मां दुर्गा 🕉️जिसने तुम्हारी जिने कि इच्छा खत्म कि है अब उसके साथ क्या हो रहा है तुरं

मेरे बच्चे मैं अभी तुम्हारे लिए एक

महत्त्वपूर्ण संदेश लेकर आई हूं तो इसे

नजरअंदाज बिल्कुल भी मत करिएगा नहीं तो

तुम्हें भारी नुकसान हो सकता है मेरे

बच्चे आज मैं तुम्हें इस नुकसान से बचाने

आई हूं इसलिए इसे पूरा सुने अगर आपको भी

माता की महिमा पर विश्वास है तो इस संदेश

को अभी लाइक कर दीजिए और जय हो माता रानी

लिख दीजिए मेरे बच्चे जब तुम बहुत रोते हो

बहुत परेशान होते हो टूट जाते हो तो चीख

चीख कर मुझसे बस एक ही सवाल करते हो कि

माता आखिर आप मुझसे चाहती क्या हो क्यों

इतनी तकलीफ दे रहे हो आप मुझे क्या कर दूं

मैं ऐसा जिससे आप प्रसन्न हो जाओ और मेरे

जीवन से इन समस्याओं का अंत कर दो मेरे

बच्चे आज मैं तुमसे वह मांगने आई हूं क्या

तुम मुझे वह दोगे जो मैं तुमसे चाहती हूं

उसके बदले में मेरा यह वचन है तुमसे कि

तुम्हें जो कुछ भी चाहिए तुम्हें वह सब

कुछ दे दूंगी मैं इस समाज में तुम्हें एक

नाम दूंगी तुम्हें सम्मान दूंगी तुम्हें

वह सब कुछ दूंगी जो तुमसे छीना गया है और

तुम्हारे शत्रुओं का नाश करूंगी मैं पर

क्या तुम मुझे वो दे पाओगे जो मुझे तुमसे

चाहिए इसके लिए तैयार हो तो हां लिखकर इस

संदेश को लाइक करके चैनल को सब्सक्राइब

करना और साथ ही साथ आई लव यू मां लिखकर

मुझे अपनी स्वीकृति प्रदान करा देना मेरे

बच्चे मुझे तुमसे तुम्हारी खुशियां चाहिए

मेरे बच्चे मैं तुम्हें खुश देखना चाहती

हूं अब तुम मुझसे यही कहोगे कि माता उसी

खुशी के लिए तो आपसे प्रार्थना कर रहा हूं

मेरे जीवन में खुशी ही तो नहीं दिया आपने

मुझे कभी कैसे खुश रह लू कैसे हंस लू इतनी

विपत्ति में इतनी समस्याओं में आप कैसे

मुझसे यह उम्मीद लगाए बैठी है कि मैं हंसू

बीत तो सिर्फ मुझ पर रही है माता सिर्फ

मैं जानता हूं कि मैं जीवित कैसे हूं

हंसना तो बहुत दूर की बात है मेरे बच्चे

यही परीक्षा लेनी है मुझे तुम्हारी और यही

चाहिए मुझे तुमसे मेरे बच्चे इस विपत्ति

में भी मुझे तुम्हारे चेहरे पर वह हंसी

चाहिए तुम्हारे जीवन में वह खुशियां चाहिए

मुझे तुमसे और मैं चाहती हूं कि तुम अपने

जीवन में संतुलन लेकर आओ अपने जीवन में वह

सकारात्मकता लेकर आओ तुम आने वाले कुछ

दिनों में मैं तुम्हें बहुत संकेत देने

वाले हो जिसके माध्यम से मैं तुम्हारे

जीवन में चल रही समस्या का समाधान बताऊंगी

तुम्हें पर उसके लिए तुम्हारा मन भी तो

शांत होना चाहिए कि तुम मेरी बातों पर

ध्यान दे सको अपनी समस्याओं के समाधान को

सुनकर उनके कार्य कर सको तुम तो खुद की

काबिलियत पर ही शक करने लगे हो तुम्हें

यही लगता है कि तुम में कुछ गलत है

तुम्हारे कुछ कर्म खराब थे इसी लिए

तुम्हें कभी कुछ नहीं मिला और आगे भी

तुम्हें कभी कुछ नहीं मिलेगा और तुम मुझ

