मां दुर्गा 🕉️ लोगों ने तुम्हारे प्रेम को दिखावा समझा

मेरे बच्चे तुम्हें मेरा संदेश प्राप्त

होना कोई आम बात नहीं बल्कि मैं तुम्हारी

मां तुम्हें एक ऐसी बात से अवगत करना

चाहती हूं जो यह संदेश के द्वारा प्राप्त

होने वाला है मेरे बच्चे तुम्हें आने वाले

दो दिनों में वह प्राप्त

होगा जिसको प्राप्त करने के लिए इस संसार

का हर व्यक्ति तरस रहा है और वह क्या है

वह मैं तुम्हें बताऊंगी और समझूंगी कि

तुम्हें किस तरह से उस कीमती चीज को

प्राप्त करना है इसलिए मेरी बातों को

सुनना और धैर्य से

समझना मेरे बच्चे तुम यह क्या कर रहे हो

कुछ दिनों से तुम बहुत ज्यादा बदल गए हो

तुम अपनों के साथ अपने जैसा प्यार नहीं कर

रहे हो तुम्हारे व्यवहार में अंतर आ रहा

है धीरे-धीरे तुम दूसरों की बातों में आकर

अपनों से दूरी बना रहे

हो मेरे बच्चे असलियत को पहचानो जिससे तुम

दूरी बना रहे हो दूसरों के बहकावे में आकर

दरअसल उन्होंने तुम्हें अपने हृदय में

बसाया हुआ है उनके प्रेम को समझो उनके

प्रेम को

पहचानो

मेरे बच्चे संसार में सबसे कीमती क्या

होता है यह तुम्हें ज्ञात है तो अच्छी बात

है परंतु यदि वही तुमने ज्ञात नहीं किया

है तो मैं स्वयं तुम्हें ज्ञात

कराऊंगा प्यार बहुत ज्यादा कीमती होता

है

इस संसार में यदि कोई सबसे बड़ी चीज तुम

प्राप्त करना चाहो तो वह है अपनों का

प्रेम तुम्हें चाहे कुछ भी प्राप्त हो जाए

सब व्यर्थ है इसलिए आने वाले दिनों में

तुम्हारे जो भी अपने हैं उनकी रक्षा के

लिए एक कार्य अवश्य

करना यदि तुमने कार्य को कर दि दिया जो

तुम्हारे अपनों का प्यार सदा के लिए

तुम्हारे साथ जीवन भर और उनका साथ में

लंबे समय तक प्राप्त होता

रहेगा उनके साथ जो खुशियां तुम्हें

प्राप्त होंगी वह संसार की ना तो कोई दौलत

तुम्हें दे सकती

है और ना ही कोई संसार की बड़ी-बड़ी चीज

तुम्हें दे सकती है मेरे बच्चे तो तुम्हें

मां दुर्गा की पूजा करनी है और लाल रंग की

ध्वज चढ़ाना और प्रेम में सफलता की

मनोकामना मांगना ऐसा करते ही तुम्हारे

जीवन में बदलाव शुरू हो

जाएगा मेरे बच्चे जीवन का गुजरता एकएक पल

तुम्हारे हाथ से निकल रहा है इसलिए जितनी

खुशियां बटोर सकते हो बटोर

क्योंकि तुम्हें इस बात को समझना होगा

मेरे बच्चे कि तुम्हें इस धरती पर किसी के

लिए भेजा गया

है इसलिए मेरे बच्चे अपने धर्म को बहुत

अच्छे से निभाना सीखो और प्यार को अपनी

शक्ति बना लो क्योंकि मेरे बच्चे प्यार

जैसे तुमको सब में दिखाओगे तो वैसे ही

तुम्हें सबसे

भी प्रेम प्राप्त होता है और प्राप्त किया

प्रेम तुम्हारे लिए शक्तिशाली शक्ति

बन और तुम्हें हर कार्य में वह शक्ति

सफलता दिलाएगी तुम मेरी इस बात का विश्वास

करो यदि तुम ऐसा करते हो तो संसार में जीत

और केवल जीत होगी यह मैं तुम्हें विश्वास

दिलाती हूं मेरी बताई बातों को भूलना

नहीं ध्यान रखना कि इस बादे को तुम कभी मत

तोड़ना जीवन में कितनी भी कठिनाइयों का

