ये तुम्हारी सबसे बड़ी खुशी है 😃

मेरे बच्चे जो चीज तुम्हारी अपनी है वह
खुद ही ए जाएगी जिन चीजों से तुम बहुत
ज्यादा प्यार करते हो जो चीज तुम शिद्दत
से मांग रहे हो जिन चीजों के लिए तुम तड़प
रहे हो वह एक ना एक दिन एक समय पर जरूर
मिलेंगे

क्योंकि वह चीज तुम्हारी अपनी है परंतु
यहां पर एक सवाल आता है आखिर तुम्हारी कौन
सी चीज अपनी है यह तुम कैसे जान सकते हो
इन चीजों के बड़े में तुम कैसे पता लगा
सकते हो आज मैं तुम्हें बताऊंगी

मेरे बच्चे जिन चीजों से तुम्हें बहुत ही
ज्यादा लगाव होता है
जिन चीजों से तुम्हें बहुत ही ज्यादा
प्यार होता है जिन चीजों के लिए तुम हर
रोज

शुक्रिया अदा करते हो
तो वह चीज तुम्हारे जीवन में एक ना एक दिन
जरूर

कर देती हो तब तुम्हारे अपने मस्तिष्क में
एक बात हमेशा याद रखती है

और आभारी रहोगे तो वह चीज तुम्हारे जीवन
में अवश्य आएंगे परंतु होता क्या है तुम
सभी नए-नए त्रिकोण का भीम करने में लगे
रहते हो और इन्हीं सब में इतना
उलझा जाते हो की वह एक सुनहरे से नियम को
भूल जाते हो

और जैसे ही यह सुनहरा नियम तुम्हारे
मस्तिष्क से ऊपर जाता है तब होता क्या है
तब तुम परेशान होने ग जाते हो जब तुम्हारे
अंदर से कृतज्ञता वाली भावना चली जाति है
तब तुम समझ जाना की तुम भटक गए हो और यह
बहुत बड़ा संकेत है

और एक लटके हुए इंसान के पास एक अद्भुत
विचार ए ही नहीं सकता है हो सकता है की
तुम सब कुछ सही कर रहे हो परंतु फिर भी
यदि तुम्हारा मां बहुत ज्यादा बेचैन है यह
तो तुम्हारे मां में बेचैनी बहुत ही
ज्यादा बाढ़ गई है

तुम रो रहे हो परेशान हो रहे हो कहानी
तुम्हारा मां यदि नहीं ग रहा है तो अब
तुम्हें समझ जाना है की अब समय ए गया है
तुम्हें उन चीजों के लिए शुक्रिया अदा
करना पड़ेगा

क्योंकि कोई भी चीज तभी अपनी हो शक्ति है
जब तुम उन चीजों को दिल से अपना माने
लगोगे और दिल से अपना माने के लिए तो मैं
उन चीजों के लिए कृतज्ञ था अभिव्यक्त करनी
ही पड़ेगी तुम ईश्वर को प्राकृतिक को
किसी से भी अपने कृतज्ञ व्यक्त कर सकते हो
की तुम्हें तुम्हारे जीवन में साड़ी

खुशियां मिली है यह साड़ी अद्भुत चीज
तुम्हारे पास है क्योंकि जब तुम अपने अंदर
ही है प्रतिज्ञता वाली ऊर्जा को महसूस
करोगे

तब तुम्हारे अंदर बहुत ज्यादा प्यार और
सुकून वाली भावना भारी होगी जब यह प्यार
और गहरा संतुष्ट भर भर के तुम्हारे भीतर
से बाहर जाता है तब इससे एक बहुत बड़ी
खुशियां तुम्हारे पास आने का रास्ता बना
लेते हैं और यही पूजा कम करती है

तुम्हारे जीवन में कई सारे चमत्कार को
तुम्हारी तरफ आकर्षित करवाने में यह पुरी
चीज तुम्हारे भीतर ही होती है जब तुम किसी
चीज को शिद्दत से पन चाहते हो तब तुम्हारे
जीवन में उन चीजों के लिए जगह बन्ना शुरू
करो

