राम मंदिर जैसा अद्भुत होगा श्री Kalki Dham, जानें इसकी खासियत |

पीएम मोदी कल संभल में कल्की धाम का
शिलान्यास करेंगे आपको याद होगा पीएम मोदी
ने पिछले महीने ही पूर्वी यूपी के अयोध्या
में रामलला के मंदिर का उद्घाटन किया और

अब अयोध्या से करीब 520 किमी दूर पश्चिमी
यूपी के संभल में भगवान विष्णु के 10वें
अवतार कल्की के मंदिर का शिलान्यास करने

जा रहे हैं यह सब ऐसे समय में हो रहा है
जब संभल से 716 किमी दूर वाराणसी में
ज्ञानवापी मंदिर का मुद्दा भी हिंदुओं के

पक्ष में जा रहा है और 160 किमी दूर मथुरा
में श्री जन्मभूमि का मुद्दा भी गर्म है
साफ है कि लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी
पूरे यूपी में हिंदुत्व का भगवा लहराना

 

चाहती है ताकि यूपी की सभी 80 सीटों पर
जीत का लक्ष्य पूरा कर सके सवाल है क्या
अयोध्या और संभल में आस्था के जरिए यूपी
की 80 सीटों पर कमल

खिलेगा सोमवार के दिन प्रधानमंत्री
नरेंद्र मोदी के हाथों भगवान विष्णु के
10वें अवतार कल्की के मंदिर का शिलान्यास

 

होने जा रहा है कल्की धाम के सहारे बीजेपी
सियासी फायदा पाना तो चाहती है मगर इसकी
धार्मिक महता क्या है और कल्की धाम क्यों
होगा दुनिया का सबसे अनोखा मंदिर इस

रिपोर्ट से
समझिए
मेंप कदम न्यारे स्वामी कप कदम
न्यारे
दक्ष
बती
महाराजा नम अवधपुरी से कल्की धाम जय श्री
कल्की जय श्री राम अ अवधपुरी से कल्की धाम

 

जय श्री कल्की जय श्री राम अवधपुरी से
कल्की धाम जय श्री कल की जय श्री राम
उत्तर प्रदेश के संभल में आजकल यही जयकारा

गूंज रहा है क्योंकि संभल के एं चोड़ा
कंबोह में भगवान विष्णु के दसव अवतार
कल्की का मंदिर बनने जा रहा हैय श्री

कल्की जय श्री राम प्रधानमंत्री नरेंद्र
मोदी कल इस मंदिर का शिलान्यास करेंगे साथ
ही गर्भगृह में पूजा कर शिला भी स्थापित
करेंगे इस समय हम आपको गर्भ ग्रह की उस
जगह की तस्वीरें दिखा रहे हैं जहां पर

 

शिलान्यास का पूरा कार्यक्रम आयोजित किया
जाएगा यह जो जगह देख रहे हैं यहीं पर पहली

शिला जो है वह रखी जाएगी प्रधानमंत्री के
हाथों से यह जो यहां पर गड्ढा किया गया है
इसके अंदर से ही कल्की धाम की नीव जो है

वो रखी जाएगी तो शिलान्यास के पूजन का
सारा कार्यक्रम इस जगह पर होगा और फिलहाल

 

पूरे परिसर में आप देखेंगे कि किस तरह से
इसको सजाया जा रहा
है यू तो इस मंदिर की कई विशेषता है मगर
सबसे खास बात है कि संभल में बन रहा यह
पहला ऐसा धाम है जहां भगवान के अवतार लेने
से पहले उनका मंदिर स्थापित हो रहा है

कल्की धाम के संभल से कनेक्शन की अगर बात
की जाए तो श्रीमद् भागवत महापुराण में
इसका जिक्र कुछ इस तरह है संभल ग्राम

मुख्य स्य ब्राह्मण स्य महात्म भवनेश कल
की प्रादुर्भाव
श्यतीज है संभल गांव में विष्णु यश नाम के

एक ब्राह्मण होंगे जो बड़े परोपकारी और
धार्मिक होंगे उस विष्णु भक्त ब्राह्मण के
घर में ही कल्की अवतार लेंगे अयोध्या में
बन रहे भव्य राम मंदिर से भी संभल के
कल्की धाम की एक समानता है दरअसल कल्की
धाम को बनाने में उसी गुलाबी रंग के पत्थर
का इस्तेमाल किया जाएगा जिससे अयोध्या के

