मां काली 🕉️ अकेले में चुपचाप सुनो ठुकरा दिया है उसने तुम्हें लेकिन असली खेल अभी

मेरे प्रिय तैयार रहना कुछ बहुत ही बहुत

ही अच्छा होने वाला है वह पूर्ण रूप से

तुम्हारा होने वाला है आने वाले घंटे

में ही कुछ ऐसा घटित होगा तुम्हारे जीवन

में चमत्कार की ऊर्जा को आकर्षित करेगा

मेरे बच्चे इस वक्त तुम्हें यह संदेश मिला

इस ओर इशारा करता है कि शीघ्र ही तुम्हारे

जीवन में चमत्कार होने वाला है इतने दिनों

से तुम्हारा जो काम रुका हुआ था अब वह

पूर्ण हो जाएगा मेरे बच्चे आज मैं तुम्हें

बताने जा रही हूं उसे ध्यान पूर्वक सुनो

और समझो क्योंकि इस चमत्कारी ऊर्जा को

तीव्र गति से अपनी ओर आकर्षित करने के लिए

तुम्हें यह करना ही होगा क्योंकि यह

तुम्हारे लिए बेहद आवश्यक है मेरे बच्चे

आज रात सोने से पूर्व खुद को स्थिर करते

हुए अपना पूरा ध्यान आज्ञा चक्र पर

केंद्रित करना आज्ञा चक्र अर्थात माथे के

बीचोबीच एक छोटा सा बिंदु उसी स्थान पर

अपना पूरा ध्यान केंद्रित करते हुए अपनी

इच्छा को पूर्ण विश्वास के साथ बोलते हुए

मुझे समर्पित करना होगा मेरे बच्चे

तुम्हें केवल मिनट तक ही यह करना होगा

और तत्पश्चात निंद्रा में प्रवेश करना

होगा मेरे बच्चे ऐसा कर ते ही तुम्हारे

जीवन में चमत्कार होना प्रारंभ हो जाएगा

तुम्हारा बड़े से बड़ा कार्य शीघ्र पूर्ण

हो जाएगा सभी बिगड़े कार्य बनने लगेंगे

मेरे बच्चे बस तुम पूर्ण विश्वास के साथ

अपनी इच्छा चमत्कारी बिंदु पर केंद्रित

करते हुए मुझे समर्पित करना मेरा आशीर्वाद

तुम्हें शक्ति प्रदान करेगा मेरे बच्चे आज

तुम्हें यह संदेश प्राप्त हुआ है इसका

अर्थ है कि तुमने अपनी आंतरिक आध्यात्मिक

साधना सफलता पूर्वक पूर्ण कर चुके हो

तुम्हारी ऊर्जा एक विशिष्ट आकार धारण करने

की दिशा में अग्रसर हो रही है अर्थात

तुम्हारी आत्म शक्ति दृढ़ हो चुकी है अब

वक्त है तो केवल बाहरी परिवर्तन का जो

बड़ी ही सहजता से तुम्हारे जीवन में होने

वाला है जिसे अब कोई भी शक्ति रोक नहीं

नहीं सकती क्योंकि वास्तविक परीक्षा तो तब

होती है जब परिवर्तन आंतरिक स्थल पर होता

है यह परिवर्तन जो तुम्हें अंदर ही अंदर

विचलित किए रहता है तुमने सफलता पूर्वक उस

तनाव पूर्वक परिवर्तन को पार कर लिया है

मेरे बच्चे यह सब किसी कारण घटित होता है

क्योंकि ब्रह्मांड तुम्हारे भीतर ही

विद्यमान है और तुम इसी ब्रह्मांड का

हिस्सा हो जो परिवर्तन ब्रह्मांड में घटित

होगा वही तुम्हारे भीतर भी घटित होगा बस

व्यक्ति इसे तब अनुभव करना प्रारंभ करता

है जब वह आध्यात्मिक स्थल पर अग्रसर होता

है मेरे बच्चे जितना अधिक तुम इस प्रकृति

के प्रति संवेदनशील होते चले जाओगे उतना

ही अधिक तुम सभी परिवर्तन को अपने भीतर

महसूस कर पाओगे तुम भाग्यशाली हो जो अपने

आंतरिक आध्यात्मिक परिवर्तन को सहजता से

स्वीकार कर पाए अब शीघ्र ही तुम्हारी

वास्तविकता वही होगी जो तुम्हारी कल्पना

थी जो तुम चाहते थे वही अब होगा मेरे

प्रिय बच्चे तुम उन सभी चीजों को उसी

प्रकार आकर्षित कर लोगे जिस प्रकार फूल

कीटों को आकर्षित कर लेते हैं तुमने स्वयं

को जानने का प्रयास किया तुमने स्वयं से