और यह जगह बनाने वाली चीज प्रतिज्ञा
वाली चाबी हर रोज अपने पसंदीदा चीजों में
अपनी इच्छा में मतलब तुम्हारे जीवन में जो
भी चीज हैं यदि तुम उन साड़ी चीजों पर
करते रहोगे

तब तुम समझ भी नहीं सकते की तुम्हें क्या
क्या मिल सकता है वह कहावत तो तुमने सनी
ही होगी जिन लोगों के पास होता है उन्हें
और दिया जाता है जैसे तुम्हारा मस्तिष्क
चला है वैसे ही तुम्हारा प्रतिज्ञता भी
चला है

और कृतज्ञता की ऊर्जा ही तुम्हारी प्यार
की ऊर्जा है हमेशा यह चीज याद रखना जब यह
चीज तुम्हारे साथ में मिल जाति है तब समझ
जाना तुम्हारे जीवन में सब कुछ बहुत जल्दी
आने वाला है

और इन सब का रास्ता तुम स्वयं से बना रहे
हो

तुम्हारा भविष्य है इस बात को तुम्हें कभी
भी नहीं भूलना है मेरे बच्चे

सब कुछ तो नहीं पर बहुत कुछ तुम्हारे
अनुरूप हो जाएगा अपने जीवन की तुलना किसी
के साथ नहीं करनी चाहिए सूर्य और चंद्रमा
के बीच कोई तुलना नहीं हो शक्ति जब जिसका
वक्त आता है तब वह चमकता है

मेरे बच्चे जब भी तुम्हें खुद में कोई कमी
नजर आया तो एक बार आंखें बैंड करके उसे
दिन को याद करना जब तुम्हें जीवन की पहले
सफलता मिली थी तुम चाहे जीवन में किसी पर
भी भरोसा करके देख लो वह एक ना एक दिन
तुम्हें धोखा देता ही है

इसलिए तुम्हें केवल मुझमें पर भरोसा करना
है तुम किसी भी बात पर खुद को कमजोर समझना
छोड़ दो क्योंकि जब भी तुम ऐसा करते हो तो
नकारात्मक ऊर्जा तुम्हें घर लेती है इसलिए
तुम हमेशा अपने मां को शांत रखना

मेरे बच्चे अपने ईश्वर पर भरोसा रखो जहां
फैसला सब के हिट में होता है इस संसार में
असंभव कुछ भी नहीं है केवल तुम्हारी सोच
का फर्क है यदि मां लो तो हर जगह तुम्हारी
ही है

इसलिए अपने धैर्य को किसी भी कीमत पर मत
कोना क्योंकि तुम्हारा घर ही तुम्हें
ताकतवर बनाता है और निरंतर आगे बढ़ाने की
शक्ति देता है जो जैसा सोचता है उसे वैसा
ही मिल जाता है

मेरे बच्चे वास्तव में तुम्हारी इच्छा
शक्ति तुम्हें आगे बढ़ाने में मदद करती है
इसलिए तुम्हें अब मुस्कुराना है क्योंकि
तुम्हारा अच्छा समय तुम स्वयं अपने हाथों
से प्रारंभ कर सकते हो तुम्हारे जीवन में
अचानक से इतना बड़ा बदलाव होगा

की तुम स्वयं हैरान हो जाओगे बात-बात पर
अब दुखी होना छोड़ दो अनंत खुशियों का
द्वारा खुला रहा है और अपने ऊपर कोई भी
इल्जाम ना लगाओ क्योंकि तुम कभी भी गलत
रहा कर चुनाव नहीं कर सकते
क्योंकि मेरी शक्तियां तुम्हें गलती करने

से रॉक देती है अच्छी सोच के साथ अपने
जीवन में आगे बढ़ो मेरे बच्चे मेरी
शक्तियां तुम्हें और समय संभालने के लिए
खड़े

मेरे बच्चे मैं तुमसे बहुत नाराज हूं
क्योंकि तुम लगातार गलतियां को कर रहे हो
जिन बटन का ध्यान रखना अति आवश्यक होता है
परंतु तुम्हारा जो ध्यान है यहां वहां
भड़काने लगता है यह बात सत्य है की तुम
मुझे प्रश्न करना चाहते हो

