शीघ्र ही तुम्हें खजाना मिलने वाला है

मेरे बच्चे सीख रही तुम्हें खजाना मिलने वाला है उसे खजाने तक तुम तुम कैसे पहुंच सकते हो उसका रास्ता मैं तुम्हें आज बताऊंगी

जैसे बताऊंगी उसे रास्ते पर तुम जैसे चलना प्रारंभ करोगी वैसे ही वह खजाना धीरे धीरे करके तुम्हें प्राप्त होने लगेगा इसलिए मेरी

बातों को ध्यान पूर्वक सुना और पूरी तरह सुनना बहुत जरूरी है क्योंकि मेरे बच्चे आधी अधूरी बातों को समझ सुनकर तुम्हें कुछ भी

समझ में नहीं आने वाला है जीवन में कभी कभी खजाना तुम्हारे सामने पड़ा होता है लेकिन तुम्हारा उसे पर ध्यान नहीं जाता जमीन

पर पड़ी किसी वस्तु पर तुम्हारा रास्ते पर चलते हुए ध्यान नहीं जाता तुम्हारा केवल उसे चीज पर ध्यान जाता है जो तुम्हारे मन में बसी होती है तुम्हें जहां जाना होता है तुम वहां निकल जाते हो खुशियों का खजाना इस बात पर मेरी ध्यान दो यदि तुम अपने मन को प्रसन्न

करना चाहते हो और चाहते हो कि जीवन का खजाना तुम्हें प्राप्त हो तो इस बात को समझना बहुत जरूरी है किसी से खुश होना यह सुख की प्राप्ति होना तुम पर निर्भर करता है बार तुम्हें बहुत बड़ा खजाना भी मिल जाएगी सुख की प्राप्ति नहीं कर सकते इसलिए

क्योंकि तुम उससे ज्यादा पानी की लालसा रखते हो यदि तुम्हें सुखी रहना है मन में संतोष पैदा करें जो तुम्हें मिल चुका है और आगे मिलने वाला है इसके बारे में मत सोचो सोचो कि जो वह तुम्हारी कर्मों का फल है

Leave a Comment