मां दुर्गा मेरे बच्चे इसे टूटने मत दो यह टूट गया तो

मेरे बच्चे तुम्हारे प्रेम को किसी की
बुरी नजर लग चुकी है इसलिए मेरे बच्चे
तुम्हारा प्रेम खतरे में है इसलिए तुमको
और तुम्हारे प्यार को बचाने के लिए कुछ
जरूरी बात बताने आई हूं मेरे बच्चे

क्योंकि तुम मेरे ऊपर ही अपने आप को सौंप
चुके हो इसलिए मैं स्वयं करूंगी तुम्हारी
रक्षा मैं तुम्हारे प्रेम पर आंच भी नहीं
आने दूंगी और तुम्हारे इस संदेश को पूर्ण
रूप से सुनने के पश्चात आधि रक्षा तो तुम

स्वयं ही कर पाओगे और आधी मैं स्वयं
तुम्हारी रक्षा
करूंगी क्योंकि मेरे बच्चे जीवन में प्रेम
पाना बहुत ही अच्छा और सच्चा होता
है लेकिन यदि तुम्हारा प्रेम किसी और के
कारण खतरे में है तो निश्चित ही तुम्हें
बचाने की आवश्यकता है और तुम्हें बचाना भी

चाहिए कोई है जिसकी
तुम्हें तुम पर बुरी नजर लग चुकी है उसी
दृष्टि के दोष से भी बचाना है और तुम्हें
कुछ ऐसे कार्य करने
हैं जिससे कि तुम्हारा प्रेम बच पाए जिस
प्रकार तुम्हारा स्वास्थ्य को कभी-कभी
किसी की गंदी नजर लग जाती है तो तुम बीमार

पड़ जाते हो या ऐसे इंसान के कारण जो कि
तुम पर गंदी नजर रखता है तुम्हें अपना
बनाना चाहता

है वह नहीं चाहता कि तुम्हारा प्रेम
तुम्हारा रहे तुम्हारा प्रेम तुमसे अलग
करना चाहता है इसलिए वह कुछ ना कुछ गलत
बातों को बोलकर तुम दोनों के बीच में
लड़ाई करवा रहा
है क्योंकि उसे तुम लोग के बीच में आना है
और अपना बनाना

है लेकिन ऐसे किसी के बीच में जाने से
किसी का प्रेम ना तो छिनता है ना किसी
दूसरे को मिलता है जो सच्चा प्रेमी है वही
तुम्हारे जीवन में रहेगा और मैं तुम्हें

उससे कभी अलग नहीं होने दूंगी भले ही
तुम्हारे प्रति कोई कितना भी कोई भी गलत
नजर रखे
फिर भी कामयाब नहीं होने दूंगी एक बात का

ध्यान रखो लड़की हो या लड़का स्त्री हो या
पुरुष जीवन साथी हो या तुम्हारा प्रेमी
प्रेमिका यदि पत्नी को कोई स्त्री गलत
बातें बोलता
है या पुरुष कोई गलत बात बोलता
है तो अपने दिमाग में तुम यह समझ लेना कि
निश्चित ही वह तुम्हें तुम्हारे पति या

पत्नी से दूर करना चाहता है उसकी बातों को
दिल से मत लगाना और उसकी बातों पर यकीन मत
करना केवल अपनी आंखों से और अपने मस्तिष्क
से और अपने हृदय से उस बात को
परखना जब तुम्हें बात सच दिखाई दे अपने
पति या पत्नी के अंदर तभी तुम उनकी बातों

का यकीन करना क्योंकि कई बार ऐसा होता है
कि कोई सिखाने वाला व्यक्ति तुम्हें
तुम्हारे साथी से दूर करना चाहता है इसलिए
इस बात का खास ध्यान
रखना और यही बात पुरुष के लिए भी है कई
बार पुरुष का कोई दोस्त उसकी पत्नी के
बारे में उल्टी सीधी बातें कहकर उसके

खिलाफ गलत बातें दिमाग में भर देता है
जिससे कि पति अपनी पत्नी का हृदय से दूर
हो
जाए
और ऐसे में पति को भी यही चाहिए कि वह
अपनी पत्नी पर पूर्ण विश्वास रखे और उसे
देखकर किसी बात पर यकीन करें इसलिए तुमको
तुम्हारे प्रेम से जो अलग करना चाहता है

करें लेकिन तुम जब तक सही हो स्वयं को तो
अपने प्रेम को समझते हो और तुम्हें यह
ज्ञात है कि प्रेम करने वाला कभी झूठ नहीं
बोलता तो इस बात को भी तुम बहुत अच्छे से
समझ लो कि यदि तुमने अपने प्रेमी को समझ