सामना तुमने किया है या कर रहे हो परंतु

आस नहीं छोड़ना किसी चीज की किसी बात की

क्योंकि यही आशा कीकी किरण तुम्हें

तुम्हारी मंजिल तक पहुंच

जाएगी

और मेरे बच्चे जीवन में चाहे कितनी भी

बड़ी समस्या हो तुम्हारे जीवन में एक समय

ऐसा होता है जो बहुत ही शक्तिशाली होता है

उस समय जो भी बोला जाता है उसका प्रभाव

तुम्हारे जीवन पर पड़ता

है मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन में वैसा ही

घटित होना आरंभ हो जाता

है मेरे बच्चे तुम मुझसे एक वादा करो कि

तुम ऐसा कभी भी नहीं करोगे तुम मुझ पर

विश्वास करते रहना मेरे बच्चे जब मंजिल

पहाड़ों से ऊपर बहुत ऊंचाई पर

हो अपने पैरों से ऊपर चढ़ाई पर चढ़ते जाओ

क्योंकि मेरे बच्चे मंजिल इतनी आसा आसानी

से नहीं मिलती समस्याएं जीवन में कितनी भी

हो परंतु तुम मुझसे वादा करो कि तुम मुझ

पर कभी अपना विश्वास नहीं तोड़ोगे कभी भी

बीच रास्ते में रुक नहीं

जाओगे मेरे बच्चे तुम अपने मंजिल तक

पहुंचने ही वाले हो बस तुम अपने आप पर

विश्वास रखो और आगे बढ़ते जाओ

बस मेरे बच्चे तुम अपने हृदय में प्रेम को

बसा लो क्योंकि यही है जो तुम्हारे जीवन

में खुशियां बिखेर देती

है और सभी कष्टों को समाप्त कर देती

है जैसे-जैसे तुम इसको जो स्वयं बढ़ाते

जाओगे वैसे ही तुम्हारे जीवन में खुशियों

की बरसात होगी और तुम खुशियों की बरसात

में भीग कर आनंद का अनु प्राप्त करोगे अब

तुम्हारे जीवन में सुनहरे दिन का आगमन

होने वाला

है इतनी सारी खुशियां एक साथ तुम्हें

प्राप्त होने वाली हैं जो तुमने पहले कभी

महसूस नहीं की होगी तुम हैरान रह जाओगे

जिसे तुम भूल नहीं पाओगे यह बहुत ही

अद्भुत होने जा रहा है मेरे बच्चे बस तुम

सबसे प्रेम करना प्रारंभ करो ऐ करते

ही तुम्हारा जीवन पूरी तरह से बदल जाएगा

मेरे बच्चे ऐसा क्यों होता है तुम्हारे

साथ के तुम जितना भी सबके साथ अच्छा करो

लेकिन सबको तुम्हारी गलती ही दिखाई पड़ती

है और तुम्हारी अच्छाई सब अनदेखा कर देते

हैं दूसरों की बातों भी तुम्हें कष्ट ही

दिया है

मेरे प्यारे बच्चे तुम्हारा मन जितना भी

साफ है परंतु कभी-कभी तुम बहुत ही उग्र हो

जाते हो कभी तो बहुत शांत रहते हो कभी तो

बेवजा अशांत हो जाते हो और क्रोध तुम्हारे

आपे से बाहर ही होता है मेरे बच्चे

तुम्हारे ऊपर जो गलत प्रभाव पड़ा

है

वह तुम शायद नहीं देख पा रहे हो परंतु यह

गलत प्रभाव तुम्हारे अपने ही कर्म के कारण

बढ़ रहे हैं जो तुम्हें पहले कभी किए थे

परंतु आज तुम भूल चुके हो मेरे बच्चे

तुम्हें डरने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि

तुमने कभी किसी का बुरा नहीं

चाहा बस एक ही बूल तुम सुधार नहीं पा रहे

हो और वही गलती तुम्हारे मन में

नकारात्मकता का आवास होने में सहायता कर

रहा है जो तुम्हें धीरे-धीरे सबकी नजरों

में शत्रु बना रहा है और तुम भी इसे समझने

में देरी कर रहे

हो मेरे प्यारे बच्चे मैं तुम्हें अपनी

भूल से अवगत करवाना चाहती हूं और तुम्हें

