मैं आज तुम्हें एक गुप्त विधा देने आई हूँ

मेरे बच्चे तुम्हारा बुरा समय समाप्त हो चुका है मेरे बच्चे आज तुम्हारे सारे दुखों का अंत होगा और तुम्हारे जीवन

के सभी परेशानियां समाप्त हो जाएगी क्योंकि मैं तुम्हें और कष्ट में नहीं देख सकती आखिर तुम भी मेरे बच्चे हो

तुम्हें कैसे अपने बच्चों को दुखी देख सकती हूं बच्चे मेरी कृपा दृष्टि तुम पर पढ़ चुकी है मेरे प्रेम की कसौटी पर

तुम खरे उतर रहे हो अगले 18 घंटे में तुम्हारे जीवन में भारी बदलाव होने वाला है मेरे बच्चे जो बातें आज मैं बताना चाहती हूं वह मैंने तुम्हें कभी नहीं बताई इन बातों से तुम सदैव से अनजान रहे हो इसलिए उन बातों को

जानना अत्यंत आवश्यक है यदि तुम बातों को जान गए तो सदा तुम्हारे ऊपर मेरी कृपा दृष्टि बनी रहेगी मेरे बच्चे मैं जानती हूं कि तुम काफी चिंतित रहते हो क्योंकि तुम्हारे जीवन के काफी समय केवल दुखों में ही करते हैं परंतु

दुखी होने से तुम्हें कोई लाभ नहीं होगा इसलिए अपने आप को दुखों से मुक्त करो और अपने आप पर ध्यान दो कई बार तुम्हारी कुछ ऐसी बातें जिससे मुझे ना चाहते हुए भी क्रोध आ जाता है और कई बार तुम्हारी कुछ ऐसी

बातें जो मुझे प्रसन्न कर देती है इस तरह कुछ ऐसी ही बातें जिन्होंने मुझे प्रसन्न किया है कुछ बातें जो तुम्हें करना बाकी है 18 घंटे में ही तुम्हारी जिंदगी में चमत्कारी रूप से बदल जाएगी

Leave a Comment