पांटू वहीं पर कुछ ऐसी गलती कर रहे हो जो
की मुझे छह कर भी तुम प्रश्न नहीं कर का
रहे हो और उसका मुख्य करण क्या है आज मैं
तुम्हें साफ-साफ बताऊंगी और समझाऊंगी
परंतु उससे पहले तुम मेरी एक बात का जवाब

दो तुम्हारा कोई भी चने वाला या तुम्हारा
कोई भी दोस्त यदि तुमसे दोस्ती रखना है और
तुम्हारे पिता जो की तुम्हारे लिए

सम्मानजनक है उनकी बेइज्जती करता है तो
तुम्हारे हा को कैसा लगेगा जाहिर सी बात
है तुम्हें बड़ा लगेगा तुम अपने दोस्त से
नाराज हो जाओगे ऐसा इसलिए होता है जो
तुम्हें सबसे प्रिया होता है यदि उसका कोई

अपमान करें तो आपके हृदय को कष्ट होता है
क्योंकि तुम अपने बड़ों से बहुत प्रेम
करते हो खाने का तात्पर्य है की तुम इस
संसार में जिसे सबसे अधिक प्यार करते हो
यदि उसका कोई सम्मान करें या कोई उससे गलत
शब्द ना बोले तो तुमने निश्चित ही उससे
प्रेम करोगे इसी प्रकार मेरे सभी बच्चे

मेरे लिए प्रिया है और सभी बच्चों के लिए
मैं प्रिया हूं

यदि मेरे एक बच्चे का अपमान दूसरा बच्चा
करता है तो मेरे हृदय को थिस पहुंचती है
मेरी भक्ति करने वाला हर भक्ति मेरे लिए
उतना ही प्रिया है जितना भक्तों के लिए
मैं प्रिया हूं वहीं दूसरा तुम मेरी पूजा

लगातार करते हो मेरा नाम सम्मान करते हो
श्रद्धा भावना रखते हो हर दिन मुझे प्रसाद
चढ़ते हो मेरा नाम जपते रहते हो एक पाल भी

नहीं भूलते लेकिन यह भूल जाते हो की मैं
स्वयं जिनकी अर्धांगिनी हूं तुम उनका नाम
ही नहीं लेते और यह बात मेरे हृदय को सबसे
ज्यादा कष्ट पहुंचती है

मेरे खाने का तात्पर्य है की मेरे प्रभु
विष्णु को स्मरण नहीं करते हो मुझे प्रश्न
करना मुश्किल नहीं है इसलिए मैं कई बार
तुम्हें समझा चुकी हूं जीवन में खुशियां
प्राप्त करने के तुम्हें किसी का अपमान
नहीं करना चाहिए

सदा मेरा नाम स्मरण करने से पहले मेरे
प्रभु विष्णु जी का नाम जरूर लेना अपने आप
ही में प्रश्न हो जाऊंगी मेरे बच्चे एक
बात को अच्छे से समझ लो कौन व्यक्ति किस
रूप में तुमसे आकर मिलता है तुम्हें ज्ञात
नहीं होता

है इसलिए कभी किसी व्यक्ति का अपमान कदापि
मत करना क्योंकि हर इंसान के हृदय में मैं
बस करती हूं इस संसार में किसी को भी तुम
छोटा मत समझना क्योंकि कब किसका समय
परिवर्तन होता है यह किसी को ज्ञात नहीं