पर शक करने लगे हो यह सोच कर कि माता मेरे

शत्रु सफल हो रहे हैं उनकी वजह से मैं

परेशान हूं और आप भी कुछ नहीं कर रही है

पर मैं जो कुछ कर रही हूं वो तुम्हें नहीं

दिख रहा है मेरे बच्चे और किसने कहा तुमसे

कि तुम परेशान हो अपने शत्रुओं के

षड्यंत्र की वजह से यह सब कुछ मेरा रचा

हुआ है

मैंने ही तुम्हारे जीवन में समस्याएं भी

रची है और उनका रास्ता अभी सिर्फ मैं ही

दिखाऊंगी मेरे बच्चे तुम मुझे अपनी माता

मानते हो तो इस संदेश को लाइक करके पांच

व्यक्ति को शेयर करना और साथ ही साथ

अंक लिखकर मुझे अपनी स्वीकृति प्रदान करा

देना मेरे बच्चे के जीवन में क्या होगा यह

निर्धारित करने वाली सिर्फ उसकी माता है

उसका सुख दुख सब निर्धारित करने वाली

सिर्फ मैं हूं मेरे बच्चे तुम्हारा जीवन

मेरे हाथ में है तुम यह सोच भी कैसे सकते

हो कि मेरे रहते कोई और तुम्हें खुशियां

दे सकता है या तुम्हें दुखी कर सकता है वह

खुशी है तुम्हारे भीतर से आएंगी इसीलिए वह

करना शुरू करो जिसमें तुम्हें खुशी मिलती

है अगर तुम अपनी माता को खुश देखना चाहते

हो अगर तुम अपने सपनों को पूरा होता हुआ

देखना चाहते हो तो पहले उस काबिल बनो शेर

कितना भी बूढ़ा हो जाए कितना भी जख्मी हो

जाए वह दहाड़ना नहीं छोड़ ता है तो चार

शत्रुओं के भौंकने से तुम कैसे भूल गए कि

तुम मेरी औलाद हो तुम कैसे भूल गए कि

तुमने जो कुछ सहा है तुम में कितना साहस

है तुमने अपने जीवन की खुशियां अपने चेहरे

की मुस्कान उन लोगों के हाथ में कैसे दे

दी मेरे बच्चे तो उन्हें छीनकर वापस ले आओ

और अपने शत्रुओं को यह दिखा दो कि किसी

में इतनी औकात नहीं है कि वह तुम्हारे

चेहरे के उस मुस्कान को छीन सके तुम्हारी

हिम्मत को तोड़ सके तुम्हें जो भी करना

पसंद है जहां रहना पसंद है जिसके साथ उठना

बैठना जिससे बात करने में तुम्हें सुकून

मिलता है उस सुकून को ढूंढो अपने भीतर

छुपी उस खुशी को ढूंढो मेरे बच्चे

तुम्हारे भीतर बहुत काबिलियत है और यह

समस्याएं किसी और ने नहीं रची है तुमसे

बहुत उम्मीदें हैं मुझे मेरे बहुत सारे

सपने हैं जिन्हें तुम्हें पूरा करना है

जिसके लिए तुम्हारा जन्म हुआ है बस उस

पड़ाव के लिए उस सफलता के लिए तुम्हें

तैयार करने के लिए यह चुनौतियां रची है

मैंने तुम्हारे सामने बहुत सारी सच्चाई

लाने के लिए यह समस्याएं आई हैं तुम्हारे

जीवन में इन समस्याओं के माध्यम से ही

तुम्हें अपनी ताकत का एहसास होगा और बहुत

सारे ऐसे लोगों का असली चेहरा दिखेगा

तुम्हें जो बहुत जरूरी है तुम्हारे लिए कि

वो लोग तुम्हारे जीवन से दूर हो जाए इसलिए

अगर तुम अपनी समस्याओं को एक नकारात्मकता

की तरह देख रहे हो तो छोड़ दो अपने शरीर

पर लगे अपनी आत्मा पर लगे इस चोट को अपनी

कमजोरी समझना छोड़ दो मेरे बच्चे अपने

शत्रुओं को अपनी कमजोरी समझना छोड़ दो

