यह 5 सच माँ काली आपके सामने जरूर लाती हैं। 🌺❤(Five Truth Maa kali ji) 🖐🌺🚩

हेलो
दोस्तों कैसे हैं आप
सब आपका मा दुर्गा महाकाली कृपा चैनल पर
हार्दिक स्वागत
है आशा करता हूं आप सब स्वस्थ होंगे मस्त
होंगे प्रसन्न होंगे यदि आप थोड़े से भी

परेशान है तो मैं माहाकाली से प्रार्थना
करता हूं कि मां काली आपको स्वस्थ कर दे
आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो मां आपको
शक्ति

दे यदि आप चैनल पर पहली बार आए हैं चैनल
को लाइक सब्सक्राइब और शेयर कर दीजिए साथ
ही बेल आइकन के बटन को प्रेस कर दीजिए
ताकि आने वाली सभी वीडियो का नोटिफिकेशन
आपको
प्राप्त आज का जो विषय है वह यह है कि
अपने भक्तों के सामने मां सच्चाई कु चीजें

रख देती हैं ऐसी पांच सच्चाई मैं आपको मैं
बताने वाला हूं कि वह सच्चाई क्या है
जिसके जो मां काली अपने भक्त के सामने
रखने लगती

हैं मां को कलयुग की जागृत देवी कहा जाता
है हनुमान जी और भैरव बाबा के अलावा माहा
काली एक ऐसी देवी है एक ऐसी शक्ति है जो
जागृत है और हर कार्य का तुरंत फल देती
हैं यदि आपके संचित कर्म आपके संचित पुण्य
कर्मों के आड़े नहीं आते तो आपको उसका फल

देने में मां तनिक भी देर नहीं लगाती जब
आप निरंतर मा की भक्ति में लीन रहते हैं
तब मां आपको देख रही होती हैं क्योंकि मां
की दो आंखें नहीं है तीन आंखें नहीं है
हजारों करोड़ों आंखें हैं जिनसे मां इस

पूरे विश्व को इस पूरे ब्रह्मांड को देख
रही
है तब मां आपको अपने आप से जोड़ने के लिए
कुछ सत्य आपके समक्ष उजागर करती है आइए
जानते हैं क्या है वह पांच सत्य जिन को
जानना आप लोगों के लिए जरूरी
है सबसे पहला सत्य है कि जब आप मां की
भक्ति पूरे समर्पण भाव से कर रहे होते हैं
तब मां आपको ऐसे सभी लोगों से दूर कर देती

हैं उन या उनकी सच्चाई आपके सामने लाने
लगती
हैं क्योंकि मां को यह पता है कि भविष्य
में यह लोग आपको धोका दे सकते हैं आपके
साथ झल कर सकते हैं आपके साथ कुछ भी गलत
कर सकते हैं तो मां ऐसे नकारात्मक लोगों

को ऐसी नकारात्मक चीजों को आपसे के जीवन
से उखाड़ फेंकते हैं उनको करने लगती हैं
और आपकी शुभ चिंतक को आपके पास में आपके
पास ला देती हैं यानी उनसे मिलवा देती हैं
ताकि भविष्य में आपको बहुत सारी मुसीबतों

का सामना ना करना
पड़े
दूसरा जो सत्य मा आपके सामने उजागर करती
हैं वह जब करती हैं जब आप कि भक्ति थोड़ी
गहरी हो जाती है यानी आप जब थड़े भक्ति
में आगे आ जाते हैं भक्ति मार्ग में आप

आगे को आ जाते हैं तो मां आप स्वप्न के
माध्यम से व सब बताने लगती हैं जो आपके
साथ घटने वाला है यह घट रहा है जिसे पूर्व
भास कहते हैं यानी मां आपको सक्ष जगत का
बोध कराने लगती हैं आपको वो वो चीजें
दिखाती हैं आपको अलग-अलग आया आयामों में
लेकर जाती हैं ताकि आप का जो आध्यात्मिक

विकास
है इस संसार से परे एक और दुनिया है उसको
भी आप जान सके तो मां आपको प्रेरणा दे रही
होती है कि आप दूसरों के लिए एक
मार्गदर्शक बने एक गुरु रूप में आप इस
संसार का मार्गदर्शन करें आपका आध्यात्मिक
विकास प्रगति

