मां दुर्गा प्रसन्न होने पर देती हैं ये संकेत।

जय श्री कृष्ण
आपका स्वागत है आज हम आपको बताएंगे की
देवी मैन जब हमसे प्रसन्न होती हैं हमसे
खुश होती हैं या हमारी प्रार्थना स्वीकार
कर लेती हैं तो वह कुछ संकेत हमें बताती
हैं वह संकेत कौन-कौन से हैं आज हम इसी पर

चर्चा करेंगे देखिए भगवान हमको दिखाई नहीं
देते हैं लेकिन वो किसी ना किसी रूप में
हमेशा हमारे साथ अवश्य रहते हैं और हमें
कुछ खास संकेत की मदद से अपनी प्रसन्नता
और क्रोध के विषय में बता ही देते हैं जब

हम ईश्वर की पूजा करते हैं तो हमारे साथ
कुछ सकारात्मक ऊर्जा में जुड़ जाती हैं जो
हमारे आस-पासे घेरा बना लेती हैं और जब
हमारा संबंध
भुज के साथ मजबूत हो जाता है तो ये हमें
सीधे परमात्मा का सानिध्य प्राप्त करती

हैं जो हमें कुछ संकेत के माध्यम से बताते
भी हैं की उन्होंने हमारी प्रार्थना
स्वीकार कर ली है तो लिए जानते हैं की वो
खास अंकित कौन-कौन से हैं जो स्वयं विश्व
शक्तियां हमें प्रदान करती हैं देवी मैन

हमें देती है और अगर आपको पूजा के दौरान
यह साधना के दौरान व्रत उपवास के समय में
विशेष रूप से यह नवरात्रि चल रहे हैं
इनमें भी
नवरात्रि ना चल रहा है उनके बाद भी जब भी

कभी आप देवी की साधना करते हैं किसी भी
देवी देवता के साथ ना करते हैं तो उनमें
से आपको कुछ संकेत प्राप्त होते हैं अगर
आपको वो संकेत मिल जाए तो आप समझ लीजिए की
आपकी साधना सफल है आपकी पूजा सफल से धो ग


है आपकी मनोकामना निश्चित रूप से पुरी
होने वाली और देवी आपसे बहुत ज्यादा खुश
हैं आपसे बहुत ज्यादा प्रसन्न है तो लिए
जानते हैं हम संकेत के बारे में सबसे पहला
संकेत है अगर आपको रात में नींद के दौरान
बार-बार सपने आते हैं बार-बार आप सपने में
मंदिर देख रहे हैं देवी माता की मंदिर को
देख रहे हैं आप मंदिर की यात्रा कर रहे

हैं किसी तीर्थ यात्रा कर रहे हैं भगवान
की मूर्ति को देख रहे हैं या साक्षात देवी
को भी देख रहे हैं उनकी फोटो को देख रहे
हैं तो इसका मतलब यही है की आप पर देवी
माता की कृपा हो चुकी है उन्होंने आपकी
प्रार्थना स्वीकार कर ली है सपने में आप

जब मंदिर देखते हैं मूर्ति देखते हैं और
आप देखते हैं की आप उन मूर्ति की उन देवी
की पूजा कर रहे हैं उनके सामने दीप कर रहे
हैं उनको प्रसाद चड्ढा रहे हैं या उनको आप
थोक दे रहे हैं उनके चरण स्पर्श कर रहे
हैं इसके साथ आप उनको shringarpit करते
हैं कभी आप देखते हैं की हमको चुन्नी

एयरपोर्ट करते हैं कुछ चूड़ी अर्पित करता
है अगर किसी सभी भक्त को किसी भी सरस
सलीका को इनमें से कोई सा भी सपना आता है
इस प्रकार का सपना आया उसको अनुभव हो तो

समझ लीजिए की देवी मैन ने उसको उसकी जो
प्रार्थना है वो निश्चित रूप से स्वीकार
कर लिए मैं उससे बहुत प्रसन्न है देवी
उसके ऊपर अपनी कृपा निश्चित रूप से करती
है अगला संकेत होता है की कई बार ऐसा भी
होता है की जब आप किसी चीज को लेने के लिए