राम मंदिर और सोमनाथ मंदिर का निर्माण
किया गया है साथ ही इसमें भी लोहे और
स्टील का इस्तेमाल नहीं
होगा कल्की धाम का निर्माण पांच एकड़ में

होगा इसे बनाने में करीब 5 साल लगेंगे
कल्की मंदिर का शिखर 108 फीट ऊंचा होगा
मंदिर का चबूतरा 11 फीट ऊंचा होगा कल्की
धाम में एक नहीं 10 गर्भगृह होंगे जिसमें
भगवान विष्णु के 10 अवतार स्थापित किए

 

जाएंगे यानी हर एक गर्भगृह में विष्णु का
एक अवतार कलकी पीठ अपनी पुरानी जगह ही
रहेगा जब कल्की धाम बनेगा तब उसके लिए
भगवान का नया विग्रह होगा जिसकी प्राण

प्रतिष्ठा की जाएगी जिसके लिए कल्की भगवान
की एक भव्य और दिव्य प्रतिमा को लाया
जाएगा जैसा कि अयोध्या में राम लला की

 

मूर्ति लाई गई थी सया राम खास बात यह है
कि राम मंदिर की तरह कल्की धाम का
शिलान्यास भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
करने वाले हैं साथ ही इस दौरान कल्की पुरम
में देश भर से करीब 11000 साधु संत मौजूद
रहेंगे जिनके लिए टेंट सिटी भी तैयार की

गई है कल्की धाम में शिलान्यास के लिए
साधु संतों के रुकने की भी व्यवस्था की गई
है यह टेंट सिटी जो आप देख रहे हैं जहां
पर हजारों की संख्या में ये टेंट जो हैं

वो बनाए गए हैं तमाम जो साधु संत देश के
अलग-अलग हिस्सों से इस शिलान्यास समारोह
में पहुंच रहे हैं यहां पर साक्षी बनेंगे
शिलान्यास समारोह में हिस्सा बनेंगे उनके
रहने की खाने पीने की व्यवस्था इस पूरी
टेंट सिटी में की गई है यहां बड़ा अद्भुत

नजारा है आने वाले समय में संतों का बहुत
बड़ा समागम होने जा रहा है एक प्रकार से
आप मान लीजिए यह जो है कुंभ का रूप है एक

प्रकार से संभल नगरी में तीर्थ नगरी संभल
में कुंभ का स्वरूप है फिलहाल शिलान्यास
समारोह स्थल को तीन हिस्सों में बांट दिया
गया है और पीएम मोदी के दौरे को दे देखते
हुए एसपीजी ने पूरे परिसर को अपने सुरक्षा
घेरे में ले लिया है प्रधानमंत्री जब
कल्की धाम शिलान्यास के लिए पहुंचेंगे तो

 

चॉपर जहां पर उतारा जाएगा उसके लिए भी मंच
के ठीक पीछे ये जगह चिन्हित की गई है जहां
फिलहाल हेलीपैड बनाने का काम किया जा रहा
है यहां मंच के ठीक पीछे प्रधानमंत्री जो
है अपनी सिक्योरिटी के साथ पहुंचेंगे यहां

पर मुख्यमंत्री के लिए भी एक हेलीपैड
तैयार किया गया है और सुरक्षा व्यवस्था जो
है वह बेहद यहां पर कड़ी रखी गई है और
पूरे कार्यक्रम के दौरान अ जब

प्रधानमंत्री यहां पर रहेंगे तो जो
सुरक्षा के इंतजाम हैं वह काफी चाक चौबंद
किए गए हैं अंजली सिंह जी मीडिया संभल अब
आपको पीएम मोदी के संभल दौरे के पीछे
बीजेपी की राजनीतिक रणनीति के बारे में

बताते हैं दरअसल बीजेपी ने यूपी की 80 में
से 80 सीटें जीतने का नारा दिया है मगर इस
मिशन को पूरा करने में बीजेपी के सामने
संभल बड़ी रुकावट है क्योंकि संभल में
सिर्फ एक बार कमल खिला है यानी बीजेपी
जीती है वो भी 2014 के लोकसभा चुनाव में