लिया तो ना ही तुम किसी के बहकावे में
आओगे और ना ही तुम अपने प्रेम से दूर हो
पाओगे मेरे बच्चे जब तुम अपने प्रेम को
नहीं समझते हो तभी किसी की बुरी नजर
तुम्हारे हद तक कामयाब होती है इसलिए ना
तो तुम्हें कि किसी की बातों में आना है

ना ही ऐसे बिना किसी की बातों को सुनते
हुए किसी
की और ना ही ज्यादा सोच विचार करना है
क्योंकि ज्यादा सोच विचार करोगे तो तुम
अभी भी वह प्रेम प्राप्त नहीं कर पाओगे
मेरे बच्चे मेरी अंतिम चेतावनी है मैं

तुम्हें आखिरी बार समझा रही हूं यदि तुमने
मेरी बातों को ध्यान पूर्वक नहीं सुना और
ध्यान नहीं दिया
तो तुम्हें मेरे अत्यधिक क्रोध का सामना
करना पड़ेगा इसलिए मैं तुम्हें यह संदेश
भेज रही हूं मेरे बच्चे इसलिए जो आज बताने

आई हूं ध्यानपूर्वक सुनना और समझना
क्योंकि इस बात को समझना बहुत ज्यादा
जरूरी है तुम्हारे लिए जीवन के रास्ते
रुकने के बहुत कारण होते
हैं परंतु रास्ते खुलने की ब बहुत कम वजह

इसलिए तुम उन वजहों को कभी अनदेखा मत करो
क्योंकि गुनाह तुम्हें बड़ी-बड़ी गलतियों
से प्राप्त होता है परंतु मेरे बच्चे
पुण्य तुम्हें छोटे-छोटे कार्य से ही
प्राप्त हो जाता है बड़ी बड़ी गलती होगी
तब भी छोटे-छोटे कार्य से भी माफी मिल

जाएगी लेकिन सबसे पहले तुम्हें इस बात का
ध्यान रखना अति आवश्यक है कि तुम ऐसा कोई
कार्य करो नहीं जिससे तुम गुनाह के

भागीदार बन जाओ यदि जीवन में तुमसे कोई
गलती हो जाती है तो तुम उसको ध्यान में
रखते
हुए उसकी माफी की याचना करते हुए कुछ ऐसे
कार्य करो जिससे तुम्हारी वह गलती की माफी
तुम्हें मिल जाए और आगे के सभी मार्ग

तुम्हारे लिए खुल जाएं मुझे ज्ञात है मेरे
बच्चे कि पैसों की आवश्यकता सभी को होती
है परंतु यह मैं तुम्हें कई बार समझा चुकी
हूं कि गलत मार्ग से पैसे यदि तुम अर्जित
करते हो तो तुम बहुत बड़ा पाप कर रहे हो
तुम सोचते हो कि घुमावदार काम करेंगे और

दुनिया को बेवकूफ बनाकर तुम पैसे अर्जित
कर लोगे तो यह तुम्हारी बहुत बड़ी भूल
है मेरे बच्चे क्योंकि वह पैसे तुम्हारे
पास कुछ समय के लिए तो आ जाएंगे लेकिन वह
ऐसी जगह और ऐसे कार्य में खर्च
होंगे व्यर्थ की चीजों में पैसे खर्च हो

जाएंगे कहने का तात्पर्य है कि वह बीमारी
में या किसी दुर्घटना में ऐसे कार्य में
खर्च होंगे कि तुम्हारे किसी मतलब के नहीं
होंगे इसलिए पैसे को ईमानदारी से कमा सकते
हो मेरे बच्चे ईमानदारी से कमाना और यदि

जीवन में कोई गलती हो जाती है तुमसे जाने
अनजाने भूल से तो तुम हर शनिवार को विष्णु
देव पीपल के वृक्ष में मां लक्ष्मी के साथ

वास करते
हैं शनिवार के दिन सरसों के तेल का दिया
रख देना तुम्हें सभी गलतियों से वह स्वयं
माफ कर देंगे उनके माफ करते ही मुझसे भी

स्वतः ही माफी मिल जाएगी लेकिन मेरे बच्चे
इसके साथ ही इस बात का भी स्मरण रखना कि
तुम्हें गलत कार्य से किसी भी सूरत में
दूर रहना
है हर दिन थोड़ी सी पूजा पाठ करने से और

कुछ भी मांगने से तुम्हारी मनोकामना पूर्ण
हो जाती है कहने का अर्थ यह
है मेरे बच्चे कि यदि तुम अपनी गलतियों की
माफी मांगते हुए इस कार्य को करते हो तो
माफी मिलती
है यदि तुम्हारे जीवन में नुकसान न हो रहा