आगे बढ़ते हैं या कोई निर्णय लेते हैं तो
आपके मैन में उसको लेकर कुछ सांस से ए
जाता है आपको लगता है की ये कुछ ठीक नहीं
हो रहा है हमारे साथ या जो भी हम ये कम
करेंगे ये हमारी ठीक प्रतीत नहीं होगा तो
ये ऐसा क्यों होता है तो हम उसे फैसले को

लेने से हमारा मैन हमें रोकता रहता है
इसका मतलब ये है की आपके साथ देवी शक्ति
जुड़ चुकी है आपके ऊपर देवी का आशीर्वाद
प्राप्त हो चुका है जब भी कभी आपको ऐसा
संकेत मिले तो आप इसको समझ ले की यही इसका
कारण है अगला संकेत ये होता है की जब भी

कभी आप ध्यान में पूजा में साधना में बैठ
रहे हैं या देवी का मंत्र जाप कर रहे हैं
ये आप सो भी रहे हैं
या कोई मैन से कम कर रहे हैं या अब यात्रा
कर रहे हैं कई बार ऐसे यात्रा करते हुए भी
देखा गया है की कई भक्तों के साथ ऐसा हो
चुका है तो तो आपको एक मधुर संगीत सुनाई

देगा
आपको लगेगा की आपके आसपास कहीं भी मंत्र
बज रहा है भले ही वो bajnara हो कहीं ना
कहीं लेकिन आपके कानों में उसकी ध्वनि
अपने आप ए जाती है जैसे कोई देवी मंत्र
बोल रही है कोई स्त्री मंत्र बोल रही है

की बालिका मंत्र बोल रहे हैं ऐसा आपको
जरूर महसूस होगा तो भजन आप सन रहे हैं और
आपको भजन में माहौल बनता है आपके अंदर से
भजन करने का देवी के प्रति मंत्र गाने का
एक अद्भुत अनुभव आपको होने लगता है की हम
भी ऐसा करें और आपका मैन रोमांचित हो जाता
है प्रफुल्लित हो जाता है आप खुश हो जाते
हैं मुझे तो कई बार होता है की आपको मंदिर