प्रेम किया स्वयं को रचनात्मक चीजों से

जोड़ा यह सब उसी के प्रभाव से तो हो रहा

है तुम्हारे जीवन में सुखद बदलाव शीघ्र

होंगे निराशा के बादल टने वाले हैं और

खुशियों का आगमन होने वाला है क्या तुम

तैयार हो अपनी बाहरी आध्यात्मिक साधना की

ओर अग्रसर होने के लिए यदि हां तो मेरे

साथ कहो मैं तैयार हूं आध्यात्मिक मार्ग

पर अग्रसर होने के लिए मैं अब पूरी तरह से

तैयार हूं अच्छी चीजों को आकर्षित करने के

लिए मैं तैयार हूं समाज की सेवा के

लिए मां काली कहती हैं मेरे बच्चे कैसे हो

आज मैं तुमसे एक अति आवश्यक बात करना

चाहती हूं मैं तुम्हें तुम्हारी उन

गलतियों से सावधान करना चाहती हूं जो तुम

अपने रोज के जीवन में करते हो मेरे बच्चे

मुझे ज्ञात है तुम्हारे मन में कोई भी छल

कपट नहीं है

तुम कभी किसी के विषय में बुरा नहीं सोचते

परंतु मेरे बच्चे इतने सीधे इतने सच्चे

होने के बाद भी तुम्हारे सीधे पन का लाभ

पूरी दुनिया उठा रही

है मेरे बच्चे लोग तुम्हारे भोलेपन का

फायदा

उठाकर तुम्हें अपनी मीठी बातों के जाल में

फसाने का प्रयास कर रहे हैं मेरे बच्चे

ऐसे लोगों से सतर्क

रहो अन्यथा तुम्हारे सर कोई बड़ी मुसीबत आ

सकती है मेरे बच्चे आज मैं तुम्हें तीन

ऐसी गलतियां बताने वाली हूं जिसे भूलकर भी

मत करना मेरे बच्चे तुम्हारी सबसे पहली

गलती सभी को अपना समझने की भूल तुम एकता

में विश्वास रखते हो तुम सोचते हो कि कोई

पीछे ना रह

जाए सबका विकास एक साथ हो चाहे कोई भी

मुश्किल हो सब मिलकर सामना

जहां दूसरे लोग केवल अपना भला चाहते हैं

तो वहीं तुम दूसरों की मुसीबत भी अपने सर

ले लेते हो परंतु मेरे बच्चे लोग केवल

तुम्हारा फायदा उठाते हैं तुमने स्वयं ही

देखा होगा जब तुम किसी मुसीबत में पड़ते

हो तो कोई भी तुम्हारा साथ नहीं देता मेरे

बच्चे तुम्हारी दूसरी सबसे बड़ी गलती है

कि तुम जिससे भी मिलते हो उससे अपने जीवन

से जुड़ी सबसे महत्त्वपूर्ण बातों को

सांझा कर देते हो मेरे बच्चे तुम्हें यह

बात ध्यान रखना

चाहिए तुम जिस इंसान से मिलो उसे प्रभावित

करने के लिए उसका विश्वास जीतने के लिए

अपनी आगे की योजना किसी को मत बताओ

क्योंकि यह वही लोग होते हैं जो तुम्हारे

मन की बात जानकर तुम्हारी कमजोरियों को

जानकर ऐसा जाल बिछाते हैं

जिसमें तुम फसते चले जाते हो मेरे प्यारे

बच्चे हर कोई तुम्हारे जैसा भोला और सीधा

नहीं

है सभी को अपने जैसा समझने की भूल मत

करो मेरे बच्चे तुम्हारी तीसरी गलती

है धन के मामले में हद से ज्यादा दूसरे पर

विश्वास करना क्योंकि मेरे बच्चे वर्तमान

समय में धन ही सब कुछ है यह बात सुनने में

कड़वी लग सकती है पर सत्य है मेरे बच्चे

आजकल के दौर में धन को लेकर किसी की भी

नियत बिगड़ सकती है केवल धन के लिए लोग

रिश्तों को भूल जाते हैं मेरे बच्चे ऐसे

लोगों से संबंध तोड़ लो जिससे केवल

तुम्हारे धन से मतलब है मेरे बच्चे अगर

तुम सुखी जीवन चाहते हो जीवन में आगे

बढ़ना चाहते हो तो अपनी मां की यह बातें

सदैव स्मरण रखना यह तीन गलतियां अपने जीवन

में कभी मत

दोहराना सुखी रहो मेरे

बच्चे तुम्हारा दिन शुभ हो सच्चे मन से

कहो जय मां काली ओम क्रीम कालिका

नमः

Leave a Comment