करें तीसरा जो जो सत्य है मैं आपके सामने
उजागर करती हैं व यह है कि जब हमारी भक्ति
थोड़ी और ज्यादा गहरी होती है तब मा काली
आपको मोह माया के चक्र से आपके सभी बंधनों
को काटने लगती हैं वह शुरू कर देती हैं
काटना यानी आपके रिश्तेदारों से परिवार के
भाई बंधुओं से

आपका मोह कम करने लगती हैं ऐसे नहीं आपका
मोह खत्म हो जाता है नहीं आपका मोह रहता
है पर उतना नहीं रहता आपको यह पता होता है
कि कितना मुझे किसके साथ घुलना मिलना है
धन से आपका जो है मोह कम होने लगता है माग
कम करने लगती है क्योंकि धन तो आपके पास
आता है लेकिन आप उसका सदुपयोग करने लगते
हैं उ धार्मिक कार्यों में लगाते हैं आप

उससे किसी गरीब सहायक सहायता करने लगते
हैं तो उस धन का दुरुपयोग नहीं करते आपको

उसकी समझ माहाकाली प्रदान करने लगती है जो
भी चीज हमें दुख देती है मां उसे समाप्त
करने लगती है
ताकि हम सब सुख दुख में विचलित ना हो और
भक्ति मार्ग में यह सब बाधाएं ना
बने चौथा सत्य जो मां आपके साम उजागर करती

हैं वह यह है कि मां काली अपने होने का
एहसास कराती हैं ईश्वर की सत्ता का आपको
एहसास कराती हैं कि एक सत्ता ऐसी भी है जो
इस संसार के लोगों से भी इस संसार के
जितने भी लोग हैं उनसे भी ऊपर है कोई चीज
है यानी मां अपनी शक्ति का चमत्कार दिखाने
लगती है अपने भक्त को महाकाली क्योंकि

न्याय और सत्य की मूर्ति है तो अपने
भक्तों को न्याय दिलाने में मां कसर नहीं
छोड़ती यानी जो भी लोग आपके शत्रु होते
हैं या आपका नुकसान करने वाले होते हैं
किसी भी तौर से आपके पीठ पीछे आपका वार

करने वाले भी हो सकते हैं उन सबको मां सबक
सिखाने लगती
है क्योंकि मां अपने भक्त को के साथ गलत
होने नहीं
देती जो आपको धोखा देते हैं कष्ट पहुंचाते

हैं उन्हें मां माफ नहीं करती उन्हें उचित
दंड मां देती
उन्हे कष्ट भी मार देती है यह सब आपको
सामने होता है आपके सामने ही यह सब होने
लगता

है तो यह था चौथा सत्य जो मां अपने भक्त
के सामने उजागर करती
है पांचवा सत्य क्या है पांचवा सत्य यह है
कि जब आप भक्ति की चर्म सीमा पर होते हैं
यानी जब भक्ति में बहुत ऊपर आ जाते
हैं तब मां काली आपके उद्देश्यों की प्रति

करने लगती है यानी आपने जो मनोकामनाएं मां
से मांगी थी मां से बहुत प्रार्थनाएं की
थी वह मां आपको प्राप्त कराने लगती है जो
भी मां से आपने कुछ मांगा है वह सब आपको
मिलने लगता है ताकि आपकी कोई कामना अधूरी
ना रहे वह पूरी हो जाए आप अपने जीवन से

संतुष्ट हो जाए क्योंकि जब भक्त संतुष्ट
हो तभी वह आध्यात्मिक क्षेत्र में प्रगति
करने लगता
है और उसका विश्वास अपने ईश्वर पर
माहाकाली पर अटूट हो जाता है अटूट हो जाता
है अपने से भी ज्यादा मां पर विश्वास होने
लगता
है अंत में मां काली जब आपकी सारी
मनोकामना पूरी होती है तो अंत में मां
काली आपके लिए मोक्ष के द्वार खोल देती
है
तो आशा करता हूं
आपको यह सत्य समझ में आए होंगे
तो अगर वीडियो आपको अच्छी लगे तो चैनल को
लाइक सब्सक्राइब और शेयर कर दीजिए कमेंट
में कमेंट में जय महाकाली हर हर महादेव
राधे राधे जरूर लिखें और कोई भी परेशानी
है आप मुझसे पूछ सकते
हैं कमेंट बॉक्स में तो जय महाकाली हर हर
महादेव राधे
राधे

Leave a Comment