मां दुर्गा 🕉️ तुम्हारे जीवन में बहुत बड़ा घटित होने वाला है मैं तुम्हारे लिए बहुत चिंतित हूं

मेरे प्रिय बच्चे कैसे हो तुम आज मैं

तुम्हें एक बहुत बड़ा संदेश देने आई हूं

जी हां मेरे बच्चे यह संदेश आपके लिए अति

आवश्यक होने वाला है इस संदेश के माध्यम

से आपको बहुत कुछ समझने को प्राप्त होगा

मेरे प्रिय बच्चे इस संदेश के माध्यम से

मैं तुम्हें तुम्हारे जीवन में चल रहे सभी

प्रकार के दुखों से मुक्त करने आई हूं

और तुम्हारी सभी प्रकार की समस्याओं का

अंत करने आई हूं जी हां मेरे बच्चे यह

संदेश आपके लिए अति महत्त्वपूर्ण है और

मेरे बच्चे मेरे इस संदेश को अंत तक सुनकर

जाना और बीच से छोड़कर जाने की इस संदेश

को भूल तो बिल्कुल भी मत करना नहीं तो

मेरे बच्चे आप एक बहुत बड़ी मुसीबत में भी

फस सकते

हैं और मैं मैं नहीं चाहती कि आपके जीवन

में किसी भी प्रकार की विपत्तियां या

समस्या दस्तक दे मैं हमेशा आपको खुश देखना

चाहती हूं मैं यही चाहती हूं कि आप अपने

जीवन में हमेशा खुश रहे और अपने जीवन में

आगे बढ़े जी हां मेरे बच्चे मैं सदैव आपको

खुश देखना चाहती हूं मैं यही चाहती हूं कि

आप अपने जीवन में अपनी सभी प्रकार की

समस्याओं को

खत्म करके एक सफलता की प्राप्ति करो मेरे

बच्चे मैं आपको सफल देखना चाहती हूं और

उसी सफलता के चलते आज मैं आपको यह संदेश

देने आई हूं मेरे बच्चे अगर आप भी मुझ में

विश्वास करते हैं तो या आपको भी अपनी माता

की महिमा में बहुत विश्वास है तो मेरे

बच्चे उसकी स्वीकृति प्राप्त कराने के

लिए आज आपको मेरे इस इस वीडियो को लाइक

करके मेरे इस चैनल को सब्सक्राइब कर लेना

है और साथ ही साथ अपना लिखकर मुझे अपनी

स्वीकृति प्रदान करा देना मेरे बच्चे ऐसा

करने से मुझे आपकी स्वीकृति प्रदान हो

जाएगी मेरे बच्चे मैं आपको इस संदेश के

माध्यम से यह ज्ञात कराना चाहती हूं कि आप

जिस किसी भी मुसीबत या समस्या में चल र

हैं आपकी व मुसीबत में समस्या अब खत्म

होने वाली है आपके जीवन में बहुत सी

खुशियां प्रवेश करने जा रही हैं जिन

खुशियों के चलते आपको एक बहुत बड़ा संदेश

भी प्राप्त होगा और मेरे बच्चे कहीं ना

कहीं यही संदेश व संदेश है जो आपके जीवन

में एक बहुत बड़ा बदलाव करने वाला है मेरे

बच्चे में सच बताऊ तो मैंने आपकी सभी

प्रकार की कामनाओं को सुन लिया है

और आपकी पुकार को मैंने सुन लिया है जी

हां मेरे बच्चे आप हमेशा यही चाह रखते थे

कि पता नहीं मेरी माता मेरी समस्याओं का

अंत कब

करेंगी मेरी माता मुझे कब चुने गी मैं भी

अपने जीवन में सफल हो जाऊं तो मेरे बच्चे

यह आपके लिए एक बहुत बड़ी खुशखबरी है

मैंने आपको चुन लिया है मैंने आपकी सभी

समस्याओं को खत्म कर ने का प्रण ले लिया