में बजाने वाले घंटे ढोल नगाड़े या देवी
की पूजा भी जो भी वाद्य बजाते हैं वो आपको
सुनाई देने लगते हैं भले ही वो बजाना रहे
हैं लेकिन आपको उनकी आवाज़ आएगी और आपके
साथ कोई बैठा उसको भी ऐसा महसूस नहीं होगा
क्योंकि हो देवी के साथ ना कर रहा हूं
लेकिन आप कर रहे हैं आपके ऊपर देवी का
आशीर्वाद है तो आपको ऐसा मैसेज होगा ऐसा
आपको नींद में हो सकता है brahmot में हो
सकता है ध्यान में बैठे हैं या आप ये अगर
आप ध्यान में बैठे तो आपके पास है इस पर
संकेत है की आप देवी आपके ऊपर कृपा कर रही
हैं क्योंकि ऐसा बहुत लोगों को यह संकेत
प्राप्त होता है संकेत
बता रहे हैं आपको सब आपको मिलते हो यह हो
सकता है संकेत भी आपको मिलता हूं या एक भी
ना मिलता हूं लेकिन ये जो हमने आपको बताया
की ध्यान में बैठ के अपने आप ही मंत्र की
आवाज़ ए जाना अपने आप ही मधुर धूनी संगीत
सुनना आज अन रॉकी देवी आपके कान में कुछ
बोल रही हैं या आपके पास अब जो मंत्र जाप
कर रहे हैं वो आपके कान में कोई मंत्र बोल
रहा है बार-बार आपको एक रोमांचित हो रहे
हैं आपके रोंगटे खड़े हो रहे हैं इसका
मतलब यही है की देवी आपके साथ ही हैं आपके
ऊपर भी अपनी कृपा बनाए हुए राखी हैं इसके
बाद अगला संकेत ही होता है की पूजा के
दौरान जब भी आप देवी की प्रतिमा या मूर्ति
से आप उनके सामने बैठे हैं और आप देखते
हैं की अचानक से कोई फूल आपके पास आके गिर
जाए या उनकी माला आपके पास गिर जाए देखिए
आपने बहुत सारी हिंदी फिल्मों में ऐसे ही
कई घटना देखी हुई की देवी का फूल गिर गया
या माला गिर गई तो ये कोई एक फिल्मी बात
नहीं है ये किस पर संकेत है यह सब संकेत
है इससे पता चलता है की ईश्वर की कृपा
आपके ऊपर है देवी आपके साथ हैं देवी ने
आपके ऊपर अपनी कृपा की है और आपकी
मनोकामना जल्दी पूर्ण होने वाली है
क्योंकि उन्होंने आपकी जो इच्छा है वो
स्वीकार कर ली है मंदिर हो या घर में की
जाने वाली पूजा अगला संकेत है की जब भी
कभी आप घर में पूजा कर रहे हैं मंदिर में
कर रहे हैं आप जो दीपक जलाते हैं आप जो
दीपक प्रज्वलित करते हैं उसकी ज्योति जो
दीपक के ज्योति होती है वो अवश्य प्रेरित
करते हैं करते हैं अगर आपके द्वारा जलाए
गए दीपक की लो कुछ ज्यादा ही ऊपर उठ जाती
है जब से ज्यादा ऊपर की ओर भाग रही है
सीधी खड़ी हो जा रही है या फिर उसमें आप
देखेंगे की एक फूल जैसी आकृति जरूरी की
बत्ती होती है उसकी लॉ में आप देखेंगे फूल
जैसी बत्ती बन रही है या ओम की आकृति बन
रही है तो समझ लीजिए आपकी भक्ति और आपकी
श्रद्धा से अब देवी को प्रसन्न आप कर चुके
हैं और भाई अवश्य ही आपकी चिंता करेंगी और
करती हैं ऐसा होता ही होता है तो यह भी एक
संकेत मिलता है अगला संकेत है की कई बार
ऐसा होता की जब आप अपने मंदिर में
धूपबत्ती जलाते हैं बहुत लोग अगरबत्ती
जलाते हैं हालांकि अगरबत्ती जलानी नहीं
चाहिए लेकिन जो लोग जलाते हैं उनके लिए
बता रहा हूं जो लोग धूपबत्ती है अगरबत्ती
जलाते हैं तो आपको
जलाने से पहले ही आपको एक विशेष रूप से एक
विशेष सुगंध का आपको एहसास होगा एक ऐसी
अजीब सी खुशबू जो आपको मंत्र बुक कर देगी
आपके मैन को हर्षा आएगी आपको एकदम मनमोहित
कर देगी ऐसी आपको खुशबू आपको आने लग जाए