उन्हें अपनी ताकत समझकर उस ताकत का

इस्तेमाल करो अपने दाहिने हाथ पर

लिखकर उसे बार-बार देखो और सोचो कि मेरे

सपने पूरे होने वाले हैं जब जब भी तुम उस

नंबर को देखो तुम बस यह सोचो कि माता ने

मुझसे कहा था मेरे सपने बहुत जल्दी पूरे

होने वाले हैं और मैं हंसना नहीं छोडूंगा

तो मैं किसी और के लिए अब नहीं रोंगा आज

से ही मैं किसी के लिए नहीं रोंगा मैं

सिर्फ खुश रहूंगा अपनी खुशी के लिए कार्य

करूंगा अपनी माता की खुशी के लिए जो बन

पाएगा मुझसे वह सब कुछ करूंगा मैं चाहे

मुझे इस दर्द में भी क्यों ना हंसना पड़े

चाहे लोग मुझे पागल क्यों ना कहे कहे अरे

इसको इतनी चोट लगी है यह फिर भी क्यों हंस

रहा है मैं इसलिए हसूंगा क्योंकि मेरी

माता ने मुझसे कहा था तो जब तुम मेरी

प्रार्थना सुन लोगे तो मैं भी तुम्हारी

प्रार्थना सुन लूंगी मुझे पता है इस

अंधेरी गली में तुम्हें रास्ता नजर नहीं आ

रहा है तुम्हें रोशनी की किरण नजर नहीं आ

रही है पर जब समस्याएं मैंने बनाई है तो

रास्ता भी मैं ही बनाऊंगी और तुम्हारी

सफलता के मार्ग में आए हर रुकावट को हर

शत्रु का नाश में बहुत जल्द ही करूंगी तो

बस आंख बंद करके मुझ पर यकीन रखो खुश रहो

अपनी माता के लिए और बस मुझसे प्रार्थना

करते रहो मुझसे जुड़े रहो तुम्हारी

समस्याओं का समाधान बहुत जल्द ही होने

वाला है मेरे बच्चे इस पर विश्वास है तो

लिखकर इस संदेश को लाइक करना और

धन्यवाद माता लिखकर मुझे अपनी स्वीकृति

प्रदान करा देना मेरे बच्चे बच्चे आज इस

संदेश के लिए मैंने तुम्हें चुना है

तुम्हारी माता तुमसे क्रोधित है क्या

उन्हें मनाओ ग नहीं मेरे बच्चे में बहुत

दिनों से देख रही हूं तुम मेरे संदेश तो

देखते हो उन्हें सुनते भी हो पर अपने जी

पर अमल नहीं करते हो जब तक व संदेश वो

संकेत तुम्हारे सामने रहते हैं तब तक तो

तुम्हें लगता है कि हां माता अब तो सब कुछ

बदल जाएगा हां माता आप तो मैं यह करूंगा

अब तो मैं वो करूंगा और उसके तुरंत बाद ही

तुम फिर वो नहीं बातों पर रोने लगते हो

तुम फिर वही सब सोचने लगते हो तुम्हें फिर

वही भय खाने लगता है वही असफलता का भय वही

आर्थिक स्थिति की तंगी वही बातें वही

बातें तुम मेरे संदेशों पर अमल नहीं कर

रहे हो तुम्हारी माता इसी बात से क्रोधित

है मैं तुम्हारे प्रतिदिन के जीवन में

तुम्हें बहुत संकेत दे रही हूं अगर तुम

उन्हें ही अपना लो तुम्हारा जीवन बदल

जाएगा अगर सिर्फ तुम अपने सकारात्मक सोच

को बना लो तो तुम्हारा जीवन बदल जाएगा याद

रखना मेरे बच्चे तुम्हारे भीतर है दिव्य

शक्तियां तुम अपनी सोच से ही अपने भाग्य

लिख रहे हो और अपना जीवन लिख रहे हो तुम

जो सोचोगे मैं तुम्हें जरूर दूंगी और तुम

अगर नकारात्मक सोचोगे तो मुझे तो

नकारात्मक ही देना पड़ेगा मुझे तो यही

लगेगा कि मेरा बच्चा अपने अतीत को याद

करके बार-बार रो रहा है तो क्यों ना मैं