होता है वह भी दूर हो जाता है सतर्क होना
होगा और ध्यान रखना होगा कि तुम्हें अपने
अच्छे दिनों के लिए क्या-क्या करना है
मेरे बच्चे मेरा आशीर्वाद सदा तुम्हारे

साथ है मेरे अगले संदेश की प्रतीक्षा
करना ओम नमः शिवाय जय
माहाकाली मेरे बच्चे मैं तुम्हें एक बात
बताना चाहती हूं इसलिए भूलकर भी आज मेरे

संदेश को अनसुना या अनदेखा मत करना
क्योंकि जो बात बताना चाहती हूं वह
तुम्हें सुनना भी जरूरी है और मुझे बताना
भी जरूरी है मेरे बच्चे कई बार तुम्हें
मैं कुछ बातें ऐसी हैं जो बताते बताते रह
जाती हूं और मेरे बच्चे पर मैं बता नहीं

पाती समय का परिवर्तन निश्चित है हर समय
तुम्हारा समय बलवा नहीं रहता और ना ही हर
समय तुम्हारा कमजोर रहता है यह परिवर्तन
होता रहता है जिस प्रकार दिन और रात का

परिवर्तन आवश्यक होता है उसी प्रकार जीवन
में यह परिवर्तन भी आवश्यक होता है जिस
समय पर समय बलवान होता है उसमें तुम्हें
भले ही सामान्यता पूजा करने पर भी और
सामान्यता कार्य करने पर भी फल प्राप्त

होता रहता है लेकिन जिस समय तुम्हारा समय
कमजोर होता है उस समय तुम बहुत पूजा पाठ
पर ध्यान केंद्रित करते हो और अत्यधिक
मुझे बार-बार पुकारते हो लेकिन मेरे बच्चे

मैं तुम्हें बताना चाहती हूं कि कुछ ऐसा
करो जिससे तुम्हारे सामने समय कभी कमजोर
ही ना आए तिनके तिनके के बराबर दुख
प्राप्त होना तुमको इसी बात को समझना बहुत
जरूरी है ऐसे कार्य लगातार करते रहो उन
कार्यों को व रोको मत क्योंकि जैसे ही तुम

लगातार कुछ कार्य को करते रहोगे तो
तुम्हारा समय स्वयं भी बलवान रहेगा और
तुम्हारा समय भी कमजोर नहीं होगा क्योंकि

अच्छे कर्मों के साथ-साथ इस पृथ्वी पर और
भी थोड़े कार्य जो तुम्हारे जीवन में बहुत
महत्व रखते हैं जिसे तुम्हें खुश रखना
बहुत जरूरी होता है इस प्रकार से समझो कि
पृथ्वी पर सबसे पहले जब तुम सोकर उठते हो

तो सुबह तक सूर्य की किरण पृथ्वी पर फैली
होती हैं जो तुम्हें हर अंधेरे से बचाती
हैं इसके साथ-साथ यदि तुम सूर्य को

प्रतिदिन नमन नहीं करते तो सूर्यदेव रुष्ट
हो जाते हैं तब इस संसार में इस पृथ्वी पर
जो हो रहा है तुम जो कर रहे हो उस कार्य
में विघ्न डालने लगते हैं इसलिए प्रातः
काल इस नियम को बना लो और प्रतिदिन सूर्य

को नमन कर करो क्योंकि सूर्य का आशीर्वाद
तुम्हें प्राप्त होना बहुत जरूरी है इसके
साथ इस बात का स्मरण रखो और इस बात को

कदापि मत भूलना तुम जहां-जहां जाओगे वहां
वहां सूर्य की किरणें तुम्हारे ऊपर अवश्य
ही पड़ेंगी इसलिए उनकी शक्ति को अर्जित
करना तुम्हारे लिए बहुत जरूरी है और उसकी
शक्ति केवल तभी तुम्हें प्राप्त होगी जब
तुम सूर्यदेव को जल अर्पित करोगे और
उन्हें नमन करोगे प्रतिदिन उठते समय
क्योंकि जो शक्ति तुम्हें सही रास्ते पर