है और आपके जीवन में आपको खुशियां देने का

मैंने निर्णय कर लिया है मेरे प्रिय बच्चे

अगर आपको भी आपके जीवन

में मेरा यह संकेत रूपी संदेश प्राप्त हुआ

है तो मेरे इस संदेश की स्वीकृति मुझे

प्राप्त कराने के लिए मेरी इस वीडियो को

लाइक करके मेरे इस चैनल को सब्सक्राइब कर

लेना और साथ ही साथ मेरा भाग्य शली अं

लिखकर मुझे अपनी स्वीकृति प्रदान करा दो

मेरे बच्चे आप जिस प्रकार से अपने जीवन

में चाह रखते थे कि मैं भी अपने जीवन में

एक बड़ी सफलता की प्राप्ति करूं मैं अपने

जीवन में मेरी जो भी इच्छाएं व्यक्त

कामनाएं हैं मैं भी उन सभी इच्छाओं व

कामनाओं को पूर्ण करूं मेरे प्रिय बच्चे

मैंने आपको चुन लिया है मैं ने यह प्रण ले

लिया है कि अब आपके जीवन में किसी भी तरह

की समस्या नहीं

रहेंगी आपका जीवन बड़ी ही खुशी से व्यतीत

होगा और आपके जीवन में वह सब होने वाला है

जिस सब की आप इच्छा में कामना करते हैं आप

अपने जीवन में अपने आप को सदैव खुश देखना

चाहते हैं और आप यह चाहते हैं कि मैं जिस

क्रम व कार्य को कर रहा हूं मेरा वह क्रम

व कार्य सफल हो जाए मैं भी अपनी सफलता की

प्राप्ति कर लूं और मैं भी अपनी आने वाले

कल में अपने आप को सफल व्यक्ति बना लूं

मेरे बच्चे आपके मन में हमेशा सभी के

प्रति प्रेम भाव रहता है आप किसी के भी

प्रति कद भावना उत्पन्न नहीं करते मैं

आपको भली भाती रूप से जानती हूं आपका

स्वभाव बहुत ही अनमोल है आप एक बड़ी ही

अनमोल प्रवृत्ति के मानव हो आप सदैव सबके

प्रति प्रेम भाव रखकर कार्य करते हो मेरे

प्रिय बच्चे अगर आप भी अपने जीवन में सभी

प्रकार की इच्छाओं में कामनाओं की पूर्ति

चाहते हो कि आप अपने जीवन में धन संपत्ति

कारोबार में व्यवसाय की प्राप्ति करना

चाहते हैं या आप अपने जीवन में अपने

माता-पिता व अपनी प्रेम के साथ अपना जीवन

हंसी खुशी के साथ व्यतीत करने की चाह रखते

हैं

तो मेरे प्रिय बच्चे आज आपको अपनी सभी

इच्छाओं व कामनाओं को पूर्ण करने के लिए

मेरा एक कार्य करना है और मेरे बच्चे मेरा

यह कार्य कुछ इस प्रकार से मेरे बच्चे आज

आपको मेरे लिए मेरी इस वीडियो को लाइक

करके मेरे इस चैनल को सब्सक्राइब कर लेना

है और मेरे बच्चे आप के द्वारा किए गए इस

कार्य से यह होगा कि आपके जीवन से जुड़े

कुछ अनेकों प्रकार के संकेत रूपी संदेश

मैं आपको प्रदान कराती रहूंगी मेरे बच्चे

मेरे इस चैनल को सब्सक्राइब करना मत भूलना

मेरे प्रिय बच्चे मेरी कही गई सभी बातों

को ध्यान से

सुनो मेरे बच्चे अब मैंने आपको आशीर्वाद

देने का प्रण ले लिया है आपके जीवन में जो

कुछ भी समस्याएं चल रही है या आपके जीवन

में आपकी आर्थिक स्थिति सही नहीं है मेरे

