मां दुर्गा 🕉️ सब कुछ तुम्हारे हाथों में है

मेरे बच्चों मैं तुम्हारी काली मां
तुम्हें दर्शन देने के लिए आई हूं
तुम्हारे जीवन की साड़ी परेशानियां मुझे
मालूम है अब तुम्हें आज जो रहा दिखाऊंगी
उसके बाद तुम्हें अपने जीवन में चल रहे
सभी परेशानियां से मुक्ति मिल जाएगी बस

तुम याद रखना की मुझे सुनकर अनदेखा मत
करना तुमने अपने जीवन में बहुत आंसू बहे
हैं तथा बहुत से दुखों का और पीड़ा का
सामना किया है परंतु मैं तुम्हारी मां
तुम्हें इस हालात में नहीं देख शक्ति तो
अपने सारे दुख और पीड़ा मुझे दे दो

तुम्हारे जीवन में जो लोग हैं जो तुम्हारे
साथ है तुम्हारा अपमान कर रहे हैं जो
तुम्हारी इज्जत नहीं करते जो तुम्हें हर
पाल घृणा की नजर से देखते हैं तथा जो
हमेशा तुम्हें निशा दिखाने की कोशिश करते
हैं तुम्हारे क्या आत्मविश्वास को तोड़ने

की कोशिश कर रहे हैं तो मैं हर पाल अंदर
से कमजोर करने का हर संभव प्रयास कर रहे
हैं आज मैं तुम्हें उनका सत्य बताऊंगी
उनके राज आज मैं तुम्हें बताऊंगी मेरी बटन
को तुम ध्यान से सुना क्योंकि यह वही लोग
हैं जो तुम्हारे अपने हैं और यह ऐसा क्यों

कर रहे हैं यह तुम्हारा जानना अति आवश्यक
है मेरी बटन को ध्यान से सुना होगा और जो
भी मैं तुमसे कहूंगी तुम्हें समझना होगा
तुम्हारे जीवन में है जो लोग हैं जिसमें
कुछ तुम्हारे अपने तो कुछ पराई हैं परंतु

यह जो भी है यह तुम्हें निशा दिखाना चाहते
हैं और तुम उनसे दुखी हो जाते हो इसके
पीछे का करण तुम्हारा जानना बेहद आवश्यक
तुम्हें इतना निशा दिखाई हैं जो तुम्हारे

अपने होकर भी तुम्हारे साथ गलत करते करते
हैं वह यह सब इसलिए करते हैं क्योंकि ऐसे
लोग स्वयं अंदर से बहुत कमजोर होते हैं
ऐसे लोगों के अंदर आत्मविश्वास की कमी है
यह लोग स्वयं तो कुछ नहीं कर सकते परंतु
निशा दिखाने के लिए हर संभव प्रयास करने
में लगे रहते हैं या तुमसे जलते हैं की

तुम अपने जीवन में इतनी कामयाबी कैसे
हासिल कर रहे हो परंतु फिर भी तुम हमेशा
दुखी रहते हो इन लोगों की बटन को सुनकर यह
लोग केवल तुम्हारी उन्नति से डरते हैं और
जब तुम ऐसे दुखी होते हो तो है तुम पर
हमेशा हंसते हैं ऐसे लोग तुम्हारे अंदर की

आत्मा शक्ति को देख कर घबराते हैं वह
तुम्हारे साथ विश्वास को देखकर तुमसे जलते
हैं पता है तुमसे डरते हैं की तुम इतने
आत्मविश्वासी किस प्रकार से हो किस प्रकार
से हो और इसलिए है तुम्हें हर पाल अपमानित
करते रहते हैं

किया था तुम्हें निशा दिखाई हैं जिसके
चलते तुम इनकी बटन में आकर हर मां जो और
अपने लक्ष्य से भटक जो इनका उद्देश्य केवल
तुम्हें तुम्हारे लक्ष्य से दूर करना है

ईश्वर हमेशा उन बच्चों के हृदय में वास
करते हैं जिन बच्चों का मां सच्चा होता है
और लोगों के प्रति अच्छा व्यवहार होता है
तुम्हें अपने अंदर के व्यवहार को अच्छा
रखना है क्योंकि तुम मेरे प्रिया भक्तों
हो और मेरे और मेरे प्रिया भक्ति सभी ऐसा
कार्य करते

हैं अगर आप मां से साफ हैं तो आप जीवन में
हर जगह उन्नति करेंगे खुश रहेंगे और अपने
साथ-साथ बाकी लोगों को भी खुश रखेंगे
लेकिन अगर कोई व्यक्ति मां से साफ नहीं है
तो वह चाहे गंगा में भी नहा ले कभी भी