कष्ट से बाहर निकालना चाहती हूं मेरी

बातों को शांत मन से समझना जो आज मैं

तुम्हें बताई हूं उस पर विचार करना मैं

सदैव तुम्हारे साथ

हूं

तीन संकेत मिले तो इसका अर्थ है आपके साथ

हर वक्त कोई दिव्य शक्ति रहती है जो लोग

आध्यात्मिक होते

हैं उन्हें अपने जीवन में अलग-अलग प्रकार

के अनुभव होते रहते हैं ऐसे लोगों में

भावनात्मक क्षमता अत्यधिक हो है जिसके

कारण यह प्रकृति के उन तत्त्वों से भी

तालमेल रख पाते हैं जिन्हें अन्य व्यक्ति

देख नहीं पाते इसी प्रकार ऐसे लोगों के

साथ सदैव कोई दिव्य शक्ति रहती है जो इनका

मार्गदर्शन करती

है और सहायता मांगने पर तुरंत सहायता भी

प्रदान करती

है तो चलिए जानते हैं ऐसे विशेष तीन

संकेतों के बारे

में पहला संकेत आधी रात के समय अथवा

ब्रह्म मुहूर्त में एक विशेष ध्वनि कंपन

के रूप में महसूस

होना हमारा पूरा ब्रह्मांड ध्वनि के कंपन

से ही उत्पन्न हुआ है जिन लोगों के साथ वह

दिव्य शक्ति होती है उन्हें यह ध्वनि

बीच-बीच में सुनाई पड़ती है कई बार तो ऐसा

प्रतीत होता है मानो सपने में वह ध्वनि

सुनी हो दूसरा संकेत अकेले होते हुए भी

ऐसा अनुभव होना कि कोई आपके साथ

है कई बार आप अकेले बैठे होंगे और आपको

अनुभव होगा कोई आपके मन में विचार डाल रहा

है वास्तव में जब आपके मन में आपकी सोच से

परे विचार उत्पन्न होते हैं तब वह दिव्य

शक्ति द्वारा ही भेजे जा रहे होते

हैं तीसरा संकेत जब भी आप किसी संकट में

होते हैं और ईश्वर को पुकारते हैं तब

अचानक ही कोई अनजान आपकी सहायता कर देता

है या अपने आप ही आपकी समस्या हल हो जाती

है वास्तव में वह दिव्य शक्ति आपकी हर

पुकार को सुनती है और उसका समाधान भी करती

है यदि आपके साथ ऐसा घटित होता है और आपको

यह संकेत मिलते हैं तो वह दिव्य शक्ति

आपके साथ ही रहती है किंतु आप उन्हें तभी

देख सकते हैं जब आप भौतिक नेत्रों को बंद

करके दिव्य नेत्रों के द्वार खोलेंगे

भौतिक नेत्रों से हम केवल भौतिक संसार और

माया को ही देख सकते हैं परम ब्रह्म को

केवल दिव्य नेत्रों द्वारा अर्थात हृदय की

आंखों से ही देख जा सकता है जिन आत्माओं

के साथ वह दिव्य शक्ति रहती है उन्हें

मेरा कोटि कोटि

प्रणाम मेरे बच्चे मैं आज तुमसे बहुत

प्रसन्न हूं और मैं तुम्हें कुछ खास बात

बताना चाहती हूं जिन बातों को आज तक मैं

तुमसे छुपाती रही तुम्हें कभी बताया नहीं

क्योंकि उन बात को जानने का समय अब आ चुका

है और उसका कारण केवल यह है कि तुमने वह

एक ऐसा कार्य किया है जिसको करके तुमने

मेरे दिल को बहुत प्रसन्न किया है इसी

कारण मैं तुम्हें उस बात को बताना चाहती

हूं जिसे जानने के बाद तुम्हें आश्चर्य

होगा लेकिन तुम्हारी आंखें भी खुली की

खुली रह जाएंगी किस चिंता में पड़े हुए हो

सब चिंताओं को छोड़ दो इस बात का ध्यान

रखो मेरे बच्चे जिस प्रकार तुम्हारी जन्म

देने वाली मां तुमसे कुछ नहीं छुपाती उसी

प्रकार मैं भी तुम्हारी मां होते हुए