बच्चे आज जो कोई भी पुरुष या महिला मेरे

इस संदेश को सुन रहा है यह संदेश केवल और

केवल आप ही के लिए है और अगर आज आप मेरे

इस संदेश तक पहुंच गए हैं तो यह दिन में

यह समय आपके लिए बहुत भाग्यशाली होने वाला

है मेरे प्रिय बच्चे आप के आपको अपने आपके

जीवन में लेकर जो कुछ भी इच्छाएं इस

कामनाएं हैं आपकी व सभी इच्छाएं व कामनाएं

बहुत शीघ्र पूर्ण होने वाली हैं क्योंकि

मैंने आपको आशीर्वाद देने का प्रण जो ले

लिया है मेरे प्रिय बच्चे आपसे आप जो कुछ

भी कार्य व क्रम कर रहे हो आपको अपने

द्वारा की गई सभी कार्य व कर्मों में एक

बहुत बड़ी सफलता प्राप्त होगी

और आपके जीवन में आर्थिक स्थिति आपकी बहुत

मजबूत हो जाएगी आपके ऊपर माता लक्ष्मी की

भी दया दृष्टि होने वाली है जिसके चलते आप

इस जीवन में धन की कमी नहीं होगी तथास्तु

मेरे बच्चे आज मैं आपको एक इस प्रकार का

आशीष के रूप में आशीर्वाद देती

हूं मेरे बच्चे अगर आप भी मेरे इस संदेश

से नी संदेह है तो मेरी इस वीडियो को लाइक

करके मेरे इस चैनल को सब्सक्राइब कर लेना

और साथ ही साथ मेरा भाग्यशाली अंक

लिखकर मुझे अपनी स्वीकृति प्रदान करा देना

मेरे बच्चे मनुष्य के जीवन में केवल दो ही

मुख्य वस्तु है सुख और दुख सुख वह है जो

मनुष्य को उसकी सच्चाई

दिखाए और दुख वह है जो मनुष्य को अपने

आसपास बालों की सच्चाई दिखाए तुम्हारे

जीवन के इन्हीं दो पक्षों के बारे में

तुम्हें आज मैं एक कहानी सुनाने जा रही है

एक बार की बात है मां पार्वती ने महादेव

से कहा कि मैंने पृथ्वी लोक पर यह देखा है

कि आपने उन मनुष्य को ज्यादा दुख देते हो

जो पहले से ही दुखी होते

हैं और जो मनुष्य पहले से ही सुखी है आप

उन मनुष्य को और भी ज्यादा सुख प्रदान

करते हो मां पार्वती जी की यह बात सुनकर

महादेव ने उत्तर देने के

लिए पृथ्वी लोक पर मनुष्य रूप में अवतरित

होने को कहा महादेव पार्वती जी ने मनुष्य

रूप में आकर एक छोटे से गांव के पास अपनी

कुटिया बनाई शाम होने पर महादेव जी ने

पार्वती जी से कहा कि हम दूसरे मनुष्य की

तरह अपने रात के के भोजन की तैयारी करनी

होगी इसलिए मैं भोजन सामग्री की व्यवस्था

करने जा रहा

हूं और तुम चूल्हे की व्यवस्था कर लो यह

कहकर महादेव वहां से चले गए महादेव जी के

जाते ही देवी पार्वती जी ने गांव में टूटे

और गिरे हुए मकानों से कुछ ईटों का प्रबंध

किया और चूल्हे को तैयार कर दिया कुछ देर

बाद जब महादेव जी वहां से वापस आए तो

महादेव जी ने पार्वती जी से पूछा कि जो

मकान पहले से ही टूटे हुए थे उन्हें

मकानों से ईट क्यों उठाई जबकि तुम तो

अच्छे और सुंदर दिख रहे मकानों से भी तो

इटला सकती थी यह सुनकर देवी पार्वती जी ने