तो समझ लीजिए की आप दे भी शक्ति आपके ऊपर
हैं देवी शक्ति का हाथ आपके ऊपर है और
उनकी कृपा आपके ऊपर बनी हुई है देखिए अगला
संकेत हम बता रहे हैं आपको जब क्या होता
है की जब देवी आपसे प्रसन्न होती हैं मैं
आपकी साधना से आपके व्रत से आपके पास है
आपके श्रद्धा को देख के जब मैं प्रश्न हो
जाती है तो वह आपके पास संकेत भेजती हैं
तो इसके लिए वो क्या करते हैं कई बार ऐसा
होता है की बहुत सारे भक्तों को बहुत सारे
देवी के सारा शादी गांव को विशेष रूप से
देवी मैन के दुर्गा के सारा साल गुजर काली
माता की अब देवी की किसी भी रूप की साधना
कर रहे हैं उन सबको भैरव जी की कृपा
प्राप्त होती है भैरव जी के दर्शन प्राप्त
करते हैं भाई साहब जी के दर्शन को स्वप्न
में मिल जाते हैं या उनको एक ऐसा होता है
की भैरव जी हमारे पास हैं उनके मैन में ये
इच्छा होती है अब हम भैरव जी के लिए पूजा
करें तो ऐसा जब होता है तो इसका मतलब यही
है की देवी आपके पास ये संकेत भेज रही हैं
देवी आपको बताना चाह रही हैं की देखो वक्त
अब यहां देखो बेटा अब हमने तुम्हारी
प्रार्थना स्वीकार कर लिया है अगर जब भी
कभी आपको भैरव जी के सपने में दर्शन हो
जाएं या भैरव जी की पूजा करने का मैन में
भाग उठे तो आपको क्या करना है आपको देवी
के मंदिर जाना है जिस देवी की आप
प्रार्थना करते हैं उनके मंदिर जाएं और ना
दुर्गे चल रहे हैं तो नवरात्र में जाएं
नहीं तो आप वैसे भी अगर आप साधारण रूप से
पूजा करते हैं तो भी जाएं और आप भैरव जी
के दर्शन अवश्य करें देवी की दर्शन करना
ही करना है और आपको भैरव जी के दर्शन करना
है उनको यथा संभव हो सके तो आप जो भेद
चड्ढा है उनको वो भेद उनको दें और दोनों
के दर्शन करें दोनों को भेज दें और हमेशा
एक बात हम और भी बता रहे हैं आप ये ध्यान
रखिए जब भी कभी आप माता जी की पूजा करते
हैं किसी भी देवी की आप आराधना करते हैं
साधना करते हैं मैं तो अब्बास करते हैं तो
आपको अंत में जो है भैरव जी की जय जरूर
बोलना चाहिए क्योंकि बिना भैरव जी की जय
बोले बिना भैरव जी को नमन करें इनको
प्रणाम करें और उनके प्रति श्रद्धा
समर्पित करें हुए आपको देवी कृपा नहीं मिल
सकती तो इसलिए भैरव जी की कृपा करने के
लिए भी आपको देवी की कृपा मिलेगी मिलेगी
एक बात और भी की अगर आपको भैरव जी की कृपा
मिलती है तो आपको देवी की कृपा अपने आप ही
मिल जाती है या फिर देवी और कृपा कर दी तो
भैरव जी भी इस स्वयं भी आपके ऊपर कृपा
करने लग जाते हैं तो ये अगला संख्या अब हम
आपको बताने वाले हैं पूजा के दौरान अगर आप
जो धूपबत्ती जलाते हैं अगर उसका दुआ सीधे
देवी की तरफ मुख करता हुआ चला जाए और
उसमें से अगर ओम जैसी आकृति बनती दिखाई दे
तो यह भी एक सुकन्या जाता है इसे भी प्रकट
होता है की देवी आपकी पूजा प्रार्थना से
खुश हैं अगला संकेत यह है की जब भी कभी आप
पूजा कभी-कभी आप देवी जी की पूजा करते हैं
उनकी व्रत साधना में आप हैं आपने कोई
संकल्प लेकर देवी की पूजा कर रहे हैं तो
आपको सपना आते हैं इनको हम दिव्या स्वप्न
बोलते हैं क्योंकि देवी आपको संकेत देती
है तो आपके सपने में क्या होता है की आप
देखते हैं की आप कन्याओं का पूजन कर रहे
