुम्हारी पूजा पाठ से बहुत प्रसन्न हूं और आज मैं तुम्हें कुछ देने आई हूं जो मैं तुम्हें इस संदेश में विस्तार से बताने वाली हूं इसलिए इसे पूरा देखें और अपनी पूजा पाठ को बेकार न होने दे देख लो मेरी चमत्कार अगर मैं तुम्हारे जीवन में अहमियत रखती हूं तो सिर्फ

अपनी माता के लिए एक लाइक करके चैनल को सब्सक्राइब करना और कमेंट में अपना नाम दर्ज करना जय हो माता रानी मेरे बच्चे जिसने तुम्हें रुलाया बहुत बड़ा बहरूपिया है उसका असली चेहरा असली रंग समाज में आज तक कोई उसे सही से नहीं समझ

पाया है कि उसका असली व्यक्तित्व कैसा है असलियत में वह है कौन उसने तुम्हें बहुत रुलाया बहुत झूठे इल्जाम लगाया है तुम्हारे ऊपर समाज में पूरी तरह से अकेला कर दिया तुम्हारी कोई गलती ना होने के बावजूद भी कितना बड़ा गुनाह कर दिया हो हमेशा

सबका ख्याल रखते हो मेरे बच्चे तुम बहुत भावुक इंसान हो उसने हमेशा तुम्हारी भावनाओं का फायदा उठाया तुम कितना भी भला

कर लो दूसरों का मैं तुम्हें सिर्फ धोखा मिलता है बदनामी मिलती है झूठे इल्जाम लगाए जाते हैं तुम्हारे ऊपर तुम्हें समझ में इतना अपमान इसीलिए सहन करना पड़ा उसे व्यक्ति ने तुम्हारी बदनामी का चढ़ावा चढ़ाया टोने टोटके किए उसने तुम्हारी ऊर्जा को नीचे

खींचने के लिए और वह कुछ हद तक सफल इसलिए हो पाया क्योंकि वह तुम्हारी कमजोरी जानता है मेरे बच्चे की तुम हमेशा दिल से सोचते हो के साथ सबको माफ कर देते हो तुम कभी किसी और का दर्द नहीं देख सकते हो और तुम्हारी वजह से किसी को

तकलीफ होगी तुम यह कभी नहीं चाहते हो पूरा समाज तुम्हारे खिलाफ खड़ा हो गया तो धीरे धीरे तुम्हारी और तुम अपनी ताकत अपनी शक्तियों को भूल गए तुम उनके रचित षड्यंत्र का शिकार बन गए मेरे बच्चे तुम इतना रोते थे कि तुमने खाना पीना छोड़ दिया

नींद नहीं आती थी जिसकी वजह से तुम्हारा स्वास्थ्य खराब रहने लगा तुम इतने भावुक व्यक्ति हो कि तुम मुझसे भी बस यही बोलकर रोते थे की माता मेरी क्या गलती है सब मेरे साथ इतना बुरा क्यों कर रही है मैंने तो हमेशा सबका अच्छा सोचा सबका ख्याल रखा

सब की भावनाओं की कदर की तो आज मेरे अपने ही मेरे खिलाफ क्यों खड़े हैं हाथों पर यकीन क्यों नहीं कर रहा है मुझसे ऐसी क्या गलती हो गई माता मैंने तो हमेशा आपकी भक्ति की क्या यह फल मिल रहा है मुझे आपकी भक्ति के बदले मेरी भक्ति करने का

तुम्हें क्या फल मिलेगा तुम्हारी कल्पना से परे है मेरे बच्चे क्या मैं तुम्हें अतीत में कुछ नहीं दिया है पर तुमने मेरी भी हर चीज उसे व्यक्ति आंख बंद करके तुमने यकीन किया और मेरे लाख समझाने के बाद भी हर बार दिल से निर्णय लिया पर वह व्यक्ति हमेशा

दिमाग का खेल खेलता रहा तुम्हारे साथ कभी भी तुम्हारे साथ रिश्तों में सच्चा था ही नहीं उसके दिमाग में तो शुरू से ही षड्यंत्र था तुम्हारे

Leave a Comment