यदि अगले ही दिनों से ही नहीं होने लगा तो फिर मत देखना 😍

कैसे हो मेरे बच्चे तुम्हें क्या चाहिए यह

मुझे ज्ञात है तुम क्यों इतना उदास और

बेचैन रहते हो जीवन की उलझन में फैंस हुए

हो तुम्हारी इस दुविधा को और विचलन को मैं

बहुत अच्छे से जानती हूं और समझती हूं उसे

कमी का विचार तुम बार-बार अपने मां में ला

रहे हो

जबकि तुम जो मांग रहे हो उसे खुश होकर

मैंगो प्रगति की और बढ़ो मैं बहुत

ऊंचाइयों पर लेकर जा रही हूं यही करण की

तुम्हें समस्याओं का सामना करना पद रहा है

क्योंकि यह मैं तुम्हें पूर्ण रूप से

तैयार कर रही हूं तुम्हें अपने मां में

किसी भी प्रकार का भाई नहीं लाना है संसार

में कर्म और आकर्षण सिद्धांत ही है जो

महत्वपूर्ण है इसलिए तुम जी चीज के बड़े

में लगातार गहराई से सोचते हो वह मुझे

तुम्हारे जीवन में लाना ही पड़ता है

तुम्हारे जीवन में मैं खुशियां सुख

संपन्नता प्रधान करना चाहती हूं किंतु तुम

मेरे बताए आदेशों का लगातार पालनपुर नहीं

करते हो मेट्रो में अलौकिक शक्ति होती है

जो तुम्हारी इच्छा पूर्ति करने में सहायक

सिद्ध होती है इसलिए तुम प्रतिदिन मेट्रो

का जब करो जब तुम मुझे सरकार रूप में

ढूंढने का लगातार प्रयास कर रहे जबकि

ध्यान लगाकर देखो मैं हर रूप में हमेशा

तुम्हारे पास हूं तुम्हारे जीवन में शीघ्र

ही बहुत बड़ा बदलाव आने वाला है मैं

तुम्हारे लिए प्रगति के सभी मार्ग खोल रही

हूं इसलिए मैं तुम्हें आज यह बताने आई हूं

की तुम अपने मां से दुखों का पूर्ण रूप से

त्याग कर दो और अपने मां में सकारात्मक

विचार लो परंतु रो कर मांगना यह तुम गलत

करते हो

उसे दुखी होकर मत मैंगो पुरी श्रद्धा के

साथ प्रश्न होकर जब भी मेरा कोई भक्ति इस

बात को बिना जान की उसकी इच्छा कब पुरी

होने वाली है मुझे कुछ मांगता है मैं उसकी

इच्छा पुरी करने के लिए बाध्य हो जाति हूं

अर्थात मुझे उसकी इच्छा पुरी करनी ही

पड़ती है मेरा आशीर्वाद हमेशा तुम्हारे

साथ है

Leave a Comment