पवित्र नहीं हो सकता है जी प्रकार एक मछली
हमेशा पानी में रहती है लेकिन फिर भी वह
साफ नहीं होती है उसमें से बदबू भी आई
रहती है ऐसे ही इंसान है अगर मां में
पवित्र नहीं है तो बाहर से चेहरा कैसा है
रंग रूप से लेकिन वह पवित्र नहीं हो सकता
है क्योंकि मानव शरीर मिलन दुर्लभ है

इसीलिए जो जन्म आपको मिला है उसमें अच्छे
कर्म करिए जब तक आपका शरीर है आप अच्छे
कार्य करिए दान करिए अच्छे विचार रखिए
क्योंकि जब शरीर से प्राण निकाल जाता है
तो फिर सुंदर शरीर को कोई नहीं पूछता है

या शरीर रख के समाज हो जाता है आपके सिर्फ
अच्छे कर्म अच्छी बातें ही लोगों को याद
आई है मैं जानती हूं की तुम कभी कभी निरसा
हो जाते हो लेकिन तुम्हें छोटी-छोटी

परेशानियां को देखकर निरसा नहीं होना है
ना ही घबराना है क्योंकि ऐसी परेशानियां
तो बिन मौसम बरसात की तरह होती है जो
हमारे जीवन में अचानक से ए जाति हैं और
चली जाति है तुम्हें बस छोटी-छोटी

परेशानियां में ना घबराकर अपने लक्ष्य तक
पहुंचाना है जैसे अर्जुन ने सिर्फ और
सिर्फ मछली की आंखों को देखा था और उसे
भेज दिया था ऐसे ही तुम्हें सिर्फ और
सिर्फ अपने जीवन में लक्ष्य को देखना है
कुछ प्राणी ऐसे होते हैं जो आपकी सहायता
भी करते हैं और आपको पता भी नहीं लगे देते
हैं वहीं आपके सच्चे हितेषी होते हैं ऐसे

लोगों का आज के इस कलयुग में मिलन मुश्किल
है लेकिन ऐसे पानी भगवान द्वारा ही बना कर
भेजें जाते

हैं कौन हमारा अपना है कौन पराया है यह सब
हमारे जीवन में जब दुख आते हैं तो हमें
पता चल जाता है तुम्हारी जो भी समस्या
तुम्हारे जिंदगी में घाट रही है वह कुछ
समय के लिए ही है क्योंकि बच्चों कभी भी
कोई चीज एक जैसी नहीं रहती है जैसे दिन के
बाद रात आना निश्चित है वैसे ही समस्याओं
का हमारे जीवन में आना जाना निश्चित है

तुम्हारा जीवन बहुत कासन में रहा है और
तुमने कभी किसी के साथ बड़ा नहीं किया बस
कुछ समय के लिए तुम रास्ता भटक गए थे उन
लोगों की संगत में ए गए थे जो लोग सदा

बुराई की और चलते हैं लेकिन अब तुम समझ
चुके हो इसलिए मेरे बच्चे गलती दोबारा मत
करना और अपनी माता पर विश्वास करके आगे
बढ़ाना मैं तुम्हें कभी गिरता देखना नहीं
चाहती हूं मैं तुम्हें हमेशा ऊंचाइयों पर
जाते हुए देखना चाहती हूं किंतु है दुनिया
तुम्हें तभी गुमराह कर शक्ति है जब तुम

स्वयं अपने आप को गुमराह होने से नहीं रॉक
पाते तुम्हारी आंखों पर पर्दा पद चुका है
मेरे बच्चे अब समय ए गया है की तुम्हें
अपनी आंखों के पर्दे को हटाकर अपने जीवन
की सच्चाई को देखना होगा ताकि तुम्हारा
जीवन जो अंधकार में है वह प्रकाश की और जा
सके जब कोई व्यक्ति तुम्हें सच्चाई की र

पर ले जान की कोशिश करता है तो तुम उसे
व्यक्ति पर भरोसा नहीं करते बल्कि अपने
अंधकार के करण इस र पर चलना चाहते हो जो
रहा गलत है तुम्हारे भीतर जो नकारात्मक
ऊर्जा है अब उसे तुम्हें अपने भीतर से
बाहर करना होगा

यह नकारात्मक ऊर्जा तुम्हारे जीवन को
बर्बाद कर देगी मेरे बच्चे अपने अंदर के
शैतान को तुम्हें खत्म करना होगा ताकि तुम
अच्छाई की र पर चल सको मेरे बच्चों मैंने
जो ज्ञान आज तुम्हें दिया है उसे तुम