तुमसे कुछ नहीं छुपाना चाहती और आज तो मैं

वैसे ही बहुत ज्यादा प्रसन्न हूं तो मैं

कुछ तुमसे छुपाना नहीं बल्कि तुम्हें ऐसा

कुछ बताना चाहती हूं जो आज तक कभी बता

नहीं सकी मेरा बच्चा इतना नादान और भोला

है कि मेरे बिना कहे कुछ बातों को समझ

नहीं पाएगा इसलिए आज मुझे कुछ बातें

स्पष्ट रूप से बता देनी जरूरी होंगी जिनको

ध्यानपूर्वक सुनना और समझना मेरे बच्चे

क्योंकि यदि तुम ध्यान से नहीं सुनोगे तो

तुम्हें बातें समझ में नहीं आएंगी और

तुम्हें लगेगा कि पता नहीं मैंने तुम्हें

क्या बताया है उसमें जो बताया है वह कुछ

खास नहीं है ऐसा आभास होगा इसलिए मैं

तुम्हें स्पष्ट रूप से इस बात को बता देना

चाहती हूं कि हर इंसान के अंदर एक अच्छाई

होती है और किसी इंसान के अंदर एक ऐसा गुण

होता है इंसान तो क्या ईश्वर को भी

प्रसन्न कर देता है और वही गुण तुम्हारे

पास है और वह गुड है तुम्हारा सच बोलना

तुम सदैव तो सच बोलते हो उस बात से मैं

बहुत ज्यादा प्रसन्न हूं और अब समय आ गया

है यह जानने का कि तुमको बहुत जल्दी ही

तुम्हारी एक ऐसे

व्यक्ति से मुलाकात होने वाली है जो

तुम्हें तुम्हारी आर्थिक मदद करने वाला है

तुम्हारी इस स्थिति से उभरने के लिए वह

तुम्हें सहायता करेगा वह इंसान तुम्हारे

परिवार का सदस्य भी हो सकता है वह

तुम्हारे खानदान का सदस्य हो सकता है वह

तुम्हारा मित्र भी हो सकता है वह तुम्हारा

कोई भी अपना ही निजी व्यक्ति तुम्हें

तुम्हारी सहायता करने से पीछे नहीं

हटेगा और तुम्हारी सहायता करके तुम्हें

मदद करेगा क्योंकि मेरे बच्चे तुम भी तो

अपने माता-पिता के बहुत आज्ञा मानते हो

अपने माता-पिता को बहुत खुश रखते हो तो

दुनिया में जो इंसान दूसरों के साथ

खुशियां बांटते हैं उन्हें हर चीज जल्दी

ही प्राप्त होती है जो दूसरों के दुख में

दुखी होना जानता है उसकी परेशानी ज्यादा

पास नहीं आती एक ऐसा बुद्धिमान व्यक्ति जो

यह समझ लेता है कि दुख और सुख का हिसाब

क्या है कोसो दूर रहता है परेशानी से उसके

जीवन में आती नहीं है और जो कि अंधेरों

में घूमता रहता है जिसके अंदर सुख दुख का

ज्ञान नहीं होता वह भटकने में ही रह जाता

है ना तो उसके जीवन में समस्या खत्म होती

हैं और ना ही किए गए किसी भी काम को करने

के पश्चात भी प्रसन्न रहता है केवल दुखी

रहना उसका काम होता है और ऐसे कुछ व्यक्ति

हैं जो अपने सुख से खुश नहीं होते और

दूसरों की खुशियों से दुखी होते हैं इंसान

को हर फल अपने कर्मों के हिसाब से मिलता

है

क्योंकि कर्म ठीक उसी पेड़ की तरह है जिस

पेड़ पर फल उसी प्रकार लगते हैं जिस तरह

का पेड़ होता है यदि किसी फल का पेड़ होता

है तो उसमें मीठे फल लगते हैं और किसी

कड़वी फल के पेड़ में केवल कड़वे ही लगते

हैं जो तुम्हारे लिए अहित कारी है

तुम्हारे जीवन को ऊंचाइयों के शिखर पर ले

जाऊंगी मैं फिर आऊंगी तुमसे मिलने सदा खुश

रहो मेरे बच्चे मेरे अगले संदेश की

प्रतीक्षा करना

Leave a Comment