होता इसलिए किसी का भी समय देखकर उसे मां
सम्मान मत दो बल्कि एक इंसान को इंसानियत
का रिश्ता जो होता है तुम उसे निभाओ और यह
मत भूलो की तुम्हारे आगे का समय कैसा होगा
यह तुम नहीं जानते हो मेरे बच्चे कभी किसी
को झुकना की वजह मत बानो बल्कि तुम किसी
को उठाने की कोशिश करना चाहिए तुम स्वयं
देखोगे की खुद भी इतनी ऊंचाइयों पर पहुंच
जाओगे तो तुम्हें स्वयं भी पता नहीं होगा
क्योंकि जो दूसरों को गिरने से बचता है
उनको उठाने के लिए मैं स्वयं उनकी रक्षा
करती हूं तुम्हारे जीवन को सुरक्षित रखना
के लिए मैं वह हर कार्य करने के लिए तत्पर
हूं जो मेरे शक्ति के अंतर्गत आता है मेरे
बच्चे यदि तुम अभी तक मेरा यह संदेश सुन
रहे हो तो तुम्हारी आंखों में चमक उठ रही
है तो निश्चित ही तुम्हारे जीवन की समस्या
समाप्त होने का समय ए गया है उसके लिए
तुम्हें एक कार्य करना बहुत जरूरी है और
उसे कार्य को करने के लिए तुम प्रातः कल
के समय बस केवल यह बोल देना इसको बोलते ही
तुम्हारे जीवन की समस्याएं समाप्त हो
जाएगी क्योंकि हर दिन निकलता हुआ सूरज कुछ
एन कुछ नहीं शुरुआत लेकर आता है
और तुम्हारी हर नई सुबह नए कार्य की
शुरुआत होती है पर एक ऐसी नई शुरुआत जिसे
तुम एक नया कार्य करते हुए केवल कुछ शब्द
बोलते हो तो तुम अपनी पुरी समस्याओं को
समाप्त कर लोग मेरे बच्चे कल सुबह प्रातः
कल जब उठो तो सबसे पहले अपने घर के द्वारा
को साफ कर स्वच्छ कर लेना और गंगाजल डालकर
घर को शुद्ध कर देना और अपने घर को भी
अंदर से पूरा साफ कर लेना और रसोई को भी
साफ कर लेना मेरे बच्चे क्योंकि साक्षात
वहां पर मेरा वास है अन्नपूर्णा के रूप
में और जब तुम मेरी पूजा करने के लिए
बैठोगे तो मेरे करीब एक चुनरी ओड कर और
अपने हाथों में लाल पुष्प रख लेना उसके
पश्चात जब तुम गी का दीपक जलाल
तब तुम उसे दीपक की डॉ को अपने हृदय के
अंदर भी उसे ज्योति को देखने की कोशिश
करना वह ज्योति जो आपके हृदय में भी मेरे
रूप में जलती है जब तुम दोनों आंखों के
बीच में माथे के बीच में अपना ध्यान लगाओ
जी तब तुम अपने मां को एकाग्र कर पाओगे
एकदम शांत मां से एकाग्र करते हुए हृदय के
अंदर पूर्ण रूप से को जो और मुझे अपने
हृदय के अंदर देखने का पूर्ण रूप से
अभ्यास करो जैसे ही तुम ध्यान लगाकर जलती
हुई ज्योति को अपने हृदय में मेरा ध्यान
करते हुए मुझे महसूस करोगे मैं तुम्हारे
हृदय के अंदर विराजमान हो जाऊंगी और उसके
पश्चात अपने हृदय को साफ रखते हुए इस
कार्य को करने के पश्चात
आप जैसे-जैसे मुझे अपनी और आकर्षित करोगे
वैसे-वैसे तुम्हारे अंदर की शक्ति कई गुना
बढ़ाने लगेगी और जैसे-जैसे शक्ति बढ़ाने
लगेगी वैसे-वैसे केवल तुम एक ही बात को
अपने हृदय के अंदर से आवाज को निकलते हुए
केवल यह बात बोलना है की मैं आपके होते
हुए इस संसार से हर समस्या से मुक्त हो
मुझे पूर्ण भरोसा है जब तक आप मेरे साथ है
मेरे ऊपर कोई भी दुख की छाया नहीं आएगी ना
ही कोई समस्या आएगी
आप मेरे सभी कासन को हर लगी मैं निश्चित
हूं आपके होते हुए मुझे कोई गम नहीं छूएगा
और ना ही कोई दुख का सैया मेरे ऊपर पड़ेगा
मैं जीवन में खुशियों को प्राप्त करूंगा
सभी खुशियां मुझे आपके होते हुए मिलेगी
मैंने सब कुछ आपके ऊपर छोड़ रखा है हृदय
से विश्वास के साथ ऐसी बात बोलते ही
तुम्हारे जीवन में स्वयं सभी समस्याओं को
समाप्त कर दूंगी मेरा आशीर्वाद सदा
तुम्हारे साथ है मेरे अगले संदेश की
प्रतीक्षा करना मैं फिर आऊंगी तुमसे मिलने

Leave a Comment