लिख कर ले लो ऐसी जीत होगी की कायनात पलट जाएगी तुम्हारी

मेरे प्रिय बच्चे अब वह ब्रह्मांड में आकर ले रहा है जिसे तुम अपनी कल्पना में अपने सपने में गुणा करते हो

तुम्हारी अर्ध शक्ति अब तुम ही से ऊर्जा ग्रहण कर रही है तुम्हारे लिए प्रतीक्षा कर रहा है ऊर्जा को महसूस केवल

भाव की दृष्टि से ही अनुभव किया जा सकता है निर्मित हुआ है जिसे केवल भाव की दृष्टि से ही अनुभव किया जा

सकता है तर्कशक्ति कोई महत्व नहीं रह जाता है इस समय ब्राह्मण की दिव्य शक्तियां तुम्हें प्रेरित कर रही है

इसलिए अपने मार्ग पर विश्वास रक्षित कर रहा है तुम्हारे जीवन में शांति से भरा समय लेकर आ रहा है विश करने

को तैयार हो रहा है लेकिन वह सब कुछ पहन के पीछे घटित हो रहा है तुम्हारे सामने आएगा और जब वह सामने आएगा तो तुम अपने जीवन में एक चमत्कार की अनुभूति का आनंद को अनुभव करोगे क्या तुम जीवन में अगले

स्तर पर जाने के लिए तैयार हो मेरे बच्चे तुम्हारा अवचेतन शक्तियां प्राप्त कर रहा है और तुम्हें उसे व्यक्ति की पहचान करने में करने वाला है तुम्हारी चिंता है

Leave a Comment