हैं आप छोटी-छोटी कन्याओं का पूजन कर रहे
हैं वो एक कन्या कभी देख सकते हैं आप यहां
नौ कन्याएं यहां पंच करने हैं चार करने
हैं मतलब कन्या को देख रहे हैं बस और आप
सपने में आप उनका पूजा कर रहे हैं आप उनको
प्रसाद अर्पित करते हैं आपको विधिवत उनको
चुन्नी देते हैं उनको तलाक करते हैं उनको
वस्त्र देते हैं अगर आप सपने में ये सब
देख रहे हैं आपका और कन्या आपको आशीर्वाद
दे रही है कन्या आपके साथ खेल रही है आपको
देख के मुस्कुरा रहे हैं आपसे बहुत खुश
हैं आपके सर पे हाथ राखी हुई हैं तो इसका
मतलब है की अब आपकी सारी बढ़ाएं खत्म हो
चुकी हैं आपके सारे कष्ट समाप्त हो चुके
हैं और आप कन्याओं का पूजन अगर इसका अगर
आपको ये सपना ए जाए तो आपको क्या करना है
चाहे वो नवरात्र हो या ना हो अगर आप देवी
के साथ ना कर रहे हैं या नहीं भी कर रहे
हैं हो सकता की आपने साधना करके पूर्ण कर
लो उसके बाद आपको सपना आए तो भी आपको क्या
करना है आपको कन्याओं को पूजन करना है
आपको घर पे कन्याओं को निमंत्रण देना है
अपने घर बुलाना है उनको उनका तिलक करना है
उनका जैसा हम नौजवानों में जैसे हम नौ
देवियों के टाइम पे हम कन्याओं को पल करते
हैं तो उनको ये सब ध्यान रखना दे उनको
भोजन कारण कन्याओं का मंथन भोजन कारण और
नवरात्रि में इसका विशेष महत्व है तो जब
भी कभी ये सपना आता है ये ये सपना भी
कन्या का सपना भी हर किसी को नहीं आता अन
ये सपना भी बहुत कम या कुत्तों को ही आता
है तो अगला संकेत ये है अगला संकेत हम
आपको बता रहे हैं जब कभी आप देवी जी की
पूजा कर रहे हैं साधना करें तो आपके सामने
आप हमेशा अपने सामने कोई ना कोई देवी की
प्रतिमा मूर्ति चित्रा अवश्य रखते हैं और
आप पूजा नहीं कर रहे हैं आप ऐसे चलते
फिरते कभी देवी दर्शन कर रहे हैं तो भी
आपको ऐसा महसूस होगा आप देखेंगे की जो
आपके जो प्रतिमा है जो डेबिट तस्वीर है हो
सकता है मंदिर में भी आपको ऐसा महसूस हो
तो जो देवी की तस्वीर है या प्रतिमा है
उसके भाव बदल रहे हैं मूर्ति का रंग बदल
रहा है मूर्ति बहुत प्रफुल्लित हो रही है
हंस रही है खुश हो रही है मैं आपसे कुछ
कहना चाह रही है और आपको लग रहा है की
मूर्ति हिल भी रह गए देवी की तस्वीर देवी
की प्रतिमा जो स्वरूप है वो हिल रहा है
रंग बदल रहा है या कभी उसकी आंखें पलक जाप
कर रही हैं ऐसा आपको लगता है की देवी के
मुख पर एक अद्भुत mamtamayibhav उत्पन्न
हो गया है देवी करुणा से भर चुकी हैं देवी
आपके ऊपर दया करना चाहती हैं आपको ऐसा
महसूस होगा आप रोमांच हो जाएंगे आप ही तो
रोंगटे हैं वो खड़े हो जाते हैं और इसके
साथ आप भी अंदर से प्रसन्न हो जाते हैं
आपको लगता है की देवी के दर्शन करते हैं
सारे सारे जो कष्ट द थकान थी जो आप सेंड
कर रहे द अचानक आप देखते नहीं वो कम हो गई
या खत्म हो गई जब तक आप जब के सामने तब तक
वो खत्म हो गई तो ये एक संकेत है यह
स्पष्ट संकेत है की देवी आपके ऊपर प्रश्न
है और आपके ऊपर बहुत ज्यादा वो कृपा कर
रही हैं और आपकी प्रार्थना स्वीकार कर
चुकी है इसके अलावा जो देवी भक्त होते हैं
जितने भी लोग साधक शादी का होती हैं उनके
साथ एक विशेष घटना और भी होती है की उनको
भविष्य में होने वाली घटनाओं की संकेत