उसे अतीत दे दूं जो उसके साथ बीत चुका है

उसे मैं वह दे देती हूं शायद वह खुश हो

जाएगा इसलिए मेरे बच्चे तुम्हें जो चाहिए

तुम बस वो सोचो जो दर्द जो पढा जो कष्ट

तुम्हें मिले हैं वो मत सोचो तुम यह मत

सोचो कि वह वैसे थे यह हो जाएगा वो हो

जाएगा तुम यह सोचो कि यह हो गया है मेरी

माता ने मुझे यह दे दिया मेरे संदेश के

मिलते ही उन पर अमल करो उनको लिखो अपनी

जिंदगी की एक-एक बात को लिखो उनको मुझसे

मांगो उन परे अपनी सकारात्मक विचार को भरो

अगर तुम मेरे संदेश सुनकर ऐसे ही छोड़ दे

रहे हो उस पर अमल ही नहीं कर रहे हो अपने

जीवन में कोई परिवर्तन ही नहीं कर रहे हो

तो बाद में मुझे मत दोष देना यह माता जीवन

आज भी वैसा ही है कुछ बदला ही नहीं कुछ

सुख समृद्धि तो आई ही नहीं मेरे कोई भी

सपने आपने पूरे नहीं किए इसलिए मेरे बच्चे

अगर तुम्हें अपने सपनों को पूरा होते हुए

देखना है तो उनके लिए कर्म करना शुरू कर

दो मेरे संदेशों पर अमल करना शुरू कर दो

मेरे दिखाए मार्ग पर चलना शुरू कर दो

सफलता तुमसे बहुत नजदीक खड्डी है इतनी

परिश्रम कर लो कि तुम्हें वह सफलता मिल

जाए मेरे बच्चे क्या तुम्हें मुझ पर

विश्वास है तो आई लव यू मां लिखकर इस

संदेश को लाइक करके चैनल को सब्सक्राइब

करना मेरे बच्चे इस संदेश में दिव्य शक्ति

है जो तुम्हारे जीवन में प्रचुरता को

प्रकट करने में तुम्हारी मदद करेगा इसे

आगे भी देखना मेरा आशीर्वाद सदा तुम्हारे

साथ है तुम्हारा कल्याण हो मेरे बच्चे ओम

नमः शिवाय मेरे बच्चे तुमने बचपन से अनुभव

किया होगा कि तुम बाकी सारे बच्चों से

बहुत अलग-अलग रहते थे तुम्हारे उम्र के

बच्चे अलग दुनिया देखते थे और तुम अलग

दुनिया देखते थे जब से तुमने होश संभाला

तुम्हारी रुचि तुम्हारा प्रेम मेरे प्रति

बरने लगा जहां तुम्हारी उम्र के बच्चे

गुड्डे गुड़ियों से खेलते थे उस उम्र में

में तुम्हें जीवित चीजें अच्छी लगती थी

तुम्हें यह प्रकृति अच्छी लगती थी जिसमें

तुम्हारी माता बस्ती है तुमने बचपन से ही

अपनी इज्जत को अपने परिवार जनों की इज्जत

को बहुत संभाल के रखा है तुम हमेशा से यह

सोचते थे कि कहीं तुमसे ऐसी कोई गलती ना

हो जिससे तुम्हारे घर वालों का अपमान हो

जाए या तुम्हारी इज्जत थोड़ी सी भी कम हो

तुमने कभी कोई ऐसा कदम नहीं उठाया जिससे

किसी और को तकलीफ हो तुम हमेशा दूसरों के

बारे में सोचते थे मेरे बच्चे उस उम्र में

तो बच्चों को यह भी होश नहीं होता था कि

वह क्या गलत कर रहे हैं क्या सही कर रहे

हैं उस उम्र में तुम्हें यह पता था कि तुम

क्या ऐसा करोगे जिससे तुम्हारे माता-पिता

को तकलीफ होगी और जिससे तुम्हारी इज्जत

जाएगी तुमने ऐसा कोई कार्य कभी नहीं किया

मेरे बच्चे तुम यही सोचते हो ना कि माता

जब आप मेरे साथ हो जब आप मुझसे यह कहते हो

कि मैं आपका इतना करीबी हूं तो उसके बाद