तब देश भर में मोदी लहर थी आपको बता दें
कि तब मुरादाबाद मंडल में छह लोकसभा सीटें
जो आती हैं उनमें मुरादाबाद संभल रामपुर
अमरोहा बिजनौर और नगीना हैं 2014 के चुनाव
में बीजेपी ने इन सभी छह सीटों पर जीत
हासिल कर ली थी और इस बार बीजेपी 2014 के
उसी इतिहास को दोहराना चाहती है जिसके तहत
कल पीएम मोदी संभल दौरे पर जा रहे हैं
पीएम का भाषण संभल समेत पूरे मुरादाबाद

 

मंडल में बीजेपी कार्यकर्ताओं का जोश
बढ़ाएगा क्योंकि 2014 में भले ही बीजेपी
को अप्रत्याशित सफलता मिली थी मगर साल
2000 19 में लोकसभा चुनाव जो हुए उसमें

बीजेपी को इन सभी छह सीटों पर हार का
सामना करना पड़ा इनमें से तीन सीटें
रामपुर मुरादाबाद और संभल में समाजवादी
पार्टी जीती तो तीन सीटें अमरोहा बिजनौर
और नगीना बीएसपी के खाते में गई थी
हालांकि 2022 में रामपुर के सांसद आजम खान

के इस्तीफे के बाद हुए उपचुनाव में यहां
बीजेपी ने जीत जरूर हासिल कर
ली अब पार्टी का फोकस मुरादाबाद मंडल की
सभी छह सीटों पर है और जाहिर सी बात है कि
इसको लेकर के आने वाले दिनों में राजनी
नीति खूब हो सकती है और माना यह जा रहा है

कि कल्की धाम का जो उद्घाटन होगा इसका असर
पूरे इलाके पर पड़ेगा 2014 में जब बीजेपी
संभल से जीती थी तो कल्की धाम के

पीठाधीश्वर प्रमोद कृष्णम संभल से
कांग्रेस के उम्मीदवार थे मोदी लहर में
प्रमोद कृष्णम की जमानत जप्त हो गई थी
कांग्रेस से निकाले जाने के बाद प्रमोद

कृष्णम भी बोल चुके हैं कि जब तक रहेंगे
पीएम मोदी के साथ रहेंगे फिलहाल प्रमोद
कृष्णम कल्की धाम की आधारशीला रखने के लिए
पीएम मोदी का आभार जता रहे हैं और 18 साल
पहले किए संकल्प को पूरा होता देख काफी

खुश हैं प्रम कृष्म से खास बात की जी
मीडिया संवाददाता अंजलि सिंह ने
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी श्री कल्की
धाम की आधार शिला रखने के लिए आ रहे हैं
इससे इस समारोह में चार चांद लग गए तो मैं

समझता हूं यह भारत के गौरव का दिन है यह
सनातन के लिए एक ऐतिहासिक पल है श्री
कल्की धाम के शिलान्यास समारोह के
लिए बड़ा लंबा संघर्ष करना पड़ा और वर्ष

के संघर्ष के बाद यह दिन आया है तो
नेचुरली सब बड़े भावुक हैं और 19 फरवरी का
इंतजार पूरा देश कर रहा है संभल में कल्की
धाम से बीजेपी अपने हिंदुत्व के एजेंडे को
भी धार देगी क्योंकि संभल में कल्की धाम
का निर्माण और लोकसभा चुनाव के ऐलान से

पहले प्रधानमंत्री का संभल दौरा पश्चिमी
यूपी के कई जिलों पर असर डालेगा दरअसल
संभल समेत इसके आसपास की छह सीटें मुस्लिम
बहुल इलाके हैं संबल में करीब 40 प्र
हिंदू और 50 फीदी से ज्यादा मुस्लिम आबादी
है यानी तकरीबन 885 लाख मुस्लिम वोटर हैं

संभल के अलावा यूपी का मुरादाबाद और
रामपुर ही ऐसे जिले हैं जहां 50 फीदी से
ज्यादा मुस्लिम आबादी है मुरादाबाद में
50.8 प्र और रामपुर में
50.6 प्र आबादी मुस्लिमों की है और यह
दोनों ही जिले मुरादाबाद मंडल में आते हैं
इनके अलावा मुरादाबाद मंडल के बाकी जिलों

जैसे बिजनौर में 43 प्र मुस्लिम आबादी है
अमरोहा में 40.8 प्र और नगीना तहसील में
46.1 प्र आबादी मुम की
है
z

Leave a Comment