मिलने लग जाते हैं उनको ऐसा महसूस हो जाता
है की अब ये कुछ जो होने वाला है ये खराब
हो रहा है या गलत हो रहा है यहां आने वाला
समय हमारा खराब होगा की गलत होगा उनको ये
अपने आप उनके मैन में अपने आप से ये बात
उठने लग जाती है क्यों ऐसा क्यों होता है
क्योंकि उन पर दाह भी लोगों शक्तियों का
आशीर्वाद है देवताओं का आशीर्वाद है अगर
आप किसी भी व्यक्ति की पूजा करते हैं तो
जरूरी नहीं है की वही देवी आपके ऊपर कृपा
करें हो सकता हूं उनसे संबंधित देवी की जो
साद-शादी कैन होती हैं कई सारी दिव्या
शक्ति होती है जो देवी के बराबर थोड़ी
छोटी होती है मैं भी आप पर कृपा करना शुरू
कर देती है मैं आपसे बहुत ज्यादा प्रसन्न
हो जाती है इसके अलावा अगला संकेत दिया है
की कुछ सपने में देवी पूजा करते हुए
साधना करते वक्त या उसके बाद भी अगर आपको
सपने में गुड़हल का लाल रंग का फूल दिखाई
दे तो ये बहुत शुभ है देखिए गुड़हल का लाल
इनका फूल माता जी को बहुत ज्यादा प्रसन्न
है देवी इसको बहुत ज्यादा उनको प्रिया
लगता है ये फूल तो अगर आपको ये फूल दिखाई
दे सपने में आप देखने की सपने में आपके
पास गुड़हल का फूल है या आपको देख रहे हैं
पेड़ पे लगा हुआ देख रहे हैं आपके पास है
घर में आप कैसे भी किस प्रकार से गुड़हल
का फूल देखना लाल रंग का तो आपको क्या
करना है आपको उठकर अगले दिन मंदिर में
जाना है और देवी को लाल रंग का गुड़हल का
फूल समर्पित करना है अपनी प्रार्थना बोलते
हैं अपनी मनोकामना बोलते हैं समर्पित कर
देना है ऐसा करने से आपकी प्रार्थना
स्वीकार तो हो चुकी क्योंकि तभी आपके पास
ये संख्या है लेकिन फिर भी आप एक बार के
देवी को ये फूल चड्ढा दें और देवी के
सामने मस्तक होकर उनको श्रद्धा अपनी
अर्पित करने को कुछ प्रापित करें इसी
प्रकार का भाव रखेंगे तो यह देखो संकेत
इसके अलावा एक संकेत और भी है की जिन
लोगों पर भगवान की कृपा होती है मैं अच्छा
है अमीर हो चाहे गरीब मैं किसी भी स्थिति
में हो किसी भी परिस्थिति देखने में बस
संघन सा लग रहा हूं लेकिन आप देखेंगे की
उसको हर जगह सम्मान मिलता है मैं कुछ कम
मेहनत करने पर भी सफलता हासिल कर लेता है
क्योंकि ये निशान ये देवी की कृपा की
क्योंकि देवियों ने हर परेशानियों से बचा
लेते हैं उनकी चिताओं को उनकी बढ़ाओ को
खत्म कर देते हैं उन पर कृपा करते हैं तो
इस प्रकार की संकेत आपको मिलते हैं तो
देखिए ये द वो संकेत जो हमने आपको बताया
है की देवी आपको ऊपर जब प्रसन्न होती है
आपसे खुश होती हैं आपके पास कृपा करती हैं
तो आपको ये संकेत देती हैं तो जब भी कभी
आपको इस प्रकार के संकेत मिले तो आपको
करना क्या मंदिर में जाना है और मंदिर में
जाके देवी के प्रति आ श्रद्धा समर्पित
करें उनको नतमस्तक करें उनको थोक दें उनकी
विधिवत पूजा करें घर पे भी कर सकते हैं और
आप ऐसा ही करें तो हम आशा करते हैं की ये
जानकारी आपको अच्छी लगी होगी आपको ये
वीडियो पसंद आया होगा तो आप हमारे चैनल को
जरूर सब्सक्राइब करें लाइक करें और अधिक
से अधिक शेयर भी करें देवी मैन आपको पर
अपनी कृपा बनाए रखें ऐसे ही आप देवी की
पूजा पाठ करते हैं उनकी साधना करते रहे जय
श्री कृष्ण

Leave a Comment