भी मुझे इतना दहक क्यों झेलना पड़ रहा है

मेरे बच्चे याद रखना सीखता वही है जो खुद

सीखता है भगवान श्री राम को भी बनवास पर

जाना पड था और भगवान कृष्ण को भी तपस्या

करनी पड़ ही थी उन्होंने भी अपने प्रेम को

खो दिया था उन्होंने गीता का ान नहीं दिया

होता अगर उन्हें खुद वह अनुभव ना होता

उन्होंने भी बहुत कष्ट देखा मेरे बच्चे और

उनका आकाश तुम्हारे कष्टों के आगे तो कुछ

नहीं है ना मुझे पता है तुम बचपन से सोचते

थे तुम्हारे अपने बहुत बढे थे तुम बहुत

कुछ करना चाहते थे पर परिस्थितियों ने

समाज ने तुम्हारे घर की रूर ही वादी सोच

ने तुम्हें एक पिंजरे में कैद कर दिया

मेरे बच्चे तुम्हारी खासियत यह है कि उस

पिंजरे में बंद होकर भी तुम मेरा सुमिरन

करते थे तुम हमेशा यही सोचते थे कि मुझे

पता है एक दिन में इस पिंजरे को तोड़ के

आजाद हो जाऊंगा जिन बेड़ियों में समाज ने

मुझे जकड़ रखा है मैं एक दिन वह सारी

बेड़ियां तोड़ दूंगा और मैं उरूंगा चाहे

मेरी परिस्थिति आज खराब हो चाहे मैं आज

जितना भी रो रहा हूं मैं एक दिन उरूंगा

मेरे बच्चे वो शक्ति है तुम में तुम इस

दुनिया में किसी भी सफल व्यक्ति की कहानी

सुन लो उसने बहुत दर्द सहा है बहुत कुछ

देखा है तब जाके आज वह दुनिया को सीखा पा

रहा है बिना अनुभव के तुम अपने सपनों को

पूरा नहीं कर सकते हो तो तुम जिस दुख पे

जिस दर्द पे आज रो रहे हो उसको मेरा

आशीर्वाद समझकर स्वीकार करो क्योंकि वो

दुख दर्द मैं तुम्हें आने वाली जंग के लिए

तैयार कर रही हूं वो दुख दर्द मैं तुम्हें

इसलिए दे रही हूं कि तुम्हें अनुभव हो सके

और तुम अपने अनुभव से इस पूरे समाज को कुछ

सिखा सको वो दुख दर्द भी मेरा आशीर्वाद है

मेरे बच्चे क्योंकि सबके बस की बात नहीं

है इतना सब कुछ है पाना तुमने सहा है और

तुमने मुस्कुरा के सहा है तो अपने सपनों

के लिए ऐसे लड़ना मत छोड़ो तुम्हारा दिल

जानता है कि तुम्हारे सपने पूरे होंगे

तुम्हारी आत्मा जानती है वह आत्मा जो बचपन

से तुम्हें एक अलग राह पर चलाती थी तुम

कभी दुनिया की भीड में नहीं चले मेरे

बच्चे तो अब उस भीड का हिस्सा बनने के लिए

रो मत तुम अकेले चले हो तो अकेले ही चलो

तैयारी करो अपने इस दर्द भरी कहानी को इस

दुनिया को सुनाने की तैयारी करो दुनिया को

कुछ सिखाने की तैयार हो जाओ उस पिंजड़े को

तोड़कर उड़ने की मेरे बच्चे मेरे बच्चे

मुझे पता है तुम अपने काम को लेकर बहुत

परेशान हो अपने भविष्य की बात सोचकर

तुम्हारा मन व्याकुल हो जाता है तुम्हें

चिड़चिड़ापन होने लगता है काम करते-करते

जब तुम्हें कोई फल नहीं दिखता है तुम्हारे

भविष्य में क्या हो रहा है आज यही संदेश

लेकर आई हूं मैं तुम्हारे लिए मेरे बच्चे

भविष्य में तुम बहुत शांति का जीवन जी रहे

हो और इस साल के अंत तक ही तुम्हारे बहुत

Leave a Comment