कहा कि हे प्रभु अच्छे और सुंदर दिख रहे

मकानों के निवासियों ने उन मकानों का

अच्छे से ध्यान रखा है उनकी परिश्रम और उन

मकानों की सुंदरता को बेकार

करना मुझे उचित नहीं लगा देवी पार्वती जी

की यह बात सुनकर महादेव जी ने यह बताया कि

जो बात उन्होंने मकानों के बारे में कही

है वही उनके प्रश्न का उत्तर भी है कहने

का अर्थ यह है कि जो मनुष्य अपने जीवन का

रख रखाव सत कर्मों से करते हैं उनके जीवन

में सुख हमेशा बना रहता है अर्थात जो

मनुष्य अपने जीवन को अपने ही को कर्मों से

नष्ट कर देते

हैं उनके जीवन में हमेशा ही दुख बना रहता

है इसलिए मनुष्य को अपने जीवन को सदा

खुशियों से और सत् कर्मों से इतना सुंदर

बनाना चाहिए जिससे उसके जीवन में दुख

प्रदान करना स्वयं भगवान को भी उचित ना

लगे मैं जानती हूं कि तुम भक्ति के लिए

दुनिया के किसी भी कठिन से कठिन कार्य को

कर सकते हो परंतु तुम्हारे लिए यह समझना

अत्यंत आवश्यक है कि ईश्वर की भक्ति करना

बिल्कुल भी कठिन कार्य नहीं है सच्चे मन

से भक्ति करने के लिए तुम्हें केवल एक बात

का ध्यान रखना है वह यह कि भक्ति करने के

लिए दुनिया भर के आडंबर आवश्यक नहीं है

बल्कि भक्ति के लिए आवश्यक है भक्ति

तुम्हें तो यह पता होगा ही कि भगवान

सर्वव्यापी

है सर्वव्यापी होने का अर्थ है कि

ब्राह्माण कण कण में व्याप्त है इसलिए अगर

तुम सच्चे भक्त हो तो तुम्हें संसार के हर

कोने में प्रकृति की पवित्रता दिखाई देगी

एक बात हमेशा याद

रखना अगर तुम सच्चे मन से सच्चे हृदय से

ईश्वर का ध्यान करते हो तो उस वक्त अपने

ईश्वर के दर्शन होना निश्चित हो जाता है

किंतु ईश्वर अपने भक्तों को कब कहां और

किस रूप में दर्शन देंगे यह अनिश्चित है

इसलिए तुम्हें अपने ईश्वर का स्मरण कर

रखना चाहिए और दुनिया के सभी चीजों में

अपनी ईश्वर को देखना

चाहिए क्योंकि एक भक्त की भक्ति तभी सफल

हो सकती है जब वह संसार के सभी जीवों में

उसी प्रकार स्नेह करें जिस प्रकार वह अपने

ईश्वर से करता है तुम्हारी हर बात हर

इच्छा ईश्वर तक पहुंचती रहती है इसलिए

तुम्हें चिंतित होने की आवश्यकता नहीं है

यह पूरा प्राकृतिक ब्रह्मांड तुम्हारा

ध्यान रखती

है यह संसार में तुम्हारी किसी से कोई

प्रतिस्पर्धा नहीं है किसी प्रकार की

प्रतिस्पर्धा की तुम्हें आवश्यकता नहीं है

इस संसार में तुम्हारी प्रतिस्पर्धा सिर्फ

तुमसे होनी चाहिए यही तुम्हे आगे भी

बढ़ाएगी और तुम्हें सुखी भी देगा किसी

दूसरे से प्रतिस्पर्धा करना तुम्हें सिर्फ

तनाव में डालने का काम

करेगी यह सिर्फ तुम्हारे दुखों का कारण

बनेगा तुम जैसे हो तुम्हें उसी रूप में

स्वयं को पहचानना है और स्वयं को स्वीकार

करना

है

Leave a Comment