चलाना चाहती है जो तुम्हें मंजिल पर
पहुंचाना चाहती है वही से तुम्हें किसी भी
व्यक्ति के रूप में आकर उस मार्ग पर चलने
के लिए रास्ता बताती है यदि तुम अपने
भाग्य की रेखा को मजबूत रखने के लिए तुम
तो ईश्वर अर्थात मेरी शक्ति के साथ-साथ
ग्रहों की शक्ति को प्राप्त करना बहुत
जरूरी है क्योंकि इस पृथ्वी पर जितने भी
ग्रह हैं उन सबकी दृष्टि तुम पर पड़ती है
और तुम्हारे जीवन में उन सभी ग्रहों का
प्रभाव रहता है अच्छा या बुरा समय आने पर
तुम पर पड़ता है कि उन ग्रहों के प्रभाव
को तुम अपने जीवन में अच्छी की ओर आकर्षित
करते हो या बुरे की ओर इसलिए यदि तुम सभी
पूजा हों के साथ यदि तुम प्रतिदिन ग्रहों
को प्रसन्न के लिए जल अर्पित करोगे अपने
आप स ग्रह प्रसन्न हो जाएंगे और तुम्हारे
जीवन में तुम्हारे घर वह मार्ग खुलने
लगेंगे तुमको यह बात सोचना है मेरे बच्चे
जीवन का यह गहरा राज तुमको जानकर समझकर
करना जरूरी है और इसके साथ सफलता तुम्हारे
पास खुद चलकर आएगी इस बात को समझ लो इस
क्रिया को समझना तुम्हारे लिए कठिन नहीं
बहुत आसान है इसलिए आज मैंने तुम्हें यह
बातें बताई हैं क्योंकि मैं चाहती हूं
मेरा बच्चा ऊंचाइयों को छुए मेरे बच्चे
तुम भी यही तलाश कर रहे हो जो हर कोई करता
है हर कोई अपने लिए सदैव अच्छे मित्र
अच्छे साथी की तलाश करता है और वह उसमें
अच्छे गुण को ही ढूंढता है परंतु एक
व्यक्ति में तुम जिन सभी गुण को ढूंढते हो
वह तुम्हें कभी नहीं मिलता क्योंकि संसार
में कोई भी मनुष्य ऐसा है ही नहीं जिसमें
तुम्हारे मन के अनुसार सारे गुण हो ऐसे
में यदि तुम किसी के सारे गुण ढूंढ लोगे
तो कभी वह बंधन बन ही नहीं पाता क्योंकि
कभी-कभी जो जैसा है उसे वैसा स्वीकार करना
ही अच्छा होता है यदि किसी के गिने चुने
बुरी आदतें हैं तो उसे नजरअंदाज किया जा
सकता है क्योंकि मैं जिसे जो कुछ भी देती
हूं वह उसकी योग्यता के अनुसार देती हूं
ना तुम किसी के लिए सर्वगुण संपन्न हो
सकते हो ना तुम्हारे लिए इसलिए कुछ चीजें
नजरअंदाज करके रिश्ते बनाए रखना चाहिए
क्योंकि मैं तुम्हें वही देती हूं जो
तुम्हारे लिए सबसे बेहतर है जो तुम्हारे
लिए सर्वश्रेष्ठ होता है मेरे बच्चे तुम
मेरी लीला को नहीं जान सकते क्योंकि तुम
मेरी ही संतान हो मैं तुम्हारे जीवन के
लिए कभी कोई गलत निर्णय नहीं ले सकती मेरे
बच्चे मैं हमेशा तुम्हारे लिए सर्वश्रेष्ठ
को चुनती आई हूं और आगे चुनती रहूंगी भले
ही आज तुम इन बातों को ना समझ पाओ किंतु
जब वह समय आएगा तो तुम मेरा शुक्रिया अदा
करोगे क्योंकि तुम्हें अपना भविष्य नहीं
देखा है परंतु मैंने तुम्हारा भविष्य देखा
है इसलिए वर्तमान में मैं तुम्हें उन
लोगों से मिलाती हूं जिससे तुम्हारा
भविष्य सुरक्षित हो और जिससे तुम्हारे
भविष्य कोई खतरा आ सकता है तो मैं उसे तुम
तुम्हारे जीवन से दूर कर देती हूं क्योंकि
मैं तुमसे बेहद प्रेम करती हूं मेरे बच्चे
मैं तुम्हारे जीवन में कभी कुछ गलत नहीं
होने दूंगी क्या तुम अपनी माता से प्रेम
नहीं करते क्या तुम्हें मुझ पर भरोसा नहीं
है यदि है तो समझ लो मैं तुम्हारे जीवन
में कभी कुछ गलत नहीं होने दूंगी मेरा
आशीर्वाद सदा तु मैं काली मां तुम्हें
बहुत सी चीजें देने के लिए आज तुम्हारे
पास आई हूं मेरे बच्चे मुझे अनदेखा मत
करना क्योंकि

Leave a Comment