हमेशा याद रखना अब मैं अपने लोक वापस जाना
चाहती हूं और यही कहना चाहती हूं की मेरा
आशीर्वाद हमेशा तुम्हारे साथ है तुम अपने
जीवन में आगे बढ़ो और हमेशा खुश रहो
मेरे बच्चे

को आशावादी दृष्टिकोण से देखते हो उसका
उज्जवल पक्ष देखते हो और यह मानते हो की
जहां सत्य है वहीं विजय है तब तुम अपनी ही
नहीं बल्कि विश्व भर का उधर कर सकते हो
मेरे बच्चे

जीवन मिलता है जी प्रकार जी प्रकार सूरज
सृष्टि को वनस्पति को पशु पक्षियों को
जीवन दान देता है इस प्रकार
डालता है

जो लोग हर चीज को निराशावादी दृष्टिकोण से
देखते हैं
अंधकारमय पहलू पर दृष्टि रखते हैं असफलता
और बुराई के विचार उनके मां में जेड जमाई
रखते हैं वे सदा अंधकार दुख और दरिद्रता
में फैंस रहते हैं अपने समाज गुड धर्म
वाली वास्तु या पदार्थ की और ही कोई

पदार्थ खींचना है तुम किसी वास्तु की आशा
करते हो और उसे अपने की कोशिश करते हो तो
वह आपकी और खींचना है क्योंकि तुम उसका
विचार करते हो और इसके गन धर्म वाले
व्यक्ति को कोई वास्तु कभी नहीं खींचना है
विचारों का भी यही सिद्धांत

उन सब विचारों को दूर कर दो जो समृद्धि के
विरुद्ध है दरिद्रता के विचारों को मां के
निकट भी ना आने दो बस समृद्धि की बातें
करो अपने को समृद्ध शैली समझो और रहो मां
वचन और कर्म से कार्य करते रहो मां में
केवल उन्हें विचारों को जग दो जींस तुम
आनंदित होते हो उन्हें वास्तु का विचार
करो जिन्हें प्रकार तुम्हें सुख और आनंद
की अनुभूति होती है मेरे बच्चे ऐसा करने

से तुम पदार्थ को अपनी और खींच सकते हो
मनुष्य के कार्य और इसके उद्देश्य में
बड़ा गहरा संबंध है किसी प्रकार के दुखद
और संदेह प्रधान विचार कभी भी तुम्हें
उन्नति की और नहीं ले जा सकते तुम परेशान
ही रहोगे यदि इन परेशानियां से छुटकारा
चाहते हो तो जो कार्य तुम करते हो

है उसे अपने कोई मजबूरी मत मानो पुरी
शक्ति और मां योग से उसे कार्य को करो जो
व्यक्ति सोचता राहत है की वह तो सदा इस
छोटे कम को करने को मजबूर है और इसी
स्थिति में रहेगा कभी प्रगति नहीं करेगा
तो यह निश्चित है की वह व्यक्ति सदा बड़ा
स्थिति में रहेगा कभी उसकी स्थिति नहीं
सुधार शक्ति क्योंकि विचारों का

दुष्प्रभाव व्यक्ति के समस्त व्यक्तित्व
पर पड़ता है इसके विपरीत जो व्यक्ति जीवन
को प्रकाशन और सौंदर्य देखा है उसके दुख
में जीवन का शीघ्र अंत हो जाता है सभी दुख
दर्द दूर हो जाते हैं दुखों से भारी

रात्रि दूर से जाएगी और सुखों का प्रभात ए
जाएगा
मेरे बच्चे

और आनंद है निर्विकार और निर्दोष भाव से
अपने लक्ष्य की और बढ़ो विश्वास में
दृढ़ता और संकल्प के साथ-साथ तुम्हारी
योग्यताएं भी हनी चाहिए दृढ़ विश्वास में
असीम शक्ति है उत्पादन शक्ति का यह स्रोत
है किसी भी व्यक्ति के मां की इच्छाओं की
पूर्ति यही दृढ़ विश्वास और सफलताओं की

आशा करती है क्योंकि उत्पादन शक्ति का
विश्वास ही प्रमुख आधार है मेरे बच्चे अब
तुम दृढ़ विश्वास के साथ अपने कार्य में ग
जो इन सब बटन को अपने हृदय से निकाल दो की
यह कार्य

कर रहे हो उसमें दृढ़ विश्वास रखो मेरे
बच्चे तुम्हें संसार के सबसे अनमोल बच्चे
हो इसलिए संसार में तुम्हें किसी भी चीज
से घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है
तुम्हें सिर्फ अपने जीवन को बेहतर बनाने
और इस संसार को बेहतर बनाने में मदद करनी
चाहिए

Leave a Comment